Connect with us

खेल

फेडरर और नडाल के बीच टक्कर की उम्मीद करने वाले फैंस को लगा झटका, अब नहीं होगा मुकाबला

Published

on

साल का आखिरी ग्रैंडस्लैम यूएस ओपन अपने आखिरी पड़ाव पर पहुंच गया है…फैंस की उम्मीदें फेडरर और नडाल की टक्कर पर टीकी थी…लेकिन ऐसा अब नहीं होगा…क्वार्टरफाइनल में हार के साथ ही फेडरर टूर्नामेंट से बाहर हो गए है…लेकिन 16वां ग्रैंड स्लैम जीतने की नडाल की उम्मीदें अब भी बरकरार है…

आखिरकार यूएस ओपन में जिस महामुकाबले की उम्मीद फैंस को थी…वो देखने नहीं मिलेगा…टेनिस जगत के दो दिग्गज खिलाड़ी रोजर फेडरर और राफेल नडाल की टक्कर सेमीफाइनल में नहीं हो पाएगी….रोजर फेडरर यूएस ओपन से बाहर हो गए है….

क्वार्टरफाइनल मुकाबले में फेडरर की टक्कर देल पोत्रो से थी….हालांकी इस मुकाबले में अनुभव और वरीयता से पलड़ा फेडरर का भारी था….

लेकिन मुकाबले में फेडरर पर पोत्रो भारी पड़े…. 20वां ग्रैंड स्लैम जीतने का सपना संजोए फेडर को अर्जेंटिनाई खिलाड़ी देल पोट्रो ने दिलचस्प मुकाबले में मात दी…

24वीं सीड पोट्रो ने फेडरर को 7-5, 3-6, 7-6, 6-4 से हराया. करीब 3 घंटे तक चले इस मुकाबले को यूएस ओपन का बड़ा उलटफेर भी माना जा रहा है….

दूसरी तरफ राफेल नडाल ने सेमीफाइनल में अपनी जगह बना ली है…दुनिया के नंबर-1 खिलाड़ी का दबदबा क्वार्टरफाइनल में भी देखने को मिला….

नडाल ने क्वार्टर फाइनल में रूस के एंड्रे रुबलेव को 6-1,6-2, 6-2 से मात दी. 15 बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन नडाल ने एक-तरफा क्वार्टरफाइनल मैच में रूस के 19 साल के एंड्रे रुबलेव को मैच में वापसी का मौका ही नहीं दिया….और चार साल के लंबे अंतराल के बाद एक बार फिर यूएस ओपन के सेमीफाइनल में जगह बनाई….

इस जीत के साथ ही नडाल की राह भी आसान हो गई है. एक तरफ उनके बड़े प्रतिद्वंद्वी फेडरर बाहर हो चुके हैं…. जबकि नोवाक जोकोविच, वावरिकां और एंडी मरे जैसे खिलाड़ी भी चोट के कारण रेस में शामिल नहीं हैं….

सेमीफाइनल में नडाल और देल पोत्रो की टक्कर पर अब सबकी निगाहें रहने वाली है….लेकिन इसमें कोई शक नहीं की अब यूएस ओपन जीतने के प्रबल दावेदार नडाल ही हैं…

wefornews bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खेल

लीड्स वनडे : इंग्लैंड ने भारत के सीरीज जीतने के क्रम को रोका

Published

on

John Root

लीड्स, 18 जुलाई (आईएएनएस)| इंग्लैंड ने हेडिंग्ले मैदान पर खेले गए तीसरे और आखिरी वनडे मैच में मंगलवार को पहले गेंद और फिर बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर भारत को पस्त कर आठ विकेट से जीत सीरीज 2-1 से अपने नाम कर मेहमानों के लगातार सीरीज जीतने के क्रम पर फुल स्टॉप लगा दिया।

इंग्लैंड की कसी हुई गेंदबाजी के कारण भारतीय टीम आठ विकेट के नुकसान पर 256 रन ही बना सकी। इंग्लैंड ने यह लक्ष्य 44.3 ओवरों में दो विकेट खोकर हासिल कर लिया।

तीन मैचों की सीरीज इस मैच से पहले 1-1 की बराबरी पर थी। तीसरा मैच निर्णायक था जहां मेजबान ने भारत को एकतरफा तरीके से मात दे टी-20 सीरीज में मिली हार का हिसाब बराबर किया। भारत को लगातार नौ सीरीज जीतने के बाद वनडे में किसी द्विपक्षीय सीरीज में हार का सामना करना पड़ा है। इससे पहले भारत को आस्ट्रेलिया में 2015-16 आस्ट्रेलिया के खिलाफ 1-4 से हार मिली थी। वहीं विराट कोहली की कप्तानी में भारत को मिली यह पहली सीरीज हार है।

इग्लैंड के लिए जोए रूट ने नाबाद 100 और कप्तान इयोन मोर्गन ने नाबाद 88 रनों की पारियां खेलीं। इंग्लैंड ने अपने घर में लगातार सातवीं वनडे सीरीज जीती है।

मोर्गन ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी और उनके गेंदबाजों ने कप्तान के फैसले को सही साबित किया। उन्होंने भारतीय बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया।

भारत के लिए इस अहम मैच में सिर्फ कप्तान कोहली ही अपने बल्ले को चमका सके। उन्होंने 72 गेंदों में आठ चौकों की मदद से 71 रनों की पारी खेली। शिखर धवन (44) और महेंद्र सिंह धोनी (42) ने उपयोगी पारियां खेलीं, लेकिन अंत में भुवनेश्वर कुमार (21) और शार्दूल ठाकुर (नाबाद 22) के बीच अंत में आठवें विकेट के लिए हुई 35 रनों की साझेदारी भारत को सम्मानजनक स्कोर प्रदान करने में सफल रही।

आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान टीम को जीत के दरवाजे तक पहुंचने में कोई परेशानी नहीं आई। जेम्स विंसे (27) और जॉनी बेयर्सटो (30) ने उसे सधी हुई शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 43 रन जोड़े। ठाकुर ने सुरेश रैना के हाथों बेयर्सटो को कैच करा भारत को पहली सफलता दिलाई। 74 के कुल स्कोर पर इंग्लैंड ने अपना दूसरा विकेट विंसे के रूप में खोया जो रन आउट हुए।

इसके बाद कप्तान और रूट ने कोई और विकेट नहीं गिरने दिया। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 186 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को जीत दिलाई। मोर्गन ने अपनी नाबाद पारी में 108 गेंदें खेलीं और नौ चौकों के अलावा एक छक्का लगाया। वहीं रूट ने 120 गेंदों का सामना किया। उनकी नाबाद पारी में 10 चौके लगाए। यह रूट का 13वां वनडे शतक है। उन्होंने दूसरे वनडे में भी 113 रनों की पारी खेली थी।

इससे पहले, कोहली ने सलामी बल्लेबाज धवन के साथ दूसरे विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी की। धवन को इस मैच में अपने सलामी जोड़ीदार रोहित शर्मा (2) का साथ नहीं मिल सका जो छठे ओवर की चौथी गेंद पर डेविड विले की गेंद पर आउट हो गए। शुरुआत में रोहित और धवन दोनों मार्क वुड और विले की स्विंग लेती गेंदों पर संघर्ष कर रहे थे। नतीजन रनगति काफी धीमी थी।

धवन को जब कोहली का साथ मिला तो रनगति पटरी पर आनी शुरू हुई। हालांकि यह जोड़ी टीम के बड़े स्कोर की नींव रख पाती तभी बेन स्टोक्स ने धवन को रन आउट कर इस साझेदारी को तोड़ दिया। धवन 84 के कुल स्कोर पर आउट हुए।

कोहली ने इस मैच में लोकेश राहुल के स्थान पर दिनेश कार्तिक को टीम में जगह दी। कार्तिक ने शुरुआत तो अच्छी की, लेकिन बड़ी पारी नहीं खेल सके। 22 गेंदों में 21 रन बनाने वाले कार्तिक 125 के कुल स्कोर पर लेग स्पिनर आदिल राशिद की गेंद पर बोल्ड हो गए।

राशिद ने ही 156 के कुल स्कोर पर कोहली को बोल्ड कर भारत को बड़ा झटका दिया। अब जिम्मेदारी टीम के दो सबसे अनुभवी बल्लेबाजों और ऐसी विषण परिस्थतियो में कई बार टीम को बाहर निकालने वाले सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धोन पर थी। रैना विफल रहे और रन ही बना कर राशिद का तीसरा शिकार बने।

दूसरे छोर पर धोनी थे उन्हें साथ की जरूरत थी। हार्दिक पांड्या ने उम्मीद जगाई लेकिन वुड के बेहतरीन गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेकर विकेट के पीछे जोस बटलर के हाथों में जा समाई। वह 21 गेंदों में 21 रन ही बना सके जिसमें दो चौके शामिल थे।

पांड्या के बाद धोनी विले का शिकार होकर पवेलियन लौट लिए। अर्धशतक से आठ रन दूर रहने वाले पूर्व कप्तान ने 66 गेंदों की पारी में चार चौके लगाए।

अंत में भुवनेश्वर और ठाकुर ने टीम को बचाया। भुवनेश्वर आखिरी ओवर की आखिरी गेंद पर विले का शिकार बने।

इंग्लैंड के लिए राशिद और विले ने तीन-तीन विकेट लिए। वुड को एक सफलता मिली।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

अभी शुरुआत है, एक दिन आसमान छुएगी हिमा : कोच निपोन

Published

on

Hima Das

नई दिल्ली, 17 जुलाई | कुछ दिन पहले तक दुनिया को धान की खेती करने वाले किसान की बेटी हिमा दास का नाम भी नहीं पता था और आज पूरी दुनिया उनकी हिम्मत का लोहा मान चुकी है।

एआईएफएफ की अंडर-20 विश्व चैम्पियनशिप में महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण जीतने वाली हिमा ने इतिहास कायम किया है।

हिमा की इस सफलता की कहानी किसी बॉलीवुड फिल्म की कहानी से कम नहीं, जिसमें उनके कोच निपोन दास की सबसे अहम भूमिका है।

कोच निपोन का मानना है कि हिमा के लिए यह सफलता की शुरुआत है। वह अभी आसमान का ऊंचाईयों को छुएंगी और एशियाई खेलों में पदक हासिल करेंगी।

गुवाहाटी से आईएएनएस को फोन पर दिए एक साक्षात्कार में खेल और युवा कल्याण निदेशालय के साथ एथलेटिक्स कोच के तौर पर जुड़े निपोन ने कहा, “हिमा में हमेशा से अपने सपनों को पाने की भूख और ललक थी और ऐसा हुआ भी। जब जनवरी, 2017 में पहली बार मेरी उससे मुलाकात हुई थी, तो मैं जानता ता कि वह आसमान छुएगी और देश के लिए कुछ बड़ा करेगी।”

असम के छोटे से गांव की निवासी 18 साल की हिमा ने अपने दिन फुटबाल के मैदान पर अभ्यास करते बिताए और साथ में धान की खेती भी की। इसी समय निपोन की हिमा से मुलाकात हुई थी।

निपोन ने हिमा के माता-पिता को उसे गुवाहाटी भेजने के लिए मनाया और उसका दाखिला राज्य स्तर की अकादमी में कर दिया। इस अकादमी में केवल मुक्केबाजी और फुटबाल सिखाया जाता था। कोच नबाजित मलाकार उसके प्रदर्शन और प्रतिभा से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने हिमा को उसी साल केन्या में आयोजित विश्व युवा चैम्पियनशिप में भेज दिया।

खेल के प्रति अपने प्यार के बारे में बात करते हुए निपोन ने कहा, “वह हमेशा 100 मीटर और 200 मीटर रेस में हिस्सा लेती थी और बेहतरीन प्रदर्शन कर रही थी। हालांकि, हमने सोचा कि वह 400 मीटर रेस में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकती हैं। ऐसे में मैंने 400 मीटर के लिए उनके ट्रायल लेने शुरू कर दिए और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया। इसके बाद, 400 मीटर के लिए उनके कार्यक्रम की शुरुआत हो गई।”

निपोन ने कहा, “मुझे ऐसा लगता है कि हिमा बेहद मेहनती, लक्ष्य के प्रति समर्पित है और उनकी मानसिक क्षमता बेहद अच्छी है। उन्होंने चीजें देखकर सीखना शुरू किया। जब वह मैदान पर रहती हैं, तो काम के अलावा कुछ भी उनका ध्यान नहीं बांट सकता।”

कोच ने कहा कि हिमा को हमेशा से लड़कों के साथ प्रशिक्षण लेना पसंद है। यह एक रणनीति है। अगर एक लड़की लड़कों के साथ प्रशिक्षण लेती है, तो उसका प्रदर्शन सुधरेगा। उनका आत्मविश्वास बेहद मजबूत है और जब वह कुछ करने की ठान लेती हैं, तो उसे करके ही हटती हैं।

इस मामले में हिमा का परिवार भी उनका पूरा समर्थन करता है। गुवाहाटी जाने के लिए उनके परिजनों ने उन्हें आसानी से स्वीकृति दे दी।

निपोन ने कहा कि वह अब हिमा की छोटी बहन को भी समर्थन देने की सोच रहे हैं। उनकी असम जाकर प्रतिभा की तलाश करने की योजना है। ऐसे में वह अच्छे उम्मीदवार की हर संभव रूप से मदद करेंगे। हिमा की भी यहीं योजना है।

कोच निपोन ने कहा कि कुछ दिन पहले दुनिया को हिमा का नाम भी नहीं पता था लेकिन अब पूरा विश्व उन्हें जानता है।

उन्होंने कहा, “लोग मुझे कह रहे हैं कि वह हिमा की हर संभव तरीके से मदद करेंगे। इसी तरह हम अन्य खिलाड़ियों का समर्थन करना चाहते हैं और यहीं हमारा लक्ष्य है। हमने एक हिमा को विश्व जीतते देखा है, लेकिन हम दुनिया को ऐसी और भी हिमा देना चाहते हैं।”

हिमा के भविष्य के लक्ष्यों के बारे में निपोन ने कहा कि वह एशियाई खेलों में बेहतरीन प्रदर्शन करना चाहती हैं।

कोच ने कहा, “मैं आश्वस्त हूं कि हिमा 18 अगस्त से शुरू हो रहे एशियाई खेलों में जीत हासिल करेगी। उसे मुझसे अधिक विश्वास है। उसने हमेशा से कहा है कि जब वह रेस को खत्म करने के लिए कम समय लेगी, तो वह अपने आप ही जीत जाएगी। इससे सच में एशियाई खेलों में भारत को गर्व महसूस होगा।”

समाज के हर पक्ष से हिमा को बधाई संदेश मिल रहे हैं। ऐसे में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो उनके नाम को ढूंढने के लिए उनकी जाति ढूंढ रहे हैं।

लोगों की सोच को बदलने में लगने वाले समय के बारे में निपोन ने कहा, “कुछ लोग की नकारात्मक सोच रखते हैं। वे किसी को सफल होते हुए देखना ही नहीं चाहते हैं। हर इंसान आलोचना करने के लिए ही जन्म लेता है, लेकिन कुछ आलोचनाएं रचनात्मक होती हैं। हम लोगों के सोचने के तरीके को नहीं बदल सकते। यह उनके व्यवहार का हिस्सा है और इस पर किसी का नियंत्रण नहीं।”

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

FIFA World Cup 2018: फुटबाल का बादशाह बना फ्रांस

Published

on

fifa
फुटबाल का बादशाह बना फ्रांस।

मॉस्को : फ्रांस फुटबाल की दुनिया का एक बार फिर बादशाह बना। फ्रांस ने 20 साल क्रोएशिया को हराकर फीफा वर्ल्‍ड कप 2018 का खिताब अपने नाम कर लिया। फाइनल मुकाबले में रविवार को मास्‍को के लुज्निकी स्टेडियम में फ्रांस और क्रोएशिया आमने-सामने थे। फ्रांस ने 4-2 से शिकस्त देकर क्रोएशिया का पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनने का सपना तोड़ दिया।

फ्रांस 1998 में पहली बार अपने घर में खेले गए विश्व कप में फाइनल खेली थी और जीतने में सफल रही थी। इसके बाद 2006 में उसने फाइनल में जगह बनाई थी, लेकिन इटली से हार गई थी।

टीमें :

क्रोएशिया :

गोलकीपर : डेनिजेल सुबासिक, लोवरो कालिनिक और डोमिनिक लिवाकोविक

डिफेंडर : वेद्रन कोलुर्का, डोमागोज विदा, इवान स्ट्रिनीक, डेजान लोवरेन, सिमे वसाल्जको, जोसिप पीवारिक, टिन जेडवेज, डुजे सालेटा कार

मिडफील्डर : लुका मोड्रिक, मटिओ कोवाचिक, इवान रेकिटिक, मिलान बाडेल्ज, मासेर्लो ब्राजोविक और फिलिप ब्राडेरिक

फारवर्ड : मारियो मांजुकिक, इवान पेरीसिक, निकोला कालिनीक, एंद्रेज करामारिक, मार्को पीजासा और एंटे रेबिक

फ्रांस :

गोलकीपर : लोरिस, स्टीव मन्दंदा, अल्फोन्स एरोओला।

डिफेंडर : लुकास हर्नान्डेज, प्रेसनेल किम्पेम्बे, बेंजामिन मेन्डी, बेंजामिन पावर्ड, आदिल रामी, जिब्रिल सिदीबे, सैमुअल उम्तीती, राफेल वरान।

मिडफील्डर : एनगोलो कान्ते, ब्लेस मातुइदी, स्टीवन एंजोंजी, पॉल पोग्बा, कोरेंटिन टोलिसो।

फारवर्ड : ओउस्मान डेम्बेले, नाबिल फकीर, ओलिवियर जीरू, एंटोनी ग्रीजमैन, थॉमस लेमार, कीलियन एम्बाप्पे, फ्लोरियन थौविन।

WeForNews

Continue Reading
Advertisement
John Root
खेल2 hours ago

लीड्स वनडे : इंग्लैंड ने भारत के सीरीज जीतने के क्रम को रोका

Rahul Gandhi
राजनीति2 hours ago

राहुल ने 23 सदस्यीय कांग्रेस कार्यसमिति गठित की

akhilesh yadav
चुनाव2 hours ago

मोदी फेल, देश को नए प्रधानमंत्री की जरूरत : अखिलेश

Private Hospital Free Treatment
स्वास्थ्य6 hours ago

गरीबों का मुफ्त इलाज निजी अस्पतालों की मंशा नहीं

Hima Das
खेल6 hours ago

अभी शुरुआत है, एक दिन आसमान छुएगी हिमा : कोच निपोन

Rita Bhaduri
मनोरंजन7 hours ago

एफटीआईआई में मेरी करीबी प्रतिद्वंद्वी, दोस्त थीं रीता : शबाना आजमी

Agusta Westland Chopper SCAM
राष्ट्रीय7 hours ago

अगस्ता मामला : मिशेल के खिलाफ सबूत पेश नहीं कर पाई भारत सरकार

Sensex
व्यापार9 hours ago

शेयर बाजारों में तेजी, सेंसेक्स 196 अंक ऊपर

TEMPLE-min
ज़रा हटके9 hours ago

भारत के इन मंदिरों में मिलता है अनोखा प्रसाद

100-rupee-note
व्यापार9 hours ago

RBI जारी करेगा 100 का नया नोट

TEMPLE-min
ज़रा हटके9 hours ago

भारत के इन मंदिरों में मिलता है अनोखा प्रसाद

theater-min
ज़रा हटके2 weeks ago

ये हैं दुनिया के सबसे शानदार थिएटर…

finland-min
ज़रा हटके1 week ago

रुकने के लिए ही नहीं एडवेंचर के लिए भी खास हैं ये जगह

bundelkhand water crisis
ब्लॉग4 weeks ago

बुंदेलखंड की महिलाएं पानी से भरेंगी धरती का पेट

Santa Monica Pier Area-Ocean Ave
ब्लॉग3 weeks ago

दुनिया के सबसे रोमांटिक डेस्टीनेशंस में से एक है सैंटा मोनिका

Femina Miss India 2018 AnuKreethy Vas
राष्ट्रीय4 weeks ago

तमिलनाडु की अनुकृति वास के सिर सजा मिस इंडिया 2018 का ताज

Social Media Political Communication in India
टेक2 weeks ago

अभी तो परमात्मा भी हमें सोशल मीडिया के प्रकोप से नहीं बचा सकता!

Madhubani Painting
ज़रा हटके3 weeks ago

मधुबनी पेंटिंग से बदली पटना के विद्यापति भवन की रंगत

Femina Miss India 2018 AnuKreethy Vas
मनोरंजन4 weeks ago

अकेली मां से मिली परवरिश प्रेरणादायक रही : Miss India World 2018

Jal Styagrha
ज़रा हटके4 weeks ago

शिवराज के गांव में अवैध रेत खनन रोकने को जल सत्याग्रह

saheb-biwi-aur-gangster-
मनोरंजन3 days ago

संजय की फिल्म ‘साहब बीवी और गैंगस्टर 3’ का पहला गाना रिलीज

Aitbh bacchan-
मनोरंजन4 days ago

बॉलीवुड के इन बड़े सितारों के लाखों ट्विटर फॉलोवर हुए कम

मनोरंजन5 days ago

पर्दे पर मधुबाला और मीना कुमारी का जादू लाना चाहती हूं: जाह्नवी कपूर

fanney-khan-
मनोरंजन6 days ago

‘जवां है मोहब्बत…’ पर ख़ूब थिरकीं ऐश्वर्या, देखें वीडियो

mulk--
मनोरंजन1 week ago

ऋषि कपूर की फिल्म ‘मुल्क’ का ट्रेलर रिलीज

Dilbar Song Satyameva Jayate
मनोरंजन2 weeks ago

‘Satyameva Jayate’ का नया गाना हुआ रिलीज, नोरा फतेही ने दिखाया बेली डांस

मनोरंजन3 weeks ago

‘सूरमा’ का नया गाना ‘गुड मैन दी लालटेन’ रिलीज

varun and sharddha-
मनोरंजन3 weeks ago

गुरु रंधावा के High rated गबरू पर थि‍रकते नजर आए वरुण-श्रद्धा

Fanney Khan-
मनोरंजन3 weeks ago

अनिल कपूर की फिल्म फन्‍ने खां का टीजर रिलीज

SANJU-
मनोरंजन4 weeks ago

‘संजू’ में रहमान का गाना ‘रूबी रूबी’ रिलीज

Most Popular