Connect with us

राष्ट्रीय

लोंगेवाला युद्ध के नायक ब्रिगेडियर चांदपुरी का निधन

Published

on

Kuldeep Singh-
File Photo

लोंगेवाला युद्ध के नायक ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी का मोहाली के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 78 साल के थे।

साल 1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान मेजर रहे चांदपुरी ने राजस्थान के लोंगेवाला की प्रसिद्ध लड़ाई में महज 120 जवानों के साथ, पाकिस्तानी टैंकों के हमले का डटकर सामना किया था और उन्हें खदेड़ दिया था।

टैंकों के खिलाफ वीरता से खड़े होने और दुश्मन को पीछे हटने के लिए मजबूर करने के लिए उन्हें महावीर चक्र (एमवीसी) से सम्मानित किया गया। ब्रिगेडियर चांदपुरी और सेना के जवानों की जीत पर बाद में बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘बॉर्डर’ बनाई गई, जिसे 1997 में रिलीज किया गया।

फिल्म में सनी देओल ने उनका किरदार निभाया था। कुलदीप सिंह का जन्म अविभाजित भारत के पंजाब क्षेत्र में मांटगोमेरी में 22 नवंबर 1940 को हुआ था। उसके बाद उनका परिवार तो उनके पैतृक गांव चांदपुर रुड़की चला आया, जो बलचौर में है। कुलदीप सिंह अपने माता-पिता की अकेली संतान थे।

वह एनसीसी के सक्रिय सदस्य थे और उन्होंने 1962 में होशियारपुर गवर्नमेंट कॉलेज से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। एनसीसी की परीक्षा भी उत्तीर्ण की थी। कुलदीप सिंह 1962 में भारतीय सेना में भर्ती हुए। उन्होंने चेन्‍नई के ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी से कमीशन प्राप्त किया और पंजाब रेजीमेंट की 23वीं बटालियन में शामिल हुए।

उन्होंने 1965 और फिर 1971 के युद्ध में भाग लिया। युद्ध में उन्‍होंने अपनी वीरता की अमिट छाप छोड़ी। उन्होंने एक साल के लिए संयुक्त राष्ट्र के आपातकालीन बल को भी अपनी सेवाएं भी दीं और गाजा (मिस्र) में कार्यरत रहे। वे दो बार मध्‍यप्रदेश के महू के प्रतिष्ठित इन्फैंट्री स्कूल में इन्स्ट्रक्टर भी रहे।

कुलदीप सिंह भारतीय सेना में सेवा देने वाले अपने परिवार के तीसरे सदस्य थे। उन्होंने लोंगावाला के प्रसिद्ध लड़ाई में भारतीय सेना का वीरता के साथ नेतृत्व किया, जिसके लिए उन्हें महावीर चक्र से सम्मानित किया गया। बाॅलीवुड की फिल्म ‘बॅार्डर’ लोंगावाला के युद्ध पर आधारित है।

इसमें ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह का किरदार सनी देओल ने निभाया था। 1971 में हुए भारत-पाकिस्‍तान युद्ध में लोंगेवाला पोस्ट पर अहम भूमिका निभाने वाले ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी ने अपने 90 सैनिकों के साथ पाकिस्‍तान के 2000 सैनिकों का मुकाबला किया और उन्हें ढेर कर दिया।

WeForNews

राष्ट्रीय

पुलवामा मुठभेड़ में मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 जेईएम कमांडर ढेर

Published

on

Kashmir

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के पिंगलिन इलाके में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में एक मेजर समेत 4 जवान शहीद हो गए, जबकि जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के दो आतंकी मारे गए। इस दौरान एक नागरिक की भी मौत हुई है। 

मुठभेड़ जिस जगह हुई वह कुछ दिनों पहले केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले के स्थान से महज 10 किलोमीटर की दूरी पर ही है।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा, “मारे गए जेईएम आतंकवादियों में एक शीर्ष कमांडर है जो पाकिस्तान का रहने वाला है।”

पिंगलेना गांव में रविवार रात हुई मुठभेड़ में मेजर के अलावा तीन जवान भी शहीद हुए हैं और नागरिक की भी मौत हुई है जिसकी पहचान मुश्ताक अहमद के रूप में हुई है।

मुठभेड़ रविवार देर रात शुरू हुई जब सुरक्षा बलों, राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), राज्य पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने जैश-ए-मुहम्मद (जेईएम) के आतंकवादियों की यहां छिपे होने की खुफिया सूचना मिलने के बाद पिंगलेना गांव को घेर लिया। 

कालिया ने कहा, “घेराबंदी जैसे ही कड़ी हुई छिपे हुए आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गया।” 

इससे पहले 14 फरवरी को पुलवामा में जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर सीआरपीएफ काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। 

  WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

पुलवामा हमला: पाकिस्तान ने भारत से अपने उच्चायुक्त को वापस बुलाया

Published

on

Pakistan

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमले के बाद पाकिस्तान ने भारत से अपने उच्चायुक्त को वापस बुला लिया है।

उच्चायुक्त नई दिल्ली से पाकिस्तान के लिए निकल गए हैं। इसकी जानकारी पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने ट्वीट कर दी।

मोहम्मद ने कहा, “हमने बातचीत के लिए भारत में अपने उच्चायुक्त को वापस बुला लिया है। उन्होंने आज सुबह में वो नई दिल्ली से निकल चुके हैं।”

बता दें कि पाकिस्तान में बैठे जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा में आतंकी हमले को अंजाम दिया है, जिसमें CRPF के 40 जवान शहीद हो गए थे। पुलवामा हमले से उत्पन्न स्थित को लेकर पिछले दिनों भारत ने पाकिस्तान में स्थित अपने उच्चायुक्त को दिल्ली बुला लिया था।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

रायपुर रेलवे स्टेशन पर 100 फीट ऊंचा तिरंगा झंडा लगाया गया

Published

on

Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के रायपुर रेलवे स्टेशन पर 100 फीट ऊंचा तिरंगा झंडा लगाया गया। स्टेशन के मेन गेट व वीआईपी गेट के आसपास सौ फीट के लंबे पोल पर तिरंगा झंडा लगा।

रेलवे सुरक्षा बल की सलामी और राष्ट्रगान के साथ स्टेशन में ध्वजारोहण के साथ रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर सांसद रमेश बैस, विधायक कुलदीप जुनेजा, महापौर प्रमोद दुबे, डीआरएम कौशल किशोर के साथ ही रेलवे के तमाम बड़े अफसर व कर्मचारी यहां उपस्थित रहे।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular