Connect with us

मनोरंजन

ऑनलाइन एंटरटेनमेंट ने मचाई धूम – 2018 in Retrospect

Published

on

Bollywood Celebrity

मनोरंजन जगत में साल 2018 में ओवर द टॉप (ओटीटी) और डिजिटल एंटरटेनमेंट मीडियम्स की धूम रही। सिंगल स्क्रिन थियेटर्स के बाद आए मल्टीप्लेक्स के बड़े क्रेज के बाद अब दर्शक स्ट्रीमिंग प्लैटफॉर्म्स पर अपना मनपसंद कंटेंट देखना पसंद कर रहे हैं। सस्ते मोबाइल डाटा, दूर दराज के गांव कस्बों तक बढ़ती मोबाइल कनेक्टिविटी और एक बड़े बाजार के रूप में देशी-विदेशी प्लैटफॉर्म्स के भारत में अपने बिजनेस की जड़ें तलाशने के कारण डिजिटल एंटरटेनमेंट ने इस साल जबर्दस्त रफ्तार पकड़ी।

बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप की रिपोर्ट ‘एंटरटेनमेंट गोज ऑनलाइन’ भी इसकी पुष्टि करती है। इसके अनुसार, जियो के लॉन्च होने के बाद क्वार्टली डाटा कन्संप्शन 10 गुना बढ़ गया है, जो ऑनलाइन कंटेंट की अभूतपूर्व मांग दर्शाता है। रिपोर्ट के अनुसार, 2018 में ऑनलाइन कंटेंट और वीडियो स्ट्रिमिंग प्लैटफॉर्म्स की संख्या बढ़कर 32 हो गई जो 2012 में महज 9 थी और पिछले छह सालों में भारत के ओटीटी बाजार में कदम रखने वाले प्लैटफॉर्म्स में करीब छह गुना इजाफा हुआ है। इनमें नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम वीडियो जैसे विदेशी प्लैटफॉर्म के अलावा हॉटस्टार, वूट, सोनी लिव, एएलटी बालाजी समेत कई स्वदेशी प्लैटफॉर्म्स भी शामिल हैं।

आंकड़ों के मुताबिक, जनवरी 2018 तक मोबाइल के जरिए इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या 43.03 करोड़ रही जो देश में इंटरनेट का प्रयोग करने वाले यूजर्स का 93 फीसदी है।

इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आईएएमएआई) के मुताबिक, भारत में जून 2018 तक इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या 50 करोड़ हो गई। ऐसे में हमेशा ‘ऑन द मूव’ रहने वाली पीढ़ी ने अपने मनोरंजन के लिए इन साधनों को हाथों हाथ लिया, जिसका वे कभी भी और कहीं भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

‘2018’ वह साल रहा, जब वेब सीरीज का जादू भारतीय दर्शकों के सिर चढ़कर बोला, ‘गेम ऑफ थ्रोन्स’ जैसे शोज ने दर्शकों में भारतीय प्रोडक्शन में बनने वाले इसी स्तर के शो की मांग बढ़ा दी। भारत में वीडियो स्ट्रीमिंग प्लैटफॉर्म्स के आगाज के साथ नेटफ्लिक्स द्वारा लॉन्च की गई पहली भारतीय सीरीज सेक्रेड गेम्स ने धूम मचा दी और ऑनलाइन शो का जबर्दस्त क्रेज पैदा कर दिया। अगर यह कहा जाए कि यह साल वेब सीरीज का साल रहा तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

इस दौरान स्टैंड अप कॉमेडियन्स केनी सबेस्टियन, वरुण ठाकुर और जाकिर खान द्वारा लिखित और निर्मित वेब सीरीज ने इस लहर का आगाज किया, तो साल के आखिरी महीनों में आए नेटफ्लिक्स के सेक्रेड गेम्स और अमेजन प्राइम वीडियो के मिर्जापुर और ब्रीद व लस्ट स्टोरीज की सफलता ने इस बात पर पुख्ता मुहर लगा दी कि न्यू मिलेनियल्स की पसंद सास बहू वाले घिसे-पिटे शो नहीं, बल्कि दमदार कहानी, कसी स्क्रिप्ट और सशक्त अभिनय से सजी वेब सीरीज हैं।

शहरी आपाधापी से लेकर कस्बाई जीवन की परतों में झांकते दमदार और बोल्ड कंटेंट ने, वह भी बिना सेंसर की कैंची चले वेब सीरीज को हर वर्ग के दर्शकों से जोड़ा।

ऑनलाइन कंटेंट की सबसे खास बात यह रही कि इसने अपने अभिनय से दर्शकों के बीच अपनी पहचान स्थापित करने की कोशिश कर रहे कलाकारों को भी भरपूर लोकप्रियता दिलाने में मदद की। बॉलीवुड के नामचीन चेहरों ने भी वक्त की नब्ज को भांपते हुए बहती हवा की और रुख किया। पंकज त्रिपाठी, कियारा आडवाणी, राधिका आप्टे, अली फजल, विक्रांत मेस, श्वेता त्रिपाठी, अमित साध जैसे कलाकारों ने नसीरुद्दीन शाह और सैफ अली खान सरीखे फिल्मी दुनिया के स्थापित कलाकारों के बीच भी अपने अभिनय का लोहा मनवाया।

महीनों, सालों चलने वाले टीवी शो की तुलना में मनोरंजन का पूरा डोज परोसती महज 8-12 एपिसोड्स वाली वेब सीरीज को दर्शकों ने हाथों हाथ लिया। मजबूत स्टोरीलाइन के साथ असल जिंदगी की हकीकतों को पूरी बेबाकी के साथ पेश करती वेब सीरीज तुरंत क्रेज बन गईं।

पेशेवर फोटोग्राफर गरिमा शर्मा कहती हैं, “ये शोज नियम-कायदों में बंधे संस्कारी किरदार परोसने की जगह वास्तविक भारतीय समाज की झलक पेश करते हैं जिसे दर्शक खुले दिल से स्वीकार कर रहे हैं।”

ऑनलाइन एंटरटेनमेंट में आए बूम को लेकर बेहद लोकप्रिय हुई सीरीज ‘मिर्जापुर’ के अभिनेता अली फजल ने आईएएनएस से कहा, “इसकी लोकप्रियता का सबसे बड़ा कारण यह है कि ये हर किसी के पास आसानी से उपलब्ध हैं। विजुअल मीडियम मोबाइल फोन के आकार में दर्शकों के हाथ में आ गए हैं। इतना ही नहीं इनका कैनवास बहुत विस्तृत हो गया है और यह ग्लोबल हो गया है, जहां ‘मिर्जापुर’ उपलब्ध है, वहीं ‘नारकोज’ भी है, जो कि दर्शकों के लिए आसानी से उपलब्ध है। इसलिए दुनियाभर के शोज में सीधी तुलना होने लगी है जो शानदार कंटेंट वाले और उच्च स्तर के शोज हैं।”

उन्होंने कहा, “मैं जो रिव्यूज मैं पढ़ता हूं उन्हें देखकर अच्छा लगता है कि दर्शक न केवल किसी शो की यह कहकर तुलना करते हैं कि यह भारतीय शोज से एक कदम आगे है, बल्कि कुछ अंतर्राष्ट्रीय स्तर के शोज की भी टक्कर का है। यानी ऑनलाइन मीडियम्स से दर्शकों के पास वह ताकत आ गई है कि वे चलते फिरते कहीं भी ये शोज देखकर उसे सफल बना सकते हैं या सिरे से नकार सकते हैं।”

इस बीच हालांकि वेब सीरीज के बेहद बोल्ड कंटेंट पर आपत्ति उठाते हुए कई वर्गो से ऑनलाइन कंटेंट को भी फिल्मों की ही तरह सेंसरशिप के दायरे में लाने की मांग भी उठी, जिसका वेब वल्र्ड से जुड़े कलाकारों और निमार्ताओं ने जोरदार विरोध भी किया।

हाल ही में वेब सीरीज ‘मोगली : लेजेंड ऑफ द जंगल’ रिलीज हुई जो काफी चर्चा में रही। इस सीरीज में बॉलीवुड एक्टर माधुरी दीक्षित, जैकी श्रॉफ, करीना कपूर, अभिषेक बच्चन और अनिल कपूर ने अपनी आवाज दी है।

माना जा रहा है कि आने वाले दो सालों में भारत में डिजिटल एंटरटेनमेंट का दायरा दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री से भी बड़ा हो जाएगा, क्योंकि अपने स्मार्टफोन पर यू-ट्यूब, हॉट स्टार और नेटफ्लिक्स जैसी स्ट्रीमिंग सर्विसेज की सेवाएं लेने वाले भारतीय दर्शकों की तादाद तेजी से बढ़ती जा रही है।

–आईएएनएस

मनोरंजन

रवीना टंडन शहीदों के बच्चों की शिक्षा के लिए मदद करेंगी

Published

on

raveena-tandon-min
File Photo

अभिनेत्री रवीना टंडन ने कहा कि उनका फाउंडेशन शहीदों के बच्चों की शिक्षा में मदद देगा। रवीना ने मंगलवार को यहां नाइका-फेमिना ब्यूटी अवार्डस 2019 से इतर यह बात कही।

रिपोर्ट में कहा गया है कि अपने परोपकारी कार्यों के लिए जानी जाने वाली रवीना ने शहीदों की बच्चियों की शिक्षा में योगदान देने का फैसला किया है।

इसके बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “ये ऐसा मौका है जब हर किसी को आगे आना चाहिए और जो कुछ भी हो सकता है, उसमें अपना योगदान देना चाहिए।

चाहे वह एक बड़ी राशि हो या छोटी। यहां एक लंबा रास्ता तय करना है और हां, मैंने बालिकाओं को शिक्षित करने की जिम्मेदारी संभाली है लेकिन मैं इसे बालिकाओं तक सीमित नहीं कर रही हूं।”

उन्होंने कहा, “लेकिन, मैंने केवल बच्चियों की बात नहीं की है। यह इस तरह लिखा गया है। केवल बच्चियां नहीं..बल्कि शहीदों के सभी बच्चे। यह केवल पुलवामा हमले के नहीं है..बल्कि हमारे सभी जवानों के लिए है और सभी शहीदों के लिए.. मेरा फाउंडेशन उनकी शिक्षा की देखरेख करेगा और छात्रवृत्ति भी देगा।”

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के मद्देनजर ऑल इंडियन सिने वर्कर्स एसोसिएशन (आईसीडब्ल्यूए) ने पाकिस्तानी अभिनेताओं और भारतीय फिल्म उद्योग में काम करने वाले कलाकारों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।

इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए रवीना ने कहा, “मैं निश्चित रूप से उनके फैसले के साथ खड़ी हूं क्योंकि यह सांस्कृतिक आदान-प्रदान का समय नहीं है। हम सभी बहुत आहत और परेशान हैं। ईमानदारी से कहूं तो इससे पहले मैं पाकिस्तानी कलाकारों को भारत में काम करने पर प्रतिबंध लगाने के फैसले का समर्थन नहीं करती था।

फिर हमने सुना कि पाकिस्तान के कई कलाकार जो काम के लिए यहां आए, वे अपने देश वापस जाने के बाद भारत के बारे में अनादरपूर्वक बात करते हैं। रवीना ने कहा कि पाकिस्तान की सरकार को 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के जिम्मेदार लोगों को गिरफ्तार करना चाहिए।

–आईएएनएस

Continue Reading

मनोरंजन

सिद्धू की जगह लेने की संभावना है : अर्चना

Published

on

Archana Puran
File Photo

अभिनेत्री अर्चना पूरन सिंह का कहना है कि वह नवजोत सिंह सिद्धू की जगह ‘द कपिल शर्मा शो’ में नजर आ सकती हैं।

पुलवामा आतंकी हमले को लेकर विवादास्पद टिप्पणी के बाद कथित तौर पर सिद्धू को शो से बाहर कर दिया गया है। अर्चना ने सीआरपीएफ काफिले पर 14 फरवरी को हुए हमले से पहले ‘द कपिल शर्मा शो’ के दो एपिसोड शूट किए थे। वह बुधवार को सेट पर वापस लौटीं।

अर्चना ने शूट के बाद ट्वीट किया, “आज रात (बुधवार) कपिल के साथ। किंग ऑफ कॉमेडी के साथ शानदार शूट, सेल्फी ब्रेक, एक नई शुरुआत।”यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने सिद्धू की जगह ले ली है, इस पर अर्चना ने आईएएनएस को बताया, “अभी कुछ तय नहीं है। संभावना है।”

एक सूत्र के मुताबिक, आने वाले सप्ताहांत में उनके साथ दोबारा शूटिंग होगी।उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के लोग इसका जवाब देगे। मैं निश्चित नहीं हूं कि मैं इस सप्ताहांत शूटिंग कर पाऊंगी या नहीं।

चैनल ने अभी तक आधिकारिक तौर पर कोई घोषणा नहीं की है।आतंकी हमले के बाद, कपिल के शो का हिस्सा रहे सिद्धू ने मीडिया से कहा था, आतंकवादियों की कायरता के लिए राष्ट्रों को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।”इसके बाद सोशल मीडिया पर सिद्धू को बायकॉट करने की मांग बढ़ गई थी।

आईएएनएस

Continue Reading

मनोरंजन

बेटी के पोलियो टीकाकरण से इनकार पर फवाद खान के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

Published

on

Fawad-Khan-
File Photo

पाकिस्तान में अभिनेता फवाद खान सहित छह लोगों के खिलाफ अपने बच्चों को पोलियो का टीका लगवाने से इनकार करने पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

‘डॉन डॉट कॉम’ के अनुसार, फवाद के मैनेजर ने एक बयान में उन खबरों का खंडन किया जिनमें कहा गया था कि अभिनेता ने अपनी बेटी को टीका लगवाने से इनकार कर दिया।

फवाद के खिलाफ प्राथमिकी केंद्रीय परिषद निगरानी अधिकारी (यूसीएमओ) की शिकायत पर दर्ज की गई है। यूसीएमओ ने शिकायत की कि एक पोलियो टीम मंगलवार शाम पांच बजे फवाद के घर पहुंची। लेकिन परिवार के मुखिया ने बच्चों को पोलियो से बचाने वाला टीका लगाने से मना कर दिया और पोलियो टीम को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी।

प्राथमिकी में लगाए गए आरोपों में लापरवाही से जीवन के लिए खतरनाक बीमारी के संक्रमण फैलाने, आपराधिक धमकी देने, लोक सेवक के सार्वजनिक कर्तव्य में बाधा डालने और सरकारी आदेश की अवेहलना शामिल है।

यह हालांकि स्पष्ट नहीं है कि प्राथमिकी में जिस व्यक्ति को ‘परिवार का मुखिया’ बताया गया है वह फवाद हैं या उनके परिवार का कोई अन्य सदस्य है।

‘डॉन’ की रिपोर्ट के अनुसार, फवाद के प्रबंधक द्वारा जारी किए बयान में उन रिपोर्टों का खंडन किया गया है जिसमें कहा गया कि फवाद ने अपने घर पर अपनी बेटी के टीकाकरण में हस्तक्षेप किया था।

बयान के अनुसार, “पोलियो टीम जब घर आई तब बच्चों के माता-पिता घर में मौजूद नहीं थे। उन्हें प्रेस के माध्यम से प्राथमिकी की सूचना मिली है।”

बयान में कहा गया कि फवाद खान पोलियो-रोधी अभियान का पूरी तरह से समर्थन करते हैं और उन्हें इस बीमारी के संबंध में अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के दिशा-निर्देशों की पूरी जानकारी है। बयान में प्राथमिकी रद्द न होने पर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है।

आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
hafiz saeed pakistan
अंतरराष्ट्रीय11 hours ago

पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संगठन जेयूडी पर फिर से पाबंदी लगायी

raveena-tandon-min
मनोरंजन14 hours ago

रवीना टंडन शहीदों के बच्चों की शिक्षा के लिए मदद करेंगी

sensex-min
व्यापार14 hours ago

शेयर बाजारों में तेजी, सेंसेक्स 142 अंक ऊपर

राष्ट्रीय14 hours ago

मोदी ने दक्षिण कोरियाई विश्वविद्यालय में गांधीजी की प्रतिमा का किया अनावरण

Archana Puran
मनोरंजन15 hours ago

सिद्धू की जगह लेने की संभावना है : अर्चना

शहर15 hours ago

दिल्ली में अक्षरधाम के पास फायरिंग

व्यापार15 hours ago

ईपीएफओ की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी

Farmers
राजनीति15 hours ago

महाराष्ट्र में किसानों का फिर से शुरू हुआ ‘लॉन्ग मार्च’

Samsung
टेक15 hours ago

Samsung ने पहला 5G स्मार्टफोन किया लॉन्च

Supreme_Court_of_India
राष्ट्रीय16 hours ago

पूर्व न्यायाधीश जैन बीसीसीआई के लोकपाल नियुक्त किया

rose day-
लाइफस्टाइल2 weeks ago

Happy Rose Day 2019: करना हो प्यार का इजहार तो दें इस रंग का गुलाब…

Teddy Day
लाइफस्टाइल2 weeks ago

Happy Teddy Day 2019: अपने पार्टनर को अनोखे अंदाज में गिफ्ट करें ‘टेडी बियर’

vailtine day
लाइफस्टाइल1 week ago

Valentines Day 2019 : इस वैलेंटाइन टैटू के जरिए करें प्यार का इजहार

chili-
स्वास्थ्य23 hours ago

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

face recognition india
टेक2 weeks ago

क्या चेहरे की पहचान प्रौद्योगिकी का दुरुपयोग रोकने में सक्षम है भारत?

Digital Revolution
ज़रा हटके3 weeks ago

अरबपति बनिया कैसे बन गए डिजिटल दिशा प्रवर्तक

vijay mallya-min
ब्लॉग2 weeks ago

ईडी की जांच में हुआ खुलासा, माल्या ने कर्ज लेकर रकम देश से बाहर भेजी, लौटाने का इरादा नहीं था

Priyanka Gandhi Congress
ओपिनियन4 weeks ago

क्या प्रियंका मोदी की वाक्पटुता का मुकाबला कर पाएंगी?

Priyanka Gandhi
ओपिनियन4 weeks ago

प्रियंका के आगमन से चुनाव-पूर्व त्रिकोणीय हलचल

Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi
ब्लॉग3 weeks ago

राहुल, प्रियंका के इर्द-गिर्द नए-पुराने कई चेहरे

Most Popular