Connect with us
Abhinav Mishra Abhinav Mishra

लाइफस्टाइल

फैशन अब अधिक प्रतिस्पर्धी बन गया है : डिजाइनर

आईएएनएस (Abhinav Mishra')

Published

on

साल 2009 में अपना फैशन लेबल शुरू करने वाले डिजाइनर अभिनव मिश्रा का मानना है कि भारत में फैशन अब और अधिक प्रतिस्पर्धी बाजार बन गया है। उनका कहना है कि प्रतिस्पर्धा के कारण उद्योग में प्रवेश करने वाले युवाओं को रुझानों की जानकारी रखना महत्वपूर्ण है।

Abhinav Mishra'

अभिनव ने आईएएनएस से कहा, “आजकल, लोग फैशन को लेकर बहुत स्पष्ट हैं कि उनकी जरूरत क्या है। यह अधिक प्रतिस्पर्धी बाजार बन गया है, इसलिए मुझे लगता है कि युवा डिजाइनरों को फैशन के बारे में और अधिक ज्ञान होना चाहिए। बाजार के भाव को समझना महत्वपूर्ण है।

Abhinav Mishra'

उन्होंने कहा, “दिल्ली-एनसीआर के बाहर एक पूरी दुनिया है और हमें दुनिया के सभी हिस्सों के ऑर्डर मिलते हैं और यही फायदा है, जिससे निश्चित रूप से युवा डिजाइनरों को लाभ हुआ है। इलाहाबाद के रहने वाले अभिनव मिश्रा ने लखनऊ में अपनी पढ़ाई पूरी की है। मिश्रा ने कहा कि फैशन उद्योग अब अधिक पेशेवर बन गया है।

 

–आईएएनएस

लाइफस्टाइल

जीरे का पानी पीने से तेजी से कम होता है वजन…

Published

on

zeera-

खाने के स्वाद को बढ़ाने वाला जीरा सेहत के लिए फायदेमंद होता है। ये आपका वजन को कम करने में भी मददगार साबित होता है।

जीरे का पानी दोगुना तेजी से कम करता है वजन, जानें कैसे

जी हां, सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाने वाला जीरा तेजी से वजन कम करता है। हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, सुबह खाली पेट जीरे का पानी पीने से वजन तेजी से कम होता है। अगर आप भी बेली फैट से परेशान हैं और चाहते हैं कि बिना कुछ ज्यादा प्रयास के ये कम हो जाए तो जीरे का इस्तेमाल आपके लिए काफी कारगर साबित हो सकता है।

Image result for जीरा

इसके अलावा जीरे के सेवन से कब्ज, इंसुलिन, मेटाबॉलिज्म और डाइजेस्टिव सिस्टम भी मजबूत होता है। हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि रोजाना खाली पेट जीरे के पानी का सेवन करने से 20 दिन में ही वजन कम होने लगता है। कई स्टडी में बताया गया है कि जीरे में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं।

इसके अलावा इसमें कॉपर, मैंगनीज, मिनरल्स भी पाए जाते हैं। ये सभी शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले रेडिकल्स से सुरक्षित रखते हैं और उन्हें शरीर से बाहर निकालने का काम करते हैं। बता दें, एक चम्मच जीरे में सिर्फ 7 कैलोरी होती है। रोजाना एक गिलास जीरे का पानी पीने से वजन तेजी से कम होता है।

डाइजेशन– जीरे का पानी पीने से डाइजेस्टिव सिस्टम बेहतर होता है। ये शरीर में मौजूद फैट और कार्बोहाइड्रेट को ब्रेक करता है, जिससे आंतें स्वस्थ रहती हैं। अगर डाइजेस्टिव सिस्टम मजबूत होता है, तो वजन को भी तेजी से कम किया जा सकता है।

Image result for डाइजेशन

भूख कम लगना– जीरे का पानी पीने से भूख कम लगती है। सुबह एक गिलास जीरे का पानी पीने से दिनभर आपका पेट भरा हुआ रहता है। इस कारण आप जंक और ऑयली फूड से दूर रहते हैं और वजन कम होने में मदद मिलती है।

Image result for भूख कम लगना

डीटॉक्सीफाई– जीरे का पानी शरीर से सभी टॉक्सिंस को बाहर निकालकर शरीर को डीटॉक्सीफाई करने में मददगार साबित होता है। इसके अलावा इस पानी से शरीर में नई और हेल्दी कोशिकाएं बनती हैं। ये डाइजेशन को बेहतर करता है और शरीर के मेटाबॉलिज्म रेट को बढ़ाता है।

Image result for डीटॉक्सीफाई

यहां जानें जीरे का पानी बनाने की विधि– जीरे का पानी बनाने के लिए एक चम्मच जीरे को एक गिलास पानी में रातभर भिगोकर रख दें। सुबह उठकर ये पानी छान कर पीएं। इसके लिए तांबे के बर्तन को ही इस्तेमाल करने की कोशिश करें, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि तांबे के बर्तन में पानी पीने से भी वजन कम होता है। जीरे का पीने के साथ-साथ हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज पर भी ध्यान दें। आप चाहें तो अपने डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं।

Image result for जीरा पानी

 

WeFornews

Continue Reading

लाइफस्टाइल

करवा चौथ के दिन ऐसे निखारें अपनी त्वचा…

Published

on

करवा चौथ के दिन महिलाओं में सजने-संवरने का बहुत क्रेज होता है। ऐसे में महंगे ब्यूटी पार्लर की बजाय घरेलू हर्बल पार्लर के उपयोग से आप हुस्न की मलिका बन सकती हैं और आप दमकती त्वचा पा सकती है।

karwa

कहा जाता है कि इस दिन व्रत रखने से महिलाओं के सौंदर्य में चांद जैसा निखार उभरता है। आजकल महिलाओं में सजने संवरने में ब्यूटी पार्लर और मॉल का प्रचलन शुरू हो गया है, लेकिन अगर आप सचमुच सबसे अलग दिखना चाहती हैं तो इस त्योहार की तैयारियां हफ्ते भर पहले कर लें तथा घरेलू हर्बल पार्लर के उपयोग करें।

Image result for karwa chauth hd wallpapers

इस बार का करवा चौथ 27 अक्टूबर के दिन मनाया जाएगा। आप करवा चौथ से तीन दिन पहले हाथों तथा पांवों की सुंदरता पर फोकस करने के बाद मेहंदी लगाएं। मेहंदी लगाने के दो घंटे बाद नींबू और चीनी के मिश्रण से इसे हटा दें। आप अपनी त्वचा को साफ करके उस पर सनस्क्रीन तथा माइस्चराइजर का प्रयोग कीजिए।

Image result for karva chauth के दिन दुहलन

तैलीय त्वचा के लिए एस्ट्रीजंट लोशन का प्रयोग करने के बाद पाउडर लगाएं। तैलीय त्वचा के लिए ज्यादा पाउडर का प्रयोग मत करें तथा चेहरे के तैलीय भागों पर ही ध्यान दें। पूरे चेहरे तथा गर्दन पर हल्की गीली स्पंज से पाऊडर का प्रयोग करें। इससे चेहरे का सौंदर्य लंबे समय तक बना रहता है।

Image result for karwa chauth मेकअप

दो चम्मच गेहूं का चोकर, एक चम्मच बादाम तेल, दही, शहद और गुलाबजल का पेस्ट बनाकर इसे चेहरे पर लगाकर 20 मिनट बाद धोने से चेहरे की सुंदरता निखर जाती है तथा चेहरा खिला खिला रहता है। अगर आप फाउंडेशन का प्रयोग करना चाहती हैं तो केवल जल आधरित फाउंडेशन का ही प्रयोग करें तथा हल्के कवरेज के लिए एक या दो बूंद पानी प्रयोग में ला सकती हैं।

Image result for karwa chauth फाउंडेशन

फाउंडेशन जितना भी संभव है, आपकी त्वचा के रंग से मेल जोल खाती होनी चाहिए तथा उसके बाद पाउडर का उपयोग करें। चेहरे पर प्राकृतिक आभा के लिए अच्छी तरह ब्लैड करके गालों को ब्लशर से चमकाएं। आंखों की सुंदरता के लिए अपनी पलकों को पेंसिल या काजल से चमकाएं।

Image result for karwa chauth फाउंडेशन

आंखों पर कोमल प्रभाव के लिए पलकों पर भूरी या स्लेटी आई शैडों का प्रयोग करें तथा इसके बाद मस्कारा का प्रयोग करें, जिससे आंखों पर चमक आ जाएगी तथा मेकअप में भारीपन की दिखावट भी नहीं होगी। मस्कारा को एक भारी लगाने की बजाय दो हल्की तहों में करना चाहिए।

पहला कोट करने के बाद इसे सूखने दें तथा इसे कंघी या ब्रश कर लें। इसके बाद दूसरा कोट कीजिए तथा पहली प्रक्रिया को दोहराइए। इसके बाद दूसरा कोट कीजिए तथा पहली प्रक्रिया को दोहराइए। लिपस्टिक की सुंदरता के लिए घने गहरे रंगों का उपयोग न करें, क्योंकि चमकीली लाइट में यह ज्यादा गहरे दिखाई देते हैं, जिससे आपकी आभा पर विपरीत असर दिखाई देता है।

Image result for लिपस्टिक की सुंदरता के लिए घने

सौंदर्य पर चार चांद लगाने के लिए गुलाबी, ताम्रवर्णी, कांस्यवर्णी रंगों का प्रयोग करें। नारंगी रंग या नारंगी शेड का प्रयोग फैशन का नया प्रचलन है। विकल्प के तौर पर आप हल्के बैंगनी तथा गुलाबी रंगों का प्रयोग भी कर सकती है, लेकिन यह सभी रंग अत्यधिक चमकीले नहीं होने चाहिए। बिंदी करवाचौथ के सौंदर्य का अभिन्न अंग मानी जाती है।

Image result for karva chauth के दिन दुहलन

अपनी पोशाक से मिलते जुलते रंग की सजावटी बिंदी का प्रयोग करें। छोटे चमकीले रत्नों से जड़ित बिंदी काफी आर्कषक लगती है। अपने सौंदर्य में इत्र लगाना कभी न भूलें, क्योंकि यह सोने पर सुहागे का काम करता है। उचित जीवनशैली अपनाने से चहेरे पर चमक तथा उत्साह की झलक मिलती है।

Image result for karva chauth

तेजस्वी आभा के लिए उचित पोषाहार, व्यायाम, पर्याप्त नींद, तथा विश्राम अत्यंत आवश्यक है। त्योहार से कुछ हफ्ते पहले हल्का व्यायाम तथा पैदल चलने की आदत डालनी चाहिए। पैदल चलना शारीरिक तथा मानसिक स्वस्थ्य दोनों के लिए अत्यंत लाभकारी साबित होता है।

मन की शांति तथा स्वास्थ्य के लिए लंबी गहरी सांसें सबसे ज्यादा लाभप्रद मानी जाती है। सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन ने कहा कि करवाचौथ में मुख्यता परंपारिक पोशाकों तथा परिधनों को ही पसंद किया जाता है, क्योंकि इनका संबंध व्रत तथा पूजा-अर्चना से सीधे तौर पर जुड़ा है। हालांकि बदलते आधुनिक परिवेश में फिल्मों तथा फैशन का प्रभाव भी कुछ हद तक इस व्रत में दिखने में मिल जाता है।

Image result for karva chauth

WeFornews

Continue Reading

लाइफस्टाइल

जानिए जीन्स का इतिहास, इसमें छुपे एक-एक राज…

Published

on

jeans

भारत में डेनिम से बने ट्राउजर्स डूंगा के नाविक पहनते थे। जिन्हें डूंगरीज के नाम से जाना जाता था। वहीं, फ्रांस में गेनोइज नेवी के वर्कर जीन्स को बतौर यूनिफॉर्म पहनते थे। उनके लिए जीन्स का फैब्रिक उनके काम के मुताबिक परफेक्ट होता था।

जीन्स को ब्लू कलर में रंगने के लिए इंडिगो डाई का इस्तेमाल किया जाता था। हालांकि 16 वीं शताब्दी में जीन्स के चलन ने ज्यादा जोर पकड़ लिया, लेकिन बाकी देशों तक अपनी पहुंच बनाने में इसे काफी समय लगा।

Related image

1850 तक जीन्स काफी पॉप्युलर हो चुकी थी। इस दौरान एक जर्मन व्यापारी लेवी स्ट्रॉस ने कैलिफोर्निया में जीन्स पर अपना नाम छापकर बेचना शुरू किया। वहां एक टेलर जेकब डेविस उसका सबसे पहला कस्टमर बना। वह काफी दिन तक उससे जीन्स खरीदता रहा और उसने भी उन्हें लोगों को बेचना शुरू कर दिया। वहां कोयले की खान में काम करने वाले मजदूर इसे ज्यादा खरीदते, क्योंकि इसका कपड़ा बाकी फैब्रिक से थोड़ा मोटा था, जो उनके लिए काफी आरामदायक था।

Related image

एक दिन डेविस ने स्ट्रॉस से कहा कि क्यों न हम दोनों मिलकर इसका एक बड़ा बिजनेस शुरू कर दें। स्ट्रॉस को डेविस का प्रपोजल अच्छा लगा और इस तरह उन्होंने जीन्स के लिए यूएस पेटेंट ले लिया और फिर जीन्स का उत्पादन बड़े पैमाने पर शुरू किया।

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान अमेरिका की फैक्टिरियों में काम करने वाले वर्कर्स इसे पहना करते थे। और तो और यह उनकी यूनिफॉर्म में शामिल कर दी गई थी। पुरुषों के लिए बनी जीन्स में जिप फ्रंट में नीचे की तरफ लगाई जाती थी, वहीं महिलाओं के लिए बनी जीन्स में इसे साइड में लगाया जाता था। स्पेन और चीन में वहां के कॉउबॉय वर्कर्स जीन्स कैरी किया करते थे। वक्त के साथ जीन्स में नए-नए चेंज आने लगे।

फैशन में किस तरह आई जीन्स

दरअसल, 1950 में जेम्स डीन ने एक हॉलिवुड फिल्म ‘रेबल विदाउट अ कॉज’ बनाई, जिसमें उन्होंने पहली बार जीन्स को बतौर फैशन इस्तेमाल किया। इस फिल्म को देखने के बाद अमेरिका के टीन एजर्स और यूथ में जीन्स का ट्रेंड काफी पॉप्युलर हो गया। इसकी लोकप्रियता कम करने के लिए अमेरिका में रेस्तरां, थियेटर्स और स्कूल में जीन्स पहनकर जाने पर बैन भी लगा दिया गया, फिर भी जीन्स का फैशन यूथ के सिर पर ऐसा चढ़ा की फिर उतरा ही नहीं।

धीरे-धीरे जीन्स की लोकप्रियता बढ़ने लगी और 1970 में इसे फैशन के तौर पर स्वीकार कर लिया गया।

Related image

कैसे पड़ा नाम जीन्स ?

इसका अविष्कार 19 वीं सदी में फ्रांस के शहर NIMES में हुआ था, जिस कपडे से जीन्स बनी है उसे फ्रेंच में “Serge” कहते हैं और इसका नाम पड़ा गया “Serge de Nimes” फिर लोगो ने इसको शोर्ट कर दिया और ये हो गई Denims धीरे धीरे डेनिम्स पूरे यूरोप में पॉपुलर हो गई। जीन्स को सबसे ज्यादा नाविक लोग पसंद करते थे इन्होने सेलर्स को सम्मान देने के लिए एक निकनेम दिया। जो था जीन्स।

Related image

पहली जीन्स नीले रंग में ही बनाई गई थी, शुरू में जीन्स मजदूरों और मेहनती लोगो द्वारा ही पहनी जाती थी इनके कपडे जल्दी गंदे हो जाते थे कपडे गंदे होने पर भी गंदे न दिखे इसलिए इनका रंग नीला रखा गया।

YKK क्यूँ लिखा होता जीन्स की चैन पर है?

जीन्स की चैन पर अधिकतर YKK लिखा होता है “Yoshida Kogyo Kabushikikaisha” इसका मतलब है ये एक जापानी कंपनी है जो दुनियाभर के ज्यादातर जीन्स ब्रांड्स के लिए चैन बनती है।

Related image

जीन्स में छोटी जेब क्यों होती है?

जीन्स के इतिहास से लेकर अब तक इस छोटी सी पॉकेट के बारे में शायद ही आपको पता हो। ये छोटी सी जेब घडी रखने के लिए जीन्स में लगाई गयी थी, पहले के लोग पॉकेट वाच रखते थे। पॉपुलर जीन्स ब्रांड Levi’s ने इस बात की पुष्टि की है कि यह जेब पॉकेट वाच के लिए बनाई गई थी ये जेब 1879 में बनाई गई जीन्स में भी थी।

Related image

जीन्स में मेटल बटन का इस्तेमाल क्यो होता है ?

जितना पुराना जीन्स का इतिहास है उतना ही पुराना इसमें लगे इन बटन्स का भी है। यह बटन सिर्फ फैशन के लिए नहीं लगाये गए थे बल्कि जीन्स को फटने से बचाने के लिए लगाये गए थे। जैसा की आप जान चुकें हैं कि जीन्स पहले मजदूर लोग पहना करते थे। इनके मेहनत भरे काम की वजह से इनकी जेबे जल्दी फट जाया करती थी। इसीलिए जेबों पर मेटल के बटन लगाये गए, ये बटन सबसे पहले अमेरिका के Jacob Davis नाम के दर्जी ने ही लगाए थे।

Image result for जीन्स में मेटल बटन का इस्तेमाल क्यों होता है ?

wefornews 

Continue Reading
Advertisement
minor girl rape
शहर4 mins ago

शर्मनाक! नर्सरी की मासूम छात्रा के साथ कैब ड्राइवर ने किया दुष्कर्म

CBI
राष्ट्रीय5 mins ago

सीबीआई रिश्वत मामले में डीएसपी देवेंद्र कुमार कोर्ट में पेश

Supreme court
राष्ट्रीय25 mins ago

CEC की नियुक्ति वाली याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने पांच जजों की संवैधानिक पीठ को भेजा

sharad pawar
राजनीति27 mins ago

पवार ने मोदी से पूछा- सीबीआई में मची मारामारी पर क्‍यों नहीं बोलते?

CID-
मनोरंजन34 mins ago

अब ‘सीआईडी’ के एसीपी प्रद्युमन क्‍यों नहीं कहेंगे ‘कुछ तो गड़बड़ है’…

ganga
राष्ट्रीय44 mins ago

मोदी सरकार के ‘स्वच्छ गंगा कोष’ को नहीं मिला जनता का सहयोग

खेल50 mins ago

अनाथ आश्रम में पला, ढाबों में काम कर इस दिव्यांग ने ऐसे जीता गोल्ड मेडल

Karan johar-
मनोरंजन1 hour ago

‘कॉफी विद करण’ में आयुष्मान-विक्की कौशल खोलेंगे कई राज

sabarimala temple
राष्ट्रीय2 hours ago

सबरीमाला पुनर्विचार याचिकाओं पर 13 नवंबर को सुनवाई

earthquake
अंतरराष्ट्रीय2 hours ago

जापान में 6.1 तीव्रता के भूकंप के झटके

jeans
लाइफस्टाइल3 days ago

जानिए जीन्स का इतिहास, इसमें छुपे एक-एक राज…

Sonarika Bhadauriya
टेक3 weeks ago

सोशल मीडिया पर कमेंट्स पढ़ना फिजूल : सोनारिका भदौरिया

Kapil Sibal
टेक3 weeks ago

बहुमत के फ़ैसले के बावजूद ग़रीब और सम्पन्न लोगों के ‘आधार’ में हुई चूक!

Matka
ज़रा हटके4 weeks ago

मटकावाला : लंदन से आकर दिल्ली में पिलाते हैं प्यासे को पानी

,Excercise-
लाइफस्टाइल4 weeks ago

उम्र को 10 साल बढ़ा सकती हैं आपकी ये 5 आदतें…

IAF Chief Dhanoa Rafale Jet
ब्लॉग3 weeks ago

राफ़ेल पर सफ़ाई देकर धनोया ने वायुसेना की गरिमा गिरायी!

Vivek Tiwari
ब्लॉग3 weeks ago

विवेक की हत्या के लिए अफ़सरों और नेताओं पर भी मुक़दमा क्यों नहीं चलना चाहिए?

Ayodhya Verdict Supreme Court
ब्लॉग4 weeks ago

अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने सुलझाया कम और उलझाया ज़्यादा!

Rafale deal scam
ओपिनियन3 weeks ago

2019 में भी मोदी जीते तो 36 नहीं बल्कि 72 राफ़ेल मिलेंगे और वो भी बिल्कुल मुफ़्त!

Home-
लाइफस्टाइल3 weeks ago

घर में संतुलित लाइट का करें इस्तेमाल

राजनीति1 day ago

वीडियो: एनडी तिवारी के अंतिम संस्कार के मौके पर योगी ने लगाए ठहाके

Devendra Fadnavis WIFE
राष्ट्रीय2 days ago

वीडियो: क्रूज से सेल्फी लेने के लिए सीएम फडणवीस की पत्नी ने क्रॉस की सेफ्टी लाइन

Amritsar Train
शहर3 days ago

अमृतसर हादसे पर पंजाब में राजकीय शोक

MEERUT
राष्ट्रीय3 days ago

वीडियो: मेरठ में बीजेपी पार्षद की गुंडागर्दी, दरोगा को जड़े थप्पड़

राजनीति2 weeks ago

छेड़छाड़ पर आईएएस की पत्नी ने चप्पल से बीजेपी नेता को पीटा, देखें वीडियो

airforce
राष्ट्रीय2 weeks ago

Air Force Day: 8000 फीट की ऊंचाई से उतरे पैरा जंपर्स

Assam
शहर2 weeks ago

…अचानक हाथी से गिर पड़े असम के डेप्युटी स्पीकर, देखें वीडियो

Karnataka
ज़रा हटके2 weeks ago

कर्नाटक में लंगूर ने चलाई यात्रियों से भरी बस, देखें वीडियो

Kangana Ranaut-
मनोरंजन3 weeks ago

कंगना की फिल्म ‘मणिकर्णिका’ का टीजर जारी

BIHAR
राजनीति3 weeks ago

नीतीश के मंत्री का मुस्लिम टोपी पहनने से इनकार, देखें वीडियो

Most Popular