दिल्ली में गैंगवार, कार सवार युवक पर 40 राउंड फायरिंग, कानून व्यवस्था पर उठे सवाल | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

शहर

दिल्ली में गैंगवार, कार सवार युवक पर 40 राउंड फायरिंग, कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

Published

on

Delhi Police
प्रतीकात्मक तस्वीर

देश की राजधानी दिल्ली में कानून-व्यवस्था को लेकर दिल्ली पुलिस पर सवाल खड़े हुए हैं। पुलिस की निष्क्रियता के चलते राजधानी में गैंगवार की घटनाएं सामने आ रही हैं। बाहरी दिल्ली के कंझावला इलाके में कार सवार बदमाशों ने स्कार्पियो सवार युवक पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। बदमाशों ने चालीस राउंड गोलियां चलाईं, जिसमें युवक को बीस गोलियां लगीं व उसकी मौके पर ही मौत हो गई। मृतक की पहचान अंचिल के रूप में हुई है। वह एक माह पहले ही हत्या के एक प्रयास के मामले में जेल से जमानत पर बाहर आया था। घटना के पीछे गैंगवार को कारण बताया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार अंचिल परिवार के साथ कराला गांव में रहता था। बताया जाता है कि वह रात को कार से लाडपुर गांव की तरफ जा रहा था। करीब साढ़े नौ बजे कार सवार बदमाशों ने उसकी कार को ओवरटेक कर रोक लिया फिर अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी। बदमाशों ने करीब 40 राउंड गोलियां उसकी कार पर बरसाई। जिसमें 20 गोली अंचिल के शरीर के विभिन्न हिस्सों में जा घुसी । बदमाशों को यह तसल्ली हो गई कि उसकी मौत हो चुकी है तो वे मौके से हरियाणा की तरफ फरार हो गए।

पुलिस के अनुसार, गत साल अप्रैल में अंचिल ने अपने गांव कराला के ही एक युवक को गोली मार दी थी। इस मामले में वह एक माह पहले ही जेल से जमानत पर छूटा था। उस पर अन्य कई मामले भी दर्ज हैं। पुलिस की जांच में पता चला है कि अंचिल का माजरा डबास गांव के दीपक के गिरोह से विवाद चल रहा था। दो लाख रुपये का इनामी दीपक को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। ऐसे में पुलिस को शक है कि दीपक ने अपने साथियों से यह वारदात कराई है। दूसरी तरफ इस घटना में पुलिस टिल्लू–नीरज बवाना गिरोह पर भी शक कर रही है।

WeForNews

शहर

ग्रेटर नोएडा: दनकौर के राजकीय वृद्धाश्रम में पिटाई से एक की मौत

Published

on

By

MURDER
प्रतीकात्मक तस्वीर

गौतमबुद्ध नगर। गौतमबुद्ध नगर जिले में राज्य सरकार द्वारा संचालित वृद्धाश्रम में एक वृद्ध की संदिग्ध हालातों में मौत हो गयी। पुलिस को आशंका है कि मृत्यु पिटाई में लगी चोटों से हुई है। मूलत: अलीगढ़ निवासी मरने वाले वृद्ध का नाम सोरन सिंह (70) है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में वृद्धाश्रम में कार्य करने वाले दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। आईएएनएस से बात करते हुए यह जानकारी ग्रेटर नोएडा के डीसीपी राजेश कुमार सिंह ने दी। डीसीपी के मुताबिक, “इस सिलसिले में सोरन सिंह की पत्नी कंचन देवी ने पुलिस को शिकायत दी है। थाना दनकौर पुलिस ने शव को पंचनामा भर कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही वजह साफ होगी। हालांकि शरीर पर मौजूद चोटों के निशान गवाही दे रहे हैं कि, सोरन सिंह की मौत पिटाई की वजह से हुई होगी।”

डीसीपी राजेश कुमार सिंह ने आगे कहा, “जिस वृद्धाश्रम में घटना घटी वो राज्य सरकार के अधीन संचालित है। घटनाक्रम के मुताबिक, सोरन सिंह मूलत: गांव मंजूर गढ़ी जिला अलीगढ़ यूपी के रहने वाले हैं। 28 फरवरी 2020 को सोरन सिंह पत्नी कंचन देवी के साथ वृद्धाश्रम में दाखिल हुए थे। तब से यहीं रह रहे थे।”

पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि, सोरन सिंह गुस्सैल प्रवृत्ति के थे। अक्सर वृद्धाश्रम में पत्नी से उनका झगड़ा होता रहता था। झगड़े को वृद्धाश्रम के कर्मचारी बीच बचाव कराके खत्म करा देते थे। 2 मार्च को भी पत्नी से उनका झगड़ा हुआ था। झगड़े के दौरान आश्रम कर्मचारियों द्वारा बीच-बचाव कराये जाने के वक्त सोरन सिंह के शरीर में गंभीर चोटें लग गयीं।

घायल सोरन सिंह के बारे में आश्रम कर्मचारियों ने न तो पुलिस को खबर की। न ही अस्पताल में उनका कोई इलाज कराया। जोकि षडयंत्र और लापरवाही का द्योतक है। डीसीपी के मुताबिक, “बजाये अस्पताल ले जाने के या पुलिस को सूचित करने के वृद्धाश्रम कर्मियों ने सोरन सिंह के शव को आश्रम के बाहर खेतों में फेंक दिया। यही वो वजह बनी जिसके चलते पुलिस जांच के दौरान वृद्धाश्रम प्रशासन लपेटे में आ गया। इसीलिए आश्रम के दो कर्मचारी हिरासत में ले लिये गये।”

डीसीपी के मुताबिक, “और भी कई ऐसे तथ्य हैं जो आश्रम कर्मचारियों को संदेह के घेरे में खड़ा करते हैं। इन्हीं में एक प्रमुख वजह निकली कि, घायल सोरन सिंह को आश्रम कर्मियो ने आखिर खेतों में ले जाकर क्यों फेंक दिया? जहां इलाज के अभाव में उनकी मौत हो गयी। बाद में वृद्धाश्रम कर्मियों ने अपने गले से फंदा निकालने के लिए अफवाह उड़ा दी कि, सोरन सिंह 2 मार्च को पेंशन लेने गये तभी से वे आश्रम में वापस नहीं लौटे हैं। जबकि हकीकत यह थी कि, सोरन सिंह की मौत की जानकारी हिरासत में लिये गये संदिग्ध आश्रम कर्मियों को थी। फिर उन्होंने सोरन सिंह की मृत्यु को लेकर आखिर गलत प्रचार प्रसार क्यों किया?”

जांच में यह बात भी सामने आई है कि दंपत्ति निसंतान है। परिवार में संतान के अलावा और भी कोई नहीं है। पुलिस जांच में दंपत्ति की किसी से रंजिश की बात भी सामने नहीं आई है।

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

कोरोना से मौत की वजह से वाराणसी के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू

Published

on

Coronavirus

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के वाराणसी में 55 साल के व्यक्ति को बीएचयू में स्थित सर सुंदर लाल अस्पताल के आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान 3 अप्रैल को उसकी मौत हो गई थी। रविवार को उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है।

इस कारण एहतियात के तौर पर कुछ स्थानों पर कर्फ्यू लगा दिया गया है। जिला अधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि “शहर के भेलूपुर थाना क्षेत्र के बजरडीहा, दशाश्वमेध के मदनपुरा, रोहनिया के गंगापुर और लोहता में कर्फ्यू लगा दिया गया। जिनके घरों में लोग संक्रमित मिले हैं, उनकी जांच के अलावा जिनके सम्पर्क में आये हैं उनकी भी जांच की जा रही है। अब कर्फ्यू वाले इलाकों में सिर्फ प्रशासनिक गतिविधि ही होगी। इसके अलावा जो भी लापरवाही करेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।”

उन्होंने बताया कि इन इलाकों में कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। मृतक के परिवार के सभी 10 सदस्यों को छोड़ दिया गया है और उनके नमूने परीक्षण के लिए भेजे गए हैं।

डीएम ने बताया कि, “गंगापुर निवासी को जुकाम और सांस लेने में दिक्कत के कारण 27 मार्च को निजी डाक्टरों को दिखाया गया था, आराम न मिलने पर वह सर सुन्दर लाल अस्पताल में भर्ती हुए थे। सैम्पल जांच के लिए भेजे गये थे। हालत बिगड़ने पर उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया। जहां देर रात उनकी मौत हो गयी। सुबह कोरोना पॉजटिव र्पिोट आने पर एहतियातन इलाके को तत्काल प्रभाव से सील कर दिया गया है।”

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य और परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि “राज्य में कोरोना वायरस से संबधित मौत का यह तीसरा मामला है।”

ज्ञात हो कि इससे पहले प्रदेश में 30 मार्च को 25 वर्षीय युवक की मौत हो चुकी है। मृत्यु के बाद आई रिपोर्ट में वह कोरोना पॉजीटिव था। इसके अलावा दूसरी मौत मेरठ में एक 72 वर्षीय युवक की हो चुकी है। उनकी रिपोर्ट में भी कोरोना पॉजीटिव था।

आईएएनएस

Continue Reading

शहर

भोपाल में रविवार आधी रात से पूरा लॉकडाउन

Published

on

Lockdown in India

भोपाल, 5 अप्रैल | मध्य प्रदेश की राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़ने के कारण जिला प्रशासन ने रविवार की आधी रात से ‘टोटल लॉकडाउन’ किए जाने का फैसला लिया है। यहां अब सिर्फ दूध और दवा की दुकानें ही खुलेंगी, रोजाना जरूरत का बाकी सामान घरों तक पहुंचाया जाएगा। आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी के अनुसार, कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी भोपाल तरुण पिथोड़े के निर्देश पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी सतीश कुमार एस ने धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी कर 5 अप्रैल रात 12 बजे से भोपाल को पूरी तरह लॉकडाउन करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

राजधानी में दो आईएएस अफसरों और एक स्वास्थ्य अधिकारी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के साथ मरीजों की संख्या अचानक बढ़ जाने के चलते जिला प्रशासन को ‘टोटल लॉकडाउन’ का फैसला लेना पड़ा है।

आदेश में स्पष्ट किया गया है कि अब भोपाल पूरी तरह से लॉकडाउन रहेगा। करोद मंडी भी अगले आदेश तक बंद रहेगी। व्यापारी किसानों से सब्जी वगैरह खरीदकर नगर निगम के माध्यम से बेचेंगे। किराना दुकान और अन्य दुकानों को दी गई छूट खत्म कर दी गई है।

आदेश में कहा गया है कि अधिकृत होम डिलिवरी के अलावा बाकी सभी दुकानें बंद रहेंगी। इस दौरान होम डिलिवरी, दूध पार्लर और दवा की दुकानें खुली रहेंगी। शासकीय कार्य के लिए अति आवश्यक सेवा में लगे हुए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के वाहनों को इस प्रतिबंध से छूट रहेगी। इस लॉॅकडाउन में मीडिया और उनके प्रतिनिधियों को भी कहीं आने-जाने की छूट लागू रहेगी।

लॉकडाउन में निजी वाहन पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिए गए हैं। किसी भी क्षेत्र में आवाजाही पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगी। कंटेंटमेंट क्षेत्र से बाहर जाना और जोन के बाहर पाए जाने पर आदेश का उल्लंघन माना जाएगा और संबंधित व्यक्ति को गिरफ्तार किया जाएगा। सड़क पर कोई भी व्यक्ति घूमते पाए जाने पर गिरफ्तार कर कानूनी कर्रवाई की जाएगी। आपातकालीन सेवाओं के अलावा अन्य सभी कारणों के लिए दिए गए पास भी निलंबित कर दिए गए हैं।

Continue Reading
Advertisement
Kamal Haasan-
मनोरंजन14 mins ago

कमल हासन ने लॉकडाउन के खिलाफ मोदी को लिखा खुला पत्र

Ahmed Patel
राजनीति28 mins ago

अहमद पटेल ने सांसदों की सलैरी कट के सरकार के फैसले का किया स्वागत

Christian Michel
राष्ट्रीय42 mins ago

हाईकोर्ट ने मिशेल की अंतरिम जमानत पर आदेश सुरक्षित रखा

मनोरंजन1 hour ago

‘हैशटैग 9 बजे 9 मिनट’ के दौरान पटाखे फोड़े जाने पर बी-टाउन ने जताई आपत्ति

राष्ट्रीय1 hour ago

कोरोना से दिल्ली में अब तक 7 लोगों की गई जान: केजरीवाल

Iraq
अंतरराष्ट्रीय1 hour ago

इराक में अमेरिकी तेल कंपनी के पास राकेट हमला

gurudwara
अंतरराष्ट्रीय1 hour ago

पाकिस्तान : बैसाखी पर गुरुद्वारा पंजा साहिब में होने वाला कार्यक्रम रद्द

Rahul Gandhi
राजनीति2 hours ago

राहुल की अपील- ‘धार्मिक-जातिगत मुद्दे छोड़ महामारी के खिलाफ एकजुट हों लोग’

Coronavirus-m
राष्ट्रीय2 hours ago

उत्तर प्रदेश में कोरोना के अब तक 305 मामले आए सामने

P.-V.-Sindhu-min
खेल2 hours ago

पता नहीं पिछली बार कब इतना लंबा ब्रेक ली थी : सिंधु

मनोरंजन1 week ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन1 month ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन1 month ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Kapil Mishra in Jaffrabad
राजनीति1 month ago

3 दिन में सड़कें खाली हों, वरना हम किसी की नहीं सुनेंगे: कपिल मिश्रा का अल्टीमेटम

मनोरंजन1 month ago

शान का नया गाना ‘मैं तुझको याद करता हूं’ लॉन्च

मनोरंजन2 months ago

सलमान का ‘स्वैग से सोलो’ एंथम लॉन्च

Shaheen Bagh Jashn e Ekta
राजनीति2 months ago

Jashn e Ekta: शाहीनबाग में सभी धर्मो के लोगों ने की प्रार्थना

Tiger Shroff-
मनोरंजन2 months ago

टाइगर की फिल्म ‘बागी 3’ का ट्रेलर रिलीज

Human chain Bihar against CAA NRC
शहर2 months ago

बिहार : सीएए, एनआरसी के खिलाफ वामदलों ने बनाई मानव श्रंखला

Sara Ali Khan
मनोरंजन3 months ago

“लव आज कल “में Deepika संग अपनी तुलना पर बोली सारा

Most Popular