Connect with us

राष्ट्रीय

अधिकारियों का तबादला नहीं कर पाने से दिल्ली सरकार शक्तिहीन : आप

Published

on

supreme-court
File Photo

उप राज्यपाल अनिल बैजल व दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के बीच चल रही खींचतान के बीच आप सरकार ने बुधवार को सर्वोच्च न्यायालय से कहा कि दिल्ली सरकार शक्तिहीन है क्योंकि वह नौकरशाहों की तैनाती या तबादला नहीं कर पा रही है।

दिल्ली सरकार के तरफ से पेश वकील व वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने न्यायमूर्ति ए.के. सीकरी व न्यायमूर्ति नवीन सिन्हा की खंडपीठ से कहा कि यह एक जरूरी मुद्दा था और जल्द सुनवाई होनी चाहिए।

चिदंबरम ने कहा, “आज दिल्ली सरकार शक्तिहीन है। हम अधिकारियों का तबादला या तैनाती नहीं कर सकते। संविधान पीठ के फैसले का क्या फायदा? यह एक जरूरी मुद्दा है।” खंडपीठ ने मामले की सुनवाई को 26 जुलाई को तय कर दी क्योंकि उप राज्यपाल ने एक सप्ताह का समय मांगा।

आप सरकार ने संविधान पीठ के हालिया फैसले के मद्देनजर अपनी शक्तियों के विस्तार को लेकर दिल्ली सरकार द्वारा दाखिल सभी अपीलों के जल्द निस्तारण की मांग की है।

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति ए.एम. खानविलकर व डी.वाई.चंद्रचूड़ की तीन न्यायाधीशों वाली संवैधानिक खंडपीठ ने 4 जुलाई को फैसला सुनाया था कि उप राज्यपाल मंत्रिपरिषद की सहायता और सलाह पर कार्य करने के लिए बाध्य हैं।

खंडपीठ ने यह भी फैसला दिया कि उपराज्यपाल के पास केंद्र सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर कानून व्यवस्था, पुलिस और जमीन को छोड़कर किसी और मामले में कोई भी स्वतंत्र शक्ति नहीं है। दिल्ली सरकार के पास अन्य मुद्दों पर कानून बनाने और शासन करने की शक्तियां हैं।

सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बाद अरविंद केजरीवाल सरकार ने अधिकारियों की तैनती व तबादले की सिफारिश वाली फाइलें बैजल को भेजीं। लेकिन, उपराज्यपाल ने ने यह कहते हुए कहा इसे रोक दिया कि सेवा विभाग से जुड़े मुद्दे पर अभी अदालत ने फैसला नहीं लिया है।

–आईएएनएस

राष्ट्रीय

MeToo : एमजे अकबर ने महिला पत्रकार पर किया मानहानि का मुकदमा

Published

on

mj akbar
File Photo

#MeToo अभियान के तहत कई महिला पत्रकारों ने केन्द्रीय मंत्री एमजे अकबर पर यौन शोषण का आरोप लगाया है।इसमें से एक महिला पत्रकार प्रिया रमानी पर एमजे अकबर ने मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है। एमजे अकबर ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में भारतीय दंड संहिता की धारा 499 और 500 के तहत आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया ।

आईपीसी की इन धाराओं के तहत दोषी पाये जाने पर दो साल की सजा हो सकती है। केंद्रीय मंत्री ने लॉ फर्म करंजावाला एंड कंपनी के जरिये पत्रकार प्रिया रमानी पर केस दर्ज किया है।

बता दें कि रविवार को केन्द्रीय मंत्री ने विदेश दौरे से लौटने के बाद अपने खिलाफ लगे यौन शोषण के आरोपों को निराधार और गलत बताया था। एमजे अकबर ने रविवार को ही कहा था कि वे ऐसा आरोप लगाने वाली पत्रकारों के खिलाफ कोर्ट जाएंगे।

अकबर ने प्रिया रमानी के खिलाफ झूठे आरोप लगा कर बदनाम करने की साजिश रचने का मुकदमा दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि इस महिला पत्रकार ने इस तरह के आरोप लगाकर, ट्वीट करके और आर्टिकल पब्लिश कराकर उनकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुचाया है।

ये आरोप झूठे मानहानि करने वाले और बदनीयती से लगाये गए हैं। अकबर ने याचिका में यह भी कहा है कि ये सब एजेंडा से प्रेरित हैंं। याचिका में कहा गया है कि उन पर लगाए गए आरोपों से ना केवल उनकी बदनामी हुई है, बल्कि सालों की कड़ी मेहनत के बाद स्थापित सामाजिक और राजनीतिक प्रतिष्ठा को भी ठेस पहुंची है।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

यूपी के अंबेडकरनगर में बीएसपी नेता और ड्राइवर की गोली मारकर हत्या

Published

on

Jargam henna
फाइल फोटो

उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। सूबे में कानून-व्यवस्था की धज्जियां उड़ रही हैं। ताजा मामला अंबेडकरनगर जिले का है, यहां बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के स्थानीय नेता जरगाम मेंहदी और उनके ड्राइवर की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई।

हंसवर थाना इलाके के नसीराबाद गांव निवासी जुगराम मेंहदी सोमवार सुबह अपनी कार में टांडा की तरफ जा रहे थे। गाड़ी उनका ड्राइवर सुनीत यादव चला रहा था। जैसे ही उनकी कार रामपुर स्थलवा के पास पहुंची, तभी दो मोटरसाइकिलों पर आधा दर्जन बदमाशों ने उनकी कार पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं।

इस गोलीबारी में बीएसपी नेता ज़ुरगाम और उनके ड्राइवर को कई गोलियां लगीं। वारदात को अंजाम देकर आरोपी वहां से फरार हो गए। घटना के फौरन बाद पुलिस भी मौके पर जा पहुंची। पुलिस ने बसपा नेता और उनके चालक को अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने बसपा नेता और उनके ड्राइवर को मृत घोषित कर दिया।

इस हमले में सड़क पर से गुजर रहे दो राहरीर भी गोली लगने से घायल हो गए। जिने इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद जिले आला पुलिस अधिकारियों ने मौके पर जाकर घटना की जानकारी ली।

गौरतलब है कि बीते साल भी ज़ुरगाम पर जानलेवा हमला हुआ था। पुलिस हर एंगल से मामले की छानबीन कर रही है। दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

कन्हैया कुमार पर लगा पटना एम्स के डॉक्टरों से मारपीट का आरोप

Published

on

Kanhaiya Kumar
कन्हैया कुमार (फाइल फोटो)

दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया कुमार के खिलाफ पटना में मारपीट का केस दर्ज हुआ है। पटना स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के चिकित्सकों ने कन्हैया कुमार और उनके समर्थकों पर दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है और वे सुरक्षा की मांग को लेकर हड़ताल पर चले गए हैं।

चिकित्सकों के हड़ताल पर चले जाने के कारण मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। चिकित्सकों का आरोप है कि कन्हैया रविवार की रात एम्स में भर्ती अपने एक मित्र और एआईएसएफ नेता सुशील कुमार से मिलने यहां पहुंचे थे।

कन्हैया के साथ करीब 40-50 समर्थकों ने उनके साथ ट्रॉमा इमरजेंसी में जाने का प्रयास किया। कन्हैया के समर्थकों को जब सुरक्षा गार्ड ने रोकने की कोशिश की तो गार्ड के साथ मारपीट की गई।

वार्ड में तैनात चिकित्सकों ने जब उनके समर्थकों को वापस जाने को कहा तब भी समर्थक वापस नहीं गए और उन्होंने चिकित्सकों से दुर्व्यवहार किया। एम्स में काफी देर तक लेकर हंगामा होता रहा।

पटना एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन (आरडीए) के अध्यक्ष डॉ़ विनय कुमार ने बताया कि इस घटना के बाद सभी चिकित्सकों ने काम बंद कर दिया है।

उन्होंने कहा कि एम्स प्रशसन से मिलकर आरोपियों के खिलाफ स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज करने और चिकित्सकों की सुरक्षा की मांगों को लेकर सभी चिकित्सक हड़ताल पर चले गए हैं।

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर प्रशासन और सरकार उनकी मांगें सोमवार तक नहीं मानते हैं तो सोमवार की रात से चिकित्सक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

चिकित्सकों के हड़ताल पर चले जाने के काराण मरीजों का काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस मामले में अब तक कन्हैया कुमार का कोई बयान सामने नहीं आया है।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular