Connect with us

खेल

जजों के निर्णय में सुधार की आवश्यकता : मुक्केबाज सतीश

सतीश को एक कड़े फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड के फ्रेजर क्लार्क के खिलाफ 0-5 से हार झेलनी पड़ी थी। सभी जजों ने उनके खिलाफ निर्णय दिया था।

Published

on

Satish Kumar Yadav
Picture Credit : MNIS

नई दिल्ली, 19 अप्रैल | आस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड प्रांत में स्थित गोल्ड कोस्ट में हाल ही में समाप्त 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में मुक्केबाजी की 91प्लस किलोग्रम भारवर्ग स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाले भारतीय मुक्केबाज सतीश कुमार यादव का मानना है कि ओलम्पिक एवं राष्ट्रमंडल खेलों में जजों के निर्णयों में सुधार की आवश्यकता है।

सतीश को एक कड़े फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड के फ्रेजर क्लार्क के खिलाफ 0-5 से हार झेलनी पड़ी थी। सभी जजों ने उनके खिलाफ निर्णय दिया था। मुकाबला समाप्त होने के बाद सतीश खुद को विजेता मान रहे थे लेकिन जब क्लार्क के पक्ष में निर्णय आया तो वह हैरान रह गए।

आईएएनएस से साक्षात्कार में सतीश कुमार ने कहा, “केवल मैं ही नहीं रिंग के आसपास मौजूद दर्शक और मेरे कोच भी इस निर्णय से हैरान थे। इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया या अन्य यूरोपीय देशों के अधिकारी बड़े टूर्नामेंट के दौरान एक-दूसरे का समर्थन करते हैं, जिसके कारण कड़े मुकाबलों में निर्णय हमारे पक्ष में नहीं जाते। मैं जजों के निर्णय से खुश नहीं हूं क्योंकि फाइनल में अच्छी मुक्केबाजी करने बाद भी मेरे पक्ष में निर्णय नहीं आया और मुझे रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा।”

सतीश ने कहा, “भारतीय मुक्केबाज बहुत शक्तिशाली हैं लेकिन कभी-कभी बड़े टूर्नामेंट में हमारे खिलाफ गलत निर्णय दिए जाते हैं। अगर बड़े टूर्नामेंट में अच्छे जजों का इस्तेमाल किया जाए और हमारे खिलाफ गलत निर्णय नहीं दिए जाए तो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय मुक्केबाजों का बोलबाला देखने को मिलेगा। जजों में सुधार करने के लिए उन्हें खेल के बारे में अधिक शिक्षित करने की आवश्यकता है।”

सतीश ने कहा कि मुक्केबाजी में पहले जिस स्कोरिंग सिस्टम का उपयोग किया जाता था, उसमे अधिक पारदर्शिता थी। अभी जो सिस्टम का इस्तेमाल किया जा रहा है, उसमे पारदर्शिता की कमी है और यही कारण है कि कभी-कभी अच्छे प्रदर्शन के बाद भी निर्णय आपके खिलाफ आता है।

सेना में जाने के बाद सतीश कुमार ने मुक्केबाजी करना शुरू किया और अपने पहली राष्ट्रमंडल खेल में रजत पदक जीतने के बाद उनका लक्ष्य एशियाई खेलों एक ओलम्पिक में स्वर्ण पदक जीतना है। हालांकि, 28 वर्षीय सतीश ने यह भी माना कि उन्हें अपने करियर में मुक्केबाजी देर से शुरू की।

उन्होंने कहा, “मुझे इसका मलाल तो रहेगा कि मैं मुक्केबाजी में देरी से आया। एक युवा मुक्केबाज के तौर पर आप खेल की बारीकियां जल्द सीख लेते हैं और अगर आपकी नींव अच्छी होगी तो आप महान मुक्केबाज बनेंगे।”

सतीश ने कहा कि भले ही उन्हानें मुक्केबाजी देरी से शुरू की लेकिन उनके अंदर अभी भी ओलम्पिक में पदक जीतने का दम है और लगातर टूर्नामेंट में खेलने से उनका आत्मविश्वास बढ़ा है, जिसका फायदा उन्हें एशियाई एवं ओलम्पिक खेलों में मिलेगा।

सतीश ने कहा, “गोल्ड कोस्ट में किए गए प्रदर्शन से मेरा आत्मविश्वास काफी बढ़ा है। सुपर हैवीवेट स्पर्धा में आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और आयरलैंड के मुक्केबाज बहुत शक्तिशाली है और मुझे उनके खिलाफ खेलकर मैं काफी कुछ सीखा हूं, जिसका मुझे आने वाले टूर्नामेंट में फायदा मिलेगा।”

इस वर्ष 18वें एशियाई खेलों का आयोजन 18 अगस्त से दो सितंबर के बीच इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में होना है। भारतीय मुक्केबाज एशियाई खेलों के लिए विशेष तैयार हेतु अमेरिका दौरे पर जाएंगे, जहां वे माइकल जानसन अकादमी में 15 दिनों की ट्रेनिंग करेंगे।

–आईएएनएस

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खेल

पूर्व भारतीय कप्तान अजीत वाडेकर का निधन

Published

on

ajit wadekar
अजीत वाडेकर (फाइल फोटो)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अजीत वाडेकर का 77 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्होंने मुंबई के जसलोक में अंतिम सांस ली। बता दें कि वाडेकर की गिनती भारत के सबसे सफल कप्तानों में होती है।

वाडेकर काफी वक्त से बीमार चल रहे थे। अजीत वाडेकर का जन्‍म 1 अप्रैल 1941 में मुंबई में हुआ था। वाडेकर ने 1966 से 1974 तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला। उन्होंने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत 1958 में की थी, जबकि अंतरराष्‍ट्रीय करियर की शुरुआत 1966 में की थी।

उनके परिवार में पत्नी रेखा के अलावा दो बेटे और एक बेटी है। वाडेकर की गिनती भारत के सफल कप्तानों में होती है। वह बाएं हाथ के बल्लेबाज व कुशल फील्डर थे। उनका अंतररराष्ट्रीय करियर 8 वर्ष का रहा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अजीत वाडेकर के निधन पर पर ट्वीट कर लिखा, ‘अजीत वाडेकर को भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान के लिए हमेशा याद किया जाएगा। एक महान बल्लेबाज और शानदार कप्तान, उन्होंने हमारी टीम का नेतृत्व किया और हमारे क्रिकेट इतिहास को सबसे यादगार पल दिए। उनका एक प्रभावशाली क्रिकेट प्रशासक के तौर पर भी काफी सम्मान है। उनके निधन से दुख है।’

अजीत वाडेकर 1971 में पहली बार देश से बाहर जीत दर्ज करने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान थे। वाडेकर 37 टेस्ट मैच खेले और उन्होंने वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड में भारतीय टीम के ऐतिहासिक जीत का हिस्सा रहे।

उनकी कप्तानी में 1970 के दशक में भारत ने वेस्टइंडीज में पांच में जीत हासिल की। इसके बाद इंग्लैंड में तीन मैचों की श्रंखला में भारत ने जीत हासिल की। वाडेकर ने टेस्ट मैच में 2,113 रन बनाए जिसमें उनका 14 अर्धशतक भी शामिल है। वह भारतीय क्रिकेट टीम के सफल कप्तान थे।

वाडेकर का जन्म एक अप्रैल 1941 में मुंबई में हुआ था। उन्होंने 1958 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत की थी। बाद में 1966 में उनका अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण हुआ। वाडेकर 1974 तक भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे। वाडेकर एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में भी दो मैच खेले थे। वह बायें हाथ के आक्रामक बल्लेबाज थे।

भारत सरकार ने 1967 से वाडेकर को अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया। इसके बाद 1972 में उन्हें पद्मश्री अलंकरण से भी विभूषित किया गया।

क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद उन्होंने मैनेजर के तौर भारत की राष्ट्रीय टीम में अपनी सेवा दी। वह 1990 में मोहम्मद अजहरुद्दीन की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट टीम के मैनेजर थे।

WeForNews

Continue Reading

खेल

भारत को विदेश में पहली बार जीत दिलाने वाले कप्तान अजीत वाडेकर नहीं रहे

Published

on

Ajit Wadekar

नई दिल्ली, 16 अगस्त | देश से बाहर पहली बार जीत का परचम लहराने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अजीत वाडेकर (77) नहीं रहे। उन्होंने बुधवार को मुंबई स्थित जसलोक हॉस्पिटल व रिसर्च सेंटर में अंतिम सांस ली। दिवंगत भारतीय कप्तान वाडेकर पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे।

अजीत वाडेकर 1971 में पहली बार देश से बाहर जीत दर्ज करने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान थे। वाडेकर 37 टेस्ट मैच खेले और उन्होंने वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड में भारतीय टीम के ऐतिहासिक जीत का हिस्सा रहे।

उनकी कप्तानी में 1970 के दशक में भारत ने वेस्टइंडीज में पांच में जीत हासिल की। इसके बाद इंग्लैंड में तीन मैचों की श्रंखला में भारत ने जीत हासिल की। वाडेकर ने टेस्ट मैच में 2,113 रन बनाए जिसमें उनका 14 अर्धशतक भी शामिल है। वह भारतीय क्रिकेट टीम के सफल कप्तान थे।

वाडेकर का जन्म एक अप्रैल 1941 में मुंबई में हुआ था। उन्होंने 1958 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत की थी। बाद में 1966 में उनका अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण हुआ। वाडेकर 1974 तक भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे। वाडेकर एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में भी दो मैच खेले थे। वह बायें हाथ के आक्रामक बल्लेबाज थे।

भारत सरकार ने 1967 से वाडेकर को अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया। इसके बाद 1972 में उन्हें पद्मश्री अलंकरण से भी विभूषित किया गया।

क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद उन्होंने मैनेजर के तौर भारत की राष्ट्रीय टीम में अपनी सेवा दी। वह 1990 में मोहम्मद अजहरुद्दीन की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट टीम के मैनेजर थे।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

बेबी बंप के साथ ग्लैमरस लुक में नजर आईं सानिया, देखें तस्वीरें

Published

on

Sania Mirza
फोटो-ht brunch

भारत की टेनिस खिलाड़ी स्टार सानिया मिर्जा इन दिनों अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर सुर्खियां बटोर रही हैं।

sania mirza photoshoot

सानिया अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर काफी ओपन हैं और वो अक्सर सोशल मीडिया पर अपने बेबी बंप के साथ फोटो शेयर करती रहती हैं। सानिया ने HT brunch मैगजीन के लिए शूट करवाया है। इस मैगजीन की कवर गर्ल बनीं सानिया की ये तस्वीर सोशल मीडिया में छाई हुई है।

क्यों खास है प्रेग्नेंट सानिया मिर्जा की Due Date? किया खुलासा

HT को दिए गए इंटरव्यू में सानिया ने अपनी प्रेग्नेंसी से जुड़े हुए कई सवालों के मजेदार जवाब दिए हैं। फोटोशूट के दौरान सानिया ने बताया कि उनकी प्रेग्नेंसी को 28 हफ्ते हो चुके हैं। 7 महीनें की प्रेग्नेंट सानिया ने इस खास इंटरव्यू में अपनी ड्यू डेट(डिलिवरी डेट) को लेकर मजेदार तथ्य शेयर किया है।

सानिया ने बताया कि वो हफ्ते में चार बार योग करती हैं। इसके अलावा सानिया रोज चार किलोमीटर पैदल भी चलती हैं। बता दें कि कुछ दिन पहले वो अपनी बहन अनम मर्जा के साथ टेनिस कोर्ट पर शॉट्स लगाते हुए भी देखी गईं थीं।

sania mirza photoshoot

सानिया ने इंटरव्यू में यह बताया कि वह अपने बच्चे को हैदराबाद में ही जन्म‍ देंगी।

क्यों खास है प्रेग्नेंट सानिया मिर्जा की Due Date? किया खुलासा

इस इंटरव्यू में कुछ और सवालों के सानिया ने बेहद मजेदार जवाब दिए। जैसे कि आप लड़की चाहती हैं या लड़का? सानिया का जवाब- ‘हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, हालांकि मेरे पति हमेशा से बेटी चाहते थे।

sania mirza photoshoot

WeForNews

Continue Reading
Advertisement
Atal-Bihari-Vajpayee
ओपिनियन1 hour ago

अटल बिहारी वाजपेयी : नए भारत के सारथी और सूत्रधार

Atal Behari Atal
ब्लॉग1 hour ago

अटल थे, अटल हैं, अटल रहेंगे!

Atal Bihari Vajpayee
Uncategorized2 hours ago

स्‍मृति-स्‍थल पर शाम चार बजे अटल को अंतिम विदाई

atal bihari vajpayee-min (1)
राष्ट्रीय3 hours ago

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी का निधन, सात दिनों का राट्रीय शोक घोषित

kovind_modi
राष्ट्रीय4 hours ago

राष्‍ट्रपति-प्रधानमंत्री ने अटल को दी भावभीनी श्रद्धांजलि

pnb-min
व्यापार4 hours ago

मोदी सरकार में सरकारी बैंकों का 50 गुना बढ़ा घाटा

rahul gandhi
राष्ट्रीय4 hours ago

अटल के निधन पर राहुल ने जताया शोक, कहा- ‘देश ने खोया महान सपूत’

atal bihari vajpai
राष्ट्रीय5 hours ago

अटल बिहारी की ये कविताएं ‘मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूँ’…

sensex
व्यापार5 hours ago

सेंसेक्स में 188 अंकों की गिरावट

Fire In Ludhiana Civil Hospital
शहर5 hours ago

पंजाब के लुधियाना सिविल अस्‍तपाल में लगी आग

chili-
स्वास्थ्य3 weeks ago

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

School Compound
ओपिनियन3 weeks ago

स्कूली छात्रों में क्यों पनप रही हिंसक प्रवृत्ति?

pimple
लाइफस्टाइल3 weeks ago

मुँहासों को दूर करने के लिए अपनाएंं ये 6 टिप्स…

Kapil Sibal
ब्लॉग3 weeks ago

लिंचिंग के ख़िलाफ़ राजनीतिक एकजुटता ज़रूरी

Mob Lynching
ब्लॉग4 weeks ago

जो लिंचिंग के पीछे हैं, वही उसे कैसे रोकेंगे!

Gopaldas Neeraj
ज़रा हटके4 weeks ago

अब कौन कहेगा, ‘ऐ भाई! जरा देख के चलो’

Indresh Kumar
ओपिनियन3 weeks ago

संघ का अद्भुत शोध: बीफ़ का सेवन जारी रहने तक होती रहेगी लिंचिंग!

Bundelkhand Farmer
ब्लॉग3 weeks ago

शिवराज से ‘अनशनकारी किसान की मौत’ का जवाब मांगेगा बुंदेलखंड

No-trust motion Parliament
ब्लॉग4 weeks ago

बस, एक-एक बार ही जीते विश्वास और अविश्वास

Kashmir Vally
ब्लॉग1 week ago

कश्मीर में नफरत, हिंसा के बीच सद्भाव-भाईचारे की उम्मीद

sui-dhaga--
मनोरंजन3 days ago

वरुण धवन की फिल्म ‘सुई धागा’ का ट्रेलर रिलीज

pm modi
ब्लॉग6 days ago

70 साल में पहली बार किसी प्रधानमंत्री के शब्द संसद की कार्रवाई से हटाये गये

flower-min
शहर1 week ago

योगी सरकार कांवड़ियों पर मेहरबान, हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा

Loveratri-
मनोरंजन1 week ago

आयुष शर्मा की फिल्म ‘लवरात्र‍ि’ का ट्रेलर रिलीज

-fanney khan-
मनोरंजन2 weeks ago

मोहम्मद रफी की पुण्यतिथि पर रिलीज हुआ ‘बदन पे सितारे’ का रीमेक

tej pratap-min
राजनीति2 weeks ago

तेज प्रताप का शिव अवतार…देखें वीडियो

nawal kishor yadav-min
राजनीति2 weeks ago

शर्मनाक: बीजेपी विधायक ने गवर्नर को मारने की दी धमकी

Dr Kafeel Khan
शहर3 weeks ago

आर्थिक तंगी से जूझ रहे गोरखपुर के त्रासदी के हीरो डॉक्टर कफील

sonakshi-
मनोरंजन3 weeks ago

डायना पेंटी की फिल्म ‘हैप्पी फिर भाग जाएगी’ का ट्रेलर रिलीज

Lag Ja Gale-
मनोरंजन3 weeks ago

‘साहेब, बीवी और गैंगस्टर 3’ का गाना रिलीज

Most Popular