Connect with us

राष्ट्रीय

ग्वारसीड में ऑप्शंस ट्रेडिंग से किसानों को होगा फायदा : वित्तमंत्री

Published

on

arun-jaitley
फाइल फोटो

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने रविवार को देश के दूसरे सबसे बड़े वायदा बाजार, नेशनल कमोडिटी व डेरिवेटिव्स एक्सचेंज (एनसीडीएक्स) पर ग्वारसीड में ऑप्शंस ट्रेडिंग का नया डेरिवेटिव्स टूल लांच किया।

वित्तमंत्री ने कहा कि एनसीडीईएक्स की इस पहल से किसानों को फायदा होगा। जेटली ने कहा, “हमारे कृषि बाजार के विकास के क्रम में यह बड़ी पहल में से एक है। किसानों को वित्तीय साधन (इंस्ट्रमेंट) में व्यापार करने का विकल्प मिलेगा।”

उन्होंने कहा, “हम अभाव के दौर से निकल आए हैं। किसानों ने बड़ा बदलाव लाया है। विकास का वह लाभ किसानों को मिलना चाहिए। यह हमारी प्राथमिकता है।”

वीडियो के जरिये कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि इस पहल से किसानों को फसलों के बेहतर मूल्य दिलाना संभव होगा और उपभोक्ताओं के लिए भी उचित भाव पर कृषि उत्पाद उपलब्ध होंगे।

उन्होंने कहा, “ट्रेडिंग के लिए पारदर्शी व्यवस्था होनी चाहिए जिससे देश के किसी भी हिस्से में किसान अपनी फसल बेच पाएं।”

एनसीडीईएक्स के एमडी और सीईओ समीर शाह ने कहा, “ऑप्शंस से कीमतों में गिरावट के दौरान किसानों को बचाने के साथ-साथ कीमतों में बढ़ोतरी के दौरान उन्हें उच्च कीमत पर अपने उत्पाद बेचने का अवसर प्रदान करेगा। इस तरह कीमतों में उतार-चढ़ाव के बावजूद यह टूल किसानों के लिए हर लिहाज से फायदेमंद साबित होगा।”

यह भारत में किसी एग्री कमोडिटी का पहला, जबकि तमाम कमोडिटी में दूसरा ट्रेडिंग आप्शंस टूल है। इससे पहले पिछले साल 10 अक्टूबर को सोने में इसी तरह का ट्रेडिंग ऑप्शंस टूल देश के सबसे बड़े कमोडिटी एक्सचेंज मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर शुरू किया गया था।

देश में एग्री कमोडिटी के सबसे बड़े एक्सचेंज एनसीडीईएक्स की ओर से डिजाइन किए गए ऑप्शंस ट्रेडिंग टूल को कमोडिटी बाजार के नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने पहले ही मंजूरी प्रदान की थी।

ट्रेडिंग ऑप्शंस ऐसा डेरिवेटिव्स टूल है जिसमें लेवाल को लिवाली का अधिकार तो होता है लेकिन उनके लिए दिए हुए उस इंस्ट्रमेंट को किसी खास कीमत पर या निश्चित तारीख के पहले बिकवाली की बाध्यता नहीं होती। लिवाली के अधिकार को कॉल ऑप्शंस और बिकवाली के अधिकार को पुट ऑप्शंस कहा जाता है।

ऑप्शंस ट्रेडिंग का टूल यूरोपीय प्रकार के हैं और एनसीडीईएक्स पर अभी जो सौदे चल रहे हैं उन्हीं में फरवरी, मार्च और अप्रैल के सौदों में ऑप्शंस ट्रेडिग के सौदे उपलब्ध हैं।

–आईएएनएस

राष्ट्रीय

सीबीआई ने डीएसपी देवेंद्र कुमार को किया सस्‍पेंड

Published

on

cbi
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

सीबीआई के डीएसपी देवेंद्र कुमार को सस्‍पेंड कर दिया गया। उन पर रिश्वत लेने का आरोप है और अदालत ने 7 दिन की सीबीआई रिमांड पर भेजा है।

दरअसल, मीट व्यवसायी मोइन कुरैशी मामले में सीबीआई ने कार्रवाई करते हुए अपने ही एक अफसर डिप्टी एसपी देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार कर लिया था, जिन्हें आज दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया। मामले की सुनवाई के बाद कोर्ट ने देवेंद्र कुमार को 7 दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया है। जबकि सीबीआई ने देवेंद्र कुमार की 10 दिनों की कस्टडी की मांग की थी।

देवेंद्र कुमार CBI के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना की घूसखोरी के मामले में आरोपी हैं। सीबीआई ने अपने ही विशेष निदेशक राकेश अस्थाना समेत कई लोगों के खिलाफ घूस लेने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

सीबीआई डीएसपी देवेंद्र को 7 दिन की सीबीआई हिरासत

Published

on

CBI

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ रिश्वतखोरी के आरोपों के बीच यहां एक अदालत ने मंगलवार को एजेंसी के डीएसपी देवेंद्र कुमार को सात दिनों के लिए सीबीआई की हिरासत में भेज दिया। कुमार को दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में सोमवार को गिरफ्तार किया गया था।

एजेंसी ने कहा कि धन शोधन और भ्रष्टाचार के विभिन्न मामलों का सामना कर रहे मांस कारोबारी मोइन कुरैशी ने अपने खिलाफ एक मामले को सलटाने के लिए कथित तौर पर रिश्वत दी थी।

सीबीआई के अनुसार, कुमार ने कुरैशी मामले के गवाह सतीश सना के बयान से छेड़छाड़ कर यह दिखाया है कि उसने यह बयान दिल्ली में 26 सितंबर को दर्ज कराया था। हालांकि जांच में खुलासा हुआ है कि सना उस दिन दिल्ली में नहीं हैदराबाद में था और वह जांच में एक अक्टूबर को शामिल हुआ था।

अस्थाना, कुमार और दो अन्य आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज होने के अगले दिन कुमार को गिरफ्तार किया गया था। सीबीआई ने आरोप लगाया है कि दिसंबर 2017 और इस साल अक्टूबर में कम से कम पांच बार रिश्वत ली गई है।

गुजरात काडर के भारतीय पुलिस सेवा के 1984 बैच के अधिकारी अस्थाना पर कुरैशी मामले में जांच का सामना कर रहे एक व्यापारी से जांच में राहत देने के लिए दो करोड़ रुपये रिश्वत लेने का आरोप है। इस मामले की जांच अस्थाना के नेतृत्व में गठित एक विशेष जांच दल (एसआईटी) कर रहा था।

–आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

मध्य प्रदेश: मूर्ति विसर्जन के दौरान विवाद, कई वाहन फूंके

Published

on

madhya pradesh

मध्य प्रदेश के जबलपुर में नर्मदा नदी में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन को लेकर श्रद्धालुओं और पुलिस के बीच जमकर झड़प हो गई। भीड़ ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया, वहीं पुलिस ने हालात पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, उच्च न्यायालय ने नर्मदा नदी में प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगाई थी, जिसके चलते प्रतिमा विसर्जन के लिए अलग से कुंड बनाया गया था, मगर काली माता पड़ाव समिति के लोग कुंड में प्रतिमा विसर्जन को तैयार नहीं हुए, इसी पर विवाद हो गया। सोमवार रात लगभग दो बजे विसर्जन जुलूस शुरू हुआ और ग्वारीघाट पहुंचने से पहले मंगलवार सुबह साढ़े सात बजे पुलिस व भीड़ में झड़प हुई।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, भीड़ प्रतिमा विसर्जन के लिए ग्वारीघाट जाना चाहती थी और पुलिस ने उसे ऐसा नहीं करने दिया, जिससे भीड़ उग्र हो गई और उसने वहां खड़े वाहनों में तोड़फोड़ की और कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

पुलिस के अनुसार, भीड़ के बढ़ते उपद्रव के बीच पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसूगैस के गोले छोड़े, जिसके बाद हालात नियंत्रित हुआ। पुलिस ने इस उपद्रव से जुड़े 40 से ज्यादा लोगों को हिरासत में ले लिया है।

पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि हालात अब पूरी तरह काबू में है, और भीड़ के पथराव में पुलिस जवानों को भी चोटें आई हैं। मौके पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular