'लॉकडाउन' : दिल्ली पुलिस के अलग-अलग चेहरे, कहीं मदद तो कहीं फेंकी सब्जियां | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

शहर

‘लॉकडाउन’ : दिल्ली पुलिस के अलग-अलग चेहरे, कहीं मदद तो कहीं फेंकी सब्जियां

Published

on

Delhi Police

नई दिल्ली, 26 मार्च | कोरोना जैसी महामारी से निपटने में जुटे देश-दुनिया में दिल्ली पुलिस के दो अलग-अलग चेहरे नजर आ रहे हैं। कुछ स्थानों पर झुग्गी झोपड़ियों में पहुंचकर खुद पुलिस वाले जरुरतमंदों को आवश्यक वस्तुएं मुहैया करा रहे हैं वहीं कुछ इलाकों में दिल्ली पुलिस के कुछ बेकाबू पुलिसकर्मी बेहूदगी पर उतरे हुए दिखाई पड़ रहे हैं।

दिल्ली पुलिस का सबसे क्रूर चेहरा मध्य जिला पुलिस के आनंद पर्वत थाने में तैनात एक सिपाही ने पेश किया। आरोपी सिपाही ने गली-मुहल्ले में जाकर पहले तो सब्जी बेचने वालों पर लाठी भांजी। उसके बाद इस बेखौफ सिपाही ने ‘लॉकडाउन’ में पहले से बेहाल छोटे-मोटे सब्जी विक्रेताओं की रेहड़ियों पर रखे सामान जमीन पर फेंक दिया।

आईएएनएस की टीमों ने गुरुवार को दिल्ली के अलग-अलग स्थानों पर जो कुछ देखा, उसके मुताबिक सड़क पर लॉकडाउन के दौरान अच्छी पुलिस और बुरी पुलिस दोनों दिखाई दीं। अच्छी पुलिस नजफगढ़, उत्तम नगर, विकासपुरी, राजा गार्डन चौक, रघुवीर नगर, राजौरी गार्डन आदि इलाकों में देखने को मिली।

इन इलाकों में लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर मौजूद सैकड़ों पुलिसकर्मी जरुरतमंदों की मदद करते दिखाई दिए। नजफगढ़, राजौरी गार्डन इलाके में पुलिसकर्मी पिछड़े इलाकों में सामान ले जाकर बांटते दिखाई दिए। पश्चिमी जिले के कई इलाकों में तो पुलिस वाले आमजन को कोरोना से बचाव के उपाय समझाते हुए दिखाई दिए। कई दिन से घरों में बंद होकर रह रहे लोगों को पुलिसकर्मी बताते देखे-सुने गए कि, लॉकडाउन होता क्या है? लॉकडाउन और कर्फ्यू में क्या फर्क है? इस वक्त दिल्ली और देश में आखिर लॉकडाउन क्यों लगाया गया है? आदि-आदि..

नजफगढ़ इलाके में पुलिकर्मी सरकारी वाहनों में भरकर लोगों को सामान पहुंचाते नजर आये। कुछ इलाकों में पुलिसकर्मी सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताते देखे गये। कई स्थानों पर तो खुद पुलिस वालों ने सफेद चॉक से एक एक मीटर की दूरी पर गोल घेरे बनाये। फिर इन घेरों में लोगों को खड़ा होना सिखाया। साथ ही बताया कि इन एक-एक मीटर की दूरी पर बने घेरों में खड़े होने से दो इंसानों के बीच की दूरी बनी रहेगी। इस फार्मूले से सामाजिक दूरी आसानी से पूरी होगी। साथ ही इससे कोरोना की कमर तोड़ने में भी मदद मिलेगी।

यह तो रही बानगी कोरोना की मुसीबत से जूझने के लिए लागू ‘लॉकडाउन’ के दौरान सजग और मददगार दिल्ली पुलिस की। अब आईएएनएस की टीम आपको इस लॉकडाउन के दौरान परेशान लोगों को जलील करने वाले पुलिसकर्मी की हरकतों से रु-ब-रु करायेगी। दोपहर के वक्त किसी प्रियंका सिंह नाम की महिला/ युवती ने एक वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर वायरल कर दिया। वीडियो में जो कुछ देखने को मिला उसने लॉकडाउन के दौरान दिल्ली पुलिस के तमाम सराहनीय कदमों/कोशिशों पर पानी फेर दिया।

दिल्ली पुलिस की छीछालेदर कराने वाला यह वीडियो किसी तरह मध्य जिले के डीसीपी संजय भाटिया तक भी पहुंच गया। वीडियो में नीले रंग का ट्रैक सूट पहने एक आदमी हाथ में लाठी लिए दिखाई दे रहा है। साथ में कुछ रेहड़ी वाले खड़े हैं। पास ही कुछ महिलाएं रेहड़ी पर सब्जी खरीदने आई दिखाई दे रही हैं। लाठी हाथ में थाने हुए शख्स अचानक पागलों सी हरकतें करने लगता है। वह पहले लाठी के दम पर रेहड़ी वालों में आतंक पैदा करता है। फिर फुटपाथ पर सब्जी से लदी/ भरी रेहड़ियों को एक एक कर सड़क पर फेंकने लगता है।

वीडियो को देखने और जांच कराने के बाद पता चला कि वीडियो सही है। वीडियो पटेल नगर नेहरु नगर (दिल्ली) इलाके का है। जांच में आये तथ्यों के बाद डीसीपी मध्य जिला संजय भाटिया ने आईएएनएस से गुरुवार दोपहर बाद कहा, “सब्जी वालों की रेहड़ियां फेंकने वाला दिल्ली पुलिस का ही सिपाही राजवीर निकला है। वीडियो सही है। आरोपी सिपाही राजवीर आनंद पर्वत थाने में फिलहाल तैनात है। उसे पहले मैंने लाइन हाजिर किया था। जांच में आरोप गंभीर और सही पाये गये। लिहाजा मैंने सिपाही को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर उसके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दे दिये हैं।”

शहर

खालिस्तान समर्थक आतंकी मेरठ से गिरफ्तार

Published

on

arrested

मेरठ (उत्तर प्रदेश): उत्तर प्रदेश के आतंकवाद-रोधी दस्ते (एटीएस) और पंजाब पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के संयुक्त ऑपरेशन में शनिवार रात मेरठ के थापर नगर से खालिस्तान समर्थक एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया।

संदिग्ध तीरथ सिंह की यहां मौजूदगी की सूचना पंजाब पुलिस को मिली, जिसे उन्होंने उत्तर प्रदेश के एटीएस (एंटी टेररिज्म स्क्वाड) के पास भेज दिया। 32 वर्षीय आतंकी तीरथ सिंह पर जनवरी 2020 में मोहाली पुलिस द्वारा गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था।

उत्तर प्रदेश एटीएस के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक डी.के. ठाकुर ने कहा कि आतंकी के कब्जे से खालिस्तान मूवमेंट से संबंधित साहित्य को जब्त करने के साथ ही जरनैल सिंह भिंडरावाले के पोस्टर भी बरामद किए गए हैं।

अधिकारी ने कहा कि तीरथ सिंह का सोशल मीडिया अकाउंट और व्हाट्सएप खालिस्तान मूवमेंट के समर्थन वाले संदेशों से भारा हुआ है।

— आईएएनएस

Continue Reading

शहर

दिल्ली कैंट इलाके में आर्मी कैंटीन में लगी आग

Published

on

fire
प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली कैंट इलाके में आर्मी कैंटीन में आग लगी। फायर ब्रिगेड की 8 गाड़ियां घटनास्थल के लिए रवाना। मामले में अधिक जानकारी की प्रतीक्षा।

wefornews

Continue Reading

शहर

कनॉट प्लेस के मशहूर रेस्तरां लड़ रहे अस्तित्व की लड़ाई

Published

on

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी के कनॉट प्लेस (राजीव चौक) स्थित देश की आजादी के समय के रेस्तरां में कुछ समय पहले तक बड़ी रौनक रहती थी और यहां खाने-पीने के शौकीन राजनयिकों, राजनेताओं और फिल्मी सितारों का आना-जाना लगा रहता था, मगर अब ये रेस्तरां अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं।

इस चुनौतीपूर्ण समय में यहां के रेस्तरां काफी मुसीबतों का सामना कर रहे हैं। मगर इसके बावजूद यहां सभी निराश नहीं हैं। यहां स्थित यूनाइटेड कॉफी हाउस (यूसीएच) के मालिक भविष्य के बारे में आशावादी बने हुए हैं।

तीसरी पीढ़ी के उद्यमी आकाश कालरा तीन दशकों से रेस्तरां चला रहे हैं। उन्होंने कहा, हम इस बारे में उदास के बजाए कोविड-19 के बाद के समय को देख रहे हैं।

उन्होंने कहा कि लोगों को फिर से रेस्तरां में आने को प्रेरित करने के लिए लोगों के मन में एक उमंग पैदा करने की जरूरत है।

यूनाइटेड कॉफी हाउस ने चित्रकार, समाजसेवी, पत्रकार और राजनेताओं से लेकर फिल्मी सितारों तक की एक भीड़ को आकर्षित किया है। यह रेस्तरां (भोजनालय) शहर के बदलते परि²श्य और खाद्य संस्कृति का गवाह रहा है।

कालरा ने कहा, गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री वी. पी. सिंह से लेकर उस समय तक के जो भी रहें हों, हर कोई रेस्तरां में आया करता था। मशहूर चित्रकार एम. एफ. हुसैन महीने में कम से कम एक बार तो यहां आते ही थे।

उन्होंने कहा कि उनके रेस्तरां के फिल्मी जगत की मशहूर हस्तियां रहे गुरुदत्त, देव आनंद और राज कपूर भी ग्राहक रहे हैं।

यहां के कीमा समोसा, नर्गिसी कोफ्ता और मटन करी काफी प्रसिद्ध रहे हैं, जिनका स्वाद लेने दूर-दराज से लोग आते रहे।

किसने सोचा होगा कि 78 साल बाद इस तरह के रेस्तरां का एक निर्जन रूप भी दिखाई देगा और जहां खाने के लिए आए लोगों की ऊजार्वान वातार्लाप चलती थी, वहां की स्थिति मौन में बदल जाएगी।

कोविड-19 महामारी का असर क्षेत्र के अन्य रेस्तरां पर भी पड़ा है। कनॉट प्लेस के डी ब्लॉक में स्थित द एंबेसी भी आजादी के समय का विख्यात रेस्तरां है, जो राष्ट्रव्यापीं बंद का खामियाजा भुगत रहा है।

इसकी स्थापना 1948 में दो भागीदारों, पी.एन. मल्होत्रा और जी.के. घई (जो विभाजन के बाद कराची से दिल्ली आए थे) ने की थी। 72 वर्ष पुराने इस रेस्तरां पर भी अब बंद का असर साफ देखने को मिल रहा है।

इस रेस्तरां में राज कपूर, यश चोपड़ा, लॉर्ड माउंटबेटन, अरुण जेटली और शीला दीक्षित जैसी बड़ी फिल्मी व राजनैतिक हस्तियों का आना रहता था। यहां के मटन चॉप्स, द सिगनेचर एंबेसी समोसा, मुगले मुसल्लम और दाल मीट का जायका लोगों के मुंह में पानी ला देता था।

इस रेस्तरां को फिलहाल पी. एन. मल्होत्रा के पोते कुमार सावर मल्होत्रा चलाते हैं। उन्होंने कहा, हमारे रेस्तरां के अलावा शहर में यूनाइटेड कॉफी हाउस, क्वॉलिटी और होस्ट जैसे तीन अन्य पुराने रेस्तरां हैं। वे दिल्ली के पर्याय हैं और इन्हें इस चुनौतीपूर्ण समय में सरकार द्वारा समर्थन दिया जाना चाहिए।

मल्होत्रा ने उद्योग के लिए तत्काल राहत और पुनरुद्धार के लिए सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
Manohar-Lal-Khattar
राजनीति8 mins ago

हरियाणा सरकार ने 1 जुलाई से स्कूल खोलने की मांगी इजाजत

Arrested-
राजनीति15 mins ago

राजनाथ की गुमशुदी का पोस्टर लगाने पर सपा के 2 कार्यकर्ता गिरफ्तार

टेक16 mins ago

एप्पल ने की 13 इंच वाले मैकबुक प्रो की रैम अपग्रेड करने की कीमत दोगुनी

coronavirus
राष्ट्रीय28 mins ago

मणिपुर में कोरोना के 4 नए मामले आए सामने

shooting
मनोरंजन33 mins ago

लॉकडाउन के बाद शूटिंग करने के लिए तैयार है बॉलीवुड

Lockdown Hotspots
राष्ट्रीय46 mins ago

दिल्ली का दवा मार्केट भगीरथ प्लेस 4 जून तक बंद

Maharashtra Police
राष्ट्रीय51 mins ago

महाराष्ट्र पुलिस में अब तक 2,416 संक्रमित

Mann Ki Baat
राजनीति52 mins ago

‘मन की बात’ में बोले मोदी- ‘कोरोना की लड़ाई लंबी, पहले से ज्यादा रहना होगा सतर्क’

Coronavirus
राष्ट्रीय52 mins ago

मुंगेर के जिलाधिकारी कार्यालय में तैनात दो सुरक्षाकर्मी और एक स्टाफ कोरोना संक्रमित

Airline-
अंतरराष्ट्रीय1 hour ago

तुर्की 1 जून से फिर शुरू होंगी घरेलू उड़ानें

Multani Mitti-
लाइफस्टाइल4 weeks ago

चेहरे के लिए इतनी फायदेमंद होती है मुल्तानी मिट्टी…

pm modi cm meeting
ओपिनियन4 weeks ago

धन्य है गोदी मीडिया जिसने प्रधानमंत्री के बयान को भी ‘अंडरप्ले’ कर दिया!

Modi Trump
ओपिनियन4 weeks ago

ट्रम्प को अपना सिंहासन डोलता दिख रहा है, भारत भी अछूता नहीं रहने वाला

Narendra Modi
ब्लॉग4 weeks ago

अद्भुत है मोदीजी की ‘कष्ट-थिरैपी’!

Migrant Workers in Train
ब्लॉग4 weeks ago

सम्पन्न तबके की दूरदर्शिता के बग़ैर पटरी पर नहीं लौटेगी अर्थव्यवस्था

Sonia Gandhi Congress Prez
ओपिनियन4 weeks ago

क्या काँग्रेस के लिए टर्निंग प्वाइंट बनेगी ग़रीबों का रेल-भाड़ा भरने की पेशकश?

Rs 2000 Note
व्यापार4 weeks ago

कर्नाटक में बंद प्रभावित सेक्टरों के लिए 1610 करोड़ रुपये का राहत पैकेज

Swine Flu
राष्ट्रीय4 weeks ago

कोरोना संकट के बीच भारत में पहली बार खतरनाक अफ्रीकी फ्लू की दस्तक

wheat-min
व्यापार4 weeks ago

पंजाब में गेहूं की खरीद 100 लाख टन के पार

मनोरंजन4 weeks ago

डीडी नेशनल पर रविवार से प्रसारित होगा लोकप्रिय धारावाहिक श्रीकृष्णा

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय3 weeks ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर1 month ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य2 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति2 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

मनोरंजन2 months ago

रफ्तार का नया गाना ‘मिस्टर नैर’ लॅान्च

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
अंतरराष्ट्रीय2 months ago

चीन ने महामारी के फैलाव को कारगर रूप से नियंत्रित किया : डब्ल्यूएचओ

मनोरंजन2 months ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन3 months ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन3 months ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Kapil Mishra in Jaffrabad
राजनीति3 months ago

3 दिन में सड़कें खाली हों, वरना हम किसी की नहीं सुनेंगे: कपिल मिश्रा का अल्टीमेटम

Most Popular