Connect with us

चुनाव

कर्नाटक: रायचुर में राहुल गांधी ने की दरगाह की जियारत

Published

on

Rahul Gandhi
राहुल गांधी ने दरगाह की दौरा किया है।

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी राज्‍य के दौरे पर हैं। कर्नाटक के रायचुर में राहुल गांधी सोमवार को कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया के साथ रायचूर से गुंज सर्कल के दरगाह गए। वहां राहुल ने चादर चढ़ाई और दुआ मांगी।

दरगाह के बाद राहुल गांधी कर्नाटक के सीएम सिद्धरमैया और दूसरे कांग्रेस नेताओं के साथ रायचूर के कलमला गांव में चर्चा की। इस दौरान राहुल ने चाय-पकौड़े खाया हैं।

इसके बाद राहुल गांधीरोड शो, पब्लिक मीटिंग करेंगे। राहुल गांधी ने अपनी गुजरात की प्रचार रणनीति को यहां पर भी जारी रखा है। वह कर्नाटक में मंदिरों और दरगाहों का दौरा कर रहे हैं।

राहुल गांधी ने सोमवार सुबह 10 बजे बस से रायचूर के सर्किट हाउस से गुंज सर्कल के लिए निकलें। यहां गुंज सर्कल में उनका स्वागत किया गया। इसके बाद वे कलमाला (रायचूर) पहुंचे, जहां पार्टी कार्यकर्ता से मुलाकात की। इसके बाद वे रायचूर जिले में ही गब्बूर में पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत करेंगे।

राहुल गांधी देवदुर्ग में दोपहर सवा बारह बजे जनजाति समुदाय की एक रैली को संबोधित करेंगे। सके बाद वो शाहपुर शहर और यदागिरि पहुंचेंगे, जहां उनका स्वागतकिया जाएगा।

इसके बाद राहुल गुलबर्गा जिले के कालबुर्गी में न्यूटन स्कूल के प्ले ग्राउंड में एक पब्लिक मीटिंग को संबोधित करेंगे। शाम छह बजे के बाद राहुल गांधी गुलबर्गा में ख्वाजा बंदे नवाज की दरगाह पर मत्था टेकने जाएंगे।

WeForNews

चुनाव

शासन करने वाली सरकारों ने पुडुचेरी के साथ अन्याय किया: पीएम

Published

on

पुडुचेरी में पीएम मोदी ने एक रैली को संबोधित किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुडुचेरी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यहां के लोगों के साथ विकास में भेदभाव हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत के बाद आजाद होने वाले देश हमसे आगे हैं। पीएम ने कहा कि यह केंद्र शासित राज्य विकास की दौड़ में क्यों पिछड़ा, यह कांग्रेस को बताना चाहिए।

उन्होंने कहा कि शासन करने वाली सरकारों ने इस धरती के साथ अन्याय किया है। मोदी ने कहा कि भारत के पहले पीएम ने 17 साल देश चलाया, उनकी बेटी ने 14 साल देश पर शासन किया, फिर उनके बेटे ने 5 साल तक देश चलाया, इसके बाद 2004 से 2014 तक यानी पिछले 10 साल में यह परिवार रिमोट कंट्रोल से देश की सरकार चलाता था।

इस तरह एक परिवार ने 48 साल तक देश के शासन को प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से चलाया है। हमारी सरकार को इसी साल मई में 48 महीने होने वाले हैं। अब बुद्धिजीवी सोचें कि हमने 48 महीने में क्या किया और उन्होंने 48 साल में क्या किया।

पीएम ने कहा ‘एक जमाने में यहां का टेक्सटाइल सेक्टर इतना समृद्ध था, लेकिन अब उसकी चमक फीकी पड़ गई है। यहां का कॉपरेटिव सेक्टर भी लगभग दम तोड़ रहा है।

पीएम ने आगे कहा कि जब श्री अरविन्द घोष जी अंग्रेजों से बच कर पुदुचेरी आए थे तो आप लागों ने दोनों हाथों से गले लगाकर उन्हें ज्ञान गुरु बनाया। जब कवि भारती उसी माहौल में यहां पधारे तो आपने उनका हृदय से स्वागत किया। पुदुचेरी ने ही उन्हें राष्ट्र कवि बनाने का मार्ग प्रशस्त किया।

उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता सेनानी श्री वाचिनादन का भी पुदुचेरी ने दिल खोलकर स्वागत किया। राष्ट्र निर्माण के लिए, स्वतंत्रता के लिए पुदुचेरी का योगदान, एक ऐसी विरासत है, जो हमें आज भी गौरवान्वित करता है। गुलामी के उस कालखंड में जिन पत्रिकाओं पर अंग्रेज ये सोचकर रोक लगा देते थे कि उन्हें छापना अपराध है, उनका प्रसार अपराध है, वो पत्रिकाएं पुदुचेरी ने छापी। यहां के लोगों ने एक नहीं बल्कि दो-दो स्वतंत्रता आंदोलनों में हिस्सा लिया है।

पीएम ने कहा कि कांग्रस के नेता दिल्ली में लोकतंत्र की बात करते हैं, लेकिन वे पुडुचेरी में सालों से पंचायतों के चुनाव नहीं होने देते हैं। वे जवाब दें कि यहां के लोगों के साथ धोखा क्यों करते हैं? पुडुचेरी में जनता के चुने हुए विधायक को विधानसभा में काम नहीं करने दिया जाता है।

मैं पुडुचेरी के सीएम नारायणसामी को अग्रिम शुभकामना देता हूं कि जून के बाद कांग्रेस में उनका कद बढ़ने वाला है, क्योंकि पूर्वोत्तर और कर्नाटक चुनावों के बाद पूरे देश में अकेले नारायणसामी ही कांग्रेस के सीएम बचने वाले हैं। फिर कांग्रेस उन्हें कंधे पर बिठाकर दिखाएगी कि वह पूरे देश में अकेले कांग्रेसी सीएम बचे हैं।

पीएम ने कहा कि पुडुचेरी में देश को विकास की दिशा देने की क्षमता है। कम कैश वाली अर्थव्यवस्था, पर्यटन में नये आयाम गढ़कर, ईको फ्रेंडी यातायात अपनाकर और 100 फीसदी एलईडी बल्ब अपनाकर यह अपना विकास कर सकता है। यहां की हैरिटेज को संरक्षित करके भी यह राज्य नाम कमा सकता है। दुनिया भर में पुडुचेरी हैरिटेज सिटीज का नेतृत्व कर सकता है। यहां संभावनाएं भी हैं, संसाधन भी हैं। यहां विकास के लिए एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि स्वदेश दर्शन के तहत 85 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। हैरिटेज बचाने के लिए 100 करोड़ रुपये से ज्यादा रखे गए हैं, यहां बीच रेस्टोरेशन का काम किया जा रहा है। मोदी ने कहा कि उड़ान योजना से भी पुडुचेरी को कनेक्ट करने की पहल की गई है। इससे पुडुचेरी में पर्यटन की तमाम संभावनाएं बढ़ गई हैं। हजारों करोड़ रुपये के निवेश से यहां रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ी हैं।

WeForNews

Continue Reading

चुनाव

मप्र की दोनों विधानसभा सीटों पर उपचुनाव सम्‍पन्‍न, 28 फरवरी को आएंगे नतीजे

Published

on

mp bypoll
कोलारस-मुंगावली में बीजेपी-कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है।

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के कोलारस और अशोकनगर जिले के मुंगावली विधानसभा उपचुनाव सख्त सुरक्षा प्रबंधों के बीच मतदान संपन्न हुआ। सुबह 8 बजे से शुरू हुआ मतदान शाम 5 बजे तक चला। इन दोनों ही सीटों के उपचुनाव के नतीजे 28 फरवरी को आएंगे।

अपराह्न् तीन बजे तक कोलारस में 58.90 प्रतिशत और मुंगावली में 69 प्रतिशत मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर चुके थे। मुख्य निर्वाचन अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार, मतदान को लेकर मतदाताओं में बड़ा उत्साह रहा।

वहीं कुछ स्थानों से कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच विवाद की खबरें मिलीं।

दोनों ही क्षेत्रों में अनेक मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतार लगी हुयी भी दिखायी दीं। कुछ मतदान केंद्रों पर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में तकनीकी खराबी की शिकायतें भी आयीं। उन्हें तकनीकी विशेषज्ञों की मदद से दुरूस्त कराया गया अथवा मशीन को बदल दिया गया।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार इन दोनों स्थानों पर शाम पांच बजे तक मतदान हुआ। कोलारस में 311 मतदान केंद्रों पर एक लाख 13 हजार से अधिक महिलाओं समेत कुल दो लाख 44 हजार 456 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर किया। कोलारस में 22 प्रत्याशियों का भाग्य तय होगा।

इसके अलावा मुंगावली में 264 मतदान केंद्रों पर 88 हजार से अधिक महिलाओं समेत कुल एक लाख 91 हजार नौ मतदाता 13 प्रत्याशियों में से अपना प्रतिनिधि चुनेंगे। दोनों स्थानों पर वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडट ट्रेल (वीवीपैट) मशीनों का इस्तेमाल हुआ।

कोलारस में मुख्य मुकाबला भाजपा प्रत्याशी देवेंद्र जैन और कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र सिंह यादव के बीच है। वहीं मुंगावली में भाजपा ने बाईसाहब यादव और कांग्रेस ने ब्रजेंद्र सिंह यादव पर दांव खेला है। पिछले विधानसभा चुनाव में कोलारस से कांग्रेस के रामसिंह यादव और मुंगावली से पार्टी के ही महेंद्र सिंह कालूखेड़ा ने जीत हासिल की थी। दोनों के निधन के कारण उपचुनाव हो रहे हैं।

इन दोनों सीटों पर वापसी के लिए जहां एक ओर कांग्रेस ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है, वहीं भाजपा भी आगामी विधानसभा चुनाव के पहले इन सीटों पर कब्जे को अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाए हुए है। इस उपचुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है।

ग्वालियर के तत्कालीन सिंधिया राजघराने के प्रभाव में मानी जाने वाली इन दोनों सीटों पर प्रचार की कमान कांग्रेस की तरफ से शुरू से ही सिंधिया और भाजपा की ओर से स्वयं मुख्यमंत्री चौहान ने संभाली हुई थी।

WeForNews

Continue Reading

चुनाव

लुधियाना नगर निगम चुनाव संपन्न

Published

on

Punjab
लुधियाना में नगर निगम चुनाव के लिए मतदान जारी

पंजाब में लुधियाना नगर निगम चुनाव के लिए मतदान संपन्न हुआ। मतदान सुबह आठ बजे से शाम चार बजे तक चला है। वोटिंग दोपहर 2 बजे तक लगभग 43.6 फीसद वोटिंग हो चुकी है।

निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले ही मतदान केंद्रों के बाहर मतदाताओं की कतारें लगनी शुरू हो गई। नगर निगम की 95 सीटों पर कुल 494 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। नतीजों का ऐलान 27 फरवरी को होगा।

मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन और आम आदमी पार्टी-लोक इंसाफ पार्टी के गठबंधन के बीच है।

लुधियाना में 10.5 लाख से अधिक मतदाता हैं। मतदान के लिए 1,153 मतदान केंद्रों की स्थापना की गई है। इस चुनाव के प्रमुख मुद्दे जल आपूर्ति, स्वच्छता की कमी, प्रदूषण, खराब सड़कें और खस्ताहाल बुनियादी ढांचा है। शांतिपूर्ण मतदान प्रक्रिया के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular