कर्नाटक उपचुनाव पर टिका येदियुरप्पा सरकार का भविष्य | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

चुनाव

कर्नाटक उपचुनाव पर टिका येदियुरप्पा सरकार का भविष्य

Published

on

Yeddyurappa
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव पर भाजपा की बी.एस. येदियुरप्पा सरकार का भविष्य टिका है। सरकार बचाने के लिए फिलहाल भाजपा को वैसे तो सात सीटें चाहिए, मगर पार्टी ने कम से कम आठ सीटें जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है।

हालांकि भाजपा के नेता उपचुनाव में सभी 15 सीटों पर क्लीन स्वीप का दावा कर रहे हैं। भाजपा ने उपचुनाव जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। बी.एस. येदियुरप्पा मंत्रियों व संगठन पदाधिकारियों के साथ विधानसभा क्षेत्रों में दिन-रात कैंप कर रहे हैं।

भाजपा महासचिव पी. मुरलीधर राव बतौर कर्नाटक प्रभारी उपचुनाव की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। कई दफा वह राज्य में भाजपा कोर कमेटी की बैठक लेकर पार्टी नेताओं को चुनाव प्रबंधन का पाठ पढ़ा चुके हैं।

पी. मुरलीधर राव ने आईएएनएस से कहा, “उपचुनाव में सिर्फ स्थिर सरकार ही एक मुद्दा है। जनता भाजपा को वोट देकर बी.एस. येदियुरप्पा के नेतृत्व में स्थिर सरकार चाहती है। क्योंकि जनता कांग्रेस-जेडी(एस) की सरकार का हश्र देख चुकी है। कांग्रेस राज्य को मध्यावधि चुनाव में झोंकना चाहती है, जिसे जनता भली-भांति जानती है।”

राव ने सभी 15 सीटें जीतने का दावा किया है।

उल्लेखनीय है कि 224 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस और जनता दल (सेकुलर) के कुल 17 विधायकों के इस्तीफा देने से बीती जुलाई में कुमारस्वामी की गठबंधन सरकार गिर गई थी। वहीं इन विधायकों के इस्तीफे के कारण बहुमत के आंकड़े के कम होकर 104 पहुच गया और उसके बाद भाजपा ने 105 विधायकों के साथ सरकार बनाई थी।

इस्तीफा देने वाले सभी विधायकों को तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्य करार देकर उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी थी। मगर, सुप्रीम कोर्ट ने नवंबर में इन अयोग्य करार दिए गए विधायकों को चुनाव लड़ने की अनुमति दे दी। जिसके बाद भाजपा ने चुनाव वाली 15 सीटों पर उन्हीं अयोग्य विधायकों को टिकट दिया है।

वैसे तो विधायकों के इस्तीफे से खाली हुईं कुल 17 सीटों पर चुनाव होना है। मगर दो सीटों का मामला कोर्ट में होने के कारण फिलहाल 15 सीटों पर ही पांच दिसंबर को उपचुनाव हो रहा है। उपचुनाव के नतीजे नौ दिसंबर को आएंगे।

इस समय कर्नाटक में कुल 207 विधायक हैं। बहुमत के लिए जरूरी 104 से एक अधिक 105 विधायक भाजपा के पास हैं। अब 15 और विधायकों के चुनाव के बाद सदन की सदस्य संख्या 222 हो जाएगी। ऐसे में बहुमत के लिए भाजपा को 112 विधायक चाहिए। लिहाजा इस उपचुनाव में सात सीटें जीतने पर भाजपा की येदियुरप्पा सरकार को बहुमत हासिल हो जाएगा। लेकिन भाजपा कम से कम आठ सीटें जीतना चाहती है।

खाली हुई दो अन्य सीटों पर भी आगे चुनाव होंगे, जिससे बहुमत का आंकड़ा 113 हो जाएगा। ऐसे में भाजपा इसी उपचुनाव में पूरे बहुमत की व्यवस्था कर लेना चाहती है।

जिन सीटों को पांच दिसंबर को उपचुनाव के लिए मतदान होना है, उनमें गोकक, कागवाड, अथानी, येल्लपुरा, हिरेकेरूर, रवबेन्नुर, विजय नगर, चिकबल्लापुरा, केआरपुरा, यशवंतपुरा, महालक्ष्मी लायुत, शिवाजी नगर, होसकोटे, हंसुर और केआर पेटे विधानसभा सीटें शामिल हैं। दो सीटों मस्की और राजराजेश्वरी का मामला कोर्ट में होने के कारण फिलहाल वहां उपचुनाव नहीं हो रहे हैं।

–आईएएनएस

चुनाव

कर्नाटक उपचुनाव : भाजपा 10 सीटों पर आगे

Published

on

कर्नाटक में 15 विधानसभा क्षेत्रों पर हुए उपचुनाव के लिए जारी मतगणना के दौरान सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)10 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि विपक्षी कांग्रेस और जनता दल-सेकुलर (जेडी-एस) 2-2 सीटों पर आगे है।

चुनाव अधिकारी ने सोमवार को यहां यह जानकारी दी। दक्षिणी राज्य के 15 निर्वाचन क्षेत्रों में उपचुनाव 5 दिसंबर को हुए थे।

चुनाव आयोग की वेबसाइट के अनुसार, एक सीट (बेंगलुरु ग्रामीण जिले में होसकोटे) में एक निर्दलीय उम्मीदवार आगे चल रहा है।

भाजपा अथानी, कागवाड, गोकक, येलापुर, हिरेकुरु, विजयनगर, चिकबलापुर और रानीबेन्नुरु, के.आर. पुरा और महालक्ष्मी लेआउट में आगे चल रही है।

कांग्रेस शिवाजीनगर और हुनासुरु में आगे चल रही है, जबकि जेडी-एस, यशवंतपुरा और के.आर. पुरा में आगे हैं।

अधिकारी ने कहा, “सुबह 8 बजे मतगणना शुरू होने के दो घंटे बाद, भाजपा ने 48.6 प्रतिशत वोट हासिल किए है, जबकि कांग्रेस ने 29.8 प्रतिशत और जेडी-एस ने 17.2 प्रतिशत वोट हासिल किए हैं।”

भाजपा और विपक्षी कांग्रेस ने सभी 15 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा, जबकि जेडी-एस ने 12 सीटों पर चुनाव लड़ा था।

–आईएएनएस

Continue Reading

चुनाव

झारखंड चुनाव : हिंसा के बीच 18 सीटों पर मतदान समाप्त

Published

on

रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 20 में से 18 सीटों पर मतदान छिटपुट घटनाओं के बीच समाप्त हो गया। प्रारंभिक रपटों के अनुसार, अपराह्न् तीन बजे तक मतदान प्रतिशत 55 फीसदी से ज्यादा रहा। मतदान का पूरा प्रतिशत शाम पांच बजे बचे दो और सीटों पर मतदान पूरा होने के बाद आएगा।

मतदान यहां की 18 विधानसभा सीटों पर सुबह सात बजे शुरू हुआ और यह अपराह्न् तीन बजे समाप्त हो गया। वहीं जमशेदपुर पूर्व और जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा सीटों पर मतदान शाम पांच बजे समाप्त होंगे।

चुनाव संबंधी हिंसा में, गुमला जिले के सिसई विधानसभा क्षेत्र में एक युवक पुलिस फायरिंग में मारा गया और तीन पुलिसकर्मियों सहित छह लोग घायल हो गए।

नक्सलियों ने पश्चिम सिंहभूम जिले में एक मतदान बस को आग के हवाले कर दिया। आग की घटना के बाद बूथ नंबर 36 पर मतदान को रद्द कर दिया गया। घटना के बाद मतदान अधिकारी और सुरक्षाकर्मी ईवीएम मशीनों को लेकर वहां से चले गए।

चुनाव आयोग ने गुमला जिला प्रशासन से मामले में विस्तृत रपट मांगी है। 20 विधानसभा सीटों के लिए कुल 260 उम्मीदवार हैं, जिनकी किस्मत का फैसला 48,25,038 मतदाताओं द्वारा किया जाएगा। इन मतदाताओं में 23,93,437 महिलाएं और 90 तीसरे लिंग के शामिल हैं, बाकी पुरुष मतदाता हैं।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दूसरे चरण के मतदान के लिए 40,000 से अधिक सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं।

इन 20 सीटों में से, 16 अनुसूचित जनजाति(एसटी) और एक अनुसूचित जनजाति(एससी) के लिए आरक्षित है।

मुख्यमंत्री रघुबर दास जमशेदपुर पूर्वी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, जहां उनका मुकाबला पूर्व कैबिनेट सहयोगी सरयू राय और कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ से है।

इस चरण में जिन प्रमुख नेताओं की चुनावी किस्मत का फैसला हो रहा है, उनमें झारखंड विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव, शहरी विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, जल संसाधन मंत्री रामचंद्र सहिस, पूर्व कैबिनेट मंत्री सरयू राय और राज्य भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा शामिल हैं।

जेल में बंद नक्सली कमांडर कुंदन पाहन तमाड़ विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। मुख्यमंत्री रघुबर दास ने शनिवार सुबह अपने विधानसभा सीट जमशेदपुर पूर्व में मतदान किया।

–आईएएनएस

Continue Reading

चुनाव

झारखंड चुनाव : मतदान के दौरान गुमला में गोलीबारी, 1 की मौत

Published

on

झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में मतदान के दौरान गुमला जिले के सिसई के एक मतदान केंद्र पर पुलिस द्वारा की गई गोलीबारी में एक ग्रामीण की मौत हो गई है, जबकि पुलिसकर्मियों समेत कम से कम छह लोग घायल हो गए हैं।

पुलिस के अनुसार, गुमला जिले के सिसई विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 36 पर गड़बड़ी करने के दौरान पुलिस ने गोली चलाई। इस गोलीबारी में एक ग्रामीण की मौत हो गई है।

घटना में पुलिसकर्मियों समेत छह लोगों के घायल होने की सूचना है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि हिंसा के बाद मतदान रोक दिया गया है। मौके पर पुलिस और जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी पहुंच गए हैं। उन्होंने बताया कि अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है।

मृतक की पहचान जिलानी अंसारी के रूप में की गई है। घटना के बाद ग्रामीण उग्र हो गए और पुलिस बल पर उन्होंने पथराव कर दिया। इस पथराव में पुलिस जवानों के भी घायल होने की खबर है। इस गांव में भारी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है।

कई मतदाताओं का आरोप है कि उन्हें वोट देने से जबरन रोका गया, जिसके बाद लोगों ने यहां पथराव शुरू कर दिया। इधर, चुनाव आयोग ने गोलीबारी की इस घटना पर संज्ञान लिया है और पूरे मामले पर जिला प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है।

वहीं एक अन्य घटना में झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिले में स्थित एक मतदाता केंद्र जा रहे बस को नक्सलियों ने आग के हवाले कर दिया।

पुलिस के अनुसार, नक्सलियों ने बस को पश्चिम सिंहभूम जिले के जोजूहाटू में जला दिया। इस बीच, राज्य निर्वाचन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सुबह 11 बजे तक 28.51 प्रतिशत मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर चुके हैं।

सुबह सात बजे शुरू हुआ मतदान अपराह्न् तीन बजे समाप्त होगा। जबकि दो विधानसभा सीटों, जमशेदपुर पूर्व और जमशेदपुर पश्चिम के लिए यह शाम पांच बजे समाप्त होगा।

20 विधानसभा सीटों के लिए कुल 260 उम्मीदवार हैं, जिनकी किस्मत का फैसला 48,25,038 मतदाताओं द्वारा किया जाएगा। इन मतदाताओं में 23,93,437 महिलाएं और 90 तीसरे लिंग के शामिल हैं, बाकी पुरुष मतदाता हैं। मतदान 6,066 मतदान केंद्रों पर हो रहा है, जिनमें से 1,016 शहरी क्षेत्रों में और शेष ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित हैं।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दूसरे चरण के मतदान के लिए 40,000 से अधिक सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं।

मुख्यमंत्री रघुबर दास जमशेदपुर पूर्वी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, जहां उनका मुकाबला पूर्व कैबिनेट सहयोगी सरयू राय और कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ से है।

इस चरण में झारखंड विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव, शहरी विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, जल संसाधन मंत्री रामचंद्र सहिस, पूर्व कैबिनेट मंत्री सरयू राय और राज्य भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा भी चुनाव लड़ रहे हैं। जेल में बंद नक्सली कमांडर कुंदन पाहन तमाड़ विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
sensex-min (1)
व्यापार4 hours ago

शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 248 अंक नीचे

राजनीति4 hours ago

नागरिकता बिल पर उद्धव ठाकरे का यू टर्न

Smartphone-Addiction-min-1
राष्ट्रीय4 hours ago

त्रिपुरा में 48 घंटों के लिए SMS और मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद

imran khan
अंतरराष्ट्रीय4 hours ago

नागरिकता बिल पर इमरान बोले- ये भारत-पाक समझौतों का उल्लंघन

facebook
टेक4 hours ago

फेसबुक ने जमाते इस्लामी पाकिस्तान का ‘कश्मीर मार्च’ पेज हटाया

Farooq Abdullah
राष्ट्रीय4 hours ago

‘अनुच्छेद-370 की बहाली तक नेकां राजनीति में हिस्सा नहीं लेगी’

Deepika
मनोरंजन4 hours ago

दीपिका की फिल्म ‘छपाक’ का ट्रेलर रिलीज

राष्ट्रीय5 hours ago

जम्मू-कश्मीर प्रशासन के कहने पर नेताओं की होगी रिहाई : शाह

Yes_Bank_wefornewshindi
व्यापार5 hours ago

यस बैंक ने ब्रेच के प्रस्ताव पर फैसला टाला

Joint Pain-
लाइफस्टाइल5 hours ago

रक्त का तापमान घटने से बढ़ता है जोड़ों का दर्द

लाइफस्टाइल4 days ago

टाइप-2 डायबिटीज से हृदय रोग का खतरा ज्यादा

cancer
लाइफस्टाइल3 weeks ago

दांतों की वजह से भी हो सकता है जीभ का कैंसर

Stomach-
स्वास्थ्य4 weeks ago

पेट दर्द या अपच को कभी न करें अनदेखा…

लाइफस्टाइल2 weeks ago

मलेरिया में भूलकर भी इन चीजों का न करें सेवन…

Sleep-Nap
स्वास्थ्य3 weeks ago

मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करती है अशांत नींद

weight-loss-min
स्वास्थ्य3 weeks ago

वेट लूज करने के लिए करें ये काम…

e-cigarette
स्वास्थ्य3 weeks ago

मसालेदार ई-सिगरेट से हृदय रोग का जोखिम ज्यादा

Breast Cancer
स्वास्थ्य1 week ago

स्तन कैंसर से बढ़ जाता है हृदय रोग का खतरा

Breast Cancer
स्वास्थ्य3 weeks ago

‘स्तन कैंसर के इलाज के लिए बेहतर विकल्प है ‘टागेर्टेड रेडिएशन थेरेपी’

लाइफस्टाइल3 weeks ago

अल्जाइमर से बचाएगी नई दवा : शोध

Most Popular