राष्ट्रीय

UP में कर्जमाफी के नाम पर किसानों को दिए 10, 20 रुपए के सर्टिफिकेट!

CERTIFICATE

योगी सरकार एक तरफ कर्ज माफी के ऐलान के बाद अपनी पीठ थपथपाने में लगी हुई है, लेकिन दूसरी तरफ कई किसानों को कर्ज माफी के जो प्रमाणपत्र बांटे जा रहे हैं वो किसी मजाक से कम नहीं है। कई किसानों को 10, 20, 50 या 100-200 रुपए की कर्जमाफी के सर्टिफिकेट दिए गए हैं।

बता दें कि किसान राम सेवक जिस पर एक लाख रुपये का कर्ज था, उन्हें सिर्फ 10 रुपये 37 पैसे के कर्जमाफी का प्रमाणपत्र मिला है। इटावा जिले के भर्थना तहसील के नगला भोली गांव के गरीब किसान जिलेदार सिंह ने बैंक से एक लाख रुपए कर्ज लिया था। गांव के लेखपाल ने इन्हें कर्ज माफी का सर्टिफिकेट तो दिया, लेकिन सिर्फ तीन रपये का। ऐसे किसानों की लंबी फेहरिस्त है, जिन्हें 10, 20, 50 या 100-200 रुपए की कर्जमाफी के सर्टिफिकेट मिले हैं। किसानों को समझ नहीं आ रहा कि वो करें तो क्या करें और जाएं तो अब कहां जाएं।

दरअसल, पूरे सूबे से ऐसे मामले आ रहे हैं, जिसमें कर्जमाफी के सर्टिफिकेट को देखकर किसानों के होश एकदम से उड़ गए हैं। दिक्कत ये कि सरकार का एक मंत्री कह रहा है कि तकनीकी चूक है, तो दूसरा मंत्री कह रहा है कि सब ठीक है और जितने का सर्टिफिकेट मिला है, वो दरअसल वह रकम है, जो किसानों के कर्ज चुकाने के दौरान बाकी रह गई। इतना ही नहीं, जिलाधिकारी जांच की बात कह रहे हैं।

ऐसे में सवाल यही है कि सही कौन बोल रहा है और सच क्या है क्योंकि किसानों ने कर्जमाफी को लेकर किसी और पर नहीं प्रधानमंत्री पर भरोसा किया था। कर्जमाफी हो गई, तो किसानों को उम्मीद थी कि अब राहत पहुंचने वाली है। लेकिन कई किसान अब ठगा महसूस कर रहे हैं।

wefornews bureau 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top