कोरोना वायरस की चपेट में आए 1716 चीनी चिकित्सा कर्मी, 6 की मौत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

कोरोना वायरस की चपेट में आए 1716 चीनी चिकित्सा कर्मी, 6 की मौत

Published

on

Coronavirus
(फाइल फोटो)

बीजिंग। चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि उनके 1,716 चिकित्सा कर्मचारी नोवेल कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं। यह संख्या देश में वायरस की पुष्टि हुए कुल मामलों की 3.8 फीसदी है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के हवाले से बताया कि इनमें से छह लोगों की मौत वायरस से हो चुकी है, जो देश में हुई कुल मौतों की 0.4 फीसदी है। चीन में अबतक वायरस से कुल 1,380 लोग अपनी जान गवां चुके हैं।

दक्षिण-पूर्वी मॉर्निग पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, मीडिया से बात करते हुए कमीशन के डिप्टी डायरेक्टर जेंग यिक्सिन ने कहा कि हुबेई प्रांत से 1,502 चिकित्सा कर्मी प्रभावित हैं, जबकि 1,102 कर्मी प्रांत की राजधानी वुहान से हैं, जो इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वुहान कोरोना वायरस प्रकोप का केंद्र है, जहां से सबसे अधिक मामले देखने को मिले हैं।

–आईएएनएस

अंतरराष्ट्रीय

ईरान में 1 दिन में कोरोना से 200 की मौत

Published

on

Coronavirus

ईरान में कोरोना से 200 लोगों की मौत हो गई। महामारी से एक दिन में जान गंवाने वालों की यह अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में बढ़ रहे संक्रमण के मामलों के लिए वह लोग दोषी हैं, जो दिशानिर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं।

वहीं दुनिया में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बुधवार को 1.21 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई। जबकि संक्रमण से अब तक 5.50 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। महामारी की चपेट में आए करीब 70 लाख लोग ठीक भी हुए हैं।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

अमेरिका के मिसिसिपी के 8 सांसद कोरोना संक्रमित

Published

on

Coronavirus

अमेरिका के मिसिसिपी के कम से कम आठ सांसदों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इनमें से लेफ्टिनेंट गवर्नर डेल्बर्ट होजमैन और हाउस स्पीकर फिलिप गुन पहले ही कोरोना वायरस से संक्रमित होने की घोषणा कर चुके हैं।

राज्य के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. थोमस डोब्स ने कहा कि मंगलवार को कैपिटोल के कर्मचारियों और सांसदों के बीच कोरोना वायरस के कम से कम 11 संदिग्ध मामले थे। डोब्स ने कहा कि घातक वायरस राज्य में पार्टी और अन्य संगोष्ठियों में फैल रहा है।

WeForNews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

उइगर समुदाय की मांग, शी जिनपिंग को नरसंहार के लिए जिम्मेदार ठहराया जाए

Published

on

xi jinping

चीन में उइगर तुर्क और अन्य मुस्लिम समुदायों ने संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों से चीन पर दबाव डालने और उइगर लोगों के नरसंहार के कृत्यों की जांच कराने का आग्रह किया है।

पूर्वी तुर्किस्तान में नरसंहार शीर्षक वाली रिपोर्ट में चीन को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा गया है कि कोविड-19 महामारी के बावजूद चीन सरकार अपने राजनीतिक और आर्थिक हितों के लिए उइगर तुर्क और अन्य मुस्लिम समुदायों के उत्पीड़न को जारी रखे हुए है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) व्यवस्थित रूप से उइगरों पर अत्याचार और दबाव बनाकर पहले उन्हें आत्मसात होने के लिए मजबूर कर रही है और फिर उन्हें नष्ट कर दे रही है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि बीजिंग प्रशासन ने नरसंहार की रोकथाम समझौते का उल्लंघन किया है जिस पर उसने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के समक्ष हस्ताक्षर किया था।

रिपोर्ट में कहा गया है, पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, शिनजियांग उइगर स्वायत्त क्षेत्र के सचिव चेन क्वांगू और अन्य अधिकारी इन अपराधों के लिए जिम्मेदार और जवाबदेह हैं।

रिपोर्ट को कैंपेन फॉर उइगर्स द्वारा तैयार किया गया है, जो पूर्वी तुस्तान (जिसे चीन में झिंजियांग उइगर स्वायत्त क्षेत्र कहा जाता है) में उइगर और अन्य तुर्क लोगों के मानवाधिकारों और लोकतांत्रिक स्वतंत्रता को बढ़ावा देने के लिए काम कर रहा है ।

कैंपेन फॉर उइगर्स ने मांग की है कि क्षेत्र में चीन की नीतियों की निगरानी करने के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय आयोग बनाना आवश्यक है जो इस क्षेत्र में चीन के कार्यों का प्रभावी ढंग से निरीक्षण करने के लिए आवश्यक उपाय करे।

म्यांमार से पलायन के लिए मजबूर होने वाले अराकानी मुसलमानों के नरसंहार के मामले को गाम्बिया ने अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में उठाया है। यह मामला गाम्बिया (एक मुस्लिम बहुसंख्यक राष्ट्र) ने इस्लामिक सहयोग संगठन की ओर से दायर किया है।

इस संस्था ने रिपोर्ट में कहा है कि इस्लामिक सहयोग संगठन को पूर्वी तुस्तान में हुए नरसंहार के मामले में कार्रवाई करनी चाहिए। रिपोर्ट में मांग की गई है कि चीन को सभी मानवाधिकारों के उल्लंघन के लिए, खासकर कन्सन्ट्रेशन शिविरों में किए गए उल्लंघनों के लिए जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए।

रिपोर्ट में कहा गया है कि दुर्भाग्य से, जैसा हम देख रहे हैं, उइगर लोगों का हाल अधिकृत फिलिस्तीन के लोगों जैसा है। यह एक अंतर्राष्ट्रीय मामला है। इससे पहले कि बहुत देर हो जाए, सभी देशों को, विशेष रूप से इस्लामी दुनिया को कदम उठाना चाहिए।

रिपोर्ट में कहा गया है, यह महत्वपूर्ण है कि संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठन चीन पर दबाव बनाएं और उइगरों के खिलाफ नरसंहार के कृत्यों की जांच के लिए आवश्यक कदम उठाएं। इन अपराधों को एक अंतर्राष्ट्रीय आयोग द्वारा आगे लाया जाना चाहिए और इन्हें अंजाम देने वाले अपराधियों को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के कठघरे में लाया जाना चाहिए।

पूर्वी तुर्किस्तान को चीन में आधिकारिक तौर पर झिंजियांग उइगर स्वायत्त क्षेत्र कहा जाता है। यह हाल के वर्षों में मानव अधिकारों के भीषण उल्लंघन की एक जगह बन गया है।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी यहां आर्थिक, राजनीतिक और भूराजनीतिक हितों के कारण मुस्लिम समुदायों, विशेषकर उइगर तुर्कों पर अत्याचार को बढ़ा रही है।

विशेष रूप से 2014 से यह सभी कुछ शुरू हुआ है। तभी से उइगरों की जातीय पहचान और आबादी को मिटाने के उद्देश्य से व्यवस्थित रूप से इन्हें बहुसंख्यक चीनियों में आत्मसात करने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हाल के वर्षों में पूर्वी तुर्किस्तान में जो घटनाएं हुई हैं, वे 1948 में हस्ताक्षर किए गए कन्वेंशन ऑन द प्रिवेंशन एंड पनिशमेंट ऑफ द क्राइम ऑफ ऑफ जेनोसाइड में सूचीबद्ध नरसंहार की परिभाषा से पूरी तरह मिलती जुलती हैं।

चीन सरकार ने उइगर मुसलमानों के दैनिक जीवन को नियंत्रित करने के लिए ग्यारह लाख हान चीनी कैडर पूर्वी तुस्तान भेजे हैं। उनका काम उइगर घरों में रहना है। यदि आवश्यक हो तो उनके साथ एक ही बिस्तर साझा करना और उनके दैनिक जीवन के सभी पहलुओं को नियंत्रित करना है।

चीन सरकार द्वारा शुरू किए गए डबल रिलेटिव प्रोग्राम में हान चीनी कैडर हर दो महीने में कम से कम एक बार इस इलाके की यात्रा करते हैं और लगभग एक सप्ताह तक यहां रहते हैं। प्रवास के दौरान वे लगातार चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की विचारधारा का प्रचार प्रसार करते हैं व लोगों की जासूसी भी करते हैं।

यह कैडर मुसलमानों को सूअर का मांस और शराब पीने तक पर बाध्य करते हैं जो इस्लाम में हराम है। यदि कोई उइगर हलाल मांस का अनुरोध करता है और यदि शराब नहीं पीता है तो उसे संदिग्ध घोषित कर शिविरों में भेज दिया जाता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस डबल रिलेटिव प्रोग्राम का सबसे खतरनाक पहलू यह है कि महिलाएं, जिनके पति शिविरों में हैं, उन्हें चीनी कैडरों के साथ एक ही बिस्तर साझा करना होता है।

कैंपेन फार उइगर के कार्यकारी निदेशक रूशन अब्बास का कहना है कि यह स्थिति सरकार प्रायोजित सामूहिक दुष्कर्म की वजह बनी है।

युवा उइगर लड़कियों को हान चीनी पुरुषों से शादी करने के लिए मजबूर करना पूर्वी तुस्तान में जनसांख्यिकीय को बदलने की दिशा में एक कदम है। यह चीनी उइगर घरों में स्थायी मेहमान के रूप में रहने आते हैं और वहां की युवा लड़कियों से शादी करते हैं।

माता-पिता शादी पर आपत्ति नहीं कर पाते क्योंकि अगर वे ऐसा करते हैं, तो उन्हें शिविरों में भेज दिया जाता है। बीजिंग प्रशासन हान चीनियों को इन विवाहों के लिए धन, रोजगार और मुफ्त घर प्रदान करता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस जबरन विवाह के उम्मीदवारों की भर्ती के लिए कम्युनिस्ट पार्टी फिल्मों, विज्ञापनों और अन्य प्रसारण माध्यमों से सफलतापूर्वक प्रचार प्रसार करती है।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा किया गया एक अन्य अपराध पूर्वी तुस्तान के लोगों का जबरन श्रम सुविधाओं में काम करने के लिए चीन में स्थानांतरण है। जिस तरह नाजियों ने यहूदियों को काम करने के लिए मजबूर किया, उसी तरह उइगरों को भी कैदियों जैसी वर्दी में कारखानों में काम करने के लिए भेजा जाता है।

ऑस्ट्रेलिया के स्ट्रैटेजिक पॉलिसी इंस्टीट्यूट द्वारा तैयार की गई उइगर्स फॉर सेल रिपोर्ट में कई खास जानकारियां दी गई हैं। रिपोर्ट में बताया गया कि 80,000 से अधिक उइगर शिविरों से ले जाए गए और नाइकी, जीएपी और एप्पल जैसी विश्व प्रसिद्ध पश्चिमी कंपनियों के लिए माल का उत्पादन करने के लिए कारखानों में भेजे गए। अपुष्ट आंकड़ों में इन कंपनियों की संख्या को 500 से अधिक बताया गया है।

आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
Coronavirus
राष्ट्रीय7 mins ago

इंदौर में कोरोना मरीजों की संख्या 5,000 के करीब

Coronavirus
अंतरराष्ट्रीय12 mins ago

ईरान में 1 दिन में कोरोना से 200 की मौत

Coronavirus
Uncategorized13 mins ago

पाकिस्तान में कोरोना के 2,980 नए मामले

राष्ट्रीय20 mins ago

एलएसी पर पीछे हटी सेनाएं

Coronavirus
राष्ट्रीय35 mins ago

कर्नाटक के निर्दलीय विधायक और उनकी पत्नी कोरोना संक्रमित

राष्ट्रीय10 hours ago

राजस्थान पुलिस विकास दुबे के राज्य में प्रवेश को लेकर अलर्ट

kajol
मनोरंजन10 hours ago

काजोल ने बताया कि आखिर वह कभी डिप्लोमेटिक क्यों नहीं हो सकतीं

Rana Daggubati
मनोरंजन10 hours ago

अभिनेता राणा दग्गुबाती के इंस्टाग्राम पर 40 लाख फॉलोअर

air india
व्यापार11 hours ago

टाटा समूह एयर इंडिया के लिए एकमात्र दावेदार

sad-modi-min
राजनीति11 hours ago

आरएसएस समर्थित बीएमएस ‘सरकार जगाओ सप्ताह’ आयोजित करेगा

Social media. (File Photo: IANS)
टेक4 weeks ago

सोशल मीडिया पर अश्लील तस्वीर डालने पर नायब तहसीलदार निलंबित

Stock Market Down
ब्लॉग4 weeks ago

शेयर बाजार में पूरे सप्ताह रहा उतार-चढ़ाव, 1.5 फीसदी टूटे सेंसेक्स, निफ्टी

अंतरराष्ट्रीय4 weeks ago

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा कोरोना पॉजिटिव

Coronavirus
राष्ट्रीय4 weeks ago

चंडीगढ़ में कोरोना के 5 नए मामले

गरीब-कल्याण-रोजगार-योजना
ब्लॉग2 weeks ago

‘ग़रीब कल्याण रोज़गार’ के तमाशे के पीछे अभी तो बस बिहार चुनाव ही है

coronavirus
अंतरराष्ट्रीय3 weeks ago

बांग्लादेश में बढ़ रहा कोरोना का प्रकोप, ‘रेड जोन’ में तैनात की जाएगी सेना

टेक4 weeks ago

भारत में गुगल सर्च, असिस्टेंट एंड मैप्स पर कोरोना परीक्षण केंद्र खोजें

-Coronavirus-min
राष्ट्रीय4 weeks ago

उत्तराखंड में कोरोना 77 नए मामले

Coronavirus Robot
अंतरराष्ट्रीय4 weeks ago

चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 15 नए मामले

लाइफस्टाइल4 weeks ago

जेजीयू क्यूएस रैंकिंग 2021 में भारत का शीर्ष निजी विश्वविद्यालय बना

Kapil Sibal
राजनीति4 weeks ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय2 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर3 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य3 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति3 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

मनोरंजन3 months ago

रफ्तार का नया गाना ‘मिस्टर नैर’ लॅान्च

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
अंतरराष्ट्रीय3 months ago

चीन ने महामारी के फैलाव को कारगर रूप से नियंत्रित किया : डब्ल्यूएचओ

मनोरंजन3 months ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन4 months ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन4 months ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Most Popular