कन्हैया के आरोप-पत्र पर निर्णय के लिए विधि विभाग से कहेंगे केजरीवाल | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राजनीति

कन्हैया के आरोप-पत्र पर निर्णय के लिए विधि विभाग से कहेंगे केजरीवाल

Published

on

Arvind kejriwal
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और भाकपा नेता कन्हैया कुमार के देश विरोधी नारों के मामले पर निर्णय लेना उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं है, फिर भी वह इस पर जल्द निर्णय के लिए विधि विभाग से कहेंगे। दिल्ली पुलिस ने जेएनयू में देशविरोधी नारे लगाए जाने के कथित मामले में कन्हैया कुमार व अन्य के खिलाफ पटियाला हाउस कोर्ट में आरोप-पत्र (चार्जशीट) दायर किया है। यह आरोप-पत्र एक साल पहले जनवरी 2019 में दायर किया गया था। तब दिल्ली पुलिस को अदालत ने फटकार लगाते हुए कहा कि जब तक दिल्ली सरकार आरोप-पत्र दायर करने की मंजूरी नहीं देती, तब तक हम इस पर संज्ञान नहीं लेंगे।

दिल्ली सरकार की पहली कैबिनेट बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “कन्हैया के मामले में आरोप-पत्र को मंजूरी देना या न देना मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है। यह एक स्वतंत्र व अलग विभाग का मामला है। फिर भी हम संबंधित विभाग से कहेंगे कि वह जल्द ही इस पर अपना निर्णय ले।”

दरअसल, देशद्रोह के मामले में सीआरपीसी के सेक्शन 196 के तहत जब तक सरकार मंजूरी नहीं दे देती, तब तक अदालत आरोप-पत्र पर संज्ञान नहीं ले सकती। इसलिए कन्हैया कुमार के खिलाफ चलाए जा रहे देशद्रोह के मामले में दिल्ली सरकार की अनुमति लेना अनिवार्य है।

अदालत इस मामले में पहले ही कह चुकी है कि आरोप-पत्र पर सरकार से अनुमति लेनी होगी। इस पर पुलिस ने 10 दिनों के अंदर मंजूरी ले आने की बात कही थी, लेकिन दिल्ली सरकार से अब तक मंजूरी नहीं मिली है।

दिल्ली सरकार की अनुमति मिलने तक अदालत आरोप-पत्र में देशद्रोह वाली धारा पर संज्ञान नहीं लेगी। अगर दिल्ली सरकार ने अनुमति नहीं दी तो देशद्रोह की धारा स्वत: खत्म हो जाएगी। दिल्ली सरकार की अनुमति लिए बिना ही आरोप-पत्र दाखिल करने पर सवाल भी उठ रहे हैं। दिल्ली सरकार के पास कन्हैया कुमार के आरोप-पत्र पर अनुमति के लिए यह फाइल पिछले एक साल से लंबित है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने इस पूरे प्रकरण में आरोप-पत्र दायर करने के लिए तीन साल का समय लिया है। अब दिल्ली सरकार का कानूनी मामलों से संबंधित विभाग इस विषय का अध्ययन कर रहा है। बुधवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार का संबंधित विभाग जल्द ही इस मसले पर अपना निर्णय लेगा।

गौरतलब है कि कन्हैया कुमार के आरोप-पत्र को अनुमति दिए जाने का मामला विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा द्वारा उठाया गया था। भाजपा ने इसे राजनीतिक मुद्दा बनाते हुए केजरीवाल पर कन्हैया कुमार को बचाने का आरोप भी लगाया है।

— आईएएनएस

मनोरंजन

कमल हासन ने लॉकडाउन के खिलाफ मोदी को लिखा खुला पत्र

Published

on

Kamal Haasan-

चेन्नई: अभिनेता, फिल्मकार और राजनेता कमल हासन ने कोरोना से निपटने के लिए प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देशभर में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन लागू किए जाने की आलोचना करते हुए उन्हें एक खुला पत्र लिखा है और उनके फैसले को गलत बताया है।

मक्कल निधि मय्यम पार्टी के संस्थापक कमल ने अपने पत्र में लिखा, “आदरणीय महोदय, मैं इस पत्र को हमारे देश के एक जिम्मेदार लेकिन निराश नागरिक के रूप में लिख रहा हूं। 23 मार्च को आपको लिखे अपने पहले पत्र में मैंने सरकार से आग्रह किया था कि हमारे समाज के अनसुने नायकों, सबसे कमजोर और आश्रित लोगों की दुर्दशा देखकर मुंह नहीं मोड़े। अगले दिन, राष्ट्र ने एक सख्त और तत्काल लॉकडाउन की घोषणा को सुना, लगभग नोटबंदी की शैली में।”

उन्होंने आगे लिखा, “मैं हैरान रह गया, लेकिन मैंने अपने निर्वाचित नेता पर भरोसा करना चुना। मैंने तब भी आप पर भरोसा करना चुना था, जब आपने नोटबंदी की घोषणा की थी, लेकिन समय ने साबित किया कि मैं गलत था। समय ने साबित कर दिया कि माननीय आप भी गलत थे।”

उन्होंने कहा, “मेरा सबसे बड़ा डर यह है कि नोटंबदी की तरह ही उसी गलती को बड़े पैमाने पर दोहराया जा रहा है। जहां नोटबंदी से गरीबों की बचत और आजीविका को नुकसान हुआ, वहीं बीमारी को लेकर नियोजित लॉकडाउन हमें जीवन और आजीविका दोनों के नुकसान की ओर ले जा रही है। गरीबों के पास आपकी ओर देखने के अलावा कोई विकल्प नहीं है, एक तरफ आप अधिक विशेषाधिकार प्राप्त लोगों से दिया जलाकर रोशनी का तमाशा करने के लिए कह रहे हैं, वहीं दूसरी ओर गरीब आदमी की दुर्दशा अपने आप में एक शर्मनाक तमाशा बन रही है। उधर आपकी दुनिया ने अपनी बालकनियों में तेल के दीये जलाए हैं, गरीब अपनी अगली रोटी सेंकने और सब्जी भूनने खातिर पर्याप्त तेल इकट्ठा करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि मजदूरी करने वाले, घर की मदद करने वाले, सड़क पर गाड़ी चलाने वाले, ऑटो-रिक्शा और टैक्सी चालक और असहाय प्रवासी मजदूर सुरंग के अंत में प्रकाश को देखने के लिए संघर्ष करते हैं, ऐसा लगता है कि हम केवल पहले से ही निर्मित सिर्फ मध्यम वर्ग के किले को सुरक्षित करने में लगे हुए हैं। मैं यह नहीं कह रहा कि हम मध्यम वर्ग या किसी एक वर्ग को नजरअंदाज करें, लेकिन मैं आपको हर किसी के किले को सुरक्षित करने के लिए और अधिक काम करते देखना चाहता हूं।”

हासन ने कहा कि डब्ल्यूएचओ के लिए चीनी सरकार के आधिकारिक बयान के अनुसार, पहला कन्फर्म मामला 8 दिसंबर को रिपोर्ट किया गया था। भले ही आपने इस तथ्य को स्वीकार किया हो कि दुनिया को स्थिति की गंभीरता को समझने में बहुत समय लगा, फरवरी के शुरू में पूरी दुनिया जानती थी कि यह जबरदस्त कहर बरपाने वाला है। भारत का पहला मामला 30 जनवरी को सामने आया था। हमने देखा था कि इटली के साथ क्या हुआ था। फिर भी, हमने अपने सबक जल्दी नहीं सीखे। जब हम आखिरकार अपनी नींद से जाग गए तो आपने 4 घंटे के भीतर 1.4 अरब की आबादी वाले देश में लॉकडाउन लगाने का आदेश दे दिया।

उन्होंने आगे कहा कि लोगों के लिए मात्र 4 घंटे की नोटिस अवधि, जबकि आपके पास 4 महीने की नोटिस अवधि थी। दूरदर्शी नेता वे होते हैं जो समस्या के विकराल रूप लेने से पहले ही उसके समाधान पर काम करना शुरू कर देते हैं।

कमल हासन ने पत्र का समापन यह कहते हुए किया कि भले ही वह नाराज हैं, लेकिन संकट की इस घड़ी में प्रधानमंत्री के पक्ष में हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

राजनीति

अहमद पटेल ने सांसदों की सलैरी कट के सरकार के फैसले का किया स्वागत

Published

on

Ahmed Patel
कांग्रेस नेता अहमद पटेल (फाइल फोटो)

कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि सांसदों की सलैरी कट के सरकार के फैसले का स्वागत है। हम अपने देश के लोगों के लिए कम से कम इतना तो कर ही सकते हैं।

उन्होंने कहा कि इस कठिन समय में, कम से कम हम साथी नागरिकों की मदद करने के लिए कर सकते हैं।

बता दें कि कोरोना वायरस से मुकाबला करने के लिए केंद्र सरकार ने सभी सांसदों के वेतन में 30 प्रतिशत कटौती करने का फैसला लिया है। वहीं राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और राज्यों के राज्यपाल स्वेच्छा से अपने वेतन में कटौती का फैसला किया है।

WeForNews

Continue Reading

राजनीति

राहुल की अपील- ‘धार्मिक-जातिगत मुद्दे छोड़ महामारी के खिलाफ एकजुट हों लोग’

Published

on

Rahul Gandhi
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देशवासियों से अपील की कि कोरोना संकट से निपटने के लिए धर्म, जाति और वर्ग के मतभेदों को भुलाकर एकजुट होना जरूरी है। उन्होंने यह भी कहा कि देश एकजुट होकर इस महामारी को पराजित करेगा।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘कोरोना संकट भारत के लिए एक ऐसा मौका है जिसमें लोग अपने धर्म, जाति एवं वर्ग के मतभेदों को पीछे छोड़कर एकजुट हों और इस खतरनाक वायरस को पराजित करें।’ उन्होंने कहा, ‘ करुणा, संवेदना और त्याग इस सोच की बुनियाद हैं। हम साथ मिलकर इस लड़ाई को जीतेंगे।’ अपने इस ट्वीट के साथ राहुल ने हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल पेश करती एक तस्वीर भी साझा की।

WeForNews

Continue Reading
Advertisement
Kashmir Srinagar Situation
राष्ट्रीय16 mins ago

जम्मू-कश्मीर में 5 आतंकी ढेर, 5 सैनिक शहीद

Kamal Haasan-
मनोरंजन32 mins ago

कमल हासन ने लॉकडाउन के खिलाफ मोदी को लिखा खुला पत्र

Ahmed Patel
राजनीति46 mins ago

अहमद पटेल ने सांसदों की सलैरी कट के सरकार के फैसले का किया स्वागत

Christian Michel
राष्ट्रीय60 mins ago

हाईकोर्ट ने मिशेल की अंतरिम जमानत पर आदेश सुरक्षित रखा

मनोरंजन1 hour ago

‘हैशटैग 9 बजे 9 मिनट’ के दौरान पटाखे फोड़े जाने पर बी-टाउन ने जताई आपत्ति

राष्ट्रीय1 hour ago

कोरोना से दिल्ली में अब तक 7 लोगों की गई जान: केजरीवाल

Iraq
अंतरराष्ट्रीय2 hours ago

इराक में अमेरिकी तेल कंपनी के पास राकेट हमला

gurudwara
अंतरराष्ट्रीय2 hours ago

पाकिस्तान : बैसाखी पर गुरुद्वारा पंजा साहिब में होने वाला कार्यक्रम रद्द

Rahul Gandhi
राजनीति2 hours ago

राहुल की अपील- ‘धार्मिक-जातिगत मुद्दे छोड़ महामारी के खिलाफ एकजुट हों लोग’

Coronavirus-m
राष्ट्रीय2 hours ago

उत्तर प्रदेश में कोरोना के अब तक 305 मामले आए सामने

मनोरंजन1 week ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन1 month ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन1 month ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Kapil Mishra in Jaffrabad
राजनीति1 month ago

3 दिन में सड़कें खाली हों, वरना हम किसी की नहीं सुनेंगे: कपिल मिश्रा का अल्टीमेटम

मनोरंजन1 month ago

शान का नया गाना ‘मैं तुझको याद करता हूं’ लॉन्च

मनोरंजन2 months ago

सलमान का ‘स्वैग से सोलो’ एंथम लॉन्च

Shaheen Bagh Jashn e Ekta
राजनीति2 months ago

Jashn e Ekta: शाहीनबाग में सभी धर्मो के लोगों ने की प्रार्थना

Tiger Shroff-
मनोरंजन2 months ago

टाइगर की फिल्म ‘बागी 3’ का ट्रेलर रिलीज

Human chain Bihar against CAA NRC
शहर2 months ago

बिहार : सीएए, एनआरसी के खिलाफ वामदलों ने बनाई मानव श्रंखला

Sara Ali Khan
मनोरंजन3 months ago

“लव आज कल “में Deepika संग अपनी तुलना पर बोली सारा

Most Popular