Connect with us

राष्ट्रीय

झारखंड : सुरक्षा बलों ने नक्सली को मार गिराया

Published

on

terrorist
फाइल फोटो

झारखंड के लातेहार जिले में गुरुवार को सुरक्षा बलों ने एक नक्सली को मार गिराया। पुलिस ने यह जानकारी दी है। नक्सली की पहचान झारखंड जनमुक्ति परिषद (जेजेएमपी) के गुड्डू यादव के रूप में की गई है। दो नक्सली समूहों के बीच संघर्ष की सूचना पाने के बाद पुलिस जेर गांव पहुंची थी।

पुलिस को देखकर जेजेएमपी के नक्सलियों ने पुलिस पर गोलीबारी शुरू कर दी। पुलिस ने भी इसका जवाब दिया और नक्सली कमांडर को मार गिराया। घटना स्थल से एक एके-47 व आठ अन्य राइफलें जब्त की गई हैं। झारखंड के 24 जिलों में से 18 में नक्सली सक्रिय हैं।

–आईएएनएस

राष्ट्रीय

व्‍यापम के खूनी घोटाले में 42 ‘संदिग्‍ध मौत’, अबतक दफन दर्जनों राज़

Published

on

vyapam
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापम) घोटाले से जुड़ी एक महिला की लखनऊ स्थित किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में सोमवार को मौत हो गई। मनीषा शर्मा नाम की यह महिला पेशे से डॉक्टर थी और इसके खिलाफ व्यापम मामले की जांच चल रही थी। मनीषा शर्मा की मौत कथित तौर पर ड्रग्स का ओवरडोज लेने से हुई है।

बता दें कि व्यापम घोटाला 2013 में सामने आया, जिसमें 1995 की मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा बोर्ड (एमपीपीईबी) की परीक्षा में दाखिले और भर्ती को लेकर बड़े-बड़े लोगों के खिलाफ आरोप लगे। नेताओं और नौकरशाहों से लेकर कारोबारियों के नाम भी इस घोटाले से जुड़े। इससे भी बड़ी बात यह रही कि इस घोटाले में जिनके नाम आए, उनकी किसी न किसी तरह से मौत होती गई।

पुलिस के आंकड़े देखें तो अब तक इस मामले में 42 लोगों की मौत हो गई है। इन मौतों में कुछ रसूखदार लोग भी हैं जिनके बारे में कभी किसी को शक नहीं हुआ है। उनमें एक है मध्य प्रदेश के राज्यपाल रामनरेश यादव के बेटे शैलेश यादव का नाम। 25 मार्च 2015 को शैलेश लखनऊ के मॉल एवेन्यू स्थित अपने पिता के सरकारी आवास में मृत पाए गए थे। मीडिया के एक वर्ग और कांग्रेस के कुछ नेताओं ने व्यापम घोटाले के आरोपी शैलेश की संदिग्ध हालात में मौत पर सवाल उठाए थे।

इनमें अबतक जिन 42 लोगों की मौत हुई है उनमें ज्यादातर बिचौलिए हैं। बिचौलियों की हत्या होने के आरोप लगते रहे हैं। कहा जाता है कि बिचौलियों को इसलिए मारा गया ताकि असली गुनहगारों तक कानून के हाथ न पहुंच सकें। कुछ ऐसे लोगों की मौत भी हुई जो पेशे से डॉक्टर थे। इनके बारे में कहा जाता है कि परीक्षा में धांधली कर जिन लोगों को डॉक्टर की डिग्री मिली, उन्हें रास्ते से हटाया गया ताकि आगे चलकर परीक्षा में भ्रष्टाचार उजागर न हो पाए।

4 जुलाई 2014 को नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. डीके सकाले ने अपने घर के पीछे आत्मदाह कर लिया। इस मौत को भी संदेहास्पद माना जाता है क्योंकि उनका नाम भी व्यापम घोटाले में उछला था। 28 जून 2015 को वेटनरी अफसर नरेंद्र सिंह तोमर की हार्ट अटैक से मौत हो गई। आरोप था कि वे फर्जी परीक्षार्थियों के लिए बंदोबस्त करते थे।

WeForNews 

Continue Reading

राष्ट्रीय

#MeToo: एमजे अकबर पर एक और महिला ने लगाया आरोप

Published

on

MJ Akbar
फाइल फोटो

विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर एक और महिला पत्रकार ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं। पत्रकार तुषिता पटेल ने स्क्रॉल के लिए लिखे लेख में कहा है कि अकबर ने उन्हें कई बार किस किया। बता दें कि अब तक एमजे अकबर पर करीब 15 वरिष्ठ महिला पत्रकारों ने आरोप लगाए हैं।

तुषिता पटेल ने बताया कि 1992 में वह ‘टेलीग्राफ’ में ट्रेनी थी। वह टेलिग्राफ में ट्रेनी थीं और अकबर ने पत्रकारिता छोड़कर पॉलिटिक्स जॉइन की थी। इसी दौरान अकबर जब कोलकाता आए तो वह अपने कई कलीग के साथ उनसे मिलने गई। बाद में अकबर ने उन्हें घर पर फोन कर बुलाना शुरू कर दिया। कई बार बुलाने के बाद तुषिता जब अकबर से मिलने होटल के कमरे में पहुंची तो अकबर ने अंडरवियर में दरवाजा खोला।

उन्होंने लिखा- ‘मैं दरवाजे पर खड़ी रही, डर गई और मुझे अजीब लगा।’ आखिरकार वह अंदर गई और इसके बाद अकबर बाथरोब पहनकर आए। तुषिता ने लेख में सवाल उठाया है कि क्या नैतिकता की परख के लिए 22 साल की एक लड़की का इस तरह स्वागत किया जाता है?

1993 में अकबर डेक्कन क्रोनिकल के एडिटर इन चीफ थे और तुषिता हैदराबाद में सीनियर सब एडिटर थीं। इसी दौरान अकबर ने अखबार के पन्ने पर चर्चा करने के लिए उन्हें होटल बुलाया और अचानक जोर से पकड़ लिया और चूमने लगे। उनकी चाय की महक और कड़े मूंछ आज भी मेरी यादों को चुभते हैं, मैं उठी और तबतक दौड़ती रही जब तक सड़क पर नहीं पहुंच गई। मैंने दौड़कर एक ऑटोरिक्शा लिया। ऑटोरिक्शा में बैठने के बाद मैं रोने लगी।

अगले दिन मैं ऑफिस पहुंची, मैंने जैसे-तैसे नजर बचाकर अपना पेज पूरा किया। अकबर की टीम में हमेशा स्टाफ की कमी रहती थी। पेपर का काम पूरा करने के लिए कई बार वीक ऑफ की बलि देनी पड़ती थी। हम सब स्टाफ के लिए यह सामान्य था क्योंकि हमें अपने काम से प्यार था। मैं एक कोने में अपना काम कर रही थी।

उन्होंने बताया कि  जब मैं ऑफिस में नजर नहीं आई तो अकबर ने मुझे खोजने के लिए कुछ लोगों को भेजा,  एक स्टाफ ने आकर मुझे बताया कि अकबर साब आपको खोज रहे हैं। मैंने कोशिश की थी कि जब अकबर की फ्लाइट का टाइम हो जाएगा मैं बस फटाफट उनसे मिल लूंगी। मिलने के लिए मैंने रिसेप्शन की जगह चुनी, जहां कई लोग थे। अकबर ने मुझसे पूछा कि कहां गायब हो गई थी। तुम्हारे पेज को लेकर बात करनी थी। उसके बाद वह मुझे खाली कॉन्फ्रेंस हॉल में लेकर गए और मुझे पकड़कर दोबारा किस किया।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में IED धमाका, 3 जवान घायल

Published

on

anti-naxal-force
प्रतीकात्मक तस्वीर

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में धमाका कर दिया, जिससे भारत तिब्बत सीमा पुलिस के तीन जवान घायल हो गए हैं। नक्सल प्रभावित राजनांदगांव जिले के पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने बताया कि मोहला पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत राजाडेरा और रामगढ़ गांव की पहाड़ी में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट किया।

जानकारी के मुताबिक, जिले के मोहला थाना क्षेत्र में संयुक्त दल को गश्त पर रवाना किया गया था। दल जब राजाडेरा और रामगढ़ गांव की पहाड़ी पर था तब नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर दिया। इस घटना में भारत तिब्बत सीमा की 44 वीं बटालियन के प्रधान आरक्षक गोयल प्रकाश, आरक्षक सचिन कुमार और आरक्षक तड़वी तीर सिंह घायल हो गए।

कश्यप ने बताया कि विस्फोट की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बल को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया और घायलों को वहां से निकाला गया। घायलों को पहले अस्पताल ले जाया गया तथा वहां से उन्हें हेलीकाप्टर से रायपुर रवाना किया गया है।उन्होंने बताया कि घटना के बाद क्षेत्र में नक्सल विरोधी अभियान तेज कर दिया गया है।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular