Connect with us

खेल

अपने बच्चों को प्यार की जगह पदक देने पर मुझे गर्व : मैरी कॉम

Published

on

marry kom

पांच बार की विश्व चैंपियन और राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता भारतीय महिला मुक्केबाजी एमसी मैरी कॉम ने कहा कि उन्हें इस बात पर गर्व है कि उन्होंने अपने बच्चों को प्यार की जगह पदक दिए हैं।

मैरी कॉम ने इस साल अप्रैल में आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में लाइफ्लाई वेट 48 किग्रा में स्वर्ण पदक जीता था। मैरी कॉम ने यहां स्पेशल ओलम्पिक यूनीफाइड फुटबाल कप में हिस्सा लेने जा रही भारतीय स्पेशल महिला फुटबाल टीम के विदाई समारोह के दौरान यह बातें कही।

स्पेशल ओलम्पिक यूनीफाइड फुटबाल कप का आयोजन 17 से 20 जुलाई तक अमेरिका के शिकागो में होने हैं। मैरी कॉम ने कहा, इस बार जब मैंने राष्ट्रमंडल खेंलों में स्वर्ण पदक जीतने के बाद अपने घर पर फोन किया तो मुझे घर वालों की खुशी का अहसास फोन पर ही हो गया था।

बच्चे भी चाहते हैं कि उन्हें घर में मां का प्यार मिले, जो मैं उन्हें नहीं दे पाई। लेकिन मुझे लगता है कि मुझे इस गर्व होना चाहिए कि मैंने बच्चों को प्यार की जगह पदक दिये हैं।उन्होंने कहा, “खेल तो कुछ समय के लिए है। इसके बाद मुझे पूरा जीवन घर पर ही रहना है तब मैं अपने बच्चों को मां का प्यार दूंगी।

लेकिन उससे पहले मैंने जो भी पदक दिए हैं। उस पर मुझे गर्व है। यह मेरा नहीं, पूरे देश का पदक है और मेरे बच्चों को भी इससे खुशी होनी चाहिए। मैरी कॉम चोट के चलते अगले माह इंडोनेशिया के जकार्ता में होने जा रहे एशियाई खेलों में हिस्सा नहीं ले रही हैं।

लेकिन उन्हें उम्मीद है कि वह अगले एआईबीए महिला विश्व चैंपियनशिप में देश के लिए जरुर पदक जीतेंगी। एआईबीए महिला विश्व चैंपियनशिप का आयोजन इस साल भारत में 15 से 24 नवंबर के बीच होना है। मैरी कॉम ने कहा, “चोट के कारण मैं एशियाई खेलों में हिस्सा नहीं ले पा रही हूं।

पिछले एक महीने से मेरा इलाज चल रहा था और मैं अभी वापस ट्रेनिंग कर रही हूं। देश में ट्रेनिंग सिस्टम काफी अच्छा चल रहा है और मुझे भी इसका फायदा मिल रहा है।”उन्होंने कहा, छह-सात साल पहले हम दो तीन घंटे अभ्यास करते थे लेकिन अब आज के समय में स्मार्ट ट्रेनिग होने से हमें इसका फायदा मिल रहा है।

अब एक घंटे में अच्छे से ट्रेनिंग हो सकती है। इसलिए आज के समय में स्मार्ट ट्रेनिंग होनी चाहिए। कुछ सालों से मैं विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं ले रही थी लेकिन इस बार मैं इसके लिए तैयार हूं और फिट रही तो देश के लिए जरूर पदक जीतूंगी।

WeForNews

खेल

महिला फुटबाल : 2020 ओलम्पिक क्वालीफायर में बांग्लादेश से जीता भारत

Published

on

यांगून (म्यांमार): नेपाल के खिलाफ ड्रॉ हुए मैच के कारण हुई निराशा को पीछे छोड़ते हुए भारतीय महिला फुटबाल टीम ने 2020 एएफसी महिला ओलम्पिक क्वालीफायर के पहले दौर के दूसरे मैच में बांग्लादेश को 7-1 से हराया। इस मैच में भारत के लिए सबसे अधिक गोल बाला देवी ने किए। उन्होंने इस मैच में टीम के लिए कुल चार गोल किए। इसके अलावा, कमला देवी और संजू ने भी गोल स्कोर किए।

कमला ने 16वें मिनट में पहला गोल दागने के साथ भारतीय टीम का खाता खोला। इसके बाद, 22वें मिनट में बाला ने गोल करते हुए टीम को 2-0 से आगे कर दिया।  बाला ने इसके अगले मिनट में ही भारतीय टीम के खाते में तीसरा गोल किया और टीम ने पहले हाफ का समापन 3-0 की बढ़त के साथ किया।
दूसरे हाफ में भी मैच पर पूरी तरह से भारतीय टीम ने अपना दबदबा बनाए रखा था। 53वें मिनट में कमला ने चौथा गोल किया। इसके बाद, 62वें मिनट में बाला ने इस मैच में अपनी हैट्रिक पूरी की और भारत को 5-0 से आगे कर दिया।

संजू ने 10 मिनट बाद 72वें मिनट में भारतीय टीम के लिए इस मैच का छठा गोल किया। 75वें मिनट में बाला ने चौथा गोल करते हुए टीम को 7-0 से आगे कर दिया।

काफी संघर्ष के बाद बांग्लादेश को गोल करने का अवसर मिला। 82वें मिनट में रानी कृष्णा ने गोल करते हुए टीम का खाता तो खोला, लेकिन यह जीत के लिए पर्याप्त नहीं था और ऐसे में भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ 7-1 से जीत हासिल की।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

दुनिया के नंबर 1 पहलवान बने बजरंग पूनिया

Published

on

भारत के बजरंग पूनिया दुनिया के नंबर 1 पहलवान गए हैं। यूनाइटेड वर्ल्ड रेस्लिंग ने ताजा रैंकिंग जारी की है। इसमें पूनिया को पहली रैंक मिली है। इसके साथ ही यहां तक पहुंचने वाले वह पहले भारतीय पहलवान बन गए हैं।

WeForNews

Continue Reading

Uncategorized

महिला टी-20 विश्व कप : पहले मुकाबले में भारत ने न्यूजीलैंड को मात दी

Published

on

(Source: BCCI)

भारतीय टीम ने कप्तान हरमनप्रीत कौर के रिकॉर्ड शतक के दम पर यहां प्रोविडेंस स्टेडियम में शुक्रवार देर रात आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप के अपने पहले मुकाबले में न्यूजीलैंड को 34 रनों से शिकस्त दी। मुकाबले में 29 वर्षीय हरमनप्रीत ने महज 51 गेंदों पर 103 रन की तूफानी शतकीय पारी खेली जिसमें उन्होंने सात चौके और आठ छक्के लगाए। वह टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शतक बनाने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं। इस दमदार प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया।

भारत द्वारा दिए गए 195 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की टीम निर्धारित 20 ओवर में नौ विकेट के नुकसान पर केवल 160 रन ही बना सकी।

न्यूजीलैंड की टीम के लिए सबसे ज्यादा रन सूजी बेट्स ने बनाए। उन्होंने 50 गेंदों पर आठ चौकों की मदद से 67 रनों की पारी खेली लेकिन टीम को जीत नहीं दिला पाई। कैटी मार्टिन ने भी 25 गेंदों पर 39 रन बनाए लेकिन इनके अलावा कोई भी अन्य बल्लेबाज क्रीज पर अधिक समय तक टिक नहीं पाया।

अपना पहला टी20 अंतर्राष्ट्रीय खेल रही दयालन हेमलता और पूनम यादव ने भारत की तरफ से तीन-तीन जबकि राधा यादव ने दो विकेट लिए। अरुं धती रेड्डी को एक विकेट मिला।

इससे पहले, टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने एक समय 40 रन के अंदर ही अपने तीन विकेट गंवा दिए।

हालांकि, इसके बाद हरमनप्रीत और जेमिमाह रॉड्रिगेज ने चौथे विकेट के लिए 134 रन की शानदार साझेदारी कर अपनी टीम का स्कोर निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट पर 194 रन तक पहुंचा दिया।

युवा बल्लेबाज रॉड्रिगेज ने 45 गेंदों पर सात चौकों के मदद से कुल 59 रनों बनाए। रॉड्रिगेज का यह चौथा अर्धशतक है। इसके अलावा, हेमलता ने 15 रनों का योगदान दिया।

न्यूजीलैंड की ओर से लीह ताहुहु ने दो और जैस वाटकिन, लीह कास्पेरेक तथा सोफी डेवाइन ने एक-एक विकेट चटकाए।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular