लाइफस्टाइल

Happy Friendship Day 2017: दोस्ती दुनिया का सबसे खुबसूरत और दिलचस्प रिश्ता

-FRIENDSHIP
File Photo

दोस्ती दुनिया का सबसे खुबसूरत रिश्ता है। हम सभी किसी ना किसी परिवार में पैदा होते हैं, लेकिन दोस्त हम अपनी मर्जी से बनाते हैं। इसलिए जब भी बात आती है दोस्‍ती की, तो सभी के दिल खिल उठते हैं।

friend

क्योकि दोस्ती का रिश्ता सबसे अजीज होता है। दोस्ती में जिताना प्यार होता है उतना ही झगड़ा भी। तभी दोस्ती पक्की होती है। क्यों न आज दोस्तों के इस खास रिश्तों को और भी मजबूत बनाए। आइए नजर डालते है दोस्ती से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातों पर…..

एक दिल दो दिमाग

दोस्तों के बीच होने वाली इस तू-तू, मैं-मैं की एक वजह है दिल मिल जाना। अजी हां, दिल तो मिल गए पर दिमाग का क्या। वह तो अलग-अलग ही सोचता है। जो बात
एक को सही लगती है, वह दूसरे को गलत लगती है। ऐसे में दोनों सही गलत को लेकर लड़ पड़ते हैं। ऐसे दोस्तों को फिर से मिलाने के लिए दूसरे दोस्तों के सहयोग की जरूरत पडती है, जो इनकी बात करा सके।

dost

 

तू क्यूं परेशां है

अक्सर दो दोस्तों के बीच लड़ाई की वजह होती है किसी एक की परेशानी, जो दूसरे को बहुत खलती है कि वह इतना परेशान क्यों है। वह उसे समझाने की भी बहुत
कोशिश करता है, पर जब उसके समझाने का कोई असर नहीं होता तो फिर क्या दूसरे का पारा चढ़ जाता है सातवें आसमान पर।

boyandgirlfriends_

और वह सुना डालता है कि क्यूं वह छोटी सी बात से इतना परेशान हो गया है। ऐसी स्थिति अक्सर उन दोस्तों के बीच आ जाती है जिनमें से एक का पारा कुछ ज्यादा ही हाई होता है फिर भी वह दूसरे से बहुत प्यार करता है।

best freinds

इक-दूजे के लिए

इस तकरार का सबसे बड़ा साथी प्यार होता है।जहां प्यार होता है वहां तकरार होने लगती है यह तकरार कई बार बहुत गम्भीर रूप ले लेती है। मगर मन में कहीं दबा प्यार फिर से दो दोस्तों एक कर देता है। ऐसे दोस्‍त बहुत जोर-जोर से लड़ते हैं। इतना की आस-पास खडे लोग भी इन्‍हें देखने लगते हैं। दोस्ती में झगड़ा करके दोनों एक दुसरे को सॅारी बोले तो सारा गु्स्सा खत्म।

dost

 

एक बड़ी वजह

दोस्तों के बीच जब लवर आते हैं, तो भी होती है तू-तू, मैं-मैं। कई बार ऐसे में शिकायत शुरू हो जाती है कि ‘तुम्हारे पास मेरे लिए वक्त नहीं’, ‘हमेंशा उसी की बातें करते हो’ वगैरह वगैरह। इस प्राब्लम में इजाफा तब होता है जब किसी एक के पास तो प्‍यार हो, लेकिन दूसरा ‘निहत्था’।

friendship-day-

ऐसे में ‘हेव नाट’ को तो प्राबलम होती ही है, लेकिन जो ‘हेव’है यानि जिसके पास लवर है वह भी सचमुच हेव नाट को हर्ट कर देता है। ऐसे में दोनों को एक दूसरे की फिलिंग्स का ध्यान रखना चाहिए कि कहीं वह दूसरे को अकेला तो नहीं छोड रहा।

 

 

Wefornews Bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top