टिप्पणी : अमेरिका का दोषारोपण खेल वायरस से कहीं अधिक खतरनाक | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

टिप्पणी : अमेरिका का दोषारोपण खेल वायरस से कहीं अधिक खतरनाक

अमेरिका की तुलना में, चीन ने वायरस पर प्रभावी ढंग से काबू पाया है। उसने अभूतपूर्व ढंग से महामारी-रोधी उपाय अपनाये हैं और दुनिया को इस महामारी के खिलाफ लड़ने के प्रति मजबूत इच्छाशक्ति और आत्मविश्वास का जोश भरा है।

Published

on

China trade wa

बीजिंग, 25 अप्रैल | चीन ने कहा कि जब देखो अमेरिका के कुछ राजनेता चीन पर आरोप लगाने से बाज नहीं आते, कभी चीन को कोविड-19 महामारी फैलाने का जिम्मेदार मानते हैं, तो कभी विश्व स्वास्थ्य संगठन को समय पर नए कोरोनोवायरस के प्रकोप की सूचना नहीं देने का बात कहते हैं। कुछ तो यह भी कहते हैं कि चीन कोरोनोवायरस के नमूनों को नष्ट कर रहा है और उसके पास मौजूद सभी सूचनाओं को साझा नहीं कर रहा है।

इन सबसे आगे अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने तो यहां तक भी कह दिया है कि चीन सरकार हांगकांग, ताइवान और दक्षिण चीन सागर पर अपने एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए महामारी फैलाकर दुनिया का ध्यान भटका रही है।

पर इन तथाकथित राजनीतिक पंडितों से ये कौन पूछे कि आज अमेरिका में जो इतनी बुरी हालत हो रही है, सबसे ज्यादा मौत हो रही हैं, दुनिया में सबसे अधिक कोरोना के मामले अमेरिका में ही आ रहे हैं, कहीं उस पर से ध्यान भटकाने के लिए तो अमेरिकी राजनेता चीन पर आरोप नहीं लगा रहे? ये दोषारोपण का खेल अमेरिका का पुराना खेल है। जब भी अमेरिका के सिर पर कोई संकट आता है, तभी उसका ठीकरा किसी न किसी के सर पर फोड़ देते हैं। इस बार अमेरिका की खुद की लापरवाही की वजह से फैले कोरोना का ठीकरा चीन पर फोड़ने की कोशिश कर रहा है।

अमेरिका को समझना चाहिए कि चीन ने गत 31 दिसंबर को अज्ञात कारण वाले निमोनिया के बारे में डब्ल्यूएचओ को सूचित कर दिया था। कुछ ही दिनों के भीतर, सार्वजनिक रूप से वायरस के आनुवंशिक अनुक्रम को साझा किया। 3 जनवरी से, चीन ने अमेरिका को इस महामारी के प्रकोप और उससे कैसे लड़ा जाए के बारे में बताना शुरू कर दिया। तो फिर चीन को बदनाम क्यों किया जा रहा है?

यह राजनीति करने का समय नहीं है। अमेरिका में मरने वालों की संख्या 50 हजार के पास पहुंच रही है, 9 लाख के आसापस कोरोना के मामले आ चुके हैं। सच में, इन सबके लिए ट्रम्प प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। अमेरिकी नेतृत्व, विशेष रूप से पोम्पेओ जैसे राजनेता, जो हर समय चीन के खिलाफ आग उगलते हैं, को अपनी गिरेबान में झांकना चाहिए कि क्या उन्होंने वायरस पर रोक लगाने में देरी नहीं की? क्या उन्होंने इस महामारी को हल्के में नहीं लिया? ऐसे बहुत-से सवाल हैं जो अमेरिकी राजनेताओं को खुद से पूछना चाहिए।

अमेरिका की तुलना में, चीन ने वायरस पर प्रभावी ढंग से काबू पाया है। उसने अभूतपूर्व ढंग से महामारी-रोधी उपाय अपनाये हैं और दुनिया को इस महामारी के खिलाफ लड़ने के प्रति मजबूत इच्छाशक्ति और आत्मविश्वास का जोश भरा है।

लेकिन अमेरिका अभी भी समय बर्बाद कर रहा है। यह समय हाथ पर हाथ धरे बैठने का नहीं है, और न ही दूसरों पर दोष लगाने का है, इससे महामारी के विरुद्ध लड़ाई में कोई फायदा नहीं होगा, उल्टा कीमती समय बर्बाद होगा। अमेरिका को समझना होगा कि राजनीतिक खेल खेलना वायरस से कहीं अधिक घातक है। उसने पहले ही महामारी की भारी कीमत चुकाई है, कम-से-कम अब तो दोषारोपण का खेल बंद कर देना चाहिए।

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

अंतरराष्ट्रीय

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कोविड-19 से निपटने के लिए किया गलत सूचनाओं से लड़ने का आह्वान

Published

on

cropped-Antonio-Guterres-1

संयुक्त राष्ट्र, 24 सितंबर (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कोविड-19 महामारी के बारे में गलत सूचनाओं से लोगों को हो रहे नुकसान को कम करने के लिए संयुक्त प्रयास करने का आहवान किया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन के इंफोडेमिक मैनेजमेंट कार्यक्रम में गुटेरेस ने कहा, कोविड-19 केवल सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल नहीं है – यह एक संचार आपात स्थिति भी है। यह वायरस दुनिया भर में फैल गया है। गलत और खतरनाक संदेश सोशल मीडिया पर तेजी से फैले, जिसने लोगों को भ्रमित-गुमराह किया और उन्हें गलत सलाहें दीं।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने यह भी कहा, इन मारक झूठ ने यह भी सुनिश्चित किया कि वे वैज्ञानिक तथ्यों पर आधारित सलाहों और स्वास्थ्य मार्गदर्शन की तुलना में ज्यादा तेजी से फैले और लोगों को हर जगह उपलब्ध रहे। यह स्थिति ऐसे में और भयावह हो जाती है जब हम कोविड-19 के लिए प्रभावी वैक्सीन तैयार करने में जुटे हैं।

इस मौके पर उन्होंने इन गलत सूचनाओं से लड़ने में मीडिया, प्रभावी लोगों और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों के महत्व को भी बताया।

उन्होंने कहा, हम एक साथ मिलकर ही लोगों को सही सूचनाएं पहुंचाकर इस महामारी से उबर सकेंगे।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

वैश्विक स्तर पर कोविड-19 के मामले 3.17 करोड़ से अधिक

Published

on

Coronavirus

वैश्विक स्तर पर कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 3.17 करोड़ से अधिक हो गई है, जबकि इस संक्रमण से हुई मौतों की संख्या 975,000 का आंकड़ा पार कर गई है। यह जानकारी जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय ने गुरुवार को दी।

विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने अपने नवीनतम अपडेट में खुलासा किया कि गुरुवार की सुबह तक कुल मामलों की संख्या 31,787,190 हो गई और मृत्यु दर बढ़कर 975,038 हो गई थी।

सीएसएसई के आंकड़ों के अनुसार, अमेरिका दुनिया के सबसे अधिक मामलों 6,943,071 और 201,957 मौतों के साथ सबसे अधिक प्रभावित देश है।

वहीं वर्तमान में भारत 5,646,010 मामलों के साथ प्रभावित देशों की सूची में शीर्ष पर दूसरे स्थान पर है, जबकि देश में संक्रमण से 90,020 मौतें दर्ज की गई हैं।

सीएसएसई के आंकड़ों के अनुसार, अधिक मामलों वाले अन्य शीर्ष 15 देशों में ब्राजील (4,591,364), रूस (1,117,487), कोलंबिया (784,268), पेरू (776,546), मेक्सिको (710,049), स्पेन (693,556), दक्षिण अफ्रीका (665,188), अर्जेंटीना (664,799), फ्रांस (508,381), चिली (449,903), ईरान (432,798), ब्रिटेन (412,241), बांग्लादेश (353,844), इराक (332,635) और सऊदी अरब (331,359) शामिल हैं।

ब्राजील 138,105 मौतों के साथ संक्रमण से हुई मृत्यु के मामले में अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर है।

वहीं 10,000 से अधिक मौतों वाले देश मेक्सिको (74,949), ब्रिटेन (41,951), इटली (35,758), पेरू (31,568), फ्रांस (31,444), स्पेन (31,034), ईरान (24,840), कोलंबिया (24,746), रूस (19,720), दक्षिण अफ्रीका (16,206), अर्जेंटीना (14,376), चिली (12,345) और इक्वाडोर (11,171) हैं।

आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

कोरोना के चलते सऊदी अरब ने इन तीन देशों की उड़ानों पर लगया प्रतिबंध

Published

on

Airline-

दुनियाभर में बढ़ते कोरोना वायरस के मद्देनजर सऊदी अरब ने भारत, ब्राजील और अर्जेंटीना आने जाने वाली उड़ानों को निलंबित कर दिया है। सऊदी अरब के नागरिक उड्डयन नियामक जनरल अथॉरिटी ऑफ सिविल एविएशन (GACA) ने बुधवार को एयरलाइंस को दिए गए एक नोट में यह जानकारी दी।

जीएसीए के नोट के अनुसार, सऊदी अरब में आने से पहले पिछले 14 दिनों में भारत, ब्राजील और अर्जेंटीना में रहने वाले किसी भी व्यक्ति को सरकारी निमंत्रण के अतिरिक्त इन देशों में यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। नोट में निलंबन के लिए समय सीमा नहीं बताई गई है।

पिछले कुछ महीनों के दौरान एयर इंडिया, स्पाइसजेट और इंडिगो सहित अधिकांश भारतीय एयरलाइंस ने सऊदी अरब से भारत के लिए चार्टर उड़ानें संचालित की हैं। वर्तमान में, भारत और सऊदी अरब के बीच कोई एयर बबल करार नहीं है।

कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से हवाई यात्रा सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुई हैं। इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आईएटीए) के सीईओ एलेक्जेंडर डि जुनियाक ने कहा था कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते रेवेन्यू पैसेंजर किलोमीटर (राजस्व यात्री किलोमीटर) अपनी 2019 की स्थिति में साल 2024 तक लौट सकेगा। 

WeForNews
 

Continue Reading
Advertisement
Arvind kejriwal
राष्ट्रीय2 mins ago

दिल्ली में कोरोना संक्रमण धीरे-धीरे हो रहा कम : केजरीवाल

राजनीति5 mins ago

असम के पूर्व सीएम तरुण गोगोई के रक्त में ऑक्सीजन की कमी, ICU में भर्ती किए गए

mamta-banerjee
राष्ट्रीय7 mins ago

ममता बनर्जी का एलान, पश्चिम बंगाल में इस साल नहीं होगा दुर्गा पूजा उत्सव

खेल16 mins ago

आईपीएल-2020 : RCB ने जीता टॉस, किंग्स XI पंजाब की पहले बल्लेबाजी

राजनीति35 mins ago

किसान संगठनों ने शुक्रवार को बंद के समर्थन का किया एलान

Sensex-
व्यापार45 mins ago

सेंसेक्स 1100 अंकों से ज्यादा लुढ़का, 3 फीसदी टूटा निफ्टी

राष्ट्रीय51 mins ago

केरल में पेप्सिको ने बंद किया अपना प्लांट, कर्मचारियों की नौकरी पर संकट

Sara Ali Khan
मनोरंजन1 hour ago

NCB का समन मिलते ही परिवार संग मुंबई लौटीं सारा

राष्ट्रीय1 hour ago

सार्क बैठक में भारत ने उठाया आतंकवाद का मुद्दा

मनोरंजन1 hour ago

ड्रग्स केस: जेल में ही रहेंगे रिया-शोविक, अब 29 सितंबर को होगी सुनवाई

Mayawati
राजनीति2 weeks ago

मायावती शासन की अनियमितताओं पर शुरू होगी कार्रवाई

राजनीति3 days ago

किसान बिल पर हंगामे के चलते राज्यसभा के 8 सांसद निलंबित

Rhea-
मनोरंजन2 weeks ago

सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती को भेजा गया मुंबई जेल

former president pranab-mukjerjee
राष्ट्रीय3 weeks ago

भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति का 84 साल की उम्र में निधन

राष्ट्रीय4 weeks ago

सुशांत केस : रिया के भाई से सीबीआई की पूछताछ जारी

Blood Pressure machine
लाइफस्टाइल4 weeks ago

हाई-ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन में वायु प्रदूषण का योगदान : शोध

Sonia Gandhi and Rahul
ब्लॉग3 weeks ago

कांग्रेस की बीमारियां उन्हें क्यों सता रहीं जिन्होंने इसे वोट दिया ही नहीं?

Rhea Chakraborty
मनोरंजन3 weeks ago

सुशांत मामला : रिया से आज फिर पूछताछ करेगी सीबीआई

खेल4 weeks ago

राष्ट्रीय खेल दिवस: खेल रत्न, अर्जुन अवॉर्ड, द्रोणाचार्य-ध्यानचंद पुरस्कार की पूरी लिस्ट

Supreme Court
राष्ट्रीय2 weeks ago

लोन मोरेटोरियम केस: SC ने कहा- आखिरी सुनवाई से पहले जवाब दाखिल करे सरकार

8 suspended Rajya Sabha MPs
राजनीति3 days ago

रात में भी संसद परिसर में डटे सस्पेंड किए गए विपक्षी सांसद, गाते रहे गाना

Ahmed Patel Rajya Sabha Online Education
राष्ट्रीय5 days ago

ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब छात्रों को सरकार दे वित्तीय मदद : अहमद पटेल

Sukhwinder-Singh-
मनोरंजन1 month ago

सुखविंदर की नई गीत, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को समर्पित

Modi Independence Speech
राष्ट्रीय1 month ago

Protected: 74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का भाषण, कहा अगले साल मनाएंगे महापर्व

राष्ट्रीय2 months ago

उत्तराखंड में ITBP कैम्‍प के पास भूस्‍खलन, देखें वीडियो

Kapil Sibal
राजनीति3 months ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय5 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर5 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य5 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति5 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

Most Popular