अब कौन कहेगा, 'ऐ भाई! जरा देख के चलो' | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

ज़रा हटके

अब कौन कहेगा, ‘ऐ भाई! जरा देख के चलो’

Published

on

Gopaldas Neeraj

नई दिल्ली, 19 जुलाई | ‘लिखे जो खत तुझे‘, ‘ऐ भाई! जरा देख के चलो‘, ‘दिल आज शायर है‘, ‘जीवन की बगिया महकेगी‘, ‘खिलते हैं गुल यहां’ जैसे मशहूर गानों के जरिए लोगों के दिलों में जगह बनाने वाले हिंदी के प्रख्यात गीतकार और कवि गोपाल दास नीरज 93 वर्ष की उम्र में गुरुवार को दुनिया छोड़ चले, लेकिन ऐसा जिंदादिल कवि कभी मरता है क्या!

उत्तर प्रदेश के इटावा जिले स्थित पुरवली गांव में 4 जनवरी, 1925 को जन्मे गोपाल दास नीरज जब छह वर्ष के थे, तभी उनके पिता का देहांत हो गया था। सन् 1942 में एटा से हाईस्कूल परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास करने के बाद उन्होंने इटावा की कचहरी में कुछ समय टाइपिस्ट का काम किया। उसके बाद सिनेमाघर की एक दुकान पर नौकरी की, लेकिन लिखने की कला अपने हाथ में समेटे गोपाल दास लंबी बेकारी के बाद दिल्ली आ गए।

दिल्ली आकर उन्होंने सफाई विभाग में टाइपिस्ट की नौकरी की। वहां से नौकरी छूट जाने पर कानपुर के डीएवी कॉलेज में क्लर्की की। फिर बाल्कट ब्रदर्स नाम की एक प्राइवेट कंपनी में पांच साल तक टाइपिस्ट का काम किया। नौकरी करने के साथ प्राइवेट परीक्षाएं देकर 1949 में 12वीं, 1951 में बीए और 1953 में प्रथम श्रेणी में हिंदी से एमए पास किया।

Image result for neeraj poet पद्मभूषण सम्मान

‘दर्द दिया है’, ‘आसावरी’, ‘बादलों से सलाम लेता हू’ं, ‘गीत जो गाए नहीं’, ‘कुछ दोहे नीरज के’, ‘नीरज की पाती’ जैसे रचना संग्रह, ‘तमाम उम्र मैं इक अजनबी के घर में रहा’, ‘हम तेरी चाह में, ऐ यार! वहां तक पहुंचे’, ‘अब तो मजहब कोई ऐसा भी चलाया जाए’, ‘दूर से दूर तलक एक भी दरख्त न था’ , ‘पीछे है बहुत अंधियार अब सूरज निकलना चाहिये’ जैसी गजलें लिखने वाले मशहूर कवि और गीतकार गोपाल दास नीरज को 1991 में पद्मश्री और 2007 में पद्मभूषण सम्मान से भी नवाजा गया था।

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी यश भारती सम्मान से सम्मानित कर उनके दमदार लेखनी को सराहा था। बॉलीवुड फिल्मों में कई सुपरहिट गाने लिखकर अपना लोहा मनवाया था। उन्हें उनकी लेखनी के लिए कई बार सम्मानित किया गया था। उन्होंने तीन बार फिल्म फेयर अवार्ड भी अपने नाम किया था।

हिंदी मंचों के प्रसिद्ध कवियों में शुमार नीरज को अंतिम दिनों में सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, जिस कारण मंगलवार को तबीयत बिगड़ने के बाद आगरा के लोटस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, लेकिन तबीयत ज्यादा खराब होने पर उन्हें एम्स लाया गया, हालांकि बुधवार को तबीयत में सुधार की भी खबरें आई थीं, लेकिन अगले दिन नीरज ने दुनिया को अलविदा कह दिया। उनके लाखों चाहने वालों का दिल आज रोएगा बहुत, उनकी प्रसिद्ध कविता ‘रोने वाला ही गाता है’ सबको ढाढस बंधाएगी। कवि कभी मरता नहीं, नीरज सदियों अपनी रचनाओं के रूप में जीवित रहेंगे। उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि!!!

–आईएएनएस

ज़रा हटके

ट्रैफिक से बचने के लिए ये शख्स तैरकर जाता है ऑफिस…

Published

on

man-
File Photo

अक्सर आप भी ट्रैफिक की समस्या से परेशान रहते है। घर से आप टाइम पर निकलने के बाद भी आपको ट्रैफिक की वजह से ऑफिस जाने में देरी हो जाती है।

जिसकी वजह से आपका बहुत समय बर्बाद हो जाता हैं। कुछ लोगो को इस ट्रैफिक के कारण स्कूल, कॉलेज, आदि को भी देर हो जाती हैं। चाहे हम अपनी कार, बाइक से ऑफिस के लिए जल्दी निकले लेकिन जाम के करना लेट होना पड़ता है।

लेकिन आज जिस शख्स के बारे में हम आपको बताने जा रहे आप भी सुनकर दंग रह जायंगे। ये आदमी ऑफिस टाइम पर पहुँचने के लिए किसी कार, या बस, मोटर अदि का प्रयोग नहीं करता। बल्कि ये शख्स अपने ऑफिस तैर कर जाता हैं। ये बात सुनकर आप भी चौंक गए होंगे। लेकिन ये सच है। इस शख्स ने ट्रैफिक से बचने के लिए ये अजीब सा रास्ता अपनाया है।

ये शख्स जर्मनी का रहने वाला है। जर्मनी के म्यूनिख में रहने वाले इस शख्स का नाम बेंजामिन है। दरअसल बेंजामिन ट्रैफिक से बेहद परेशन रहते थे। उन्हें हमेशा ऑफिस जाने में देरी हो जाती थी। इसी से बचने के लिए उन्होंने तैरकर ऑफिस जाना शुरू कर दिया।

बेंजामिन रोज करीब 2 किलोमीटर तक तैरकर अपने ऑफिस जाते है। उनका कहना है कि ऐसा करने से वो टाइम पर अपने ऑफिस पहुँच जाते है।

साथ ही उनके बॉडी की एक्सरसाइज भी हो जाती है। बेंजामिन का कहना है कि ऐसा करते देख लोग उनका मजाक बनाते है। लेकिन उनको नहीं फर्क पढता लोग उनके बारे में किया सोचते। क्योंकि वो इस तरीके से अपने ऑफिस टाइम पर पहुँच जाते है।

WeForNews

Continue Reading

ज़रा हटके

इस देश में नहाने के लिए गर्म तेल का होता है इस्तेमाल…

Published

on

Oil-
प्रतीकात्मक तस्वीर

नहाने से शरीर की के बीमारी दूर होती है। नहाना है ज़िंदगी के लिए बहुत लाभदायक होता है। अपने देखा होगा और सुना भी होगा कि लोग पानी के अलावा दूध से नहाने का शौक रखते है ।

लेकिन क्या आप जानते है कि दुनियां में एक ऐसी जगह भी है जहां लोग पानी और दूध के अलावा तेल से नहाना पसंद करते है। जी हां हम सही कह रहे है नहाने का एक शौक ये भी है कि लोग यहां पर तेल से नहाते है। आइए जानते है कैसे और कहाँ होता है ऐसा….

ईरान के पास स्थित देश नाफ़तलाम में लोग कच्चे तेल से नहाते है ऐसा माना जाता है वहां के लोग कच्चे तेल में नहाने का शौक रखते है और साथ ही बाथटब में कच्चे तेल से नहाने से 70 से अधिक बीमारियां दूर होती है।

कई लोगो का तो यहां तक मानना है कि यहां गर्म तेल में नहाने से गठिया रोग भी ठीक हो जाते है और स्किन सम्बन्धी बीमारी भी जल्द ही ठीक होती है। दूर दूर से आते है लोग नहाने यहां के प्रसिद्ध शहर में लोग दूर दराज से लोग कच्चे तेल में नहाने के लिए आते है।

इस जगह नहाने लोगो को स्किन सम्बन्धी बीमारी , दिल संबंधी बीमारी , या गठिया रोग से सम्बन्धी रोग आसानी से ठीक हो जाते है। ये क्रूड ऑयल में नहाने के लिए लोग 40 डिग्री तापमान में 130 लीटर तेल में नहाते है।

कई लोगो का मानना है कि इस तेल में नहाने से हड्डीयो का जुड़ाव मजबूत होता है। अगर कोई इंसान इस गर्म तेल के टब में ज्यादा देर तक नहएगा तो इससे उसकी मौत भी हो सकती है।

WeForNews

Continue Reading

ज़रा हटके

भारत की इन 5 हॉन्टेड जगहों पर लोगों का जाना है माना

Published

on

GP Block-
File Photo

भारत में आपने अबतक ऐतिहासिक जगहों के नाम ही सुने और घूमे होंगे। लेकिन क्या आप जानते है भारत में कुछ जगह ऐसी भी है जो भूतिया जगहों के नाम से मशहूर है।

जहाँ आज भी लोगों के जाने पर रोक लगा रखी है। आज हम आपको कुछ ऐसी ही हॉन्टेड जगहों के बारे में बताने जा रहे है जो डरावनी है और रात को वहां जाना माना है।

भानगढ़ का किला

भानगढ़ के किले बारे में तो आपने सुना ही होगा ये राजस्थान में स्थित है। कहा जाता है यहां जो भी घर बनाता है उसके घर की छत गिर जाती है। रात होते ही इस किले के आस पास अजीबो गरीब आवाज़ सुनाई देती है। सरकार ने रात में इस किले में घूमने के लिए प्रवेश बंद कर रखा है।

दमास बीच, गुजरात

यहां के लोगों का मानना है कि जो भी दमास बीच घूमने आता है वो रहस्मयी तरीको से गायब हो जाता है। इस बीच पर आज भी डरावनी आवाज़े सुनाई देती है।

बृजराज भवन पैलेस

यहां के लोगों का कहना है कि यहां ब्रिटिश भूत है। ये क्रांति में मारा गया मेजर बर्टन रात के समय गार्ड्स को थप्पड़ मरता है।

जीपी ब्लॉक मेरठ

कहा जाता है कि इस जीपि ब्लॉक मेरठ में 4-5 भूत एक घर में हाथ में मोमबत्ती लेकर बैठे रहते है। यहां के लोगों का कहना है कि इस घर में लड़कियां लाल कलर की ड्रेस पहनकर इस घर में घूमती है।

दिल्ली कैंट

यहां के लोगो का कहना है कि एक सफ़ेद साड़ी में महिला लोगों से लिफ्ट मांगती है। अगर कोई कार लिफ्ट न दे और आगे निकल जाए तो ये महिला उसके पीछे भागती है। इस जगह आने जाने पर सरकार ने गाड़ियों पर रोक लगा दी।

Continue Reading
Advertisement
Kapil Sibal
चुनाव2 hours ago

इस बार भी मैं चॉँदनी चौक से चुनाव लडूंगा : कपिल सिब्बल

Ajay Devgn,-
मनोरंजन4 hours ago

अजय देवगन की फिल्म ‘दे दे प्यार दे’ का फर्स्ट पोस्टर जारी

Olympics World Games,-min
खेल5 hours ago

भारत ने स्पेशल ओलम्पिक में 85 स्वर्ण सहित 368 पदक जीते

Shivalli,
राजनीति5 hours ago

कर्नाटक के मंत्री शिवाली का निधन

Rahul-Gandhi-Tejashwi-Yadav-PIC
चुनाव5 hours ago

बिहार में महागठबंधन: RJD 20 और कांग्रेस 9 सीटों पर लडे़गी चुनाव

shiv sena
चुनाव5 hours ago

लोकसभा चुनाव : शिवसेना ने महाराष्ट्र के लिए 21 उम्मीदवारों की घोषणा की

Katrina Kaif,-
मनोरंजन5 hours ago

कैटरीना कैफ ने प्रशंसकों के साथ होली मनाई

City Workers In The Canary Wharf Business, Financial And Shopping District
व्यापार6 hours ago

फिच ने 2019-20 में भारत की जीडीपी वृद्धि दर घटाकर 6.8 फीसदी किया

akhilesh yadav
राजनीति6 hours ago

सशस्त्र बलों के बलिदान पर सवाल उठाना ठीक नहीं : अखिलेश

Imran-Khan-XI-JINPING
अंतरराष्ट्रीय6 hours ago

पाकिस्तान को चीन से 2.1 अरब डॉलर का मिलेगा कर्ज

green coconut
स्वास्थ्य3 weeks ago

गर्मियों में नारियल पानी पीने से होते हैं ये फायदे

chili-
स्वास्थ्य4 weeks ago

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

sugarcanejuice
लाइफस्टाइल3 weeks ago

गर्मियों में गन्ने का रस पीने से होते है ये 5 फायदे…

ILFS and Postal Insurance Bond
ब्लॉग4 weeks ago

IL&FS बांड से 47 लाख डाक जीवन बीमा प्रभावित

Bharatiya Tribal Party
ब्लॉग4 weeks ago

अलग भील प्रदेश की मांग को लेकर राजस्थान में मुहिम तेज

egg-
स्वास्थ्य4 weeks ago

रोज एक अंडा खाने से होते हैं ये फायदे….

indian air force
ब्लॉग3 weeks ago

ऑपरेशन बालाकोट में ग़लत ‘सूत्रों’ के भरोसे ही रहा भारतीय मीडिया

Raveesh Kumar
ओपिनियन3 weeks ago

जंग के कुहासे में धूमिल पड़ गई सच्चाई

Chana
स्वास्थ्य3 days ago

क्या आपको पता है काले चने खाने से होते हैं ये फायदे…

Narendra Modi
ब्लॉग2 weeks ago

जुमलेबाज़ी के बजाय प्रधानमंत्री राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े सवालों का जवाब दें

Most Popular