खेल

क्या वाकई पांड्या कपिल देव जैसा ऑलराउंडर बनने की राह पर हैं?

Cricket - Fourth One Day International Match - Sri Lanka v India
hardik pandya, indian cricketer (file photo)

भारतीय क्रिकेट में आज तक कपिल देव जैसा ऑलराउंडर नहीं आया…लेकिन अब हार्दिक पांड्या उम्मीदें बांधते दिख रहे है…करियर बेशक छोटा है…लेकिन उड़ान लंबी है…हर डिपार्टमेंट में पांड्या सुपरहिट नजर आए है….यहां तक की संगकारा और द्रविड़ जैसे दिग्गज खिलाड़ी भी पांड्या के मुरीद बन चुके है…ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बड़े प्रदर्शन कर पांड्या फोकस में आ गए है….लेकिन संदीप पाटिल पांड्या में कपिल की छाप ज़रा भी नहीं देखते…

छोटे से इंटरनेशनल करियर में हार्दिक पांड्या बड़ी छाप छोड़ते दिखे है… यहां तक की जिस ऑलराउंडर की खोज टीम इंडिया को बरसों से थी…हार्दिक उस रोल में भी फिट बैठते दिख रहे है….आखिर हो भी क्यों ना…पांड्या गेंद, बल्ले और फील्डिंग में तो माहिर हैं ही…इसके साथ ही किसी भी पिच पर गेंदबाजी करने और किसी भी नंबर पर बल्लेबाजी करने में भी संकोच नहीं करते… चाहे चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई उनकी आत्मविश्वास भरी पारी हो या इंदौर के होल्कर स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे में उनकी बेहतरीन बल्लेबाजी, उन्होंने हर मैच, हर मोड़ और हर जगह पर खुद को साबित किया…यहां तक कि श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा भी हार्दिक पांड्या के मुरीद बन गए हैं…

संगकारा के मुताबिक ‘हार्दिक पांड्या स्पशेल खिलाड़ी हैं और भारतीय टीम इस वक्त सभी तरह की परिस्थितियों में एक सशक्त टीम लग रही है’।…यहां तक राहुल द्रविड़ ने भी पांड्या के टेंपरामेंट की तारीफ की है… हार्दिक पांड्या की एक चीज जो मुझे बहुत अच्छी लगती है कि वो हालात के मुताबिक खेलता है, ना कि केवल अपना स्वभाविक गेम. इसका श्रेय पूरी तरह से उसे मिलना चाहिए. वो एक ऐसा खिलाड़ी है जिसने अपने खेल से अपने करियर को पूरी तरह बदल दिया’….ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ में हार्दिक का ऑलराउंडर के तौर पर जलवा जमकर देखने को मिला है…

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज़ में अब तक 3 मैचों में 2 बार पांड्या मैन ऑफ द मैच का खिताब जीत चुके हैं.. चेन्नई वनडे में जहां पांड्या ने 83 रन दो विकेट चटकाए थे…वहीं इंदौर में खेले गए तीसरे वनडे में 72 गेंदों पर 78 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेल डाली थी… पांड्या कप्तान कोहली के भी चहते बन गए है…. तीसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया पर 5 विकेट से जीत के बाद विराट ने पांड्या की जमकर तारीफ की….और पांड्या को सुपरस्टार तक कह डाला…

युवा जोश कैसा होता है…ये कोई हार्दिक पांड्या से जाने…ताबड़तोड़ पारियां कैसे खेलनी है…ये भी कोई हार्दिक पांड्या को देखकर सीख सकता है…23 साल की उम्र में पांड्या ने लंबा फासला तय कर लिया है…. उन्होंने फैंस में में यह भरोसा भी पैदा कर दिया है कि जब तक वह क्रीज पर हैं तब तक कोई भी मैच टीम इंडिया की पकड़ से दूर नहीं है। भारत के पास ऐसे ऑलराउंडर तो थे जो बल्लेबाजी के साथ स्पिन गेंदबाजी कर लेते हों, लेकिन सालों से एक ऐसे ऑलराउंडर की जरूरत महसूस की जा रही थी जो तेज गेंदबाजी के साथ अच्छी बल्लेबाजी भी करता हो।

पांड्या ने उस कमी को पूरा कर दिया है। अच्छी बात यह है कि वह इंग्लैंड की पिचों से लेकर भारत की पाटा पिचों पर भी विकेट लेने में माहिर हैं। यही नहीं उन्हें चाहे चौथे नंबर पर बल्लेबाजी कराओ या मैच फिनिशर के तौर पर इस्तेमाल करो, वह हर जगह पर रन बनाते हैं। तो क्या पांड्या कपिल देव के बाद टीम इंडिया के सबसे बड़े ऑलरांउडर बनकर उभरेंगे…इस सवाल का जवाब अब पांड्या के कंसिस्टेंट प्रदर्शन से ही लगाया जा सकता है….

1994 में कपिल देव ने जब अंतराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा दिया था, तब से अब तक टीम इंडिया कपिल की तरह एक शानदार ऑल राउंडर के लिए तरसती रही…कपिल के बाद इरफान पठान बेशक इस भूमिका में अपनी छाप छोड़ते दिखे…लेकिन बार-बार चोटिल होने के कारण उनका करियर भी बड़ी उड़ान ना ले पाया….अब निगाहें हार्दिक पांड्या पर है…लेकिन पूर्व चीफ सेलेक्टर संदीप पाटिल की माने तो कपिल देव जैसा बनने के लिए हार्दिक को 200 जन्म लेने होंगे….तस्वीर साफ है…टीम इंडिया के इस नए सुपरस्टार को अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाने की जरुरत है….

2016 में इंटरनेशनल डेब्यू करने वाले पांड्या को बेशक संगकारा स्पेशल खिलाड़ी मानते है….लेकिन इसमें भी कोई शक नहीं की अभी पांड्या को लंबा सफर तय करना है….अभी तो बस शुरुआत है… कोहली की विराट उम्मीदों पर पांड्या का खरा उतरना टीम को बैलेंस भी दे रहा है…अब देखना दिलचस्प रहेगा की टीम इंडिया का ये रॉकस्टार अपने प्रदर्शन में कितनी कंसिस्टेंसी बरकरार रखता है…

WeForNews Bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top