'अवतार' का सीक्वल फिर से शुरू करने न्यूजीलैंड पहुंचे कैमरून | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

मनोरंजन

‘अवतार’ का सीक्वल फिर से शुरू करने न्यूजीलैंड पहुंचे कैमरून

Published

on

नई दिल्ली, फिल्मकार जेम्स कैमरून बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘अवतार’ के सीक्वल की शूटिंग फिर से शुरू करने के लिए 50 से अधिक सदस्यों की क्रू टीम के साथ न्यूजीलैंड पहुंच गए हैं।

फिल्म सीरीज के फिल्मांकन को फिर से शुरू करने की तैयारी के लिए यूनिट रविवार को न्यूजीलैंड के वेलिंगटन पहुंची। करीब 54 सदस्यीय टीम चार्टर्ड विमान से यहां पहुंची।

वेरायटी डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, फिल्मांकन कार्य तुरंत शुरू नहीं होगा, क्योंकि टीम को पहले खुद को सेल्फ आइसोलेशन में रखना होगा

कैमरून ने कहा, मैं अवतार के काम पर वापस लौटना चाहता था, जो अभी हमें राज्य आपातकालीन कानूनों या नियमों के तहत करने की अनुमति नहीं है। तो अभी सब रुका पड़ा है।

निर्माता जॉन लैंडौ ने इंस्टाग्राम पर यह साझा किया कि क्रू ने न्यूजीलैंड सरकार द्वारा निर्धारित दिशानिर्देशों के अनुसार खुद को आइसोलेट कर लिया है।

लैंडौ ने पोस्ट किया, न्यूजीलैंड के लिए बना दिया है। सरकार द्वारा निर्धारित हमारी 14 दिवसीय सेल्फ-आइसोलशन की शुरुआत हो चुकी है।

कोरोना वायरस की महामारी के कारण न्यूजीलैंड सरकार द्वारा लॉकडाउन के आदेशों के साथ अवतार सीक्वल पर काम मार्च में रुक गया था।

आईएएनएस

मनोरंजन

ओटीटी प्लेटफॉर्म मल्टीप्लेक्स और थियेटर का विकल्प नहीं : सुभाष घई

Published

on

Subhash Ghai-

फिल्मकार सुभाष घई ने कहा कि कोविड-19 के दौरान ओटीटी (ओवर द टॉप) प्लेटफॉर्म का भले ही विस्तार हुआ है, लेकिन देश में मल्टीप्लेक्स और सिनेमा घर का कोई विकल्प नहीं है। वेब सीरीज हो या फिल्म सभी के लिए सबसे महत्वपूर्ण कंटेंट है। लोग स्थानीय कंटेंट को पसंद करते है, लेकिन इसे कहने का तरीका आना चाहिए।

सुभाष घई ने कहा कि डिजिटल प्लेटफॉर्म की वजह से अब किसी को प्रोड्क्शन हाउस के चक्कर काटने की जरूरत नहीं है। अब खुद एक्टर बन सकते है, डायरेक्टर बन सकते है। यदि कंटेंट में दम है तो उसे लोग हाथों हाथ लेंगे और वह फिर आमदनी का जरिया बन जाएगा।

नेशनल स्किल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन और अभिलाषा प्रोड्क्शन की खास पेशकश आपकी बात द्वारा कोविड-19 के दौरान डिजिटल मीडिया का विस्तार : नए कौशल की संभावनाएं एवं चुनौतियां विषय पर एक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार इनसाइट 8.0 का आयोजन किया। इसमें बतौर विशेषज्ञ व वक्ता मशहूर फिल्म निर्माता व शिक्षाविद सुभाष घई शामिल रहे।

भारत के इस मशहूर फिल्मकार के साथ ही वेबिनार में हॉलीवुड अभिनेता व निर्देशक एडवर्ड जेम्स ओल्मोस, अंतरराष्ट्रीय निमार्ता व एसोसिएटेड फाइनेंशियल कॉरपोरेशन के कार्यकारी चेयरमैन स्टीवन जब्कोफ और मीडिया एंड एंटरटेनमेंट सेक्टर स्किल काउंसिल के सीईओ मोहित सोनी ने भी हिस्सा लिया।

इस पूरे वेबिनार का संचालन प्रोटाटेक के सीईओ व प्रेसिडेंट अब्राहम कुमार ने किया। वेबिनार में भारत के अलग-अलग शहरों के अलावा अमेरिका के लोगों ने भी हिस्सा लिया।

वक्ताओं ने इस वेबिनार में कोविड-19 के कारण उपजे स्थिति में डिजिटल मीडिया के विस्तार से पैदा हुए अवसर और सिनेमा के सामने चुनौतियों के बारे में बात कीं।

हॉलीवुड अभिनेता व निर्देशक एडवर्ड जेम्स ओल्मोस का कहना है, डिजिटल प्लेटफॉर्म की वजह से अब तकनीकी तौर पर सक्षम होने की जरूरत है। एक अच्छा अभिनेता बनने के लिए कैमरा, लाइटिंग और साउंड की अच्छी समझ होनी चाहिए। निर्देशक बनने के लिए भी ये बातें लागू होती हैं। तकनीक ने मोबाइल फिल्म की नई विधा को जन्म दिया है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मोबाइल से फिल्में बनकर फिल्म फेस्टिवल में आ रही हैं, लेकिन इसके लिए हुनर सीखने की जरूरत है।

अंतरराष्ट्रीय निर्माता व एसोसिएटेड फाइनेंशियल कॉरपोरेशन के कार्यकारी चेयरमैन स्टीवन जब्कोफ ने बताया कि अच्छे कंटेंट को खरीदने वालों की लंबी फेहरिस्त है। अगर स्टोरी में दम है तो उसे मुंह मांगे दाम मिल जाते है। ओटीटी प्लेटफॉर्म ने अंतरराष्ट्रीय स्तर के निर्माताओं को दूसरी भाषाओं में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित किया है।

वेबिनार में मौजूद मीडिया एंड एंटरटेनमेंट सेक्टर स्किल काउंसिल के सीईओ मोहित सोनी ने बताया कि युवाओं को नई स्किल सिखाने के लिए एमईएससी लगातार काम कर रही है। इसके लिए एक अलग प्लेटफॉर्म विद्यादान डॉट नेट शुरू किया गया है, जिसमें युवा अपनी पसंद के हिसाब से कोर्स कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत विजन के लिए स्किल ट्रेनिंग बहुत ही जरूरी है। मीडिया और एंटरटेनमेंट सेक्टर में करियर की असीम संभावनाएं हैं।

वेबिनार के दौरान वक्ताओं ने बताया कि लॉकडाउन में मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन ओटीटी प्लेटफॉर्म बनकर उभरा है। स्टैटिसटिक्स के आंकड़ों के अनुसार, ओटीटी प्लेटफॉर्म का सब्सक्रिप्शन रेवेन्यू 2019 में 1200 करोड़ रुपये था। 2024 तक 7400 करोड़ रुपये तक पहुंचने का अनुमान है। आने वाले वक्त में इसके कंटेंट से लेकर मार्केटिंग स्ट्रैटजी सभी में बदलाव होगा। इससे संभावनाओं का विस्तार होगा।

आईएएनएस

Continue Reading

मनोरंजन

सुशांत के पिता ने मांगा न्याय, कहा- ‘सीबीआई जांच हो’

Published

on

Sushant Singh Rajput
बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (फाइल फोटो)

पटना। बॉलीवुड के अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनके कथित आत्महत्या मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग उनके अपने शहर पटना में अब जोर पकड़ती जा रही है। इस बीच, सुशांत के पिता क़े क़े सिंह का एक ट्विटर अकाउंट भी सामने आया है, जिसके जरिए वे भी अपने पुत्र के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं।

उन्होंने भी इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है।

सुशांत के पिता के के सिंह के ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा गया है, आज मेरे बेटे सुशांत की आत्मा रो रही है। और सीबीआई जांच की मांग कर रही है।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, मेरा बेटा सुशांत सिंह राजपूत बहुत बहादुर था। मुझे मालूम है वो कभी आत्महत्या नहीं कर सकता। उसकी हत्या करके आत्महत्या साबित करने की कोशिश की जा रही है। मैं निवेदन करता हूं कि पूरे मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए।

इधर, उनके ट्वीट पर लोगों की तरह-तरह प्रतिक्रियाएं भी सामने आ रही है।

उल्लेखनीय है कि बिहार की राजधानी पटना के रहने वाले सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को कथित रूप से अपने मुंबई के बांद्रा स्थित लैट पर आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद से ही विभिन्न सामाजिक संगठनों औ राजनीतिक संगठनों द्वारा पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग हो रही है।

Continue Reading

मनोरंजन

अजय देवगन ने गलवान घाटी घटना पर फिल्म बनाने की घोषणा की

Published

on

ajay-devgan

अभिनेता-निर्माता अजय देवगन लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय सैनिकों पर किए गए हमले के आधार पर एक फिल्म बनाने की घोषणा करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

फिल्म को लेकर मिली जानकारी के अनुसार, इसमें ’20 भारतीय सेना के जवानों के बलिदान की कहानी सुनाई जाएगी, जिन्होंने चीनी सेना का मुकाबला किया था’।

हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि अजय फिल्म में अभिनय करेंगे या नहीं। कलाकारों और अन्य क्रू टीम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। फिल्म को अजय देवगन एफफिल्म्स और सेलेक्ट मीडिया होल्डिंग्स एलएलपी द्वारा सह-निर्मित किया जाएगा।

गौरतलब है कि 15 जून को पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों ने अपनी जान गंवा दी थी।

साल 1975 के बाद भारतीय सेना और चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के साथ टकराव का पहला मामला था। तब अरुणाचल प्रदेश में चीनी सैनिकों ने भारतीय गश्ती दल पर हमला किया था।

अजय जल्द ही \’भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया\’ के साथ आ रहे हैं। इस फिल्म में संजय दत्त, सोनाक्षी सिन्हा, एमी विर्क और शरद केलकर भी हैं, वहीं फिल्म अभिषेक दुधैया द्वारा लिखित और निर्देशित है। फिल्म को जल्द ही एक ओटीटी प्लेटफॉर्म पर डिजिटल रूप से प्रीमियर किया जाएगा।

आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular