Connect with us

खेल

अपने बच्चों को प्यार की जगह पदक देने पर मुझे गर्व : मैरी कॉम

Published

on

marry kom

पांच बार की विश्व चैंपियन और राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता भारतीय महिला मुक्केबाजी एमसी मैरी कॉम ने कहा कि उन्हें इस बात पर गर्व है कि उन्होंने अपने बच्चों को प्यार की जगह पदक दिए हैं।

मैरी कॉम ने इस साल अप्रैल में आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में लाइफ्लाई वेट 48 किग्रा में स्वर्ण पदक जीता था। मैरी कॉम ने यहां स्पेशल ओलम्पिक यूनीफाइड फुटबाल कप में हिस्सा लेने जा रही भारतीय स्पेशल महिला फुटबाल टीम के विदाई समारोह के दौरान यह बातें कही।

स्पेशल ओलम्पिक यूनीफाइड फुटबाल कप का आयोजन 17 से 20 जुलाई तक अमेरिका के शिकागो में होने हैं। मैरी कॉम ने कहा, इस बार जब मैंने राष्ट्रमंडल खेंलों में स्वर्ण पदक जीतने के बाद अपने घर पर फोन किया तो मुझे घर वालों की खुशी का अहसास फोन पर ही हो गया था।

बच्चे भी चाहते हैं कि उन्हें घर में मां का प्यार मिले, जो मैं उन्हें नहीं दे पाई। लेकिन मुझे लगता है कि मुझे इस गर्व होना चाहिए कि मैंने बच्चों को प्यार की जगह पदक दिये हैं।उन्होंने कहा, “खेल तो कुछ समय के लिए है। इसके बाद मुझे पूरा जीवन घर पर ही रहना है तब मैं अपने बच्चों को मां का प्यार दूंगी।

लेकिन उससे पहले मैंने जो भी पदक दिए हैं। उस पर मुझे गर्व है। यह मेरा नहीं, पूरे देश का पदक है और मेरे बच्चों को भी इससे खुशी होनी चाहिए। मैरी कॉम चोट के चलते अगले माह इंडोनेशिया के जकार्ता में होने जा रहे एशियाई खेलों में हिस्सा नहीं ले रही हैं।

लेकिन उन्हें उम्मीद है कि वह अगले एआईबीए महिला विश्व चैंपियनशिप में देश के लिए जरुर पदक जीतेंगी। एआईबीए महिला विश्व चैंपियनशिप का आयोजन इस साल भारत में 15 से 24 नवंबर के बीच होना है। मैरी कॉम ने कहा, “चोट के कारण मैं एशियाई खेलों में हिस्सा नहीं ले पा रही हूं।

पिछले एक महीने से मेरा इलाज चल रहा था और मैं अभी वापस ट्रेनिंग कर रही हूं। देश में ट्रेनिंग सिस्टम काफी अच्छा चल रहा है और मुझे भी इसका फायदा मिल रहा है।”उन्होंने कहा, छह-सात साल पहले हम दो तीन घंटे अभ्यास करते थे लेकिन अब आज के समय में स्मार्ट ट्रेनिग होने से हमें इसका फायदा मिल रहा है।

अब एक घंटे में अच्छे से ट्रेनिंग हो सकती है। इसलिए आज के समय में स्मार्ट ट्रेनिंग होनी चाहिए। कुछ सालों से मैं विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं ले रही थी लेकिन इस बार मैं इसके लिए तैयार हूं और फिट रही तो देश के लिए जरूर पदक जीतूंगी।

WeForNews

खेल

बैडमिंटन : सिंगापुर ओपन से बाहर हुए शुभांकर

Published

on

Subhankar Dey-
फोटो-HT

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी शुभांकर डे हारकर सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज से बाहर हो गए। इसके अलावा, इस सुपर सीरीज में मिश्रित युगल वर्ग में प्रणव जैरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी को भी निराशा हाथ लगी।

पुरुष एकल वर्ग के प्री-क्वार्टर फाइनल में शुभांकर को ताइवान के चोउ तिएन चेन ने मात देकर बाहर किया। वर्ल्ड नम्बर-7 चेन ने शुभांकर को 33 मिनटों में सीधे गेमों में 21-13, 21-14 से मात देकर बाहर कर दिया।

मिश्रित युगल वर्ग के प्री-क्वार्टर फाइनल में हांगकांग की चांग ताक चिंग और एनजी विंग युंग की जोड़ी ने प्रणव और सिक्की की जोड़ी को केवल 25 मिनटों में ही सीधे गेमों में 21-15, 21-11 से हराकर बाहर का रास्ता दिखा दिया।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

बैडमिंटन : सिंगापुर ओपन से बाहर हुईं रितुपर्णा दास और रुत्विका गद्दे

Published

on

Indian badminton player
File Photo

भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ियों रितुपर्णा दास और रुत्विका गद्दे शिवानी को सिंगापुर ओपन में निराशा हाथ लगी। दोनों को महिला एकल वर्ग में खेले गए अपने-अपने प्री-क्वार्टर फाइनल मैचों में हार का सामना करना पड़ा।

रितुपुर्णा ने प्री-क्वार्टर फाइनल में इंडोनेशिया की बैडमिंटन खिलाड़ी युलिया योसेफिन सुसांतो को अच्छी टक्कर दी, लेकिन वह जीत हासिल नहीं कर पाई। युलिया ने 59 मिनट तक चले मैच में भारतीय खिलाड़ी रितुपुर्णा को 15-21, 21-13, 21-16 से मात देकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है।

शिवानी को जापान की वर्ल्ड नम्बर-18 सयाका ताकाहाशी ने केवल 26 मिनटों के भीतर सीधे गेमों में 8-21, 15-21 से मात देकर बाहर का रास्ता दिखाया। मिश्रित युगल वर्ग में भी भारत को निराशा हाथ लगी। सात्विक साईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी को प्री-क्वार्टर फाइनल में हांगकांग की ली चुन हेई रीनाल्ड और चाउ होई वाह की जोड़ी ने 53 मिनट में 14-21, 21-16, 14-21 से हराकर बाहर किया।

WeForNews

Continue Reading

खेल

पंत पहली बार टेस्ट टीम में, शमी की वापसी

Published

on

Mohmmad shami-
File Photo

युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत को पहली बार टेस्ट टीम में जगह मिली है। इंग्लैंड के खिलाफ खेली जाने वाली तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए बुधवार को भारतीय टीम की गई, जिसमें पंत का भी नाम है।

वहीं, तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी टीम में वापसी करने में सफल रहे हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बुधवार को टीम का ऐलान किया। इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज से बाहर होने वाले जसप्रीत बुमराह को भी टीम में जगह मिली है लेकिन वो चोट के कारण पहले टेस्ट मैच में उपलब्ध नहीं रहेंगे।

टेस्ट टीम के नियमित विकेटकीपर-बल्लेबाज रिद्धिमान साहा पूरी तरह से चोट से उबरे नहीं है इसलिए उन्हें टीम में जगह नहीं मिली। पंत के अलावा दिनेश कार्तिक के रूप में दो विकेटकीपर चुने हैं। साहा के चोटिल होने के बाद अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में कार्तिक ने टेस्ट टीम में आठ साल बाद वापसी की थी।

वहीं, भुवनेश्वर को तीसरे वनडे में चोट लग गई है इसलिए वो अभी टेस्ट टीम में नहीं चुने गए हैं। फिटनेस टेस्ट के आधार पर उनका चयन किया जाएगा। बीसीसीआई की सीनियर चयन समिति ने करुण नायर को भी टीम में बनाए रखा है। वहीं रोहित शर्मा टीम में वापसी नहीं कर पाए हैं।

बीसीसीआई ने एक बयान जारी कर कहा, “अखिल भारतीय सीनियर चयन समिति ने लीड्स में बैठक कर इंग्लैंड के खिलाफ खेली जाने वाली तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम का चयन किया।” बयान में भुवनेश्वर के बार में कहा गया है, “भुवनेश्वर को तीसरे वनडे में पीठ के निचले हिस्से में परेशानी हुई थी।

बीसीसीआई की मेडिकल टीम उनकी जांच करेगी। इसके बाद टेस्ट टीम में उनको शामिल किए जाने पर फैसला लिया जाएगा।” वहीं बुमराह के बारे में बीसीसीआई ने बताया है, “बुमराह को टीम में शामिल किया गया है, लेकिन वो दूसरे टेस्ट मैच से फिटनेस के आधार पर टीम में चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे।”

भारत को पहला टेस्ट मैच एक अगस्त से एजबेस्टन में, दूसरा टेस्ट मैच नौ अगस्त से लॉर्ड्स में और तीसरा तथा आखिरी टेस्ट मैच 18 अगस्त से ट्रेंट ब्रिज में खेलना है। टीम : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), करुण नायर, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, हार्दिक पांड्या, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह, शार्दूल ठाकुर।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular