राष्ट्रीय

पाक से लौटे सज्‍जादनशीं का खुलासा- रॉ का एजेंट समझकर हुई थी गिरफ्तारी

नई दिल्ली: पाकिस्तान में लापता हो गए निज़ामुद्दीन औलिया दरगाह के प्रमुख सज्जादनशीं सैयद आसिफ अली निज़ामी और उनके भतीजे नाजिम अली निजामी सकुशल भारत लौट आए हैं। दोनों कराची एयरपोर्ट से लापता हो गए थे।

दरअसल, दोनों को पाकिस्तानी एजेंसियों ने पूछताछ के लिए गैरकानूनी तरीके से हिरासत में ले लिया था। बाद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के दखल देने पर उनकी भारत वापसी संभव हो सकी है। मुख्य सज्जादनशीं आसिफ अली निजामी करीब एक हफ्ते पहले पाकिस्तान में लापता हो गए थे। उनके साथ उनके भतीजे नाज़िम निज़ामी भी थे।

एक संवाददाता सम्‍मेलन में भारत वापस लौट कर आए  नाजिम निजामी ने कहा कि पाकिस्‍तान के ‘उम्‍मद’ अखबार ने उनकी फोटो छापी और उन्‍हें रॉ का एजेंट बताया। नाजिम ने बताया कि इसके बाद उन्‍हें गैरकानूनी तरीके से हिरासत में ले लिया गया।

आसिफ निजामी के बेटे साजिद निजामी ने कहा है कि यह बात सही है कि उनके पिता को पाकिस्‍तान में हिरासत में लिया गया था। उन्‍होंने कहा कि कुछ मीडिया रिपोर्ट में यह बात कही कि वे रॉ के इजेंट हैं और इसके बाद उन्‍हें हिरासत में ले लिया गया।

बता दें कि पीरजादा आसिफ निजामी दुनिया भर में अपने करिश्मे के लिए मशहूर निजामुद्दीन औलिया दरगाह के सबसे खास सज्जादनशीं हैं। इसके अलावा वो निजामुद्दीन की मां माई साहब दरगाह (अधचीनी दिल्ली) के भी कर्ता-धर्ता हैं। कराची में आसिफ निज़ामी की बड़ी बहन रहती हैं।

दाता दरबार दक्षिण पूर्व एशिया की सबसे पुरानी दरगाह में से एक है। यहां पर निजामुद्दीन औलिया और गरीब नवाज दोनों की ही काफी मान्यता है। ऐसे में हर साल दोनों देश के सूफी संत पाकिस्तान से भारत और भारत से पाकिस्तान जाते हैं।

 

Wefornews bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top