Connect with us

मनोरंजन

कृति सैनन को मिलेगा दादा साहब फाल्के एक्सिलेंस अवॉर्ड

Published

on

kriti-sanon-

बॅालीवुड एक्ट्रेस कृति सैनन के बड़े ही कम समय में बड़ी कामयाबी मिलने वाली है। कृति को फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ के लिए ‘दादा साहब फाल्के एक्सिलेंस अवॉर्ड’ से नवाजा जाएगा।

बता दें कि कुछ दिन पहले रणवीर सिंह को भी इस अवॉर्ड के लिए चुना गया था। फिल्म ‘पद्मावत’ में अलाउद्दीन खिलजी की यादगार भूमिका निभाने के लिए रणवीर को दादा साहब फाल्के एक्सिलेंस अवॉर्ड 2018 के लिए श्रेष्ठ अभिनेता के लिए चुना गया है। दादा साहब फाल्के एक्सिलेंस पुरस्कार समिति ने इसका ऐलान किया है।

इन दोनों कलाकार के अलावा विनोद खन्ना को भी दादा साहेब फाल्के मरणोपरांत के लिए चुना गया है। बता दें कि पिछले साल विनोद खन्ना ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ में कृति ने बिट्टी का रोल प्ले किया था।

बिट्टी खुले विचार की युवा लड़की है और छोटे से शहर में रहती है। फिल्म में कृति के किरदार को दर्शकों ने काफी पसंद किया था। फिल्म का निर्देशन अश्वनी अय्यर तिवारी ने किया था। फिल्म में कृति के अलावा आयुष्मान खुराना और राजकुमार राव भी अन्य भूमिका में थे।

Wefornews Bureau

मनोरंजन

सिख समुदाय को चोट पहुंचाना मकसद नहीं था : अनुराग कश्यप

Published

on

Anurag Kashyap-
File Photo

फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप की फिल्म ‘मनमर्जियां’ ने कुछ सिखों को नाराज कर दिया है।

उनका कहना है कि अभिषेक बच्चन, तापसी पन्नू और विकी कौशल अभिनीत यह फिल्म तीन लोगों की कहानी है न कि सिख धर्म की कहनी है। उन्होंने हालांकि माफी मांगते हुए कहा कि उनका इरादा समुदाय को ठेस पहुंचाने का नहीं था।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, अंबाला में सिख समुदाय के लोगों ने मनमर्जियां के एक दृश्य को लेकर नाखुशी व्यक्त की थी, जिसमें सिख जोड़े की भूमिका निभाने वाले अभिषेक और तापसी को धूम्रपान करते हुए दिखाया गया है। कश्यप ने इसके जवाब में ट्वीट कर कहा, मनमर्जियां’ तीन लोगों की कहानी है न कि उनके धर्म की।

अगर कोई सचमुच आहत हुआ है तो उनसे मैं माफी मांगता हूं, लेकिन मैं यह गुजारिश करना चाहूंगा इसे गैरजरूरी राजनीति न बनाएं, क्योंकि यह ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा, “मैं हमेशा चीजों को इस तरह से रखता हूं कि वे बिना किसी एजेंडे के हों।

प्रौद्योगिकी के कारण हम कोई सीन नहीं काट सकते और इससे कहानी पर भी असर पड़ेगा। इसलिए मैं इसे निश्चित रूप से नहीं काटूंगा। जिन्हें वास्तव में चोट पहुंची है, उनसे मैं वास्तव में माफी मांगता हूं, क्योंकि ऐसा मेरा इरादा नहीं था।”

–आईएएनएस

Continue Reading

मनोरंजन

मेरे पिता ने मुझे प्रेरित किया : शाहिद कपूर

Published

on

File Photo

अभिनेता शाहिद कपूर का कहना है कि वह अपने पिता और दिग्गज अभिनेता पंकज कपूर से प्रेरणा लेते हैं।

शाहिद का यह भी मानना है कि वह अपने पिता के स्तर पर कभी नहीं पहुंच सकते। अभिनेता ने कहा, मेरे पिता मुझे बेहद प्रेरित करते हैं। ‘मौसम’ फिल्म में जब मैं उनके साथ काम कर रहा था, तो मुझे मेरे जीवन की महत्वपूर्ण सीख मिली। सबसे खास यह थी कि निर्देशक की सोच का पालन करना।”

शाहिद ने कहा, मेरे पिता अधिक बातें नहीं कहते और मुझे ऐसा महसूस होता है कि मुझे प्रेरित करने के लिए एक स्तर नीचे आते हैं क्योंकि वह एक बेतरीन इंसान हैं। मैं उनके स्तर तक कभी नहीं पहुंच सकता।

टेलीविजन चैनल ‘जी टीवी’ के शो ‘इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज’ में अपनी आगामी फिल्म ‘बत्ती गुल मीटर चालू’ का प्रचार करने आए शाहिद ने ये बातें साझा की। यह फिल्म 21 सितम्बर को रिलीज होगी। श्री नारायण सिंह द्वारा निर्देशित यह फिल्म बिजली प्रणाली में भ्रष्टाचार की समस्याओं से जूझ रहे लोगों की कहानी को दर्शाती है।

–आईएएनएस

Continue Reading

मनोरंजन

छोटे शहरों के प्रति दर्शकों की सोच बदल रहा सिनेमा : राधिका मदान

Published

on

radhika-madan

राजस्थान के एक छोटे से कस्बे में ‘पटाखा’ की शूटिंग कर रहीं फिल्म की प्रमुख अभिनेत्रियों में से एक राधिका मदान का कहना है कि ऐसी भीतरी इलाकों की कहानियां छोटे शहरों के बारे में शहरी दर्शकों की सोच बदल रही हैं। राधिका टीवी की लोकप्रिय अभिनेत्री हैं।

जयपुर के निकट रोंसी गांव में फिल्म की शूटिंग का अपना अनुभव बताते हुए यहां राधिका ने आईएएनएस को बताया, “छोटे शहर की लड़कियों के धारणा है कि वे अपनी जिंदगी बहुत अभावों में जीती हैं और हमेशा घूंघट में रहती हैं। लेकिन यह सच नहीं है। फिल्म के दौरान, मैंने महसूस किया कि छोटे शहर की लड़कियों का जीवन महान है जो कुछ हद तक पुरुषों पर हावी है।”

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि हम लोग सिनेमा के माध्यम से पूर्वाग्रह को तोड़ रहे हैं।” ‘पटाखा’ दो बहनों की कहानी है। यह चरण सिंह पथिक द्वारा लिखी गई लघुकथा ‘दो बहनें’ पर आधारित है। राधिका ने इसमें बड़ी बहन चंपा कुमारी का किरदार निभाया है।

राधिका कहती हैं कि रोंसी गांव की लड़कियों ने उन्हें बीड़ी जलाना और लोकगीतों पर डांस करना सिखाया।

इससे पहले टीवी श्रंखला ‘मेरी आशिकी तुम से ही’ में काम कर चुकीं राधिका (23) ने कहा, “लड़कियां अपने समूह के साथ मस्ती करतीं थीं और उनके परिजनों का भी खयाल रखती थीं।

वे यौन विषयों पर इतनी खुली हुई थीं कि जब वे अपनी पारिवारिक सहेलियों से इस पर बात करती थीं तो वे खुल कर बात करती थीं। इसलिए अगर शहरी महिला के तौर पर कोई सोचे कि वे उदार मानसिकता की नहीं थीं और उनका कोई जीवन नहीं था, तो यह गलत है।”

विशाल भारद्वाज द्वारा निर्देशित ‘पटाखा’ 28 सितंबर को रिलीज हो रही है। सान्या मल्होत्रा भी इसमें प्रमुख भूमिका में हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular