Connect with us

व्यापार

नोटबंदी के बाद बैंकों में बढ़े जाली नोट और संदिग्ध लेनदेन के मामले

Published

on

fiu report
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

दिल्ली। वित्त मंत्रालय के तहत काम करने वाली एजेंसी फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट (एफआईयू) ने अपनी रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा किया है। रिपोर्ट में नोटबंदी के बाद देश के बैंकों में नकली भारतीय मुद्राओं की आमद ने पिछले सभी वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। संदिग्ध लेनदेन के बारे में इस इस रिपोर्ट में कहा गया है कि नवंबर, 2016 में नोटबंदी के बाद बैंकों में ऐसे लेनदेन की संख्या में 480 फीसद का उछाल आया है।

नोटबंदी के बाद देश के बैंकों को सबसे ज्यादा मात्रा में जाली नोट मिले हैं। वहीं इस दौरान संदिग्ध लेनदेन में भी 480 प्रतिशत से भी ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है। देश में 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा हुई संदिग्ध राशि पर आई पहली रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। यह रिपोर्ट वित्त मंत्रालय के तहत काम करने वाली एजेंसी फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट (एफआईयू) ने जारी की है।

यह एजेंसी देश में होने वाले संदिग्ध बैंकिंग ट्रांजैक्शंस पर नजर रखती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकारी, निजी क्षेत्र के अलावा सहकारी बैंकों तथा अन्य वित्तीय संस्थानों में सामूहिक रूप से 400 प्रतिशत से अधिक संदिग्ध लेनदेन रिपोर्ट किए गए हैं। वर्ष 2016-17 में कुल मिलाकर 4.73 लाख से भी अधिक संदिग्ध लेनदेन के बारे में बैंकों द्वारा एफआईयू को सूचित किया गया। रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2016-17 में एफआईयू को बैंकों और अन्य वित्तीय इकाइयों से 4.73 लाख संदिग्ध लेनदेन रिपोर्ट (एसटीआर) मिलीं। यह 2015-16 के मुकाबले चार गुना अधिक है।

एसटीआर के मामले सबसे अधिक बैंकों की श्रेणी में सामने आए। 2015-16 के मुकाबले इसमें 489 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। वहीं, वित्तीय इकाइयों के मामले में यह बढ़ोतरी 270 प्रतिशत की रही। वर्ष 2015-16 में कुल 1.05 लाख एसटीआर बनाई गई थीं। इसमें से 61,361 एसटीआर बैंकों द्वारा एफआईयू को भेजी गई थीं। नोटबंदी के बाद इनकी संख्या बढक़र 3,61,215 तक पहुंच गई।

WeForNews

व्यापार

मोदी सरकार में सरकारी बैंकों का 50 गुना बढ़ा घाटा

Published

on

pnb-min
प्रतीकात्मक फोटो

मोदी सरकार में एनपीए से जूझते बैंकों के लिए अभी कोई उम्मीद की किरण नहीं दिख रही है। उल्टे निर्धारित अनुपात से कहीं ज्यादा नॉन परफार्मिंग एसेट (एनपीए) बढ़ने से बैंकों को रिकॉर्ड घाटा हो रहा है।

जनसत्ता की खबर के मुताबिक 21 सार्वजनिक बैंकों को काफी घाटा हुआ है। एक साल के भीतर पचास गुना नुकसान झेलना पड़ा है। पिछले साल जहां 307 करोड़ का घाटा हुआ था, अब यह आंकड़ा 16, 600 करोड़ हो गया है। इससे पता चलता है कि किस कदर एनपीए ने मोदी सरकार में बैंकों की कमर तोड़ दी है। इस घाटे ने बैंकिंग जगत के सामने नई चुनौतियां और समस्याएं खड़ी की है। इससे आर्थिक गतिविधियों के भी प्रभावित होने की भी आशंका है।

आंकड़ों के मुताबिक इस वक्त बैंकों का एनपीए 7.1 लाख करोड़ से बढ़कर 8.5 लाख करोड़ हो गया है। साल भर में करीब 19 प्रतिशत का इजाफा हुआ। जबकि अधिकतम 51,500 करोड़ के एनपीए का ही प्रावधान है।

wefornews 

Continue Reading

व्यापार

सेंसेक्स में 188 अंकों की गिरावट

Published

on

sensex
File Photo

देश के शेयर बाजारों में गिरावट रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 188.44 अंकों की गिरावट के साथ 37,663.56 पर और निफ्टी 50.05 अंकों की गिरावट के साथ 11,385.05 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 55.99 अंकों की गिरावट के साथ 37,796.01 पर खुला और 188.44 अंकों या 0.50 फीसदी गिरावट के साथ 37,663.56 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 37,891.92 के ऊपरी स्तर और 37,634.13 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में भी गिरावट रही। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 77.86 अंकों की गिरावट के साथ 16,163.80 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 33.14 अंकों की गिरावट के साथ 16,709.55 पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 37.95 अंकों की गिरावट के साथ 11,397.15 पर खुला और 50.05 अंकों या 0.44 फीसदी गिरावट के साथ 11,385.05 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 11,449.85 के ऊपरी और 11,366.25 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के 19 में से पांच सेक्टरों में तेजी रही, जिसमें स्वास्थ्य (0.96 फीसदी), सूचना प्रौद्योगिकी (0.58 फीसदी), उपभोक्ता सेवाएं (0.39 फीसदी), प्रौद्योगिकी (0.38 फीसदी) और वाहन (0.30 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे – धातु (2.18 फीसदी), पूंजीगत वस्तुएं (1.05 फीसदी), आधारभूत सामग्री (1.05 फीसदी), उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं (0.96 फीसदी) और वित्त (0.93 फीसदी)।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

डॉलर के मुकाबले रुपये में अबतक की सबसे बड़ी गिरावट

Published

on

dollar vs rupees
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

भारतीय रुपये गुरुवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रिकॉर्ड निम्न स्तर तक लुढ़क गया। डॉलर के मुकाबले रुपये 70.22 के स्तर से नीचे फिसल गया।

इससे पहले मंगलवार को रुपया ने 70.10 का ऑलटाइम लो बनाया था। हालांकि, नए रिकॉर्ड निचले स्तर तक फिसलने के बाद पिछले कारोबारी दिन रुपए में निचले स्तर से रिकवरी देखने को मिली थी और डॉलर के मुकाबले रुपया 4 पैसे की बढ़त के साथ 69.89 के स्तर पर बंद हुआ था।

WeForNews

Continue Reading
Advertisement
Atal-Bihari-Vajpayee
ओपिनियन1 hour ago

अटल बिहारी वाजपेयी : नए भारत के सारथी और सूत्रधार

Atal Behari Atal
ब्लॉग1 hour ago

अटल थे, अटल हैं, अटल रहेंगे!

Atal Bihari Vajpayee
Uncategorized2 hours ago

स्‍मृति-स्‍थल पर शाम चार बजे अटल को अंतिम विदाई

atal bihari vajpayee-min (1)
राष्ट्रीय3 hours ago

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी का निधन, सात दिनों का राट्रीय शोक घोषित

kovind_modi
राष्ट्रीय4 hours ago

राष्‍ट्रपति-प्रधानमंत्री ने अटल को दी भावभीनी श्रद्धांजलि

pnb-min
व्यापार4 hours ago

मोदी सरकार में सरकारी बैंकों का 50 गुना बढ़ा घाटा

rahul gandhi
राष्ट्रीय4 hours ago

अटल के निधन पर राहुल ने जताया शोक, कहा- ‘देश ने खोया महान सपूत’

atal bihari vajpai
राष्ट्रीय5 hours ago

अटल बिहारी की ये कविताएं ‘मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूँ’…

sensex
व्यापार5 hours ago

सेंसेक्स में 188 अंकों की गिरावट

Fire In Ludhiana Civil Hospital
शहर5 hours ago

पंजाब के लुधियाना सिविल अस्‍तपाल में लगी आग

chili-
स्वास्थ्य3 weeks ago

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

School Compound
ओपिनियन3 weeks ago

स्कूली छात्रों में क्यों पनप रही हिंसक प्रवृत्ति?

pimple
लाइफस्टाइल3 weeks ago

मुँहासों को दूर करने के लिए अपनाएंं ये 6 टिप्स…

Kapil Sibal
ब्लॉग3 weeks ago

लिंचिंग के ख़िलाफ़ राजनीतिक एकजुटता ज़रूरी

Mob Lynching
ब्लॉग4 weeks ago

जो लिंचिंग के पीछे हैं, वही उसे कैसे रोकेंगे!

Gopaldas Neeraj
ज़रा हटके4 weeks ago

अब कौन कहेगा, ‘ऐ भाई! जरा देख के चलो’

Indresh Kumar
ओपिनियन3 weeks ago

संघ का अद्भुत शोध: बीफ़ का सेवन जारी रहने तक होती रहेगी लिंचिंग!

Bundelkhand Farmer
ब्लॉग3 weeks ago

शिवराज से ‘अनशनकारी किसान की मौत’ का जवाब मांगेगा बुंदेलखंड

No-trust motion Parliament
ब्लॉग4 weeks ago

बस, एक-एक बार ही जीते विश्वास और अविश्वास

Kashmir Vally
ब्लॉग1 week ago

कश्मीर में नफरत, हिंसा के बीच सद्भाव-भाईचारे की उम्मीद

sui-dhaga--
मनोरंजन3 days ago

वरुण धवन की फिल्म ‘सुई धागा’ का ट्रेलर रिलीज

pm modi
ब्लॉग6 days ago

70 साल में पहली बार किसी प्रधानमंत्री के शब्द संसद की कार्रवाई से हटाये गये

flower-min
शहर1 week ago

योगी सरकार कांवड़ियों पर मेहरबान, हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा

Loveratri-
मनोरंजन1 week ago

आयुष शर्मा की फिल्म ‘लवरात्र‍ि’ का ट्रेलर रिलीज

-fanney khan-
मनोरंजन2 weeks ago

मोहम्मद रफी की पुण्यतिथि पर रिलीज हुआ ‘बदन पे सितारे’ का रीमेक

tej pratap-min
राजनीति2 weeks ago

तेज प्रताप का शिव अवतार…देखें वीडियो

nawal kishor yadav-min
राजनीति2 weeks ago

शर्मनाक: बीजेपी विधायक ने गवर्नर को मारने की दी धमकी

Dr Kafeel Khan
शहर3 weeks ago

आर्थिक तंगी से जूझ रहे गोरखपुर के त्रासदी के हीरो डॉक्टर कफील

sonakshi-
मनोरंजन3 weeks ago

डायना पेंटी की फिल्म ‘हैप्पी फिर भाग जाएगी’ का ट्रेलर रिलीज

Lag Ja Gale-
मनोरंजन3 weeks ago

‘साहेब, बीवी और गैंगस्टर 3’ का गाना रिलीज

Most Popular