Connect with us

शहर

इंदौर में नगर निगम अफसर के ठिकानों पर छापे

Published

on

raid-
प्रतीकात्मक तस्वीर

मध्य प्रदेश में इंदौर के नगर निगम अधिकारी अभय सिंह राठौर के ठिकानों पर आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) ने छापा मारा।

ईओडब्ल्यू सूत्रों के अनुसार, “राठौर के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति, अनियमितता और रिश्तेदारों के नाम संपत्ति खरीदने की शिकायतें आई थीं। इन्हीं शिकायतों के आधार पर ईओडब्ल्यू के कई दलों ने एक साथ उनके स्कीम नंबर 78, बजरंग नगर और गुलाब बाग के ठिकानों पर दबिश दी।”

ईओडब्ल्यू के अधिकारियों के अनुसार, प्रारंभिक तौर पर कई करोड़ की संपत्ति का पता चला है। गुलाब बाग में राठौर का तीन मंजिला मकान, कार का शोरुम, भूखंड है। इसके अलावा अधिकारियों को यहां जीवन बीमा निगम के कई पॉलिसी मिली है। बैंक लाकर्स की जानकारी भी जुटाई जा रही है।पता चला है कि राठौर असिस्टेंट इंजीनियर के पद पर पदस्थ हैं।

–आईएएनएस

शहर

बिहार के जमुई में सेक्‍स रैकेट में पंचायत मुखिया सहित 4 गिरफ्तार

Published

on

Recket
प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार के जमुई स्थित महिसौड़ी इलाके में चल रहे सेक्स रैकेट के गोरखधंधे का भंडाफोड हुआ है। पुलिस ने इस दौरान मकान से खैरा प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष को एक युवती के साथ आपत्तिजनक हालत में गिरफ्तार किया साथ ही तीन और लोगों को शिकंजे में लिया गया। पुलिस ने छापेमारी के दौरान वारदात की जगह से कंडोम, नगद रुपये, उत्तेजक दवा सहित कई आपत्तिजनक सामान भी बरामद किये गये।

पुलिस का कहना है महिसौड़ी इलाके में स्थित एक घर में पिछले कई महीनों से जिस्मफरोशी का गोरखधंधा चल रहा था। इसको लेकर पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी, तभी छापेमारी की गयी। पुलिस ने बताया कि छापेमारी में मुखिया एक लड़की के साथ आपत्तिजनक अवस्था में पकड़ा गया।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस छापेमारी में खैरा प्रखंड के हड़खार पंचायत के मुखिया सह मुखिया संघ के प्रखंड अध्यक्ष मुन्ना साह, मकान मालिक कन्हैया सिंह एवं मुकेश साह नामक युवक को गिरफ्तार किया गया है। पकड़ी गई लड़की भागलपुर जिले की बतायी जा रही है।

गौरतलब है इस मकान में काफी दिनों से जिस्मफरोशी का धंधा चल रहा था। मुखिया इलाके का बाहुबली माना जाता है और उस पर दर्जनों संगीन मामले दर्ज थे लेकिन पुलिस दबिश के बाद उसने सरेंडर कर मुखिया का चुनाव लड़ा और जीत गया। इलाके में उसका इतना दबदबा है कि उसके खिलाफ कोई उम्मीदवार खड़ा नहीं हुआ था और वह निर्विरोध चुनाव जीता था।

WeForNews

Continue Reading

शहर

बिहार में 25 अक्टूबर से प्लास्टिक बैग पर प्रतिबंध

Published

on

plastic bags

बिहार में 25 अक्टूबर से प्लास्टिक बैग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके लिए सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है। पटना उच्च न्यायालय के आदेश के बाद सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक, 25 अक्टूबर से हर प्रकार के प्लास्टिक कैरी बैग के इस्तेमाल पर प्रतिबंध रहेगा।

अधिसूचना के मुताबिक, “सिर्फ प्लास्टिक कैरी बैग को प्रतिबंधित किया गया है, जबकि बायो वेस्ट के संग्रहण और भंडारण के लिए इस्तेमाल होने वाले 50 माइक्रोन से अधिक के कैरी बैग पर प्रतिबंध लागू नहीं होगा। साथ ही सभी प्रकार के खाद्य और अन्य पदार्थ की पैकेजिंग, दूध और पौधे उगाने के इस्तेमाल में आने वाले बैग भी इस प्रतिबंध से मुक्त होंगे।”

पर्यावरण, वन एव जलवायु परिवर्तन विभाग के अतिरिक्त सचिव सुरेंद्र सिंह ने मंगलवार को कहा कि पॉलीथिन के उत्पादन या बार-बार इस्तेमाल पर पांच साल की जेल और एक लाख रुपये जुर्माने का प्रावधान है।

हालांकि, सरकार ने व्यापारियों को राहत देते हुए स्टॉक को खपाने के लिए 60 दिनों की मोहलत भी दी है। 15 दिसंबर से पॉलीथिन के इस्तेमाल पर दंड की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

उल्लेखनीय है कि पटना उच्च न्यायालय के निर्देश पर यह प्रतिबंध 24 सितंबर से लगने वाला था, लेकिन सरकार ने तैयारियों के लिए एक महीने का समय लिया था। राज्य सरकार ने अदालत को भरोसा दिलाया था कि जरूरी नियमावली बनाने के बाद पूर्ण प्रतिबंध के लिए अधिसूचना जारी कर दी जाएगी।

इधर, पटना नगर निगम क्षेत्र ने भी अधिसूचना जारी होने के बाद लोगों को जागरूक करने का मन बनाया है। नगर निगम के उपायुक्त(सफाई) विशाल आनंद ने बताया कि नगर निगम बेहतर ढंग से कानून लागू करने के लिए अगले एक महीने तक लोगों को पॉलीथिन का इस्तेमाल नहीं करने, पॉलीथिन इस्तेमाल करने पर होने वाले दुष्प्रभावों आदि को लेकर जागरूक करेगा।

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

शर्मनाक! नर्सरी की मासूम छात्रा से कैब ड्राइवर ने किया दुष्कर्म

Published

on

minor girl rape
प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली एक बार फिर शर्मसार हुई है। रोहिणी के एक स्कूल में मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म की शर्मनाक घटना सामने आयी है, जिसने इंसानियत को झकझोर कर रख दिया। नर्सरी कक्षा की छात्रा से स्कूल कैब ड्राइवर ने दुष्कर्म किया। आरोपी कैब ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक, मामला रोहिणी के शाहबाद डेयरी इलाके का है। चार साल की मासूम बच्ची एक नामी स्कूल में पढ़ती है। वहीं आरोपी की पहचान सुरेश के तौर पर हुई है। बच्ची रोजाना सुरेश की कैब से स्कूल आया-जाया करती है। लेकिन पिछले कुछ दिनों से बच्ची स्कूल आने-जाने में आनाकानी कर रही थी। सोमवार को उसकी मां जब उसे स्कूल के लिए तैयार करने लगी तो वह स्कूल जाने से मनाही करते हुए रोने लगी। मां ने उससे स्कूल न जाने का कारण पूछा तो मासूम ने कैब ड्राइवर की गंदी करतूतों की सारी दास्तां बयां की। परिजनों ने इस बाबत घटना की सूचना पुलिस को दी।

गौरतलब है सूचना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची को मेडिकल जांच के लिए अंबेडकर अस्पताल भेजा जहां दुष्कर्म की पुष्टि होने के बाद पॉक्सो और दुष्कर्म की धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। कहा जा रहा है इस वारदात से कुछ दिनों पहले ही बच्ची को परिजनों ने गुड टच व बैड टच के बारे में समझाया था।

बता दें ये कोई पहला मामला नहीं है, राजधानी में निजी स्कूलों में चलने वाली कैब को लेकर सुरक्षा मानकों की अनदेखी पहले भी होती रही है। यही नहीं स्कूल वाहन चालकों का पुलिस सत्यापन नहीं कराया जाता है। कई बार कुछ अभिभावक भी मिलकर वैन बुक कर बच्चों को स्कूल भेजते हैं। वे भी सुरक्षा मानकों की अनदेखी करते हैं।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular