बुढ़ापे में कम वजन से हड्डियों को नुकसान संभव | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

स्वास्थ्य

बुढ़ापे में कम वजन से हड्डियों को नुकसान संभव

Published

on

weight-

जरूरत से ज्यादा वजन कम होने को स्वस्थ माना जा सकता है, जिस पर शोधकर्ताओं ने दावा किया कि इससे बुजुर्गो की हड्डियों की सघनता, बनावट और मजबूती में कमी हो सकती है।

एक अध्ययन के मुताबिक, कंकाल में परिवर्तन के परिमाण नैदानिक रूप से महत्वपूर्ण थे और जिन 40 वर्षो की उम्र से अधिक लोगों ने पांच प्रतिशत या उससे अधिक वजन कम किया, उन लोगों में फ्रैक्चर के जोखिम में लगभग तीन गुना वृद्धि हुई।

बुजुर्गों में दीर्घकालिक और हाल ही में वजन कम करने को निम्न कॉर्टिकल घनत्व और मोटाई, अधिक कॉर्टिकल पोरोसिटी और निम्न घनत्व एवं संख्या के साथ जुड़ा पाया गया।

अमेरिकी की एजिंग रिसर्च के लिए हिब्रू सीनियरलाइफ इंस्टीट्यूट के मुख्य शोधकर्ता डगलस पी. कील ने कहा, “हमने अपने शोध में पाया कि चार से छह साल की कम अवधि के दौरान वजन घटाने वाले पुरुषों व महिलाओं और 40 साल से अधिक उम्र के बाद वजन घटाने वाले पुरुषों व महिलाओं की हड्डियों की सूक्ष्म-बनावट में कमी देखी गई। जबकि वजन नहीं घटाने वाले व्यक्तियों में इस प्रकार की कमी नहीं देखी गई।”

यह अध्ययन जर्नल ऑफ बोन एंड मिनरल रिसर्च में प्रकाशित हुई है, इसमें 70 साल की उम्र के औसत वाले 595 पुरुष और 796 महिलाएं शामिल थीं। हलिया छह सालों में आए बदलाव को जानने के लिए प्रत्येक चार से छह साल का वजन माप लिया गया और लंबी अवधि के लिए 40 साल से ज्यादा की उम्र के बाद का माप लिया गया।

–आईएएनएस

स्वास्थ्य

कॉफी के तत्व प्रोस्टेट कैंसर का खतरा घटाने में सहायक

Published

on

सुबह का बेहतरीन पेय होने के साथ ही कॉफी प्रोस्टेट कैंसर को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है, जिससे दवा-प्रतिरोधी कैंसर के इलाज का मार्ग प्रशस्त हो सकता है।

जापान के कनाजावा विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने कहविओल एसिटेट व कैफेस्टोल तत्वों की पहचान की है, जो प्रोस्टेट कैंसर की वृद्धि को रोक सकते हैं। 

ये दोनों तत्व हाइड्रोकॉर्बन यौगिक हैं, जो प्राकृतिक रूप से अरेबिका कॉफी में पाए जाते हैं। 

इसके पायलट अध्ययन से पता चलता है कि कहविओल एसिटेट व कैफेस्टोल कोशिकाओं की वृद्धि को रोक सकते हैं, जो आम कैंसर रोधी दवाओं जैसे कबाजिटेक्सेल का प्रतिरोधी है।

शोध के प्रमुख लेखक हिरोकी इवामोटो ने कहा, “हमने पाया कि कहविओल एसिटेट व कैफेस्टोल ने चूहों में कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि रोक दी, लेकिन इसका संयोजन एक साथ ज्यादा प्रभावी होगा।”

इस शोध के लिए दल ने कॉफी में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले छह तत्वों का परीक्षण किया। इस शोध को यूरोपियन एसोसिएशन ऑफ यूरोलॉजी कांग्रेस में बार्सिलोना में प्रस्तुत किया गया। शोध के तहत मानव की प्रोस्टेट कैंसर की कोशिकाओं पर प्रयोगशाला में अध्ययन किया गया।

–आईएएनएस

Continue Reading

लाइफस्टाइल

ऐसे बढ़ाएं आँखों की रौशनी…

Published

on

File Photo

अपनी आँखों से ही हम इस खूबसूरत दुनिया को देख पाते हैं। आज के दौर में कम उम्र में ही बच्चों को चश्मा लग जाता है। ऐसे में हमें आंखों का ख्याल रखना जरूरी है।

ऐसा बच्चो की टीवी और मोबाइल की गन्दी आदत की वजह से होता है। अगर आपको अपनी आँखों की रौशनी बरकरार रखनी है तो उसके लिए आप कुछ हेल्थी फ़ूड खाए। आज हम आपको कुछ ऐसी ही आहार बताने जा रहें है जो आपकी आँखों की रौशनी को तेज करने में मदद करेंगे।

गाजर

गाजर का सेवन करने से आपकी आँखों की रौशनी में तेजी होती है। क्योंकि इसमें वीटा केरोटीन की मात्रा पाई जाती है। गजर के साथ आप नींबू , संतरा, और खट्टे फल का भी सेवन कर सकते है। इन सभी फलों में विटामिन बी12 केटरोटिन पाई जाती जे जो आँखों की रौशनी को तेजी से बढ़ती है।

अखरोट

आपकी जानकारी के लिए बता दें अखरोट में ओमेगा -3 फैटी ऐसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। अखरोट खाने से आपके आँखों की रौशनी तेजी से बढ़ती है, इसलिए आने आहार में आप इससे जरूर शामिल करें।

Image result for अखरोट

बादाम दूध

अगर आपको अपनी आँखों की रौशनी तेज करनी है तो एक हफ्ते में कम से कम तीन बार बादाम दूध पिए। क्योंकि इसमें विटामिन ई पाया जाता है, जो आँखों की कई समस्याओं को दूर करता है। साथ ही आँखों की रौशनी तेज करता है।

almonds-walnuts-

हरी सब्जियां

हरी सब्ज़िया भी आँखों की रौशनी के लिए बेहद लाभकारी है। क्योंकि इसमें मौजूद लूटीन और जियाक्सथीन (कैमिकल) होता है जो आँखों के लिए बेहद फायदेमंद होता है।

Green vegetables-
File Photo

WeForNews

Continue Reading

लाइफस्टाइल

भुट्टे के ऊपर पानी पीने से हो सकती हैं ये बीमारियां…

Published

on

Bhutte
File Photo

बारिश के मौसम में भुट्टा खाने का एक अलग ही स्वाद होता है। हर कोई भुट्टा खाने का शौकीन होता है। कई बार हम इसे पॉपकॉर्न के रूप में भी खाते हैं।

लेकिन अगर आप भुट्टे के ऊपर पानी पी लेते है तो ये आपकी सेहत को नुकसान पहुँचता है। भुट्टा खाने के बाद तुरंत पानी पीने से पेट की कई समस्या हो जाती है।

साथ ही ये पेट को फूल देता है। इतना ही नहीं भुट्टे का सेवन करने से आपका पाचन तंत्र भी कमजोर होने लगता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें कार्बोस और स्टार्च की भरपूर मात्रा पाई जाती है। जब इन दोनों का साथ सेवन करते है तो पेट में गैस रुकने लगती है।

जिसके कारण पेट में एसिडीटी, पेट में दर्द जैसी गंभीर समस्या होने लगती है। अगर आपको भुट्टे के ऊपर पानी ही पीना है तो 45 मिनट पहले पी लें इसके बाद ना पीए। ऐसा करने से आपको कोई गभीर बीमारी नहीं होगी।

इतना ही नहीं आप मानसून में होने वाली समस्याओं से बच सकते है। और आप हमेशा हेल्थी भी बने रहंगे।बता दे भुट्टे का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से आपको विटामिन की कमी जैसी परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है।

इतना ही नहीं भुट्टे को कच्चा खाने से आपको दस्त और पेट से संबंधित कई अन्य परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। कुछ लोगो को भुट्टे के सेवन से एलर्जी और त्वचा पर चकत्ते या उल्टी जैसी परेशानिया हो जाती है।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular