Connect with us

चुनाव

कांग्रेस-जेडीएस की आंधी में उड़ी बीजेपी, 5 में से 4 सीटों पर कब्‍जा

Published

on

Karnataka Minister DK Shivakumar
(फोटो-एएनआई)

कर्नाटक उपचुनावों में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने बीजेपी को धूल चटा दी। पांचों सीटों के आये नतीजे में से 4 सीट पर कांग्रेस-जेडीएस गंठबंधन ने जीत हासिल की है।

बेल्लारी, शिमोगा और मांड्या लोकसभा सीट कांग्रेस ने जीत ली है। इनमें से बेल्लारी, शिमोगा सीट बीजेपी के कब्जे में थी, जबकि मांड्या सीट जेडीएस के पास थी। उपचुनाव नतीजे में बीएस येदियुरप्पा बेटे बीवाई राघवेंद्र येदियुरप्पा ने शिमोगा सीट पर जीत दर्ज कर ली है।

कर्नाटक सरकार में मंत्री डीके शिवकुमार ने कहा, “लोकतंत्र में चुनाव प्रक्रिया और नतीजे बेहद अहम होते हैं, जनादेश बहुत महत्वपूर्ण होता है। कर्नाटक उपचुनाव के नतीजे देश की जनता के लिए एक संदेश है।”

कर्नाटक उपचुनाव के नतीजों के आने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी ने कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं को बधाई दी है। उन्होंने कहा, “इस जीत में अहम भूमिका निभाने के लिए मैं कांग्रेस और जेडीएस के नताओं को बधाई देता हूं। बीजेपी, कांग्रेस और जेडीएस गठबंध को अपवित्र बता रही थी। नतीजों ने बीजेपी को आइना दिखा दिया है।”

कर्नाटक उपचुनाव के नतीजों पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस ने कहा है कि तनीजों से यह साफ हो गया है कि जनता बदलाव के मूड में है। प्रेस से बात करते हुए कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि मोदी सरकार ने जो भी वादे जनता से किए थे उसे पूरे नहीं किए। उन्होंने कहा कि नोटबंदी समेत सरकार ने कई ऐसे फैसले लिए जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ा।

WeForNews

चुनाव

तेलंगाना चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी की 10 उम्मीदवारों की दूसरी सूची

Published

on

congress logo

तेलंगाना कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के लिए 10 उम्‍मीदवारों की दूसरी सूची जारी की है।

 

इससे पहले 65 उम्‍मीदवारों की सूची कांग्रेस जारी कर चुकी है। बता दें कि 119 सीटों वाली विधानसभा के लिए 7 दिसंबर को वोटिंग होगी। नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे।

WeForNews

Continue Reading

चुनाव

तेलंगाना : कांग्रेस-तेदेपा ने जारी की पहली सूची

Published

on

Congress
फाइल फोटो

तेलंगाना में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस व उसके तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) सहयोगी ने 7 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पहली सूची जारी कर दी है। ‘महाकुटमी’ और महागठबंध के दोनों घटकों ने देर सोमवार उम्मीदवारों की घोषणा की।

कांग्रेस ने 65 उम्मीदवारों, जबकि तेदेपा ने नौ उम्मीदवारों की सूची जारी की है। राज्य की 119 सीटों वाली विधानसभा के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया सोमवार को शुरू हुई और यह 18 नवंबर तक जारी रहेगी।

चार पार्टियों के महाकुटमी की अगुवाई कर रही कांग्रेस की योजना 95 सीटों पर लड़ने की हैं, जबकि बाकी की सीटें तेदेपा, तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) व मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के लिए छोड़ने की है।

हालांकि, सीटों की साझेदारी पर अभी अंतिम फैसला होने को है। कांग्रेस के 65 उम्मीदवारों की सूची में पूर्व केंद्रीय मंत्रियों, पूर्व राज्य मंत्रियों, पूर्व सांसदों, मौजूदा विधायकों व दूसरे दलों से कांग्रेस में आए लोगों को शामिल किया गया है।

राज्य कांग्रेस ईकाई के प्रमुख उत्तम कुमार रेड्डी हुजुरनगर निर्वाचन क्षेत्र से फिर चुने जाने की कोशिश में जुटेंगे, जबकि उनकी पत्नी पद्मावती रेड्डी फिर से कोडाद से चुनाव लड़ेंगी।

कांग्रेस के विधायक दल (सीएलपी) के नेता के.जना रेड्डी (नागार्जुनसागर) से जबकि इसके प्रचार समिति के अध्यक्ष मल्लू भट्टी विक्रमार्का (मधिरा) से, कार्यवाहक अध्यक्ष पूनम प्रभाकर व ए.रेवंत रेड्डी करीमनगर व कोडांगल सीट से चुनाव मैदान में है।

पूर्व केंद्रीय मंत्रियों में सर्व सत्यनारायण (सिकंदराबाद छावनी), जबकि पी.बलराम नाईक (महबूबाबाद) से उम्मीदवार बनाया गया है। तेलंगाना विधानपरिषद में विपक्ष के नेता मोहम्मद अली शब्बीर को कामारेड्डी से कांग्रेस उम्मीदवार बनाया गया है।

पूर्व उप मुख्यमंत्री व घोषणा पत्र समिति के चेयरमैन सी.दामोदर राजनरसिम्हा को अंदोले से मैदान में उतारा गया है। कांग्रेस ने वी.प्रताप रेड्डी को मुख्यमंत्री व तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष के.चंद्रशेखर राव के खिलाफ गजवेल से अपना उम्मीदवार बनाया है।

प्रताप रेड्डी ने तेदेपा के टिकट पर चंद्रशेखर राव के खिलाफ 2014 में चुनाव लड़ा था। रेड्डी हाल में कांग्रेस में शामिल हुए हैं। तेदेपा ने भी अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की है। इसमें पूर्व सांसद और वरिष्ठ नेता नामा नागेश्वर राव (खम्मम), आर.प्रकाश रेड्डी (वारंगल वेस्ट) व एस.वेंकट वेरैया (सत्तुपल्ली) को उम्मीदवार बनाया गया है।

पूर्व मंत्री टी.देवेंद्र गौड़ के बेटे वीरेंद्र गौड़ को उप्पल निर्वाचन क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया गया है। इस सूची मुजफ्फर अली एकमात्र मुस्लिम उम्मीदवार हैं, जो हैदराबाद के मलकपेत निर्वाचन क्षेत्र से लड़ेंगे।

–आईएएनएस

Continue Reading

चुनाव

छत्तीसगढ़ चुनाव के पहले चरण में 70 फीसदी से अधिक मतदान

Published

on

(photo CREDIT ANI )

नक्सली धमकियों को चुनौती देते हुए छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण में सोमवार को 70 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। प्रदेश में पहले चरण में नक्सल प्रभावित 18 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान संपन्न हुआ। पांच राज्यों में इस साल हो रहे विधानसभा चुनावों को अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जाता है।

निर्वाचन आयोग ने बताया कि मतदान के अंतिम आंकड़ों में वृद्धि हो सकती है, क्योंकि कुछ जगहों से अभी आंकड़े संग्रहित किए जा रहे हैं। वरिष्ठ उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने मीडिया को बताया, “70 फीसदी से ज्यादा मतदाताओं ने मतदान किया है। अंतिम आंकड़ा आने पर यह बढ़कर पिछले चुनाव के 75 फीसदी तक हो सकता है क्योंकि कुछ जगहों से अभी आंकड़े प्राप्त किए जा रहे हैं।”

नक्सलियों ने मतदान शुरू होने से चंद मिनट पहले दंतेवाड़ा जिले के कटेकल्याण इलाके में इंप्रोवाइज्ड विस्फोटक उपकरण (आईईडी) में विस्फोट कर दिया था। नक्सलियों ने लोगों से चुनाव का बहिष्कार करने को कहा था।

बीजापुर जिले के पामेड़ में उपद्रवियों से मुठभेड़ में सीआरपीएफ के दो जवान घायल हो गए। बीजापुर और सुकमा जिले में मतदान केंद्र के पास आईईडी भी पाए गए। नक्सलियों ने पिछले कुछ सप्ताह से कई हमले किए जिनमें बीएसएफ के एक अधिकारी और एक पत्रकार समेत कई लोग मारे गए।

छत्तीसगढ़ में जिन विधानसभा क्षेत्रों में मतदान हुए उनमें नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोंटा, मोहला-मानपुर, अंतगढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोंडागांव, डोंगरगांव, खुजी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकूट शामिल हैं।

भाजपा को 2013 में यहां 18 में से 12 सीटें गंवानी पड़ी थीं। प्रथम चरण में चुनाव मैदान में उतरे प्रमुख चेहरों में मुख्यमंत्री रमन सिंह भी शामिल हैं, जिनको उनके अपने ही गृह क्षेत्र राजनंदगांव में कांग्रेस उम्मीद करुणा शुक्ला से कड़ी टक्कर मिल रही है।

शुक्ला दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी हैं जो भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर 2014 में कांग्रेस में शामिल हुई थीं।

नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोंटा, मोहला-मानपुर, अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल और कोंडागांव में मतदान सुबह सात बजे आरंभ हुआ और दोहपर तीन बजे समाप्त हुआ।

खरागढ़, डोंगरगढ़, राजनंदगांव, डोंगरगांव, खुजी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकूट में मतदान एक घंटा विलंब से आरंभ हुआ और शाम पांच बजे संपन्न हुआ।

उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत की। उन्होंने बिलासपुर में चुनावी जनसभा को संबोधित किया।

कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ करने, फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के अनुसार देने और विशेष महिला थाना बनाने का वादा किया है।

चौथी बार प्रदेश की सत्ता में काबिज होने की उम्मीद पाल रही भाजपा ने महिलाओं को कारोबार करने के लिए दो लाख रुपये ब्याजमुक्त कर्ज देने का वादा किया है। इसके अलावा, भाजपा ने 12वीं तक के विद्यार्थियों को मुफ्त किताबें और वर्दी बांटने, पत्रकार कल्याण बोर्ड बनाने और राज्य में फिल्म सिटी बनाने का वादा किया है।

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के साथ गठबंधन में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) भी प्रदेश में चुनाव लड़ रही है।

प्रदेश में 18 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए और एक अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित है।

छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण का मतदान 20 नवंबर को होगा और मतों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

वर्ष 2013 के चुनाव में कांग्रेस को 40.3 फीसदी मतों के साथ 39 सीटों पर जीत मिली थी। वहीं, भाजपा को 41.04 फीसदी मतों के साथ 49 सीटें मिली थीं।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular