Connect with us

खेल

कार्तिक कितनी भी स्पेशल पारी क्यों ना खेल लें, धोनी का रिप्लेसमेंट नहीं बन सकते – पाटील

Published

on

Dinesh Karthik
फाइल फोटो

निदास ट्रॉफी के फाइनल में दिनेश कार्तिक की करिश्माई पारी ने महेन्द्र सिंह धोनी के करियर पर सवाल खड़े कर लिए… बांग्लादेश के खिलाफ खेली अपनी ताबड़तोड़ पारी के बाद से दिनेश कार्तिक के सितारें तो बुलंदियों पर पहुंच गए… लेकिन संकट धोनी के करियर को लेकर खड़ा हो गया…

धोनी को रिप्लेस करेंगे दिनेश कार्तिक!

सवाल उठ रहे हैं कि क्या 2019 के वर्ल्ड कप में दिनेश कार्तिक एमएस धोनी को रिप्लेस कर सकते हैं! धोनी की बढ़ती उम्र और उनकी बल्लेबाजी की धार कुंद पड़ने के बाद कई फैन्स इसके पक्ष में दिखाई दे रहे हैं… लेकिन पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और पूर्व चयनकर्ता संदीप पाटिल इससे इत्तेफाक नहीं रखते.. पाटिल अभी भी 2019 वर्ल्ड कप के लिए एमएस धोनी को ही विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर टीम में रखना चाहते हैं…

गौरतलब है कि खुद कार्तिक ने भी माना कि धोनी से उनकी तुलना सही नहीं… कार्तिक ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा था कि धोनी उस यूनिवर्सिटी के टॉपर हैं, जिसमें वह पढ़ रहे हैं… हालांकि संदीप पाटिल ने भी कार्तिक की तारीफ करते हुए कहा कि कार्तिक अब टीम में सेटल लग रहे हैं… कार्तिक ने टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ताओं को एक बेहतर विकल्प दे दिया है…

निदास ट्रॉफी के फाइनल में खेली गई कार्तिक की पारी उनके लिए काफी फायदेमंद रहेगी… हालांकि सवाल 2019 में धोनी की जगह कार्तिक को रखने को लेकर था… लेकिन धोनी का विकल्प कार्तिक नहीं हो सकते… ऐसा हर कोई मानता है.. और जानता भी… पाटिल ने कहा कि मैं अभी भी धोनी के साथ जाना पसंद करूंगा… आईसीसी इवेंट में आप 17-18 खिलाड़ियों को सलेक्ट नहीं कर सकते हैं… मैं चाहता हूं कि धोनी 2019 का वर्ल्ड कप खेलें।

धोनी की फिटनेस कमाल की है, हां समय के साथ उनकी मारक क्षमता में कमी आयी है, लेकिन ऐसा सभी के साथ होता है। धोनी के पास जो अनुभव है, उसकी बदौलत वह दबाव में भी खेल सकते हैं, क्योंकि विश्व कप का दबाव बिल्कुल अलग होता है और धोनी के पास यह अनुभव है। जाहिर है कार्तिक की ऐसी मनमोहक पारियां धोनी जैसे अनुभवी और महान खिलाड़ी को रिप्लेस करने के लिए नाकाफी है… फैंस 2019 वर्ल्ड कप में धोनी को ही विकेट कीपिंग करते देखेंगे… इसमें कोई शक नहीं..

WEFORNEWS

खेल

पर्थ टेस्ट में आस्‍ट्रेलिया ने भारत को दिया 287 रनों का लक्ष्‍य

Published

on

india vs australia
AUS v IND

पर्थ। मोहम्मद शमी (6/56) के करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी के दम पर भारत ने यहां वाका मैदान पर खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन सोमवार को आस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 243 रनों पर समाप्त कर उसे बड़ी बढ़त लेने से रोक दिया। मेजबान आस्ट्रेलिया की टीम एक समय भोजनकाल तक चार विकेट पर 190 रन बनाकर मजबूत स्थिति में थी और उसके पास 233 रनों की बढ़त थी।

लेकिन दूसरे सत्र में शमी की घातक गेंदबाजी के सामने टीम 53 रन ही जोड़ पाई और 243 रन पर आलआउट हो गई और उसने भारत के सामने जीत के लिए 287 रनों का लक्ष्य रख दिया।

आस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 326 रन बनाए थे जबकि भारत अपनी पहली पारी में 283 रन ऑलआउट हो गया था। इस तरह आस्ट्रेलिया के पास पहली पारी के आधार पर 43 रन की बढ़त थी।

मेजबान टीम के लिए उस्मान ख्वाजा (72) सर्वोच्च स्कोरर रहे। उनके अलावा कप्तान टिम पेन ने (37), एरॉन फिंच ने (25), मार्कस हैरिस ने (20), शॉन मार्श ने (5), पीटर हैंडसकोंब ने (13), टेविस हेड ने (19), पैट कमिंस ने एक, मिशेल मार्श ने (14) रनों का योगदान दिया। जोश हेजलवुड (17) रन बनाकर नाबाद रहे।

भारत की ओर से शमी ने 56 रन देकर सर्वाधिक छह विकेट लिए जो उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी है। शमी ने चौथी बार अपने करियर में पांच या उससे ज्यादा विकेट लिए हैं। उनके अलावा जसप्रीत बुमराह ने 39 रन पर तीन विकेट और ईशांत शर्मा ने 45 रन पर एक विकेट झटके।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

सिंधु ने जीता बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल्स का खिताब

Published

on

pv-sindhu
भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु (फाइल फोटो)

ग्वांगझू। भारत की अग्रणी बैडमिटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु ने बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल्स का खिताब अपने नाम किया। सिंधु इस खिताब को जीतने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं। इससे पहले किसी भी भारतीय खिलाड़ी ने किसी भी वर्ग में इस टूर्नामेंट का खिताब नहीं जीता था।

इस टूर्नामेंट के नाम पहले बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड सुपर सीरीज फाइनल्स था लेकिन इस साल से इसका नाम बदलकर एचएसबीसी बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल्स कर दिया गया।

वर्ल्ड नम्बर-6 सिंधु ने महिला एकल वर्ग के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को मात दी। उन्होंने वर्ल्ड नम्बर-5 ओकुहारा को एक घंटे और दो मिनट तक चले मैच में सीधे गेमों में 21-9, 21-17 से हराकर खिताबी जीत हासिल की।

दोनों के बीच कड़ी टक्कर देखी गई, क्योंकि ओकुहारा भारतीय खिलाड़ी की पुरानी चिर प्रतिद्वंद्वी हैं और ऐसे में दोनों ही खिलाड़ी एक-दूसरे के खेल से भलीभांति परिचित थीं। हालांकि, सिंधु ने बाजी मारते हुए खिताब अपने नाम कर लिया।

सिंधु और ओकुहारा के बीच खेला गया यह 13वां मैच है। इससे पहले 12 मैचों में दोनों 6-6 मैच जीतकर बराबरी पर थे लेकिन इस टूर्नामेंट के बाद सिंधु ने जापानी खिलाड़ी पर 7-6 की बढ़त बना ली है।

ओकुहारा को इस साल विश्व चैम्पियनशिप में भी सिंधु से हार का सामना करना पड़ा था।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

साइना नेहवाल ने की शादी

Published

on

Saina_Kashyap
साइना-कश्‍यप शादी के बंधन में बंधे। (फोटो: ट्वीटर)

महिला बैडमिंटन स्‍टार साइना नेहवाल ने शादी कर ली। साइना ने पुरुष बैडमिंटन स्टार परूपल्ली कश्यप को अपना जीवनसाथी बनाया है। जैसा कि लोगों को अंदाजा था कि दोनों की शादी बड़े ही धूम-धड़ाके से होगी, वैसा नहीं हुआ, अलबत्‍ता बड़ी ही सादगी से दोनों दाम्‍पत्‍य बंधन में बंध गये।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular