Connect with us

स्वास्थ्य

यमन में गंभीर मानवीय जरूरतों का सामना कर रहे बच्चे: यूनिसेफ

Published

on

यूनिसेफ

यमन में पिछले तीन सालों से जारी युद्ध और दशकों से गंभीर रूप से बाधित विकास के परिणामस्वरूप 1.10 करोड़ बच्चे कुपोषण व बीमारी से ग्रस्त हैं। यूनिसेफ के मुताबिक वे गंभीर मानवीय जरूरतों का सामना कर रहे हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, उत्तर अफ्रीका और मध्यपूर्व के लिए यूनिसेफ के क्षेत्रीय निदेशक, गीर्ट कैपेलेयर ने रविवार को कहा कि अकेले सिर्फ 2017 में यमन में कम से कम पांच बच्चे प्रतिदिन के हिसाब से मारे गए या गंभीर रूप से घायल हुए। हैजा और डिप्थीरिया के प्रकोप ने सैकड़ों जिंदगियां छीन ली हैं।

कैपेलेयर ने संवाददाताओं को बताया, “यमन के हालात पर अतिरिक्त ध्यान देने की जरूरत है। इसे सही तौर पर विश्व के सबसे खराब मानवीय संकट के रूप में देखा गया है।”

मध्यपूर्व में यमन सबसे गरीब देशों में से एक है। देश 2015 से गृहयुद्ध से जूझ रहा है। 2015 में लंबे समय से राष्ट्रपति रहे अली अब्दुल्ला सालेह को अपने उपराष्ट्रपति अब्द रब्बू मंसूर हादी को शांतिपूर्ण तरीके से सत्ता सौंपनी थी, लेकिन तभी देश में क्षेत्रीय संघर्ष शुरू हो गया।

कैपेलेयर ने कहा, “यह कहना सही होगा कि आज यमन में प्रत्येक लड़की और लड़का गंभीर मानवीय जरूरतों का सामना कर रहा है। युद्ध और विकास के अभाव ने बच्चों के लिए दुर्भाग्यवश कुछ अच्छा नहीं किया।”

अधिकारी ने कहा कि 2015 में दो लाख बच्चे गंभीर कुपोषण से जूझ रहे थे। यह विश्व में अबतक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। कैपेलेयर के मुताबिक, तब से लेकर अबतक तीन सालों में यह संख्या दोगुनी हो गई है।

युद्ध ग्रस्त देश में खराब मानवीय हालात के बारे में बताते हुए कैपेलेयर ने कहा कि यमन के करीब 20 लाख बच्चे शिक्षा से वंचित हो चुके हैं। बड़ी संख्या में लड़कियों को कम उम्र में शादी के लिए मजबूर किया गया, जिसमें से 75 फीसदी 18 से कम उम्र की थीं और 15 साल से बड़ी थीं।

–आईएएनएस

स्वास्थ्य

तेज रफ्तार चहलकदमी हृदय रोगियों के लिए लाभकारी

Published

on

heart 1
File Photo

आपके चलने की गति आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकती है, क्योंकि एक नए शोध में पता चला है कि हृदय रोगी अगर तेज चलते हैं तो उन्हें अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति के जोखिम का कम सामना करना पड़ता है।

इटली की यूनिनर्सिटी ऑफ फरेरा की शोधार्थी व अध्ययन की लेखिका कार्लोटा मेरलो ने कहा, “तेज चलने से अस्पताल में भर्ती होने और वहां लंबे समय तक रहने की स्थिति का जोखिम कम होता है। इस निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए किए गए अध्ययन में 1,078 उच्च रक्तचाप से ग्रस्त रोगियों को शामिल किया गया था, जिनमें से 85 फीसदी को कोरोनरी हृदय रोग व 15 फीसदी को वाल्व रोग था।

उन्होंने कहा, “चूंकि कम चलने की गति सीमित गतिशीलता का एक परिचायक है, जो कम शारीरिक गतिविधि से जुड़ा है। इस आधार पर हमारा मानना है कि अध्ययन में शामिल तेज चलने वाले लोग वास्तविक जीवन में भी तेज चलते होंगे।”इनमें से कुल 359 रोगियों की धीमी गति से चलने वालों, 362 की मध्यम व 357 की तेज गति से चलने वालों के रूप में पहचान की गई।

निष्कर्ष के अनुसार, धीमी गति से चलने वालों की तुलना में तेजी से चलने वालों को तीन साल में अस्पताल में भर्ती होने की 37 फीसदी कम संभावना देखी गई। मेरलो ने कहा, “चहलकदमी वयस्कों में व्यायाम का सबसे लोकप्रिय प्रकार है। यह निशुल्क और बिनी विशेष प्रशिक्षण के लगभग कहीं भी किया जा सकता है। यहां तक कि छोटे अंतराल में, लेकिन नियमित चहलकदमी के काफी लाभ हैं। हमारे अध्ययन से पता चलता है कि चलने की गति में तेजी आने पर यह लाभ अधिक हो जाते हैं।”

–आईएएनएस

Continue Reading

ब्लॉग

नवजात शिशुओं में लीवर रोग की पहचान के लिए जागरूकता अभियान

Published

on

Liver Disease Newborns

नई दिल्ली, 19 अप्रैल | नवजात शिशुओं और छोटे बच्चों को आमतौर पर प्रभावित करने वाली लीवर की बीमारी को लेकर आम लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए अपोलो अस्पताल ने वर्ल्ड लीवर डे के मौके पर जागरूकता अभियान चलाया। अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप में मेडिकल डायरेक्टर व सीनियर कन्सलटेन्ट डॉ. अनुपम सिब्बल ने कहा, “दिमाग के बाद लीवर शरीर का दूसरा सबसे बड़ा ठोस अंग है, जो बहुत सारे मुश्किल काम करता है। लीवर हमारे शरीर में ऐसे सभी कामों को अंजाम देता है, जो अन्य अंगों के ठीक कार्य करने के लिए जरूरी हैं।”

उन्होंने कहा, “लीवर पाचन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। भोजन पचाने के लिए बाईल बनाने के अलावा लीवर ब्लड शुगर को नियन्त्रित रखने में मदद करता है, शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है और कॉलेस्ट्रॉल का स्तर सामान्य बनाए रखता है। लीवर क्लॉटिंग फैक्टर्स, एल्बुमिन और ऐसे कई महत्वपूर्ण उत्पाद बनाता है।”

डॉ. अनुपम सिब्बल ने कहा, “लीवर बिना रुके काम करता है और अक्सर इसमें किसी भी तरह की खराबी के लक्षण जल्दी से दिखाई नहीं देते। लीवर रोगों के आम लक्षण हैं आंखों का पीला पड़ना, पेशाब का रंग पीला होना, भूख न लगना, मतली और उल्टी। 100 से ज्यादा ऐसी बीमारियां हैं जिनका असर लीवर पर पड़ता है।”

उन्होंने कहा, “अगर आपको पेट के आस-पास सूजन, पैरों में सूजन, वजन में कमी जैसे लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।”

डॉ. अनुपम सिब्बल ने लीवर की बीमारियों से बचने और इसके प्रबन्धन के लिए सुझाव दिए। इसमें हर बच्चे को जन्म के तुरंत बाद हेपेटाइटिस बी का टीका लगाना, रक्त और रक्त उत्पादों का इस्तेमाल करने से पहले हेपेटाइटिस बी और सी की जांच, साफ पेयजल का ही सेवन करना, कच्चे फलों और सब्जियों को सेवन से पहले अच्छी तरह धोना, जब भी संभव हो हेपेटाइटिस ए का टीका लगवाना, नवजात शिशु को अगर दो सप्ताह से ज्यादा पीलिया रहता है तो इसकी जांच करवाना चाहिए ताकि अगर लीवर की कोई बीमारी है तो इसका निदान कर तुरंत इलाज किया जा सके।

हाल ही में हेपेटाइटिस बी, सी और कई अन्य आनुवंशिक बीमारियों का इलाज खोज लिया गया है और यह सभी आधुनिक इलाज भारत में उपलब्ध हैं। भारत में लीवर ट्रांसप्लान्ट अब कामयाबी से किया जा रहा है।

–आईएएनएस

Continue Reading

स्वास्थ्य

भोजन में कार्बोहाइड्रेड ज्यादा लेने से दोबारा कैंसर का खतरा

Published

on

डाइट
File Photo

भोजन में कार्बोहाइड्रेड और शुगर की मात्रा अधिक होने से सिर और गले के कैंसर के उपचाराधीन मरीज को दोबारा कैंसर का खतरा बढ़ सकता है और वह मौत का कारण बन सकता है।

यह बात एक शोध में सामने आई है। शोध में पाया गया है कि कैंसर का इलाज से पहले के साल में जिन्होंने कार्बोहाइड्रेट और सुक्रोज, फ्रक्टोज, लैक्टोज और माल्टोज के रूप में शुगर ज्यादा लिया, उनमें मृत्यु का खतरा अधिक होता है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर में प्रकाशित अध्ययन में कैंसर के 400 मरीजों में 17 फीसदी से अधिक मरीजों में कैंसर की पुनरावृत्ति दर्ज की गई, जबकि 42 फीसदी की मौत हो गई।

अरबाना शैंपैन स्थित इलिनोइस विश्वविद्यालय में प्रोफेसर और प्रमुख शोधकर्ता अन्ना ई. आर्थर ने बताया कि कार्बोहाइड्रेट खाने वाले मरीजों और अन्य मरीजों में कैंसर के प्रकार और कैंसर के चरण में अंतर पाया गया। हालांकि उपचार के बाद कम मात्रा में वसा और अनाज, आलू जैसे स्टार्च वाले भोजन खाने वाले मरीजों में बीमारी की पुनरावृत्ति व मौत के खतरे कम हो सकते हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
vinay katiyar
राजनीति13 hours ago

विनय कटियार का भड़काऊ बयान: राम मंदिर के लिए बनाएंगे बलिदानी दस्ता

h1b visa
राष्ट्रीय14 hours ago

H-1B वीजाधारकों के जीवनसाथी को नहीं मिलेगा वर्क परमिट

nasa
अंतरराष्ट्रीय14 hours ago

नासा के 13वें प्रशासक बने जिम ब्रिडेनस्टीन

cbse
राष्ट्रीय15 hours ago

CBSE के 6 लाख विद्यार्थी बुधवार को फिर से देंगे परीक्षा

supreme court-wefornews
राष्ट्रीय15 hours ago

दिल्ली में अवैध कॉलोनियों में निर्माण कार्य पर लगी रोक

jdu
राजनीति15 hours ago

नीति आयोग के सीईओ के बयान पर बिफरा जेडीयू

sachin tendulkar
खेल15 hours ago

जन्‍मदिन विशेष- सचिन तेंदुलकर: आम खिलाड़ी से ‘क्रिकेट के भगवान’ बनने तक का सफरनामा

skirt
शहर15 hours ago

इंदौर में सरेआम खींची मॉडल की स्कर्ट

sensex-1
व्यापार16 hours ago

सेंसेक्स में 166 अंकों की तेजी

Jio-Xiaomi
टेक16 hours ago

श्याओमी, जियो ने भारतीय बाजार में बाजी मारी

reservation
राष्ट्रीय2 weeks ago

ओडिशा में ‘भारत बंद’ का आंशिक असर

idbi bank
राष्ट्रीय4 weeks ago

बैंक घोटालों की आई बाढ़, अब आईडीबीआई बैंक को लगा 772 करोड़ का चूना

लाइफस्टाइल4 weeks ago

जानिए, कौन सा रंग आपके जीवन में डालता है क्या प्रभाव…

Skin care-
लाइफस्टाइल4 weeks ago

बदलते मौसम में इस तरह बरकरार रखें त्वचा का सौंदर्य…

लाइफस्टाइल4 weeks ago

अच्छे अंकों के लिए देर रात नहीं करें पढ़ाई

Kapil Sibal
ओपिनियन3 weeks ago

विफल होते क़ानूनों की वजह से ख़तरे में लोकतंत्र

Dalit-MPs-UP
ब्लॉग3 weeks ago

दलित-विरोधी नहीं होती बीजेपी तो उसके सांसद अपनी क़िस्मत पर क्यों रोते…?

Bhim-Rao-Ambedkar
ओपिनियन2 weeks ago

अंबेडकर ने नहीं सीखा था अन्याय के आगे झुकना

camera
ज़रा हटके3 weeks ago

समुद्र में खोया कैमरा मिला 2 साल बाद, ऑन किया तो निकला फुल चार्ज

sensex
व्यापार3 weeks ago

शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 115 अंक ऊपर

air india
शहर3 days ago

एयर इंडिया के प्लेन में उड़ान के दौरान गिरी खिड़की

gayle
खेल5 days ago

आईपीएल-11: गेल के शतक से पंजाब ने दर्ज की तीसरी जीत

neha kkar-
मनोरंजन7 days ago

नेहा कक्कड़ ने बॉयफ्रेंड हिमांश कोहली को बनाया ‘हमसफर’, देखें वीडियो

Modi
राष्ट्रीय2 weeks ago

PM मोदी ने आदिवासी महिला को पहनाई चप्पल

-alia-bhat
मनोरंजन2 weeks ago

आलिया भट्ट की फिल्म ‘Raazi’ का ट्रेलर रिलीज

Delhi
शहर2 weeks ago

दिल्ली-एनसीआर में हुई बारिश, मौसम हुआ सुहाना

राजनीति2 weeks ago

गुजरात: प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक शख्स ने रामदास अठावले पर फेंका काला कपड़ा

शहर2 weeks ago

बिना इंजन 15 किमी तक दौड़ती रही अहदाबाद-पुरी एक्सप्रेस, बाल-बाल बचे यात्री

Steve Smith
खेल4 weeks ago

बॉल टैंपरिंग मामला: रोते हुए स्मिथ ने मांगी माफी

gulam nabi azad
राष्ट्रीय4 weeks ago

विदाई भाषण में आजाद ने नरेश अग्रवाल पर ली चुटकी, कहा- वो ऐसे सूरज हैं, जो इधर डूबे उधर निकले

Most Popular