Connect with us

राष्ट्रीय

धर्म-सभा में लाखों भक्तों की हुंकार, राम मंदिर के लिए कानून बनाए सरकार

Published

on

Ram Temple Rally

नई दिल्ली, 9 दिसम्बर | राष्ट्रीय राजधानी के रामलीला मैदान में रविवार को आयोजित धर्म सभा में देश भर से यहां हजारों की तादाद में पहुंचे संतों, भागवान राम के अनुयायियों और हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए केन्द्र सरकार से कानून बनाने की मांग की। धर्म सभा की अध्यक्षता करते हुए आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने कहा, “राम मंदिर के लिए दिल्ली में उमड़े जनसैलाब ने इतिहास रच दिया है। राम हिन्दू समाज के लिए मुक्ति मंत्र और चेतना है। राम मंदिर के लिए एकजुट हुई इन भावनाओं को शासन और न्यायालय को समझ कर आदर करना होगा। “

मोदी सरकार को दो टूक चेतावनी देते हुए महामंडलेश्वर स्वामी परमानंद महाराज ने कहा कि हम किसी की चापलूसी नहीं करते। अगर मंदिर नहीं बना तो राम भक्त चुप नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा कि अगर भाजपा पर यह आरोप लगता है कि वह चुनाव के दौरान ही राम मंदिर का मुद्दा उठाती है, तो दूसरे दलों को मंदिर निर्माण में सहयोग कर इस मुद्दे को ही समाप्त कर देना चाहिए।

जगतगुरु रामानंदाचार्य स्वामी हंसदेवाचार्य महाराज ने धर्म सभा में कहा कि राम मंदिर के लिए कानून या अध्यादेश से कम कुछ स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर राम मंदिर प्राथमिकता में नहीं है तो रामनवमी पर वे अवकाश क्यों लेते हैं?

वहीं गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने कहा कि संत चाहते हैं कि इसी दिसंबर में राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो।

धर्म सभा को संबोधित करते हुए विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे ने कहा, “राम मंदिर चुनाव का मुद्दा न हो कर आत्मसम्मान का मुद्दा है। न्यायालय की प्रतीक्षा अनंत काल तक नहीं की जा सकती। संसद जनता की आकांक्षाओं के अनुसार कानून बना कर मंदिर निर्माण की राह खोले।”

विहिप के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय अपने कर्तव्यों की अवहेलना करने की बजाए जन आकांक्षाओं का सम्मान करे। सभी राजनीतिक दल राम मंदिर का समर्थन करें तथा संसद के शीतकालीन सत्र में ही कानून बनाएं अन्यथा आगामी चुनावों में जनता का आक्रोश सामने आएगा।

धर्म सभा में स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती ने कहा कि ‘राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे’ यह आवाज एक जाति, धर्म या सम्प्रदाय की नहीं है बल्कि पूरे देश की है। शीर्ष अदालत को अपनी गरिमा बनाए रखनी चाहिए।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए स्वामी अनुभूतानंद महाराज ने कहा, ” शर्म की बात है कि राम लला टाट में बैठे हैं और हमारे नेता ठाठ में बैठे हैं। अगर सरकार या न्यायालय रास्ता नहीं निकालती है तो जिस तरह ढांचा ढहाया गया था उसी तरह भव्य राम मंदिर का निर्माण भी किया जाएगा।”

–आईएएनएस

राष्ट्रीय

मोदी ने दक्षिण कोरियाई विश्वविद्यालय में गांधीजी की प्रतिमा का किया अनावरण

Published

on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दक्षिण कोरिया के प्रमुख योनसेई विश्वविद्यालय में महात्मा गांधी की प्रतिमा (बस्ट) का अनावरण किया और कहा कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मद्देनजर इस अवसर का महत्व अधिक है।

मोदी ने दक्षिण कोरिया की राजधानी में अपने संबोधन में कहा, “20वीं सदी में, महात्मा गांधी शायद मानव जाति का सबसे बड़ा उपहार थे। पिछली सदी में उन्होंने अपनी जिंदगी और शख्सियत से दिखाया कि भविष्य क्या हो सकता है। वह अक्सर यह कहते थे कि मेरी जिंदगी एक संदेश है।”

उन्होंने कहा, “इस अवसर की बहुत महत्ता है क्योंकि हम इस साल महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहे हैं और विश्व, मानव जाति के हितों के लिए महात्मा गांधी के सिद्धांतों में भविष्य तलाश रहा है।”

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा बाद में किए गए एक ट्वीट में मोदी के हवाले से कहा गया, “बापू के विचारों व आदर्शो ने हमें आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन के खतरों से पार पाने में मदद की शक्ति दी है। इस वक्त मानव जति इन दोनों चुनौतियों का सामना कर रही है।”

उन्होंने कहा, “अपनी जीवनशैली के माध्यम से बापू ने दिखाया कि प्रकृति के साथ सामंजस्य बिठाकर जीना क्या होता है। उन्होंने यह भी दिखाया कि भावी पीढ़ी के लिए एक स्वच्छ और हरित ग्रह छोड़ना भी महत्वपूर्ण है।”

संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव बान की मून के संबोधन के बाद मोदी ने अपनी बात कही। बान की मून ने महात्मा गांधी की जयंती दो अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाने की बात कही। उन्होंने कहा कि वह महात्मा गांधी की 150वीं जयंती का हिस्सा बनकर सम्मानित महसूस कर रहे हैं।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय यात्रा पर दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल पुहंचे, जहां एयरपोर्ट पर उनका स्वागत शानदार तरीके से किया गया, भारतीय समुदाय के लोगों ने ‘मोदी-मोदी’ के नारे लगा उनका अभिनंदन किया।

मोदी बुधवार रात को ही भारत से सियोल के लिए रवाना हुए थे। यहां प्रधानमंत्री दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे, इसके अलावा वह स्थानीय उद्योगपतियों और वहां पर भारतीय समुदाय के लोगों से भी मुलाकात करेंगे।

मोदी दो दिवसीय दक्षिण कोरिया के दौरे पर हैं, जहां वह सियोल शांति पुरस्कार प्राप्त करेंगे और व्यापार व राजनीतिक बैठकों में शिरकत करेंगे। इसके अलावा वह भारत-कोरिया व्यापार संगोष्ठी को भी संबोधित करेंगे।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

पूर्व न्यायाधीश जैन बीसीसीआई के लोकपाल नियुक्त किया

Published

on

Supreme_Court_of_India

सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व न्यायाधीश डी.के. जैन को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का लोकपाल नियुक्त किया है। जैन को बीसीसीआई में उठ रहे प्रशासनिक मुद्दों के कारण उन्हें संभालने के लिए यह जिम्मेदारी सौंपी है।

शीर्ष अदालत की न्यायाधीश एस.ए. बोब्डे और न्यायाधीश अभय मनोहर सापरे की बैंच ने छह वकीलों के सहमत हो जाने के बाद जैन को लोकपाल नियुक्त किया है। इन छह वकीलों के नाम का सुझाव पी.एस. नरसिम्हा ने दिए थे।

सर्वोच्च न्यायालय नरसिम्हा से सलाह करने के बाद प्रशासकों की समिति (सीओए) के तीसरे सदस्य के नाम का ऐलान भी कर सकती है। तीसरे सदस्य का नाम गुरुवार को तय किया जा सकता है।

–आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

दिल्ली उच्च न्यायालय ने असीस चड्ढा को जमानत दी

Published

on

delhi high court
File Photo

दिल्ली उच्च न्यायालय ने गुरुवार को असीस सिंह चड्ढा को जमानत दे दी। चड्ढा के वाहन से कथित तौर पर हुई एक सड़क दुर्घटना में तुर्कमेनिस्तान की एक 51 साल की महिला की मौत हो गई थी।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सुदेश कुमार ने असीस सिंह चड्ढा (19) को दो लाख रुपये के निजी मुचलके व इतनी ही राशि की दो जमानत भरने का निर्देश दिया।असीस चड्ढा, वेब ग्रुप के दिवंगत पोंटी चड्ढा का भतीजा है।

वह बुधवार को मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अंबिका सिंह से जमानत पाने में विफल रहा और उसे सीने में दर्द व असहज होने की शिकायत पर सरकारी राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

आरोप है कि चड्ढा ने अपनी बेंटले कार से एक ऑटोरिक्शा को टक्कर मार दी, जिससे तुर्किमेनिस्तान की एक पर्यटक अलाजनओवा गुलसत गंभीर रूप से घायल हो गई। बाद में उसकी मौत हो गई। गुलसत के साथ यात्रा कर रही अन्य दो महिलाओं व ऑटो चालक को भी चोंटे आई हैं।

चड्ढा पर लापरवाही से वाहन चलाने और हत्या की कोटि में नहीं आने वाले आपराधिक मानव वध का मामला दर्ज किया गया।

आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
hafiz saeed pakistan
अंतरराष्ट्रीय10 hours ago

पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संगठन जेयूडी पर फिर से पाबंदी लगायी

raveena-tandon-min
मनोरंजन14 hours ago

रवीना टंडन शहीदों के बच्चों की शिक्षा के लिए मदद करेंगी

sensex-min
व्यापार14 hours ago

शेयर बाजारों में तेजी, सेंसेक्स 142 अंक ऊपर

राष्ट्रीय14 hours ago

मोदी ने दक्षिण कोरियाई विश्वविद्यालय में गांधीजी की प्रतिमा का किया अनावरण

Archana Puran
मनोरंजन14 hours ago

सिद्धू की जगह लेने की संभावना है : अर्चना

शहर14 hours ago

दिल्ली में अक्षरधाम के पास फायरिंग

व्यापार15 hours ago

ईपीएफओ की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी

Farmers
राजनीति15 hours ago

महाराष्ट्र में किसानों का फिर से शुरू हुआ ‘लॉन्ग मार्च’

Samsung
टेक15 hours ago

Samsung ने पहला 5G स्मार्टफोन किया लॉन्च

Supreme_Court_of_India
राष्ट्रीय15 hours ago

पूर्व न्यायाधीश जैन बीसीसीआई के लोकपाल नियुक्त किया

rose day-
लाइफस्टाइल2 weeks ago

Happy Rose Day 2019: करना हो प्यार का इजहार तो दें इस रंग का गुलाब…

Teddy Day
लाइफस्टाइल2 weeks ago

Happy Teddy Day 2019: अपने पार्टनर को अनोखे अंदाज में गिफ्ट करें ‘टेडी बियर’

vailtine day
लाइफस्टाइल1 week ago

Valentines Day 2019 : इस वैलेंटाइन टैटू के जरिए करें प्यार का इजहार

chili-
स्वास्थ्य22 hours ago

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

face recognition india
टेक2 weeks ago

क्या चेहरे की पहचान प्रौद्योगिकी का दुरुपयोग रोकने में सक्षम है भारत?

Digital Revolution
ज़रा हटके3 weeks ago

अरबपति बनिया कैसे बन गए डिजिटल दिशा प्रवर्तक

vijay mallya-min
ब्लॉग2 weeks ago

ईडी की जांच में हुआ खुलासा, माल्या ने कर्ज लेकर रकम देश से बाहर भेजी, लौटाने का इरादा नहीं था

Priyanka Gandhi Congress
ओपिनियन4 weeks ago

क्या प्रियंका मोदी की वाक्पटुता का मुकाबला कर पाएंगी?

Priyanka Gandhi
ओपिनियन4 weeks ago

प्रियंका के आगमन से चुनाव-पूर्व त्रिकोणीय हलचल

Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi
ब्लॉग3 weeks ago

राहुल, प्रियंका के इर्द-गिर्द नए-पुराने कई चेहरे

Most Popular