Connect with us

खेल

आईपीएल-11 : अजिंक्य रहाणे पर 12 लाख का जुर्माना लगा

Published

on

Ajinkya Rahane

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स के कप्तान अजिंक्य रहाणे पर आचार सहिता के उल्लंघन के लिए जुर्माना लगा है।

मुंबई के खिलाफ रविवार रात को खेले गए मैच में टीम द्वारा धीमे ओवर रेट के लिए रहाणे पर यह जुर्माना लगाया है। वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मैच में राजस्थान ने रोहित शर्मा की कप्तानी वाली टीम मुंबई को सात विकेट से हरा दिया था।

आईपीएल के 11वें संस्करण में पहली बार राजस्थान पर धीमे ओवर रेट के लिए आईपीएल की आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगा है। ऐसे में टीम के कप्तान होने के नाते रहाणे पर 12 लाख रुपये का जुर्माना लगा है।

–आईएएनएस

खेल

एडिलेड वनडे में भारत ने आस्ट्रेलिया को हराया

Published

on

virat-kohli
Adelaide ODI

एडिलेड। कप्तान विराट कोहली (104) और अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 55) की बेहतरीन पारियों के दम पर भारत ने मंगलवार को एडिलेड ओवल मैदान पर खेले गए दूसरे वनडे मैच में आस्ट्रेलिया को छह विकेट से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली है।

आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में नौ विकेट के नुकसान पर 298 रन बनाए थे। भारत ने इस लक्ष्य को चार गेंद शेष रहते हुए हासिल कर लिया। आस्ट्रेलिया के लिए शान मार्श ने 123 गेंदों पर 131 रनों की पारी खेली। उन्हें ग्लैन मैक्सवेल (48) के साथ मिलकर छठे विकेट के लिए 94 रनों की साझेदारी भी की थी।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत को रोहित शर्मा (43) और शिखर धवन (32) ने सधी हुई शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 47 रन जोड़े। यहां धवन जेसन बेहेरेनडॉर्फ की गेंद पर उस्मान ख्वाजा को कैच दे बैठे।

रोहित को कप्तान कोहली का साथ मिला। दोनों ने बिना किसी परेशानी के टीम के 100 रन पूरे किए। यहां 101 के कुल स्कोर पर रोहित मार्कस स्टोइनिस की गेंद को पुल करने के प्रयास में पीटर हैंड्सकॉम्ब को कैच दे बैठे।

कोहली ने अंबाती रायडू (24) के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 59 रन जोड़े। यहां मैक्सवेल ने रायडू को आउट कर उन्हें अकेला छोड़ दिया। भारत का स्कोर अब 160 रनों पर तीन विकेट था और मैच जीतने के लिए उसे यहां एक बड़ी साझेदारी की जरूरत थी।

पूर्व कप्तान धोनी ने कोहली के साथ मिलकर टीम की जरूरत को पूरा किया और बिना किसी परेशानी के स्ट्राइक रोटेट करते हुए स्कोर बोर्ड को चला अपनी टीम को जीत की दहलीज पर ले जाते रहे।

इस कोहली ने पीटर सिडल द्वारा फेंके गए 43वें ओवर की पहली गेंद पर एक रन लेकर वनडे क्रिकेट में अपना 39वां शतक पूरा किया। इसके अगले ओवर में ही हालांकि कोहली झाए रिचर्डसन की गेंद पर डीप मिडविकेट पर मैक्सवेल के हाथों लपके गए। कोहली ने अपनी पारी में पांच चौके और दो छक्के मारे।

यहां धोनी के कंधों पर टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी थी जिसे उन्होंने दिनेश कार्तिक (नाबाद 25) के साथ मिलकर बखूबी निभाया। दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 57 रन जोड़ टीम को जीत दिलाई।

आखिरी ओवर में भारत को जीत के लिए सात रन चाहिए थे। धोनी ने पहली ही गेंद पर छक्का मार जीत पक्की की और अगली गेंद पर एक रन लेकर टीम को जीत दिलाई।

छक्के के साथ धोनी ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया। इस सीरीज में यह उनका लगातार दूसरा अर्धशतक है। धोनी ने अपनी नाबाद पारी में 54 गेंदें खेलीं और दो छक्के मारे।

इससे पहले, टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी आस्ट्रेलिया को एक बार फिर मध्यक्रम ने संभाला। मध्यक्रम के अच्छे प्रदर्शन और मार्श-मैक्सवेल की साझेदारी के दम पर आस्ट्रेलिया का 310 के पार जाना आसानी से मुमकिन लग रहा था, लेकिन भुवनेश्वर ने 48वें ओवर में दोनों के विकेट लेकर उसे 300 के अंदर ही रूकने पर मजबूर कर दिया। आस्ट्रेलिया ने आखिरी के पांच ओवरों में महज 38 रन बनाए और चार विकेट खोए।

आस्ट्रेलिया को एक बार फिर खराब शुरुआत मिली एरॉन फिंच (6) 20 के कुल स्कोर पर भुवनेश्वर की इनस्विंगर पर बोल्ड हो गए। दूसरे सलामी बल्लेबाज एलेक्स कैरी (18) शमी की गेंद पर 26 के कुल स्कोर पर भुवनेश्वर के हाथों लपके गए। यहां से आस्ट्रेलियाई मध्यक्रम ने एक बार फिर मोर्चा संभाला और लगातार चार अर्धशतकीय साझेदारियां कर टीम को बड़े स्कोर की तरफ ले गए।

इन चारों साझेदारियों में मार्श हमेशा एक छोर पर खड़े रहे। कैरी के जाने के बाद उन्होंने उस्मान ख्वाजा (21) के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 56 रन जोड़े। इस साझेदारी को रवींद्र जडेजा ने अपनी एक सीधी थ्रो से ख्वाजा को आउट कर तोड़ा।

मार्श को फिर पीटर हैंड्सकॉम्ब (20) का साथ मिला। हैंड्सकॉम्ब ने मार्श के साथ चौथे विकेट के लिए 52 रन जोड़े। जडेजा की गेंद पर धोनी ने हैंड्सकॉम्ब को स्टम्प किया।

मार्कस स्टोइनिस (29) ने पांचवें विकेट के लिए मार्श के साथ 55 रन जोड़े। 189 के कुल स्कोर पर स्टोइनिस शमी की गेंद पर धोनी के हाथों लपके गए।

यहां से मैक्सवेल और मार्श ने अपनी जोड़ी बनाई और टीम को संभाले रखा।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

स्टीफन कांस्टेनटाइन ने दिया इस्तीफा

Published

on

Stephen Constantine

भारतीय फुटबाल टीम के मुख्य कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने यहां एएफसी एशियन कप के अंतिम ग्रुप मैच में बहरीन के खिलाफ मिले 0-1 की हार के बाद इस्तीफा दे दिया है। टूर्नामेंट के पहले मैच मेंथाईलैंड को 4-1 हराकर शानदार शुरुआत करने वाली भारतीय टीम अपनी जीत को लय को जारी नहीं रख पाई और मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) एवं बहरीन के खिलाफ हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो गई। 

‘गोल डॉट कॉम’ के अनुसार, कांस्टेनटाइन ने मैच के तुरंत बाद अपने पद इस्तीफा देने की घोषणा कर दी। 56 वर्षीय कांस्टेनटाइन ने 2015 में टीम के मुख्य कोच का पद संभाला था और उनके मार्गदर्शन में टीम ने आठ साल के लंबे अंतराल के बाद एशियन कप के लिए क्वालीफाई किया।

इससे पहले, कांस्टेनटाइन ने 2002 से 2005 के बीच भारतीय टीम के कोच रहे थे। 

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

पांड्या, राहुल ने गलती की, लेकिन विश्व कप में उनकी जरूरत : श्रीसंत

Published

on

Hardik-KL-Rahul-Koffee-With-Karan-min

भारतीय टीम के प्रतिबंधित तेज गेंदबाज एस. श्रीसंत ने सोमवार को हार्दिक पांड्या और लोकेश राहुल को ‘कॉफी विद करण’ शो पर दिए गए बयान को गलत बताया है, लेकिन साथ ही कहा है कि टीम को विश्व कप के लिए उनकी जरूरत है।

पांड्या और राहुल को शो पर महिलाओं के खिलाफ दिए गए बयान के एवज में बीसीसीआई और सीओए ने प्रतिबंध लगा दिया है और उनके खिलाफ जांच करने को कहा है।

श्रीसंत ने यहां संवाददाताओं से कहा, “मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि जो भी हुआ बहुत बुरा हुआ, लेकिन विश्व कप पास में है। हार्दिक और राहुल दोनों अच्छे खिलाड़ी हैं।”

उन्होंने कहा, “मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि हार्दिक और राहुल कभी न कभी मैदान पर वापसी करेंगे, वह दोनों मैच विजेता खिलाड़ी हैं। मैं जानता हूं कि एक क्रिकेट खिलाड़ी के लिए मैदान से दूर जाना कितना बुरा होता है।

मैं बस उम्मीद कर सकता हूं कि बीसीसीआई उन्हें मैदान पर खेलने की अनुमति दे। एक बार जब उन्हें एहसास हो जाएगा तो वह वहां खेलेंगे जहां उन्हें खेलना चाहिए। श्रीसंत ने कहा कि पांड्या और राहुल से भी बुरे बयान अतीत में कई लोगों ने दी है, लेकिन वह बच निकले।

श्रीसंत ने कहा, “हां, जो हुआ वह गलत था। उन्होंने कुछ गलत चीजें कहीं। लेकिन कई ऐसे भी रहे हैं जिन्होंने उनसे भी बड़ी गलतियां की हैं और अभी भी खेल रहे हैं न सिर्फ क्रिकेट में बल्कि कई अन्य खेलों में। वही लोग अब बोल रहे हैं।

वह जब मौका देखते हैं तो चीते की तरह दहाड़ते हैं।”श्रीसंत ने साथ ही उम्मीद जताई है कि उनके ऊपर भारत में प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलने को लेकर जो प्रतिबंध लगा है वह जल्दी समाप्त होगा।

आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular