Connect with us

खेल

माही ने अपने आलोचकों को कूल अंदाज़ में दिया जवाब, नतीजे से ज्यादा प्रोसेस को बताया अहम

Published

on

M.S Dhoni, wefornews
महेंद्र सिंह धोनी, भारतीय क्रिकेटर (फाइल फोटो)

मौजूदा वक्त में भारतीय क्रिकेट के सबसे बड़े रोल मॉडल महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरकार अपने आलोचकों को जवाब दे ही दिया… माही ने कहा है कि हर शख्स को अपने विचार रखने का पूरा हक है… उनके लिए यही काफी है कि वो देश के लिए खेल सके… माही का ये जवाब उनके चिर-परिचित कूल अंदाज़ में सामने आया… लेकिन दिक्कत ये है कि अगरकर और आकाश चोपड़ा जैसे आलोचक सिर्फ रिज़ल्ट देखते हैं… जबकि धोनी प्रोसेस को रिज़ल्ट से ज़्यादा अहमियत देते हैं.

पहले कैप्टन कूल और अब मिस्टर कूल… ये दो नाम महेंद्र सिंह धोनी की असल पहचान है… भारतीय क्रिकेट को आकाश की बुलंदी पर पहुंचाने वाले टीम इंडिया के महानतम कप्तान रह चुके धोनी सबका ध्यान अपनी ओर खींचते हैं… वो आलोचकों को भी लुभाते हैं… लगभग डेढ़ दशक से भारतीय क्रिकेट की गौरवशाली सेवा कर रहे धोनी पिछले कुछ दिनों से आलोचकों को खूब लुभा रहे हैं…

माही न्यूजीलैंड सीरीज के दौरान अपनी बैटिंग को लेकर कई पूर्व क्रिकेटर्स के निशाने पर हैं… भारतीय टीम को माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई दे चुके धोनी के मामले में बोलने की हर दिग्गज़ों को खुली छूट भी रहती है… माही के बारे में सब बोलते हैं… बस माही चुप रहते हैं… लेकिन इस दफा मामला हद से आगे गुजर गया… लिहाज़ा धोनी ने अपने आलोचकों को बड़े ही सधे हुए अंदाज में जवाब दिया…

में सबका अपना नजरिया होता है और उसका सम्मान होना चाहिए। टीम इंडिया का हिस्सा होना ही मेरे लिए सबसे बड़ी प्रेरणा है। आपने ऐसे कई क्रिकेटर्स देखें होंगे, जिनमें गॉड गिफ्टेड टैलेंट नहीं था, लेकिन फिर भी वे काफी आगे गए। सिर्फ जुनून की वजह से ऐसा हुआ। कोच को उन्हें ढूंढना पड़ता है, हर किसी को देश के लिए खेलने का मौका नहीं मिलता।

माही उस टीम इंडिया के हिस्सा हैं जिसकी अगुवाई विराट कोहली जैसे सुपरमैन बैट्समैन करते हैं… इस टीम में दुनिया के सबसे बड़े बैटिंग जीनियस रोहित शर्मा हैं… साथ ही रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बनाने वाले स्पिनर नंबर वन आर अश्विन भी इसी टीम का हिस्सा हैं… और इन तमाम धुरंधरों के रोल मॉडल हैं महेंद्र सिंह धोनी… अजित अगरकर और आकाश चोपड़ा जैसे जुम्मा-जुम्मा आठ दिनों के दिग्गज़ धोनी को टीम में देखना नहीं चाहते… लेकिन माही टीम से अलग हों ये कोहली, रोहित और अश्विन जैसे टीम के तमाम दिग्गज़ों को मंज़ूर नहीं… ये आलम महेंद्र सिंह धोनी की शख्सियत को बयां करता है…

ये तमाम खिलाड़ी धोनी की देखरेख में ही महारथी बने हैं… आज भी धोनी ही कप्तान विराट कोहली और उनकी सेना का संकटमोचक हैं… बाहर बैठे आलोचक भले ही धोनी को मैदान में देखकर चिढ़ते हों… लेकिन भारतीय टीम को माही के उस प्रोसेस में पूरा यकीन है जिसने उसे इतिहास में पहली बार दुनिया की नंबर वन टीम बनाया था… यही वजह है कि धोनी रिजल्ट से ज़्यादा प्रोसेस को अहमियत देते हैं…

हमेशा से मेरा मानना रहा है कि रिजल्ट से ज्यादा प्रोसेस इंपोर्टेंट होती है। मैं कभी रिजल्ट के बारे में नहीं सोचता, मैं हमेशा ये सोचता हूं कि उस वक्त के हिसाब से क्या करना ज्यादा सही होगा, फिर चाहे टीम को जीत के लिए 10 रन चाहिए, 14 रन चाहिए या फिर 5 रन चाहिए होते हैं। धोनी के इसी प्रोसेस ने टीम इंडिया को इतिहास का पहला वर्ल्ड टी20 चैंपियन बनाया…

इसी प्रोसेस की बदौलत टीम इंडिया ने 28 साल बाद 2011 में वर्ल्ड कप जीता… और माही की इसी रणनीति और समझ ने उन्हें आईसीसी की हर ट्रॉफी को अपने नाम करने वाला इकलौता कप्तान बनाया… ऐसे में कोहली, शास्त्री और दूसरे तमाम माही के मुरीदों के लिए आलोचकों के आरोप कतई अहमियत नहीं रखते… और रही बात बीसीसीआई की… तो उसे इस कदर ताकतवर और दौलतमंद धोनी की इन तमाम सफलताओंन ने ही बनाया है… लिहाज़ा बोर्ड को तो माही का शुक्रगुजार होना चाहिए… और फख्र करना चाहिए कि उसके पास आज भी महेंद्र सिंह धोनी हैं.

WeForNews Bureau

खेल

पुजारा के नाम हुआ ऐसा अनचाहा रिकॉर्ड जिसने टीम इंडिया की दीवार के भरोसे को तोड़ डाला

Published

on

cheteshwar-pujara_
चेतेश्‍वर पुजारा, भारतीय क्रिकेटर (फाइल फोटो)

चेतेश्वर पुजारा को टीम की नई दीवार कहते हैं… लेकिन साउथ अफ्रीका में टीम इंडिया की ये दीवार लगातार ढहती दिख रही है… वो भी शर्मनाक तरीके से… सेंचुरियन टेस्ट में पुजारा ने एक अनचाहा रिकॉर्ड बनाया… वो एक टेस्ट की दोनों पारियों में रन आउट होने वाले इकलौते भारतीय बल्लेबाज़ बन गए… कोई शक नहीं कि पुजारा की इस नाकामी ने साउथ अफ्रीका में टीम इंडिया का बंटाधार कर दिया है…

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ़ सेंचुरियन टेस्ट में टीम इंडिया ने संघर्ष किए बगैर ही हथियार डाल दिए… इसकी बड़ी वजह चेतेश्वर पुजारा की नाकामी रही… सेंचुरियन के सुपर स्पोर्ट पार्क में टीम इंडिया की नई दीवार दोनों पारियों में जरुरत के समय खड़ी होने से पहले ही ढेर हो गई… और ढेर होने का अंदाज भी ऐसा कि करोड़ों भारतीय फैंस को निराश से ज्यादा शर्मसार कर गया… चेतेश्वर पुजारा ने सेंचुरियन में एक ऐसा अनचाहा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया जिससे आज तक हर भारतीय क्रिकेटर दूर था… पुजारा किसी टेस्ट की दोनों पारियों में रन आउट होने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए…

करोड़ों भारतीय फैंस को चेतेश्वर पुजारा से इस सीरीज़ में काफी उम्मीदें थीं… केपटाउन में नाकाम रहने के बाद सेंचुरियन में पुजारा से बेहतर प्रदर्शन की सबको उम्मीद थी… लेकिन वो हर उम्मीद के उलट टीम को बेसहारा कर गए… वो जिस तरह से दोनों पारियों में आउट हुए वो शर्मसार करने वाला था… सेंचुरियन टेस्ट की पहली पारी में पुजारा खाता खोले बगैर पहली गेंद पर ही रन आउट हो गए… वहीं दूसरी पारी में पॉजिटिव इंटेंट के साथ खेल रहे पुजारा 19 रन बनाकर रन आउट हुए… हालांकि दूसरी पारी में डाइव लगाकर वो अपने बल्ले को लाइन तक ज़रुर पहुंचाया लेकिन वा थर्ड अंपायर को कंविन्स नहीं कर सके… लिहाज़ा टीम को हार की दहलीज़ पर छोड़कर पुजारा चलते बने… सेंचुरियन टेस्ट में जिस तरह से चेतेश्वर ने अपने विकेट फेंके उसने उनके ऊपर नए सवाल खड़े कर दिए हैं…

WeForNews

Continue Reading

खेल

सेंचुरियन में मिली शर्मनाक हार के लिए क्या सिर्फ बल्लेबाज़ ही ज़िम्मेदार!

Published

on

-kohli-vs-chandimal
फाइल फोटो

एक और टेस्ट… एक और हार… वो भी शर्मनाक… केपटाउन के बाद सेंचुरियन टेस्ट में भी टीम इंडिया को शर्मसार होना पड़ा… साउथ अफ्रीका से 287 रन की चुनौती मिली थी… लेकिन जवाब में टीम इंडिया सिर्फ 151 रन पर पैक हो गई… कप्तान कोहली ने दूसरी पारी में सिर्फ पांच रन बनाए… और उनकी अगुवाई में पूरी बैटिंग लाइनअप कोलैप्स हो गई… नतीजतन भारत को 135 रन की करारी शिकस्त मिली.

घरेलू मैदानों पर रनों के पहाड़ खड़े करने वाले भारतीय बल्लेाबाज़ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ़ सेंचुरियन टेस्ट में चारों खाने चित हो गए… घर में शेर की तरह दहाड़ने वाले धुरंधर अफ्रीका के होस्टाइल कंडीशन में खड़े होते ही मेमने की तरह कमज़ोर हो गए… केपटाउन के बाद सेंचुरियन टेस्ट में भी भारत की हार की वजह उसकी बल्लेबाज़ी ही बनी…दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ़ सीरीज़ के दूसरे टेस्ट में भारत को 135 रन की हार का सामना करना पड़ा.. मैच के पांचवें और आखिरी दिन टीम इंडिया के सामने जीत के लिए 287 रन का लक्ष्य था…

लेकिन पूरी टीम पहले सेशन में ही 50.2 ओवर में 151 रन बनाकर शर्मनाक तरीके से आउट हो गई… हालांकि आखिरी दिन की शुरुआत भारतीय टीम ने 35 रन पर 3 विकेट गंवाकर की थी… लिहाज़ा 287 का लक्ष्य मुश्किल था… लेकिन परेशानी की बात ये है कि विराट सेना ने बगैर संघर्ष किए ही मुकाबले में हथियार डाल दिए… दूसरी पारी में किसी भी बल्लेबाज़ ने संघर्ष का जज्बा तक नहीं दिखाया..

अंतिम दिन सबसे पहले आउट होने वाले खिलाड़ी थे चेतेश्वर पुजारा… पहली पारी की तरह दूसरी पारी में भी रन आउट होकर पुजारा ने सबको शर्मसार कर दिया… उनके बाद पवेलियन लौटने की बारी पार्थिव पटेल की थी… पुजारा की तरह पार्थिव ने भी 19 रन ही बनाए… और दोनों ही बल्लेबाज़ मुश्किल परिस्थिति के बावजूद अपनी गलती की वजह से आउट हुए… खासकर जिस तरह से हार्दिक पांड्या आउट हुए वो खासा हैरान करने वाला था… स्लैस करने के चक्कर में उनका सॉफ्ट डिसमिसल हुआ… यही वजह है कि कप्तान कोहली ने हार के बाद इस तरह से बल्लेबाज़ के आउट होने पर नाराज़गी ज़ाहिर की…

हालिया मुकाबलों में लोअर मिडिल ऑर्डर में आकर रविचंद्रन अश्विन टीम इंडिया को संभालते रहे हैं… इसी खासियत ने उन्हें बेहतरीन ऑलराउंडर का तमगा भी दिलवाया है… लेकिन इसबार एन मौके पर वो भी नाकाम रहे… अश्विन ने सिर्फ तीन रन जोड़े… अश्विन टीम इंडिया के सातवें बल्लेएबाज के रूप में आउट हुए… इस सीरीज में अब तक केवल एक बार टीम इंडिया के सात विकेट गिरने के समय स्कोार 100 रन के पार पहुंचा है… पहले टेस्ट् में 92 और 82 के स्कोर पर भारतीय टीम का सातवां विकेट गिरा…

दूसरे टेस्टा में विराट की शतकीय पारी के कारण टीम का 7वां विकेट गिरने के समय स्को र 280 रन था… जबकि दूसरी पारी में 92 के स्कोेर पर टीम ने सातवां विकेट गंवाया… तस्वीर साफ है कप्तान कोहली टीम की बैटिंग की धुरी बने हुए हैं… दूसरी पारी में कोहली ने सिर्फ पांच रन बनाए… वो नीची रही गेंद पर LBW हुए… दरअसल हार तो उनके आउट होने के साथ ही तय हो गई थी… इस सीरीज़ में सेंचुरियन टेस्ट की पहली पारी में उनके 153 रन को छोड़ दें तो वो लगातार नाकाम हो रहे हैं… और ये नाकामी टीम इंडिया को भारी पड़ रही है…

अगर पिछले तमाम मौकों की तरह दूसरी पारी में भी रोहित शर्मा फेल होते तो यकीन मानिए टीम इंडिया 100 रन तक भी नहीं पहुंच पाती… रोहित शर्मा ने 47 रन बनाए… लेकिन ये पारी नाकाफी साबित हुई… जबकि मोहम्मतद शमी ने 28 रन बनाए… रोहित और शमी की इस पारी की बदौलत भारत 150 के पार तो पहुंच गया… लेकिन वो हार से नहीं बच सका… सेंचुरियन में टेस्ट डेब्यूल करने वाले दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज लुंगी एंडिगी ने सर्वाधिक छह विकेट लिए…

बेशक भारत की हार में युवा अफ्रीकी गेंदबाज़ लुंगी ने बड़ा किरदार निभाया… लेकिन टीम इंडिया की इस हार के असली खलनायक तो उसके बल्लेबाज़ ही हैं… सेंचुरियन टेस्ट में मिली इस हार के साथ ही भारतीय टीम ने टेस्टी सीरीज़ भी गंवा दी है… तीन टेस्टि की सीरीज में भारतीय टीम अब 0-2 से पीछे है. ऐसे में तीसरे टेस्टब का चाहे जो भी परिणाम हो… उसका सीरीज हारना तय है…

WeForNews

Continue Reading

खेल

कोहली-शास्त्री के टीम खराब सेलेक्शन ने सेंचुरियन में टीम इंडिया को दिलाई शिकस्त, दिग्गजों ने लताड़ा

Published

on

kohli-shastri
कोहली-शास्‍त्री (फाइल फोटो)

सेंचुरियन टेस्ट में हार का सबसे बड़ा जिम्मेदार कौन है.. किसके सिर पर हार का ठीकरा फोड़ना चाहिए.. किसकी नाकामियों ने टीम इंडिया को बैकफुट पर ला खड़ा किया और किन रणनीतियों का पासा टीम इंडिया के उलट पड़ गया… ये जानने के लिए उन नाकामियों से रूबरू होना पड़ेगा जिसने टीम का ये हश्र किया… ये रिपोर्ट बताएगी कि आखिर इस हार की सबसे बड़ी वजह है क्या!

केपटाउन के बाद सेंचुरियन में मिली हार के लिए किसे जिम्मेदार माना जाए.. ये सवाल अब हर कोई पूछ रहा है.. लेकिन क्या इस हार को बल्लेबाज़ों की नाकामी से जोड़ना ठीक होगा… या फिर इसके पीछे कोई और ऐसी वजह है जिसने टीम इंडिया का बोरिया बिस्तर समेटने में आसानी पैदा कर दी.. वजह एक नहीं कई हैं.. जिन पर कप्तान कोहली को सिरे से विचार करना होगा.. क्योंकि घर मे जीतकर नंबर वन टीम होने का दंभ भरना उस वक्त खोखला साबित हो जाता है जब आप विदेशी ज़मी पर बने बनाए मैच में अपनी गलतियों से हार को गले लगा लेते हैं… सेंचुरियन में टीम इंडिया मैच और सीरीज़ दोनों गंवा चुकी है… इस लिहाज से यहां हार की वजह तलाशना ज़रूरी हो जाता है…

हार की वजह नंबर – 1
कोहली का गलत टीम सेलेक्शन
केपटाउन में टीम इंडिया की हार के बाद सेंचुरियन में वापसी का दबाव था.. लेकिन सेंचुरियन में टॉस के वक्त कप्तान कोहली ने जैसे ही टीम इंडिया का ऐलान किया ये समीकरण पूरी तरह से बिगड़ गया.. दरअसल कोहली ने सेंचुरियन टेस्ट की जो टीम चुनी उससे हर कोई हैरान था… कोहली ने सेंचुरियन टेस्ट के लिए तीन बदलाव किए.. जिसमें इनफॉर्म भुवनेश्वर कुमार की जगह इशांत शर्मा को चुना गया, साहा की जगह पार्थिव पटेल को मौका मिला और तीसरा बदलाव था शिखर धवन की जगह केएल राहुल… इन तीन बदलावों में कोहली दो जगह बड़ी चूक कर गए… पहला सेलेक्शन जिस पर सबसे ज्यादा सवाल उठे वो इशांत शर्मा थे जिन्हें भुवनेश्वर की जगह टीम में कोहली ने चुना… ईशांत ने भले ही इस टेस्ट में पांच विकेट निकाले हों लेकिन वो भुवनेश्वर की जगह नहीं ले सकते.. केपटाउन में भुवी की आग उगलती गेंदों को कोहली कैसे इतनी जल्दी भूल गए कोई नहीं जानता.. दूसरा सलेक्शन पार्थिव पटेल का रहा जिन्हें 8 साल बाद टेस्ट टीम में खिलाया गया.. विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर पार्थिव कोहली की सबसे फ्लॉप पसंद रहे.. कोहली ने एक सलेक्शन ठीक किया जिसमें उन्होंने धवन को बाहर बिठाकर केएल राहुल को मौका दिया.. लेकिन सेंचुरियन में कोहली के ये दो बदलाव टीम इंडिया की हार की सबसे बड़ी वजह है इसे कोई नहीं नकार सकता…

हार की वजह नंबर – 2
रोहित शर्मा की नाकामी
कोहली की टीम से शायद रहाणे का नाम गायब हो गया है तभी तो वो अब सिर्फ बेंच गर्म करने का ही काम करते हैं… रहाणे पर अब सिर्फ और सिर्फ रोहित शर्मा को तरजीह मिलती है.. जिनको टेस्ट मैटीरियन होने का दर्जा अब तक नहीं मिल सका है… केपटाउन टेस्ट की पहली पारी में रोहित 11 रन पर आउट हो गए जबकि दूसरी पारी में भी वो अपनी पारी को 10 रन से आगे नहीं ले जा सके… यही नहीं सेंचुरियन टेस्ट की पहली पारी में भी रोहित का अंदाज़ नहीं बदला.. सेंचुरियन टेस्ट की पहली पारी में भी वो सिर्फ 10 रन पर आउट हो गए… जबकि दूसरी पारी में उनसे टीम को संकट से उबारने की उम्मीद थी लेकिन वो वहां भी रन बनाकर चलते बने… यानी कोहली का रोहित प्रेम उन्हें केपटाउन से लेकर सेंचुरियन तक दगा दे गया.. रोहित अब भी अगर टीम का हिस्सा रहे और रहाणे अब भी टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं बने तो ये कहना गलत नहीं होगा कि कप्तान के अपने भी फेवरेट्स होते हैं.. जिन्हें नाकामियों के बाद भी टीम में जगह मिलती है…

हार की वजह नंबर – 3
कमज़ोर विकेटकीपर बल्लेबाज़
एक बार फिर से कोहली के चयन ने ही टीम की लुटिया डुबोने का काम किया.. टीम के विकेट कीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल का सेलेक्शन टीम पर भारी पड़ गया… पार्थिव बल्लेबाज़ी में जितने साधारण साबित हुए उससे कहीं ज्यादा नकारा प्रदर्शन उनहोंने विकेटकीपिंग में किया… द.अफ्रीका की दूसरी पारी के दर्मियान बुमराह ने 24वां ओवर फेका जिसकी तीसरी गेंद पर पार्थिव पटेल ने एलगर का ये आसान का कैच टपकाया… पार्थिव जज ही नहीं कर सके कि ये कैच उनका है या फिर फर्स्ट स्लिप पर खड़े पुजारा का.. उन्होंने इस कैच को लपकने का जोखिम तक नहीं उठाया.. एलगर उस वक्त 33 रन पर थे जिसके बाद उन्होंने 61 रन की पारी खेली.. यानी पार्थिव की इस नाकामी के चलते भारतीय टीम को 28 और रन की चपत लगी… बल्लेबाज़ी में भी पार्थिव इतने साधारण बल्लेबाज़ साबित हुए कि उन्होंने कोहली के फैसले को नाकामी में बदलने में देर नहीं लगाई…

हार की वजह नंबर – 4
पुजारा का रन आउट
सेंचुरियन में जिस एक खिलाड़ी से सबसे ज्यादा उम्मीद थी वो चेतेश्वर पुजारा थे.. क्योंकि उनका क्लासिकल अंदाज़ टीम को संकट से उबारने की कूव्वत रखता है लेकिन सेंचुरियन टेस्ट की दोनों पारियों में पुजारा किस्मत के मारे साबित हुए… पुजारा दोनों ही पारियों में रन आउट हुए जिसने टीम इंडिया के फाइटिंग मिशन को करारा झटका दिया… पुजारा पहली पारी में बिना खाता खोल ही रन आउट हो गए थे जबकि दूसरी पारी में भी पुजारा 19 रन बनाकर रन आउट हुए… दरअसल दोनों पारियों में पुजारा का रन आउट होना कोहली के मिशन को बेपटरी करने का सबसे बड़ा कारण साबित हुआ… हालांकि पुजारा केपटाउन टेस्ट में भी कुछ खास नहीं कर सके थे… यानी पुजारा का रंग में ना होना भी टीम इंडिया की हार की वजह साबित हुआ..

हार की वजह नंबर – 5
नाकाम टॉप ऑर्डर
टीम इंडिया के टॉप ऑर्डर नाकामियां शुरु से लेकर अंत तक खत्म नहीं हुईं… केपटाउन टेस्ट की दोनों पारियों में टीम के टॉप ऑर्डर ने अफ्रीकी अटैक के सामने आसानी से घुटने टेक दिए.. सेंचुरियन में कोहली को छोड़कर टॉप ऑर्डर के बाकी बल्लेबाज़ों का संघर्ष जारी रहा… कोहली ने पहली पारी में 153 रन की शतकीय पारी खेली लेकिन बाकी बल्लेबाज़ आया राम गया राम बनके चलते बने…

ज़ाहिर है टीम की हार की सिर्फ एक वजहे नहीं.. बल्कि कई वजह हैं.. जिसमें कोहली-शास्त्री का टीम सेलेक्शन टीम के लिए सबसे भारी गलती साबित हुआ… जिसका खामियाज़ा सिर्फ टीम ने नहीं बल्कि क्रिकेट प्रेमी देश ने भुगता..

WeForNews

Continue Reading
Advertisement
gurbir singh gerewal
राष्ट्रीय57 mins ago

पहली बार किसी अमेरिकी राज्य का अटॉर्नी जनरल बना भारतीय सिख

idea
टेक1 hour ago

आइडिया की नई पेशकश, 398 रुपये के रिचार्ज पर 3,300 तक का कैशबैक

viaksh
मनोरंजन1 hour ago

बिग बॅास के इन कंटेस्टेंट ने सपना चौधरी के गाने पर जमकर किया डांस, देखें वीडियो

manushi-
मनोरंजन2 hours ago

डब्बू रतनानी के कैलेंडर में मानुषी छिल्लर समेत बॅालीवुड के कई बड़े सितारों ने बिखेरा जलवा, देखें तस्वीरें

supreme-court
राष्ट्रीय2 hours ago

‘न्यायाधीश विवाद’ पर मीडिया रिपोर्टिग पर प्रतिबंध से इनकार

prakash-raj
राजनीति2 hours ago

एक्‍टर प्रकाश राज बोले- एंटी हिंदू नहीं, मैं एंटी मोदी-शाह हूं

padmavati
राष्ट्रीय2 hours ago

‘पद्मावत’ पर करणी सेना की धमकी, कहा- रिलीज के दिन लगेगा देशभर में कर्फ्यू

shyam-benegal
राष्ट्रीय2 hours ago

‘पद्मावत’ पर आए SC के फैसले पर बोले श्याम बेनेगल, यह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की जीत है

terrorist
राष्ट्रीय2 hours ago

झारखंड : सुरक्षा बलों ने नक्सली को मार गिराया

accident
शहर3 hours ago

ट्रक ने स्कूली वैन को मारी टक्कर, 16 बच्चे घायल

narottam patel
राजनीति3 weeks ago

रूपाणी कैबिनेट में दरार के आसार! नितिन पटेल के समर्थन में उतरे बीजेपी नेता नरोत्‍तम पटेल

lalu yadav
राजनीति2 weeks ago

चारा घोटाला: लालू को साढ़े तीन साल की सजा

Vinod Rai CAG
ब्लॉग4 weeks ago

संघ के 92 साल के इतिहास में विनोद राय की टक्कर का फ़रेबी और कोई नहीं हुआ!

sports
खेल1 week ago

केपटाउन टेस्‍ट: गेंदबाजों की मेहनत पर बल्‍लेबाजों ने फेरा पानी, 72 रनों से हारी टीम इंडिया

Congress party
ब्लॉग3 weeks ago

काँग्रेसियों की अग्निपरीक्षा! इन्हें ही एक बार फिर देश को आज़ाद करवाना होगा

atal bihari vajpai
ज़रा हटके3 weeks ago

आजीवन क्यों कुंवारे रह गए अटल बिहारी बाजपेयी?

ananth-kumar-hegde
ओपिनियन3 weeks ago

ज़रा सोचिए कि क्या भारत के 69 फ़ीसदी सेक्युलर ख़ुद को हरामी बताये जाने से ख़ुश होंगे!

hardik-nitin
राजनीति3 weeks ago

नितिन पटेल की नाराजगी पर हार्दिक की चुटकी, कहा- ’10 एमएलए लेकर आओ, मनमाफिक पद पाओ’

Modi Manmohan Sonia
ओपिनियन4 weeks ago

2G मामले में ट्रायल कोर्ट के फ़ैसले से सुप्रीम कोर्ट और विपक्ष दोनों ग़लत साबित हुए!

rape case
ओपिनियन4 weeks ago

2017 In Retrospect : दुष्कर्म के 5 चर्चित मामलों ने खोली महिला सुरक्षा की पोल

viaksh
मनोरंजन1 hour ago

बिग बॅास के इन कंटेस्टेंट ने सपना चौधरी के गाने पर जमकर किया डांस, देखें वीडियो

jammu and kashmir
राजनीति3 hours ago

सदन के भीतर ही BJP विधायकों ने निर्दलीय MLA को पीटा, देखें वीडियो

tapssi
मनोरंजन4 hours ago

तापसी पन्नू की फिल्म ‘दिल जंगली’ का ट्रेलर रिलीज…

sitaraman
राष्ट्रीय1 day ago

सुखोई-30 लड़ाकू विमान में उड़ान भरने वाली देश की पहली महिला रक्षा मंत्री बनीं निर्मला सीतारमण

bjp leader
शहर1 day ago

बीजेपी नेता ने अधिकारी को जड़ा थप्पड़, देखें वीडियो…

shivraj singh chouhan
राजनीति2 days ago

शिवराज सिंह ने किसको जड़ा थप्पड़? देखें वीडियो…

अंतरराष्ट्रीय4 days ago

PoK में पाक सरकार के खिलाफ प्रदर्शन, सड़कों पर उतरे व्यापारी

Supreme Court Judges
राष्ट्रीय6 days ago

पहली बार SC के जज आए सामने, कहा- ‘हम नहीं बोले तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा’

gadkari
राजनीति1 week ago

नौसेना पर बरसे गडकरी, कहा- ‘दक्षिणी मुंबई में नहीं दूंगा एक इंच जमीन’

mumbai-
शहर1 week ago

मुंबई के हुक्काबार में जमकर तोड़फोड़

Most Popular