Connect with us

राष्ट्रीय

चाइल्ड पोर्नोग्राफी कंटेंट मोबाइल में मिला तो होगी 5 साल की जेल

Published

on

Child pornography
प्रतीकात्मक तस्वीर

देशभर में चाइल्ड पोर्नोग्राफी को लेकर प्रशासन कड़े कदम उठाता रहा है अब ऐसा ही एक सख्त कदम और आगे बढ़ाया गया है। जी हां! अब अगर आपके मोबाइल फोन, लैपटॉप या कंप्यूटर में चाइल्ड पोर्नोग्राफी से जुड़े कंटेंट मिलते हैं तो आपको 5 साल तक की सजा भुगतनी पड़ सकती है। वैसे तो सन् 2000 से आईटी एक्ट की धारा 67 बी में ये प्रावधान है लेकिन गृह मंत्रालय द्वारा लॉन्च किए गए पोर्टल से ये अधिक प्रभावी हो गई है।

जानकारी के मुताबिक, एक चरण में इस पोर्टल को cybercrime.gov.in नाम से शुरू किया गया है। इस पोर्टल पर चाइल्ड पोर्नोग्राफी, रेप या गैंगरेप से जुड़े कंटेंट सोशल मीडिया पर शेयर करने वालों के खिलाफ शिकायतें की जा सकेंगी। इस पोर्टल का एकमात्र उद्देश्य इस तरह के वीडियो और तस्वीरों पर रोक लगाना है। चूंकि दिन-प्रतिदिन नाबालिगों के साथ बढ़ती वारदातों के लिए इसे जिम्मेदार ठहराया जा रहा है और माना जा रहा है कि इन्हीं तस्वीरों और वीडियो को देखकर बच्चों से ज्यादती के अपराध बढ़ रहे हैं।

गौरतलब है 30 सितंबर को लॉन्च हुए इस पोर्टल में शिकायत की सिर्फ दो कैटेगरी हैं। अब तक कुल 34 शिकायतें आई है लेकिन एक भी इस कैटेगरी में फिट नहीं बैठ रही है। दरअसल मध्यप्रदेश सायबर सेल को गृह मंत्रालय ने सायबर क्राइम प्रिवेंशन फॉर वुमेन एंड चाइल्ड (सीसीपीडब्ल्यूसी) के तहत नोडल एजेंसी बनाया है। बच्चों और महिलाओं के खिलाफ हो रहे सायबर अपराधों को रोकने के इरादे से इसके तहत सायबर सेल को ट्रेनिंग प्रोग्राम करने है। बताया जा रहा है इसके लिए पुलिस और एडीपीओ को ट्रेनिंग भी दी जा चुकी है। दूसरे चरण में cybercrime.gov.in नाम से पोर्टल लांच किया गया है।

बता दें पोर्टल ओपन करते ही पहचान बताकर या छिपाकर शिकायत करने के दो ऑपशन आएंगे। पहचान छिपाकर शिकायत करने पर आगे का स्टेट्स पता नहीं चलेगा। चाइल्ड पोर्नोग्राफी, रेप या गैंगरेप की कैटेगरी भरने के बाद नाम-पता बताना होगा, जो गुप्त रखा जाएगा। उसके बाद जिस व्यक्ति, मोबाइल नंबर या यूनिट रिसोर्स लोकेटर (यूआरएल) के खिलाफ शिकायत करनी है, उसकी जानकारी भरनी होगी। आप जिस राज्य से हैं, वहां की नोडल एजेंसी को आपकी शिकायत भेज दी जाएगी। शिकायत को वेरिफाई करने के बाद संबंधित एजेंसी आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी।

उल्लेखनीय है सन् 2000 में बने आईटी एक्ट की धारा 67बी के तहत चाइल्ड पोर्नोग्राफी से जुड़े कंटेंट को सोशल मीडिया पर अपलोड करना, शेयर करना, इसे रिकॉर्ड करना या वेबसाइट पर ब्राउज करना भी अपराध की श्रेणी के अंतर्गत आता है। एआईजी गोयनका का कहना है कि पहली बार में इस धारा के तहत पांच साल तक की सजा का प्रावधान है। दोबारा वही गलती दोहराने पर सजा बढ़कर सात साल तक हो सकती है।

जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश सायबर सेल की सोशल मीडिया पेट्रोलिंग टीम ने सीसीपीडब्ल्यूसी के तहत 227 वेबसाइट चिह्नित की हैं। इन वेबसाइट पर चाइल्ड पोर्नोग्राफी और अन्य अश्लील वीडियो या तस्वीरें अपलोड हैं। टीम ने अलग-अलग की-वर्ड का इस्तेमाल कर सर्च इंजन पर इन वेबसाइट्स को ढूंढा है। पुलिस ने इन चिन्हित वेबसाइट को ब्लॉक करने का प्रस्ताव गृह मंत्रालय को भेजा है।

WeForNews

राष्ट्रीय

AIR में #MeToo के कई मामले, मेनका ने की जांच की मांग

Published

on

Maneka Gandhi
केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी (फाइल फोटो)

ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) में यौन शोषण के कई सामने आये हैं। चौंकाने वाली बात ये है कि मामले देशभर में फैली शाखाओं से हैं। मामले की गम्‍भीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने इस बावत सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को चिट्ठी लिखकर जांच की मांग की है।

ऑल इंडिया रेडियो के देशभर में कई स्टेशनों में काम करने वाली महिला कर्मचारियों ने यौन दुर्व्यवहार की शिकायत की हैं। पिछले हफ्ते ऑल इंडिया रेडियो कैजुअल अनाउंसर एंड कम्पेरेस यूनियन (एआईसीएसीयू) ने मेनका गांधी से शिकायत की थी।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, ये मामले अधिकतर कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वाली महिला कर्मचारियों के साथ ही हुए हैं। इनमें से कुछ महिलाएं यहां दो दशकों से काम कर रही थीं लेकिन शिकायत करने के बाद से अब उन्हें काम नहीं दिया जा रहा है। सभी आरोपी ऑल इंडिया के परमानेंट कर्मचारी हैं। आरोप लगने के बाद कुछ को आरोपमुक्त कर दिया गया तो कुछ को ट्रांसफर कर दिया गया है।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

राजस्थान: नवोदय विद्यालय में छात्रों को फूड पॉइजनिंग, 100 से अधिक बीमार

Published

on

sirohi

राजस्थान के सिरोही के जवाहर नवोदय विद्यालय में फूड पॉइजनिंग से 100 से अधिक छात्र बीमार हो गए हैं। इन छात्रों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बता दें कि नवोदय में मंगलवार व बुधवार को स्कूल प्रशासन व जवाहर नवोदय प्रगति अलुम्नी एसोसिएशन की ओर से कार्यक्रम आयोजित किया गया था। पहले दिन कार्यक्रम की शुरूआत रंगारंग कार्यक्रम से हुई। दूसरे दिन खेलकूद प्रतियोगिता समेत कई कार्यक्रम हुए।

इस कार्यक्रम में करीब 1000-1200 लोगों के लिए भोजन बनाया गया था। बुधवार दोपहर खाना खाने के बाद शाम होते-होते छात्रों की तबियत खराब होने लगी। इसके बाद छात्रों को कालंद्री अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल में इतने बच्चों के पहुंचने से यहां बने वार्ड भी छोटे पड़ गए। जिसके चलते अस्पताल प्रशासन ने बच्चों को फर्श पर लिटाकर इलाज किया।

वहीं इस मामले में कलेक्टर अनुपमा जोरवाल ने बताया कि कालंद्री अस्पताल में 90 छात्र और सिरोही में 23 छात्रों को भर्ती किया गया है। डॉ. वीरेंद्र महात्मा ने बताया कि जिला अस्पताल में भर्ती छात्रों की स्थिति नियंत्रण में हैं। बीमार छात्रों को उल्टी-दस्त व पेट दर्द की शिकायत हुई है।

WeForNews 

Continue Reading

राष्ट्रीय

राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने झारखंड के स्थापना दिवस की दी बधाई

Published

on

modi -kovind-

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड के लोगों को राज्य के स्थापना दिवस की बधाई दी।

राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा, “झारखंड के स्थापना दिवस पर राज्य के लोगों को बधाई। राज्य विशाल प्राकृतिक संसाधनों और समृद्ध संस्कृति से भरपूर है जिस पर हम सभी को गर्व है। आने वाले दिनों में झारखंड और भी मजबूत हो।”

प्रधानमंत्री ने राज्य को बधाई देते हुए राज्य के विकास की कामना की। उन्होंने कहा, “झारखंड के स्थापना दिवस पर राज्य के लोगों को बधाई। भगवान बिरसा मुंडा के आशीर्वाद से यह राज्य आने वाले वषों में विकास और गौरव की नई ऊंचाईयां छुए।”

बता दें कि झारखंड अपना 18वां स्थापना दिवस मना रहा है।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular