Connect with us

व्यापार

देश का विदेशी पूंजी भंडार 2.15 अरब डॉलर घटा

Published

on

dollar
फाइल फोटो

देश का विदेशी पूंजी भंडार 16 फरवरी को समाप्त सप्ताह में 2.15 अरब डॉलर घटकर 419.76 अरब डॉलर हो गया, जो 27,000.5 अरब रुपये के बराबर है।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से जारी साप्ताहिक आंकड़े के अनुसार, विदेशी पूंजी भंडार का सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा भंडार आलोच्य सप्ताह में 2.12 अरब डॉलर घटकर 394.74 अरब डॉलर हो गया, जो 25,398.7 अरब रुपये के बराबर है।

बैंक के मुताबिक, विदेशी मुद्रा भंडार को डॉलर में व्यक्त किया जाता है और इस पर भंडार में मौजूद पाउंड, स्टर्लिग, येन जैसी अंतर्राष्ट्रीय मुद्राओं के मूल्यों में होने वाले उतार-चढ़ाव का सीधा असर पड़ता है।

आलोच्य अवधि में देश का स्वर्ण भंडार 21.51 अरब डॉलर रहा, जो 1,370.2 अरब रुपये के बराबर है।

इस दौरान देश के विशेष निकासी अधिकार (एसडीआर) का मूल्य 1.39 करोड़ डॉलर घटकर 1.53 अरब डॉलर हो गया, जो 98.7 अरब रुपये के बराबर है।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में देश के मौजूदा भंडार का मूल्य 1.87 करोड़ डॉलर घटकर 2.06 अरब डॉलर दर्ज किया गया, जो 132.9 अरब रुपये के बराबर है।

–आईएएनएस

व्यापार

नवंबर तक प्रत्यक्ष कर संग्रह 6.75 लाख करोड़ रुपये

Published

on

बीते वर्ष की तुलना में 15.7 प्रतिशत की वृद्धि के साथ, इस वर्ष नवंबर तक प्रत्यक्ष कर संग्रह 6.75 लाख करोड़ रुपये रहा। सोमवार को जारी आंकड़े से यह जानकारी मिली है। बीते वर्ष की तुलना में आयकर रिटर्न में 50 प्रतिशत वृद्धि के बावजूद यह प्रत्यक्ष कर संग्रह में मात्र 15.7 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई है।

सरकार ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के दौरान संग्रह समेत आय घोषणा योजना के तहत 10,833 करोड़ रुपये की संग्रहित राशि मौजूदा वर्ष के संग्रह का भाग नहीं है।

वित्त मंत्रालय ने एक आधिकारिक बयान में कहा, “कुल कर संग्रह में से, 1.23 लाख करोड़ रुपये के रिफंड को अप्रैल-नवंबर के दौरान जारी किया गया, जोकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान जारी किए गए रिफंड से 20.8 प्रतिशत ज्यादा है।”

बयान के अनुसार, “अप्रैल-नवंबर के दौरान कुल संग्रह (रिफंड का समायोजन करने के बाद) में 5.51 लाख करोड़ रुपये (14.7 प्रतिशत) की वृद्धि दर्ज की गई है। कुल प्रत्यक्ष कर संग्रह वित्त वर्ष 2019 के प्रत्यक्ष कर के कुल अनुमान(11.5 लाख करोड़) का 48 प्रतिशत है।” बयान के अनुसार, कॉरपोरेट आयकर में 17.7 प्रतिशत और निजी आयकर संग्रह में 16 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

पिछले सप्ताह, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के अध्यक्ष सुशील चंद्रा ने कहा था कि निर्धारण वर्ष 2018-19 के लिए अबतक छह करोड़ से ज्यादा आयकर रिटर्न भरे जा चुके हैं, जिसमें पिछले वर्ष के मुकाबले 50 प्रतिश की वृद्धि हुई है। उन्होंने यह भी उम्मीद जताई थी कि सरकार 11.5 लाख करोड़ रुपये के प्रत्यक्ष कर संग्रह के लक्ष्य को प्राप्त कर लेगी।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

शेयर बाजारों में हाहाकार, सेंसेक्स 586 अंक गिरा

Published

on

sensex
File Photo

मंगलवार को पांच राज्यों के चुनावी नतीजे आने से पूर्व सप्ताह के पहले कारोबारी दिन यानि सोमवार को देश के शेयर बाजारों में उथल-पुथल मची हुई है।

सोमवार को प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.45 बजे 586.87 अंकों की भारी गिरावट के साथ 35,086.38 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 174.65 अंकों की गिरावट के साथ 10,519.05 पर कारोबार करते देखे गए।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 468.59 अंकों की जबर्दस्त गिरावट के साथ 35204.66 पर जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 185 अंकों की कमजोरी के साथ 10,508.70 पर खुला।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

ओपेक तेल उत्पादन में कटौती पर सहमति बनी

Published

on

OPEC
File Photo

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) और उनके सहयोगी तेल उत्पादक देश छह महीने की अवधि के लिए 12 लाख बैरल प्रतिदिन की दर से कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती पर सहमत हो गए हैं।

यह अवधि एक जनवरी से लागू होगी। ईरान के तेल मंत्री बिजान जांगनेह ने 24 तेल उत्पादक देशों की बैठक खत्म होने के बाद मीडिया को इसकी जानकारी दी।झांगनेह ने कहा कि वह इस बात से संतुष्ट थे कि ईरान तेल उत्पादन में कटौती की प्रतिबद्धता से मुक्त बना रहेगा।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular