होली में ऐसे रखें अपनी त्वचा का ख्याल | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

लाइफस्टाइल

होली में ऐसे रखें अपनी त्वचा का ख्याल

Published

on

File Photo

होली सबको प्यारी है। सब इसके रंग में सराबोर होना चाहते हैं लेकिन इससे पहले अपनी त्वचा की सुरक्षा से जुड़े उपायों के बारे में जानना बहुत जरूरी है।

होली के रंगों का कई बार त्वचा पर खराब असर होता है, खासकर चेहरे की त्वचा पर , जो कि काफी नाजुक होती है। ऐसे में किस तरह से अपनी त्वचा का ध्यान रखते हुए होली के हुड़दंग में शामिल हुआ जा सकता है।

आइए जानते हैं ‘इंडियन ब्यूटी ब्लॉग शालिनी एट बी ब्यूटीलिशियस डॉटकॉम’ पर ब्लॉग लिखती आ रहीं मशहूर ब्लॉगर शालिनी श्रीवास्तव से।

शालिनी कहती हैं ऐसे में जब कि बाजार में रासायनिक रंगों कि भरमार है तो यह एहतियात और जरूरी हो जाती है। उन्होंने कहा कि यह आवश्यक है कि हम त्वचा की जलन का ख्याल रखें और साथ कुछ स्किनकेयर टिप्स को अपने दिमाग में सुरक्षित रखें।

बर्फ के टुकड़े रगड़ें

कुछ बर्फ के टुकड़े लें और उन्हें एक साफ सूती कपड़े में लपेटें। 10 से 15 मिनट के लिए उन्हें अपने चेहरे पर रगड़ें। यह सुनिश्चित करेगा कि आपके चेहरे पर जो छिद्र हैं वो बंद हैं और उन सभी से आपकी त्वचा में रासायनिक रंगों का प्रवेश नहीं होगा।

अपनी त्वचा और बालों पर तेल लगाएं

ऑइलिंग केवल आपके बालों तक सीमित नहीं होना चाहिए। आपकी त्वचा को रसायनों से भी बचाना होगा। सुनिश्चित करें कि आप अपनी पसंद के तेल के साथ अपने बालों को पूरी तरह से तेल लगाते हैं। आपकी त्वचा के लिए, 1 बड़ा चम्मच अरंडी का तेल, नारियल तेल और बादाम के तेल में मिला सकते हैं। अपनी त्वचा पर तेल के इस मिश्रण को एक मोटी परत के रूप मे लगायें जो एक बाधा के रूप में कार्य करेगा और आपकी त्वचा को रंगों से प्रभावित होने से बचाएगा।

सनस्क्रीन लगाना न भूलें –

सुनिश्चित करें कि आप घर से बाहर निकलने से पहले वाटरप्रूफ सनस्क्रीन अवश्य लगाएं । यह आपकी त्वचा को टैन होने से बचाएगा और साथ ही पानी और रंगों से भी रक्षा होगी ।

अपने नाखूनों को पेंट से कोट करें

यह बहुत संभव है कि आप रंगों से खेलते समय अपने नाखूनों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। उन्हें संरक्षित रखने के लिए, अपने नाखूनों पर नेल पेंट का एक मोटा कोट लगाएं और अपने क्यूटिकल्स को बचाने के लिए उन्हें नेल ऑयल से सील करें।

अपने होंठ, गर्दन और कान को सुरक्षित रखें

अपने होंठ सुरक्षित रखने के लिए आपको अपने होंठों पर पेट्रोलियम जेली या वैसलीन की एक मोटी परत लगाना नहीं भूलना चाहिए। इसके अलावा, आपके कान और गर्दन को भी सुरक्षित करने की आवश्यकता है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप उन्हें भी कोट करते हैं। यह हानिकारक रसायनों को आपके होंठ, गर्दन और कान को प्रभावित नहीं करने देगा।

शालिनी श्रीवास्तव कहती हैं होली के दिन रंगों से सराबोर होने के बाद भी त्वचा का ख्याल रखना उतना ही जरूरी है, जितना कि होली खेलने से पहले। इसके लिए कुछ जरूरी टिप्स इस प्रकार हैं :

साबुन और फेस वाश से बचें

अपने चेहरे को रसायन से भरी हुई साबुन और फेस वॉश से न धोने की कोशिश करें क्योंकि वे आपके चेहरे पर मौजूद प्राकृतिक तैलीय तत्वों को नुक्सान पहुंचा सकते हैं और आपकी त्वचा रूखि हो सकती है । उन उत्पादों को साफ करने का विकल्प चुनें जो अधिक कार्बनिक और हर्बल हैं क्योंकि वें आपकी त्वचा को नुकसान नहीं पहुँचाते हैं।

प्राकृतिक फेस पैक और मास्क चुनें

दही और बेसन, चंदन, गुलाब जल, और हल्दी जैसे प्राकृतिक सामग्री का उपयोग फेस पैक बनाने के लिए करें। यह आपकी त्वचा को शांत करेगा और आपकी त्वचा के प्राकृतिक संतुलन को बहाल करेगा।

तेल का उपयोग करके रंग निकाले

जिद्दी रंग हमारी त्वचा पर एक बुरा दाग छोड़ते हैं। थोड़ी सी रूयी पर जैतून का तेल लेकर धीरे धीरे त्वचा से रंगों को हटाएँ । यह आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज करेगा और साथ ही साथ सभी रंगों को प्रभावी रूप से हटाएगा।

अपने चेहरे को मॉइस्चराइज करें

बिस्तर पर जाने से पहले, सुनिश्चित करें कि आप एक मॉइस्चराइजर का उपयोग करें जो आपकी त्वचा पर हल्का और कोमल हो। यह पर्याप्त नमी प्रदान करेगा जब आप सोते हैं और आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज रखते हैं। आप स्वस्थ चमकते चेहरे के साथ जागेंगे!

खूब पानी पिएं और जगमगाती हुई त्वचा पाएं

आप जितना पानी पिएंगे आपकी त्वचा पर उतना निखार आएगा होली के बाद यह और भी आवश्यक है क्योंकि यह आपकी त्वचा को हाइड्रेट रखेगा

WeForNews

लाइफस्टाइल

कोविड-19 से संक्रमित रोगियों को हो सकती है थायराइड की भी समस्या

Published

on

File Photo

नई दिल्ली,कोरोनावायरस से संक्रमित हुए रोगियों को एक सूजन संबंधी थायरॉयड बीमारी सबस्यूट थायरॉयडिटिस हो सकती है। एक नए शोध में यह बात सामने आई है।

शोधकर्ताओं ने बताया कि सबस्यूट थायरॉयडिटिस एक सूजन थायरॉयड रोग है। इसकी विशेषता है कि इसके चलते गर्दन में दर्द होता है और यह आमतौर पर एक अपर रेस्पिरेट्री ट्रैक्ट संक्रमण के चलते होता है।

द जर्नल ऑफ क्लिनिकल एंडोक्रिनोलॉजी एंड मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित एक नए मामले के अध्ययन के अनुसार, यह एक वायरल संक्रमण या एक पोस्ट-वायरल इंफ्लेमेटरी रिएक्शन के कारण हो सकता है, और कई वायरस ऐसे हैं, जो रोग से जुड़े हुए हैं।

गंभीर श्वसन लक्षणों के साथ सार्स-कोव-2 (कोविड-19) एक महामारी के रूप में उभरा है और इसमें अन्य अंग शामिल हो सकते हैं। कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों का वैश्विक आंकड़ा 50 लाख से अधिक हो चुका है।

इटली के यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ऑफ पीसा के शोधकर्ता फ्रांसेस्को लैट्रॉफ ने कहा, हमने सार्स-कोव-2 संक्रमण के बाद सबस्यूट थायरॉयडिटिस के पहले मामले की सूचना दी । चिकित्सकों को कोविद -19 से संबंधित इस अतिरिक्त संभावना के बारे में सतर्क किया जाना चाहिए।

आईएएनएस

Continue Reading

लाइफस्टाइल

हल्की खांसी और गले में खराश, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

Published

on

ayurved
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरोना संकट के इस दौर में हल्की खांसी और गले में खराश को लेकर बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है। मौसम में बदलाव और ठंडा-गर्म खानपान के कारण यह समस्या हो सकती है। इसके लिए अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इसकी दवा तो आपकी रसोई में ही मौजूद है। बस, जरूरत है उसे जानने और दूसरों को समझाने की। आयुर्वेद के इसी ज्ञान से खुद और दूसरों को सुरक्षित रखा जा सकता है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की आयुष इकाई के महाप्रबंधक डॉ. रामजी वर्मा का कहना है कि सूखी खांसी व गले में खराश को दूर करने में आयुष का घरेलू उपचार बहुत ही कारगर है। इसके लिए ताजे पुदीने के पत्ते और काला जीरा को पानी में उबालकर दिन में एक बार भाप लेने से इस तरह की समस्या से राहत मिल सकती है। इसके अलावा लौंग के पाउडर को मिश्री-शहद के साथ मिलाकर दिन में दो से तीन बार सेवन करने से इस तरह की समस्या दूर हो सकती है।

डॉ. वर्मा का कहना है कि अगर इसके बाद भी परेशानी ठीक नहीं होती है, तब चिकित्सक की सलाह लें।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के एक से एक नुस्खे आयुर्वेद में मौजूद हैं, जिसको आजमाकर हम कोरोना ही नहीं अन्य संक्रामक बीमारियों को भी अपने से दूर कर सकते हैं । इसके अलावा इन नुस्खों के कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हैं।

डॉ. वर्मा ने बताया कि भोजन में हल्दी, धनिया, जीरा और लहसुन का इस्तेमाल भी इसमें बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके अलावा दूध में हल्दी मिलाकर पीना, गुनगुना पानी और हर्बल चाय का काढ़ा पीकर भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं।

इसके साथ ही योगा, ध्यान और प्राणायाम का भी सहारा लिया जा सकता है। बदली परिस्थितियों में आप यही छोटे-छोटे नुस्खे आजमाकर स्वस्थ रह सकते हैं, क्योंकि अभी अस्पताल और चिकित्सक कोरोना के मरीजों की जांच और देखरेख में व्यस्त हैं। इसलिए अस्पतालों में अनावश्यक दबाव बढ़ाने से बचें और सुरक्षित रहें।

–आईएएनएस

Continue Reading

लाइफस्टाइल

कोरोना वायरस के खिलाफ ‘कवच’ फीफाट्रोल असरदार

Published

on

ayurved medicine

नई दिल्ली: विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्रालय के राष्ट्रीय अनुसंधान एवं विकास निगम (एनआरडीसी) ने वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए शरीर को मजबूत और कवच बनाने वाली फीफाट्रोल दवा को कोविड उपचार एवं बचाव तकनीकों में शामिल किया है।

इससे पहले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भोपाल के डॉक्टर भी अध्ययन के बाद इसे आयुर्वेदिक एंटीबॉयोटिक कहा था।

इसके अनुसार एमिल फार्मास्युटिकल के गहन अध्ययन के बाद तैयार दवा फीफाट्रोल में सुदर्शन घन वटी, संजीवनी वटी, गोदांती भस्म, त्रिभुवन कीर्ति रस व मत्युंजय रस जड़ी बूटियां हैं जिनके जरिए यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने में सहायक है।

कोविड जांच, उपचार और निगरानी तीन बिंदुओं पर केंद्रित एनआरडीसी की रिपोर्ट में बताया गया है कि इस वक्त करीब 13 मोबाइल एप ऐसे हैं जिनके जरिए इस महामारी से जुड़ी सत्य जानकारियां प्राप्त की जा सकती हैं। यह सभी भारतीय एप निशुल्क डाउनलोड किए जा सकते हैं जिसमें आरोग्य सेतु भी शामिल है।

इनके अलावा संक्रमण के सर्विलांस को लेकर करीब 22 तकनीकों पर काम चल रहा है। इनके अलावा तकरीबन 31 अध्ययन जांच किट्स को लेकर संचालित हैं। करीब 60 अध्ययन ऐसे हैं जो अस्पतालों में दिए जाने वाले कोविड उपचार पर केंद्रित हैं। आईआईटी रोपड़ के इंजीनियर ऐसे वार्डबूट का निर्माण कर रहा है जो संबंधित अस्पताल के कंट्रोल रूम से रिमोट द्वारा संचालित होगा और कोविड मरीज को उसके कमरे में जाकर दवा और खाना दे सकेगा।

सीएसआईआर के महानिदेश डॉ. शेखर सी मांडे ने एनआरडीसी द्वारा तैयार 200 कोविड तकनीकों की इस रिपोर्ट को लांच किया। इसमें कोविड की पहचान करने, जांच करने और उपचार एवं रोकथाम की अनेक तकनीकों को सूचीबद्ध किया गया है। फीफाट्रोल को उपचार एवं रोकथाम तकनीकों की श्रेणी में स्थान दिया गया है।

एनआरडीसी के प्रबंध निदेशक डा. एच. पुरुषोत्तम के अनुसार, सभी हितधारकों के लाभ के लिए सर्वाधिक प्रासंगिक और उभरती हुई स्वदेशी एवं नवाचार तकनीकों का संकलन किया है। यह संकलन नीति निर्माताओं, उद्योग जगत और शोधकर्ताओं के लिए एक संदर्भ का काम करेगा।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
retail inflation
व्यापार5 hours ago

2 महीने में खुदरा कारोबार को 9 लाख करोड़ रुपये का नुकसान: सीएआईटी

Coronavirus
स्वास्थ्य5 hours ago

मप्र में 294 नए मरीज, अब तक 290 मौतें

Dr Harsh Vardhan
राष्ट्रीय5 hours ago

भारत में 4 कोरोना वैक्सीन का जल्द ही क्लीनिकल ट्रायल शुरू होगा: हर्षवर्धन

arrested
राष्ट्रीय6 hours ago

महाराष्ट्र: हिरासत में साधु की हत्या का संदिग्ध

Coronavirus
स्वास्थ्य6 hours ago

जम्मू-कश्मीर में कोरोनावायरस के 52 नए मामले

Arogya Setu App
राष्ट्रीय6 hours ago

दिल्ली आने वालों के लिए आरोग्य सेतु एप अनिवार्य

Ramnath Kovind
राष्ट्रीय6 hours ago

राष्ट्रपति कोविंद ने दी ईद की मुबारकबाद

Coronavirus
स्वास्थ्य7 hours ago

गौतमबुद्धनगर : कोरोना के 21 नये मामले

coronavirus
राष्ट्रीय9 hours ago

सीआरपीएफ के 9 और जवान कोरोना पॉजिटिव

Congress
राजनीति9 hours ago

उप्र में नेताओं को परेशान करने के लिए मामले दर्ज : कांग्रेस

Multani Mitti-
लाइफस्टाइल3 weeks ago

चेहरे के लिए इतनी फायदेमंद होती है मुल्तानी मिट्टी…

China trade wa
अंतरराष्ट्रीय4 weeks ago

टिप्पणी : अमेरिका का दोषारोपण खेल वायरस से कहीं अधिक खतरनाक

pm modi cm meeting
ओपिनियन3 weeks ago

धन्य है गोदी मीडिया जिसने प्रधानमंत्री के बयान को भी ‘अंडरप्ले’ कर दिया!

Modi Trump
ओपिनियन3 weeks ago

ट्रम्प को अपना सिंहासन डोलता दिख रहा है, भारत भी अछूता नहीं रहने वाला

Narendra Modi
ब्लॉग3 weeks ago

अद्भुत है मोदीजी की ‘कष्ट-थिरैपी’!

Migrant Workers in Train
ब्लॉग3 weeks ago

सम्पन्न तबके की दूरदर्शिता के बग़ैर पटरी पर नहीं लौटेगी अर्थव्यवस्था

Sonia Gandhi Congress Prez
ओपिनियन3 weeks ago

क्या काँग्रेस के लिए टर्निंग प्वाइंट बनेगी ग़रीबों का रेल-भाड़ा भरने की पेशकश?

मनोरंजन3 weeks ago

डीडी नेशनल पर रविवार से प्रसारित होगा लोकप्रिय धारावाहिक श्रीकृष्णा

Rs 2000 Note
व्यापार3 weeks ago

कर्नाटक में बंद प्रभावित सेक्टरों के लिए 1610 करोड़ रुपये का राहत पैकेज

Watching TV makes
मनोरंजन4 weeks ago

कोविड-19 प्रभाव: फिर से लौट सकते हैं टीवी धारावाहिकों के सुनहरे दिन

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय3 weeks ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर1 month ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य1 month ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति1 month ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

मनोरंजन1 month ago

रफ्तार का नया गाना ‘मिस्टर नैर’ लॅान्च

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
अंतरराष्ट्रीय2 months ago

चीन ने महामारी के फैलाव को कारगर रूप से नियंत्रित किया : डब्ल्यूएचओ

मनोरंजन2 months ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन3 months ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन3 months ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Kapil Mishra in Jaffrabad
राजनीति3 months ago

3 दिन में सड़कें खाली हों, वरना हम किसी की नहीं सुनेंगे: कपिल मिश्रा का अल्टीमेटम

Most Popular