महाराष्ट्र में किसानों के दूध आंदोलन से शहरों में दूध की किल्‍लत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

महाराष्ट्र में किसानों के दूध आंदोलन से शहरों में दूध की किल्‍लत

Published

on

milk fream
photo credit (twitter)

दूध के दामों में बढ़ोतरी करने की मांग पर महाराष्‍ट्र के किसान दूध आंदोलन कर रहे हैं। लगातार दूसरे दिन जारी इस आंदोलन से  महाराष्ट्र के बड़े और छोटे शहरों में दूध की आपूर्ति प्रभावित हुई है।

बता दें कि सोमवार को मुंबई, पुणे, नागपुर, नासिक और अन्य प्रमुख शहरों के लिए जा रहे दूध के टैंकरों को राज्य के विभिन्न हिस्सों में रोककर विरोध प्रदर्शन किया गया था।

स्वाभिमानी शेतकारी संघटना (एसएसएस) और महाराष्ट्र किसान सभा (एमकेएस) के नेतृत्व में किसानों के समूहों ने दूध पर पांच रुपये प्रति लीटर सब्सिडी व मक्खन व दूध पाउडर पर वस्तु एवं सेवा कर में छूट की मांग की।

लाखों लीटर दूध से लदे टैंकरों को पुणे, नासिक, कोल्हापुर, सांगली, बीड, पालघर, बुलढाणा, औरंगाबाद व सोलापुर के रास्तों में रोका गया और उन्हें सड़कों पर खाली कर दिया गया, जबकि एक टैंकर में अमरावती के निकट आग लगा दी गई।

अन्य स्थानों पर कार्यकर्ताओं ने प्रतीकात्मक रूप में पंढरपुर, पुणे, बीड, नासिक, अहमदनगर व दूसरे जगहों पर विरोध दर्ज कराने के लिए प्रमुख मंदिरों में ‘दुग्ध अभिषेक’ कराया। हालांकि, राज्य सरकार ने प्रदर्शन को लेकर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी थी।

एसएसएस अध्यक्ष और सांसद राजू शेट्टी और एमकेएस अध्यक्ष अजीत नवले जैसे शीर्ष नेता कुछ स्थानों पर दूध टैंकरों को रोकने के लिए सड़कों पर उतरे, जबकि कई बड़े और छोटे दूध सहकारी समितियों ने किसानों के आंदोलन को समर्थन देने की घोषणा की।

शेट्टी ने मीडिया से कहा, “राज्य सरकार ने 27 रुपये प्रति लीटर की खरीद कीमत तय की है, लेकिन किसानों को केवल 17 रुपये प्रति लीटर मिलते हैं। हम गोवा, कर्नाटक और केरल की तरह किसानों के लिए पांच रुपये की प्रत्यक्ष सब्सिडी की मांग कर रहे हैं।”

शेट्टी ने मीडिया से कहा, “स्कीम्ड दूध पाउडर की कीमत में गिरावट के साथ दुग्ध सहकारी समितियों को मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है।”

नवले ने कहा कि सरकार के दूध पाउडर पर 50 रुपये प्रति किलोग्रा की सब्सिडी की घोषणा से किसानों को फायदा नहीं होगा, क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में दूध पाउडर की कीमतें गिर गईं, लेकिन इसका फायदा निजी कंपनियों को हो रहा है, जो इसे पाउडर में बदलती हैं।

इस मुद्दे को महाराष्ट्र विधानसभा में नागपुर में उठाया गया। इस पर पशुपालन व डेयरी विकास मंत्री महादेव जानकर ने भरोसा दिया कि शहरों को दूध की कमी नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि मुंबई में 15 दिनों के पर्याप्त भंडार हैं। मुंबई को हर रोज सात लाख लीटर ताजा दूध की आवश्यकता होती है। ज्यादातर शहरी केंद्रों में एक करोड़ लीटर की खपत होती है।

जानकर ने किसानों को चेताया, “हम मुद्दे को हल करने की कोशिश कर रहे हैं। अगर कोई कानून तोड़ने की कोशिश करता है तो उससे सख्ती से निपटा जाएगा।” जानकर ने बाद में कहा कि सरकार तीन रुपये प्रति लीटर की सब्सिडी देने के लिए तैयार है।

–आईएएनएस

राष्ट्रीय

दिल्ली-एनसीआर में 4.6 तीव्रता का भूंकप

Published

on

earthquake

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी और इसके आसपास के क्षेत्रों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.6 आंकी गई है। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार, भूकंप 9.08 बजे महसूस किया गया, जिसकी गहराई 3.3 किलोमीटर मापी गई। इसका केंद्र हरियाणा के रोहतक जिले से 16 कि. मी. पूर्व-दक्षिण पूर्व में रहा।

गनीमत है कि भूकंप की वजह से अब तक किसी के हताहत या संपत्तियों को नुकसान पहुंचने की सूचना नहीं मिली है।

पिछले कुछ दिनों में देश की राजधानी व इसके आसपास के क्षेत्रों में कई बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

महाराष्ट्र में हिंदूवादी नेता संभाजी भिड़े के खिलाफ केस दर्ज, लॉकडाउन तोड़ने का आरोप

Published

on

Sambhaji Bhide

महाराष्ट्र में लॉकडाउन के आदेशों को तोड़ने के लिए हिंदूवादी नेता संभाजी भिड़े के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

भिड़े के खिलाफ कोल्हापुर के जयसिंहपुर पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 188 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। भिड़े ने कल बिना अनुमति के सांगली जिले से कोल्हापुर की यात्रा की थी।

wefornews

Continue Reading

राष्ट्रीय

राजस्थान में कोरोना के 298 नए मामले आए सामने

Published

on

Coronavirus

राजस्थान में आज शाम 8.30 बजे तक राज्य में कुल 298 कोरोना के मामले सामने आए हैं। राज्य में पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या अब 8365 है, मरने वालों की संख्या 184 है। यह जानकारी राजस्थान स्वास्थ्य विभाग ने दी।

wefornews

Continue Reading

Most Popular