चुनाव

बंगाल निकाय चुनाव में ममता की लहर, बीजेपी का नहीं खुला खाता

Mamta Banerjee
ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल हर मुमकिन कोशिश कर अपनी पकड़ बनाने में जुटी भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका लगा है। पश्चिम बंगाल के निकाय चुनाव में 7 में से 4 नगर निगमों पर ममता बनर्जी की टीएमसी ने कब्जा कर लिया है।

ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने सात में से चार नगरपालिकाओं में जीत हासिल की है, वहीं कई दिनों से आग पकड़ रहा दार्जलिंग, कुर्सियांग और कलिम्पोंग में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा और भाजपा के गठबंधन ने भारी जीत हासिल की है। टीएमसी ने पुजाली, मिरिक, रायगंज और दोमकल में जीत दर्ज की है। 3 सीटों पर बीजेपी अलायंस की भारी जीत हु्ई है, जिससे पता चलता है कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की लहर अभी बरकरार है।

मिरिक नगरपालिका में टीएमसी ने 9 में से 6 वॉर्ड में जीत हासिल की है, वहीं, गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) को तीन वॉर्ड मिले हैं। 14 मई को बंगाल में हुए निकाय चुनावों में कुल 68 प्रतिशत मतदान हुआ था। सातों निकायों में से सबसे ज्यादा मतदान पुजाली में 79.6 प्रतिशत हुआ । वहीं सबसे कम मतदान दार्जलिंग में 52 प्रतिशत मतदान हुआ था।

मुर्शिदाबाद जिले की दोमकल नगर निगम में टीएमसी ने 21 में से 18 सीटों पर जीत हासिल की है, इसके अलावा यहां पर कांग्रेस पार्टी के हाथ सिर्फ एक सीट ही आई जबकि सीपीआई (एम) को महज दो सीटों पर जीत मिली है।

वहीं रायगंज में 27 वॉर्ड में से टीएमसी ने 14 वार्ड में जीत मिली है, वहीं, सीपीआईएम-कांग्रेस को 2 और बीजेपी को एक वॉर्ड में ही जीत हासिल हुई। पुजाली में पार्टी को 16 में से 12 वॉर्ड और बीजेपी, सीपीआईएम को एक-एक वॉर्ड मिला है।

जानकारी के मुताबिक 7 म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन की 148 सीट में से जीजेएम ने सबसे ज्यादा 69 जीतीं, इसमें बीजेपी अलायंस को 72 यानी जीजेएम 69 और बीजेपी 3 जीती। टीएमसी को 68, कांग्रेस और लेफ्ट 4, जन अधिकार पार्टी -2, अन्य को 1 सीट पर जीत मिली।

निकाय चुनावों के दौरान हिंसा की छिटपुट घटनाओं की शिकायतें भी मिली थीं। विपक्षी दलों ने मतदान में गड़बड़ी का आरोप लगाया था, और भारतीय मार्क्सवादी पार्टी, यानी सीपीएम ने चुनाव रद्द किए जाने की मांग की थी।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top