Connect with us

राजनीति

कांग्रेस स्टीयरिंग कमेटी बैठक: आगामी उपचुनावों और विधानसभा चुनाव की रणनीति पर हुई चर्चा

Published

on

rahul gandhi

देश में होने वाले तीन लोकसभा और विधानसभा सीटों के साथ ही देश के अन्य राज्यों में होने वाले चुनावों में सत्तासीन भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस ने खाका खीच लिया है। शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में हुर्इ स्टीयरिंग कमेटी की बैठक में आगामी उपचुनावों और राज्यों के विधानसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा की गई।

इसमें पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की तरफ से यह तय किया है कि इन चुनावों के दौरान पार्टी युवाओं की बेरोजगारी, किसानों की समस्याओं और देश में बढ़ती बेकारी जैसे मुद्दों को जनता के सामने पेश किया जाएगा।

इसके साथ ही सूत्रों तरफ से यह भी बताया जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को पार्टी के पूर्ण अधिवेशन के कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के मसले पर भी स्टीयरिंग कमेटी की पहली बैठक में चर्चा की। कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) को भंग करने के बाद इस स्टीयरिंग कमेटी का गठन किया गया था। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी, वरिष्ठ नेता एके एंटनी, अहमद पटेल, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे सहित कई अन्य नेताओं ने इस बैठक में मौजूद रहे।

राहुल ने सीडब्ल्यूसी को भंग कर 34 सदस्यीय एक स्टीयरिंग कमेटी बनायी थी, ताकि नई सीडब्ल्यूसी के गठन तक वह इसकी जगह काम कर सके। कांग्रेस का पूर्ण अधिवेशन पांच मार्च से पहले आयोजित किये जाने की संभावना है। पांच मार्च को संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण की शुरुआत भी हो रही है। पूर्ण अधिवेशन में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के सभी प्रतिनिधि शामिल होंगे।

wefornews 

राजनीति

चुनाव नतीजों पर थरूर का मोदी पर निशाना, कहा- ‘जुमलेबाजी से नहीं चलता काम’

Published

on

shashi tharoor
शशि थरूर (फाइल फोटो)

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के रुझानों में बीजेपी की खराब हुई हालत पर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी समझ लें कि जुमलेबाजी से काम नहीं चलता।

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने तंज कसते हुए इन चुनावी नतीजों को बीजेपी के लिए बुरी खबर बताया है। थरूर ने कहा कि जनता ने अपना फैसला सुना दिया, बीजेपी और पीएम मोदी को समझना होगा कि सिर्फ जुमलेबाजी से काम नहीं चलता है, भरोसा पाने के लिए काम करना पड़ता है। इसके साथ ही थरूर ने कहा कि जनता बीजेपी के बड़बोलेपन और झूठे वादों से त्रस्त हो चुकी है और उसने अपना फैसला सुना दिया है।

WeForNews

Continue Reading

चुनाव

राजस्थान, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बढ़त और मध्य प्रदेश में कड़ी टक्कर

राज्यों – मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना, मिज़ोरम में हुए विधानसभा चुनाव 2018 के लिए हुए मतदान की गिनती शुरू हो चुकी है. इन राज्यों के परिणामों को लोकसभा चुनाव 2019 का सेमी-फाइनल भी कहा जा रहा है. छत्तीसगढ़ में दो चरणों में 12 तथा 20 नवंबर को मतदान करवाया गया था, जबकि शेष चारों राज्यों में एक-एक चरण में 28 नवंबर (मध्य प्रदेश, मिज़ोरम) और 7 दिसंबर (राजस्थान, तेलंगाना) को मतदान करवाया गया.

Published

on

Assembly Election in 5 State

नई दिल्‍ली: मिल रहे रुझानों के मुताबिक राजस्थान में कांग्रेस अच्छी खासी बढ़त बना ली है. वहीं छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस के जबरदस्त वापसी के संकेत हैं। मध्य प्रदेश में कड़ी टक्कर है तो तेलंगाना में टीआरएस बहुमत की ओर जाती दिखाई दे रही है।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को रुझानों में बहुमत मिल गया है। छत्तीसगढ़ की राजनांदगांव से अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी कमला शुक्ला आगे हैं। डॉ. रमन सिंह उनसे पीछे चल रहे हैं। कुल मिलाकर अभी तक आ रहे रुझानों से साफ है कि यह कांग्रेस की जबरदस्त वापसी की संकेत हैं।

मध्य प्रदेश में अगर कांग्रेस को अगर बहुमत नहीं भी मिलता है तो भी वह सबसे बड़ी पार्टी की रूप में उभर सकती है। देखने वाली बात यह है कि लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले आए इन चुनाव परिणामों का देश की राजनीति पर क्या असर पड़ता है। क्या पीएम मोदी अर्थव्यवस्था को लेकर कोई बड़ा फैसला करेंगे और इसके साथ ही अब वह क्या रणनीति अपनाएंगे

विधानसभा चुनाव 2018 के नतीजों का LIVE UPDATES :

10:55 AM तेलंगाना के पलैर से TRS आगे

10:55 AM राजस्थान के सपोतरा पूर्व से कांग्रेस आगे

10:54 AM तेलंगाना के बालकोंडा से टीआरएस आगे

10:53 AM राजस्थान के निबहौड़ा, मेवात, हड़ौली से कांग्रेस आगे

10:52 AM राजस्थान के मारवाड़ से कांग्रेस के हेमाराम चौधरी आगे

10:51 AM राजस्थान के सिरोही से IND आगे

10:51 AM पता था मध्य प्रदेश में कांटे की टक्कर होगी : यशोधरा राजे सिंधिया

Continue Reading

राजनीति

इंसानों के हक के लिए वे झेल रहीं धमकियां

वह 87 वर्ष के थे। सूत्रों ने कहा कि उनका सोमवार रात को निधन हुआ था।

Published

on

By

Human-Rights

नई दिल्ली, 10 दिसंबर | इंसानों के हक की खातिर अपने जीवन को समिधा की मानिंद यज्ञाग्नि में झोंक रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं की जिंदगी उतनी आसान नहीं होती, जितनी बाहर से दिखती है। उसमें भी जुनूनी महिलाओं के लिए जोखिम तो दोगुना हो जाता है, क्योंकि जान से मारने के साथ-साथ दुष्कर्म की धमकियां भी उन्हें बार-बार मिलती हैं।

फिर भी उनकी दिलेरी तो देखिए, इन खतरों के बीच कोई बाल विवाह रोकने में लगा/लगी है, तो कोई सिर पर मैला ढोने वालों को अमानवीय दलदल से बाहर निकालने के लिए वर्षो से जद्दोजहद कर रहा/रही है।

अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर जरूरत है, ऐसे ही कुछ मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की आपबीती जानने की, जो परिवार को पीछे छोड़ समाज में बदलाव का झंडा बुलंद किए हुए हैं। इन्हीं में से एक हैं, राजस्थान से ताल्लुक रखने वाली मानवाधिकार कार्यकर्ता कीर्ति भारती।

कीर्ति ने बीते कुछ वर्षो में कई बच्चियों को बाल विवाह का शिकार होने से बचाया है। इसी उद्देश्य के साथ कीर्ति ने 2011 में ‘सारथी ट्रस्ट’ की शुरुआत की। यह एनजीओ बच्चियों के बाल विवाह को रोकने के काम में लगा हुआ है। कीर्ति के लिए यह राह कभी आसान नहीं रही, उन्हें कई बार जान से मारने की धमकियां तक मिल चुकी हैं।

कीर्ति आईएएनएस से कहती हैं, “मेरी यह लड़ाई उतनी आसान नहीं रही, जितनी बाहर से देखने में लगती है। छोटी-छोटी बच्चियों को बाल विवाह से बचाने के लिए एक सिस्टम की जरूरत थी, यही कारण रहा कि ‘सारथी ट्रस्ट’ अस्तित्व में आया। हम अब तक 39 बच्चियों का विवाह निरस्त करा चुके हैं और 1,200 बच्चियों को बाल विवाह का शिकार होने से बचाया है।”

वह कहती हैं, “महिला हूं तो रेप की धमकियां भी मिलती हैं। जान से मारने की धमकियां तो बहुत समय से मिल ही रही हैं।”

ऐसे ही एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं, अशोक रो कवी। अशोक समलैंगिक अधिकारों के लिए लंबे समय से मुहिम चला रहे हैं। पेशे से पत्रकार रह चुके अशोक ने 1990 में ‘बॉम्बे दोस्त’ नाम से देश की पहली समलैंगिकों की पत्रिका की शुरुआत भी की थी। एलजीबीटी अधिकारों के लिए देशभर में काम कर रहा ‘हमसफर ट्रस्ट’ की स्थापना इन्होंने ही की। आज देश में समलैंगिकों को कानूनी रूप से जो मान्यता प्राप्त है, उसमें ‘हमसफर ट्रस्ट’ की अहम भूमिका है।

ऐसे ही एक शख्स हैं, बेजवाड़ा विल्सन जो सिर पर मैला ढोने वालों को इस दलदल से बाहर निकालने के लिए कई वर्षो से संघर्ष कर रहे हैं। मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित सामाजिक कार्यकर्ता बेजवाड़ा अब तक तीन लाख मैला ढोने वालों को नारकीय जीवन से मुक्ति दिला चुके हैं।

कोलार के दलित परिवार से ताल्लुक रखने वाले बेजवाड़ा सफाई कर्मचारी आंदोलन का नेतृत्व कर चुके हैं। सुप्रीम कोर्ट के वर्ष 2014 के फैसले में सीवरेज की सफाई के दौरान मारे जाने वाले लोगों के परिवारों को मुआवजा मिलने की लड़ाई में बेजवाड़ा ने अहम भूमिका निभाई है।

देश में देह व्यापार से कई मासूमों को बाहर निकालने वाली सुनीता कृष्णन ऐसी हजारों लड़कियों को मुख्यधारा में वापस लेकर आई हैं, जिन्हें देह व्यापार में धकेला गया था। इस तरह की लड़कियों को बचाकर वापस मुख्यधारा में लाने के लिए सुनीता ने ‘प्रज्वला’ नाम के एक एनजीओ की स्थापना की, जो महिलाओं को वेश्यावृत्ति से बचाने में लगा हुआ है। वह अभी तक 10,000 से ज्यादा महिलाओं को देह-व्यापार के दोजख से निकाल चुकी हैं। इस काम के लिए उन पर 17 बार हमला हो चुका है।

पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित सुनीता कहती हैं, “मुझ पर 17 बार हमला हो चुका है। देह-व्यापार से जुड़े लोग चाहते हैं कि मैं उनकी राह से हट जाऊं, ताकि वे इस अमानवीय धंधे में लगे रहें।”

फ्लाविया एग्नेस का नाम शायद ज्यादा लोगों ने नहीं सुना होगा, लेकिन फ्लाविया लंबे समय से महिलाओं को शादी, तलाक और संपत्ति के मामलों में कानूनी मदद मुहैया करा रही हैं। वह अब तक 50,0000 महिलाओं को कानूनी मदद मुहैया करा चुकी हैं। इस काम के लिए उन्होंने ‘मलिस’ नाम के एक एनजीओ की स्थापना भी की है।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
Mamata Banerjee
चुनाव16 mins ago

विधानसभा चुनाव के नतीजे 2019 के संकेत : ममता

shashi tharoor
राजनीति16 mins ago

चुनाव नतीजों पर थरूर का मोदी पर निशाना, कहा- ‘जुमलेबाजी से नहीं चलता काम’

Sachin Pilot
चुनाव30 mins ago

सचिन पायलट ने जीती टोंक विधानसभा सीट

Supreme_Court_of_India
राष्ट्रीय32 mins ago

दुष्कर्म पीड़िता की पहचान हर स्तर पर गुप्त रखी जाए : सुप्रीम कोर्ट

indian army
राष्ट्रीय44 mins ago

शोपियां में आतंकी हमला, तीन जवान शहीद

Supreme Court
राष्ट्रीय56 mins ago

कोर्ट ने CBI से पूछा- क्‍या कलबुर्गी हत्‍या के तार अन्‍य कार्यकर्ताओं की हत्‍या से जुड़े हैं?

Mizoram cm
चुनाव59 mins ago

मिजोरम के मुख्यमंत्री दोनों सीट पर हारे

congress logo
चुनाव1 hour ago

कांग्रेस ने तेलंगाना में ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताई

Virushka
मनोरंजन2 hours ago

जानिए, विरुष्का की शादी की सालगिरह में अनुष्का को क्या मिला तोहफा…

atal bihari vajpayee-min (1)
राष्ट्रीय2 hours ago

वाजपेयी के निधन पर शोक जताने के बाद राज्यसभा स्थगित

jewlary-
लाइफस्टाइल3 weeks ago

सर्दियों में आभूषणों से ऐसे पाएं फैशनेबल लुक…

Congress-reuters
राजनीति2 weeks ago

संघ का सर्वे- ‘कांग्रेस सत्ता की तरफ बढ़ रही’

Phoolwaalon Ki Sair
ब्लॉग3 weeks ago

फूलवालों की सैर : सांप्रदायिक सद्भाव का प्रतीक

Bindeshwar Pathak
ज़रा हटके3 weeks ago

‘होप’ दिलाएगा मैन्युअल सफाई की समस्या से छुटकारा : बिंदेश्वर पाठक

Sara Pilot
ओपिनियन2 weeks ago

महिलाओं का आत्मनिर्भर बनना बेहद जरूरी : सारा पायलट

Raisin-
लाइफस्टाइल4 weeks ago

किशमिश को पानी में भिगोकर खाने से होते हैं ये फायदे…

Cervical
लाइफस्टाइल3 weeks ago

ये उपाय सर्वाइकल को कर देगा छूमंतर

Tigress Avni
ब्लॉग3 weeks ago

अवनि मामले में महाराष्ट्र सरकार ने हर मानक का उल्लंघन किया : सरिता सुब्रमण्यम

demonetisation
ब्लॉग3 weeks ago

नये नोट ने निगले 16,000 करोड़ रुपये

SHIVRAJ
राजनीति4 weeks ago

वोट मांगने गई शिवराज की पत्नी को महिला ने सुनाई खरी खोटी…देखें वीडियो

Jammu And Kashmir
शहर1 day ago

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में बर्फबारी

Rajasthan
चुनाव3 days ago

राजस्थान में सड़क पर ईवीएम मिलने से मचा हड़कंप, दो अफसर सस्पेंड

ISRO
राष्ट्रीय6 days ago

भारत का सबसे भारी संचार उपग्रह कक्षा में स्थापित

ShahRukh Khan-
मनोरंजन7 days ago

शाहरुख की फिल्म ‘जीरो’ का दूसरा गाना रिलीज

Simmba-
मनोरंजन1 week ago

रणवीर की फिल्म ‘सिम्बा’ का ट्रेलर रिलीज

Sabarimala
राष्ट्रीय1 week ago

सबरीमाला विवाद पर केरल विधानसभा में हंगामा, विपक्ष ने दिखाए काले झंडे

Amarinder Singh
राष्ट्रीय2 weeks ago

करतारपुर कॉरिडोर शिलान्‍यास के मौके पर बोले अमरिंदर- ‘बाजवा को यहां घुसने की इजाजत नहीं’

मनोरंजन2 weeks ago

रजनीकांत की फिल्म ‘2.0’ का पहला गाना ‘तू ही रे’ रिलीज

The Lion King
मनोरंजन2 weeks ago

‘द लॉयन किंग’ का टीजर ट्रेलर रिलीज

Zero Movie
मनोरंजन3 weeks ago

फिल्म ‘जीरो’ का पहला गाना रिलीज

Most Popular