Connect with us

शहर

केरल मर्डर: आदिवासी मधु के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा देगी राज्य सरकार

Published

on

Kerala
फाइल फोटो

केरल के पलक्कड़ में 22 फरवरी को एक आदिवासी युवक की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर की गई हत्या के मामले में स्थानीय पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

इसके साथ ही केरल सरकार ने आदिवासी युवक के परिवार को 10 लाख की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्री जुआल ओराम ने कहा कि राज्य की मुख्य सचिव से एक राज्य में सबसे पिछड़े आदिवासी बस्तियों में से एक अतापदी में हुई पीड़ित की मौत पर रिपोर्ट मांगी गई है।

उधर, मृतक युवक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि उसके सिर और पीठ पर आंतरिक चोटें आईं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में युवक के मरने का कारण शारीरिक रूप से दी गई यातना को बताया गया है।

इसके विरोध में शनिवार को त्रिवेंद्रम में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मुंह पर काली पट्टी बांधकर सरकार के खिलाफ विरोध किया है।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने इस घटना पर कहा कि पुलिस ने मानसिक रूप से अस्वस्थ आदिवासी युवक की हत्या में शामिल सात संदिग्धों में से दो को गिरफ्तार कर लिया है।

पीड़ित की मां के अनुसार, 27 वर्षीय मृत युवक को चोरी के आरोप में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला। युवक को ‘मानसिक रूप से अस्वस्थ’ बताया जा रहा है।

मृतक मधु की मां ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि कल मेरे बेटे को कुछ लोगों ने अट्टापड्डी-अगाली के समीप चोर कहकर पीटा। उसके बाद उसे पुलिस के हवाला कर दिया, जहां उसकी हालत बिगड़ने पर उसे अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में उसकी मौत हो गई। वह चोर नहीं था, बल्कि मानसिक रूप से अस्वस्थ था।

गुरुवार को हुई इस हिंसक घटना में शामिल युवक ने घटना से कुछ देर पहले सेल्फी खींच कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी, जिसके बाद पूरे प्रदेश में इस घटना पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की गई है।

विजयन ने कहा, ‘यह घृणित अपराध केरल के प्रगतिशील समाज के लिए धब्बा है। लेकिन मैं आपको निश्चिंत करना चाहता हूं कि सभी दोषियों के खिलाफ जल्द कार्रवाई की जाएगी, ताकि ऐसे अपराध, खासकर लंबे समय से उपेक्षित समाज के लोगों के साथ ऐसा न हो।’

बता दें कि केरल में एक आदिवासी युवक को चोरी के आरोप में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला। युवक को ‘मानसिक रूप से अस्वस्थ’ बताया जा रहा था।

WeForNews

 

शहर

बिहार : बच्चे को आम तोड़ने की सजा जान देकर चुकानी पड़ी

Published

on

crime-scene
File Photo

बिहार के खगड़िया जिले के गोगरी थाना क्षेत्र में गुरुवार को एक बच्चे को बगीचे से आम तोड़ने की सजा अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। आम तोड़ने से गुस्साए बगीचे की रखवाली करने वाले शख्स ने 12 वर्षीय बच्चे की गोली मारकर हत्या कर दी।

पुलिस के अनुसार, “शेरगढ़ गांव के रहने वाले विभूति यादव का 12 साल का बेटा सत्यम कुमार गांव के पास ही बगीचे में आम तोड़ने गया था। रमा यादव उस बगीचे की रखवाली कर रहा था। सत्यम के आम तोड़ने से नाराज रमा ने उसे गोली मार दी, जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई।”

ग्रामीणों के मुताबिक गांव के लोगों ने आरोपी को पकड़ने की कोशिश की लेकिन वह फरार हो गया। गोगरी के थाना प्रभारी दीपक कुमार ने बताया, “शव को पोस्टमार्टम के लिए खगड़िया के सदर अस्पताल भेज दिया गया है और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। घटना के बाद से रमा का पूरा परिवार फरार हो गया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

गोरखपुर टेरर फंडिंग नेटवर्क का मास्टरमाइंड गिरफ्तार

Published

on

Ramesh shah-
टेरर फंडिंग नेटवर्क का मास्टरमाइंड गिरफ्तार (फोटो-ANI)

गोरखपुर टेरर फंडिंग मामले में उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र पुलिस के आतंकवाद रोधी दल (एटीएस) ने संयुक्त अभियान में मास्टरमाइंड रमेश शाह को पुणे से गिरफ्तार किया है। रमेश शाह आतंकवादी संगठनों को आर्थिक मदद करता था।

एक अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि रमेश की गिफ्तारी पुणे से मंगलवार को हुई और उसे ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ लाया जा रहा है। एटीएस महानिरीक्षक असीम अरुण ने कहा कि रमेश को यहां लाए जाने के बाद उसे उत्तर प्रदेश अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा और पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा।

अधिकारी ने बताया कि इस आपराधिक षडयंत्र में छह लोग शामिल थे और उन्होंने पकिस्तानी हैंडल के दिशानिर्देश पर इंटरनेट के जरिए विभिन्न बैंक खातों में राशि वितरित की। इन छह लोगों को 24 मार्च को गोरखपुर से गिरफ्तार किया गया था। 28 वर्षीय रमेश शाह इस गैंग का सरगना है।

एटीएस अधिकारी ने कहा कि शाह के इशारे पर पाकिस्तानी हैंडलर और आतंकवादी ऑपरेटरों के बीच एक करोड़ रुपये से अधिक की राशि का आदान-प्रदान हुआ। बड़ी रकम मध्यपूर्व, जम्मू एवं कश्मीर, केरल से आती है और इसका वितरण विभिन्न राज्यों में किया जाता है। रमेश शाह बिहार के गोपालगंज का रहने वाला है और वह बीते कई वर्षो से गोरखपुर का एक शॉपिंग मार्ट चला रहा था।

WeForNews

Continue Reading

शहर

हिंदू-मुस्लिम दंपत्ति को मिला पासपोर्ट, अर्जी पहले हुई थी रद्द

Published

on

PASPOORT-min

हिन्दू-मुस्लिम कपल को विदेश मंत्रालय के दखल के बाद पासपोर्ट मिल गया है। 

बता दें कि लखनऊ पासपोर्ट ऑफिस में एक हिन्दू-मुस्लिम कपल का पासपोर्ट आवेदन खारिज करने के मामले में कार्रवाई हुई । शिकायत के 12 घंटे बाद अधिकारी का तबादला भी कर दिया गया।

मोहम्मद अनस सिद्दीकी और उनकी पत्नी तन्वी सेठ ने 2007 में शादी की थी और उन्होंने लखनऊ में पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था। तन्वी का आरोप है कि पासपोर्ट ऑफिसर ने उन्हें नाम बदलने को कहा और सिद्दीकी को धर्म बदलने के लिए भी कहा गया।

इस कपल ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट और ईमेल कर इसकी शिकायत की। कपल ने कहा कि पासपोर्ट ऑफिसर ने उन्हें अपमानित और शर्मिंदा किया।

कपल की एक 6 साल की बेटी भी है। तन्वी ने कहा कि नाम न बदलना उनका पारिवारिक मामला है और इसको लेकर पासपोर्ट अधिकारी उन्हें कुछ भी नहीं कह सकते हैं।

कपल ने 19 जून को पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था और 20 जून को पासपोर्ट कार्यालय में अप्वाइंटमेंट लेने के बाद गए थे।

wefornews 

Continue Reading

Most Popular