क्वारंटीन में ऐसे निखारें खूबसूरती | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

लाइफस्टाइल

क्वारंटीन में ऐसे निखारें खूबसूरती

Published

on

Beauty Tips
(फोटो: आईएएनएस)

नई दिल्ली। कोरोनावायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए सरकार की ओर से देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया गया है। ऐसे में घरों में रहने के दौरान आप अपने पसंदीदा कामों को करने के साथ ही साथ अपनी भी देखभाल कर सकते हैं। वीएलसीसी की संस्थापक और सह-अध्यक्ष वंदना लूथरा की ओर से कुछ ऐसे ही बेहतरीन टिप्स सुझाए गए हैं, जिन्हें अपनाकर आप अपनी बेजान त्वचा में एक नई जान डाल सकते हैं।

त्वचा की देखभाल

चूंकि इस वक्त पार्लर और सैलॉन वगैरह अभी बंद हैं, इसलिए घर पर अपनी त्वचा की देखभाल करने के अलावा और कोई चारा नहीं बचता है। हालांकि घर की रसोई में मौजूद कुछ चुनिंदा चीजों के सही इस्तेमाल से ही ये किसी फेशियल की ही तरह आपके चेहरे पर निखार ला सकते हैं। आप इसके लिए बेहद पके हुए केले और इसके छिलके, दही, खीरा और बेसन को एक साथ मिलाकर इसका इस्तेमाल अपने चेहरे पर करें और इसे एक नई जिंदगी दें।

क्लीनजिंग से पॉल्यूशन को करें दूर

प्रदूषण और सूर्य की पराबैंगनी किरणों से हमारी त्वचा बेहद ही बुरी तरह से प्रभावित होती है। घर पर ऑफिस का काम करने के चलते लैपटॉप पर घंटों बिताने से भी हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचता है। इसके साथ ही घर पर सदस्यों की मौजूदगी में बार-बार खाने पकाने के चलते चूल्हे के पास भी जाना पड़ता, जिसका भी प्रभाव हमारी त्वचा पर पड़ता है। इन सारी समस्याओं को क्लीनजिंग से दूर किया जा सकता है।

ब्लीच के लिए यह है बेहतर समय

टैन रिमूव करने, तुरंत निखार पाने और त्वचा से गंदगी हटाने में ब्लीच का कोई जवाब नहीं है। हालांकि ब्लीच से आपकी त्वचा कुछ समय तक के लिए सेंसिटिव हो जाती है, ऐसे में 1-2 दिन तक धूप से बचकर रहना ही फायदेमंद है, लेकिन काम के चलते हमें बाहर निकलना ही पड़ता है और चूंकि इस वक्त हम अपने घरों में हैं, ऐसे में यह ब्लीच करने के लिए एक उपयुक्त वक्त है।

ज्यादातर क्रीम-बेस्ड ब्लीच का ही इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन अब अधिकतर ब्यूटी ब्रांड्स इस बात को समझने लगे हैं कि जेल बेस्ड ब्लीच ही ज्यादा बेहतर है और इससे जलन भी कम होती है। ये सेंसिटिव स्किन के लिए भी सुरक्षित है और चमकती त्वचा के लिए इसमें ऑक्सीजन की मात्रा भी अधिक होती है।

स्ट्रेस से ऐसे करें मुकाबला

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर मनोचिकित्सकीय सहायता लेने वाले लोगों की संख्या में पिछले कुछ दिनों में वृद्धि देखी गई है। प्रैक्टो जैसे एप में पिछले कुछ हफ्तों में 50 प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी हुई है। जाहिर सी बात है कि लोग इस वक्त तनाव में हैं। स्वास्थ्य की चिंता, नौकरी खोने का डर, परिवार वालों से दूरी, ऐसी कई सारी परेशानियां इस वक्त हमें घेरे हुई हैं। ऐसे में मानसिक तनाव का होना लाजिमी है और इसका प्रभाव चेहरे पर पड़ना भी स्वाभाविक है। बाजार में ऐसे कई सारे उत्पाद हैं, जो स्किन डिफेंस को सुधारने में सहायक हैं, ताकि इन परेशानियों से लड़ने के लिए आपकी त्वचा तैयार रहे। इसके अलावा भी आप तनाव से दूर रहने के लिए घर पर रहकर कुछ देर के लिए अपने किसी पसंदीदा काम को भी कर सकते हैं या शारीरिक गतिविधियों में अपना समय बिता सकते हैं जैसे कि योगा, ध्यान इत्यादि। ये तनाव को दूर भगाने में बेहद कारगर हैं।

हाथों और नाखूनों का ऐसे रखें ख्याल

बार-बार अपने हाथों को धोना इस वक्त समय की मांग है। इसके अलावा भी घर के काम इत्यादि करना भी कोई बच्चों का खेल नहीं है। ऐसे में नाखून व हाथ दिखने में खराब लगने लगते हैं। इन्हें दोबारा खूबसूरत बनाने के लिए ये नुस्खा अपना सकते हैं।

इसके लिए एक कांच के कटोरे में एक टीस्पून ऑलिव ऑयल लें (तिल और नारियल के तेल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है), उसमें एक टीस्पून कद्दूकस किया हुआ अदरक मिलाएं, आधा चम्मच शहद डालें और 2-तीन बूंदे नींबू का रस मिलाएं। इसे मिक्स कर अपने हाथों में सकरुलर मोशन में मसाज करें। स्क्रब करना चाहते हैं, तो दालचीनी पाउडर को भी इसमें एड कर सकते हैं। कुछ देर ऐसा करने के बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। इससे आपके हाथ फिर से चमक उठेंगे।

–आईएएनएस

लाइफस्टाइल

हल्की खांसी और गले में खराश, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

Published

on

ayurved
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरोना संकट के इस दौर में हल्की खांसी और गले में खराश को लेकर बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है। मौसम में बदलाव और ठंडा-गर्म खानपान के कारण यह समस्या हो सकती है। इसके लिए अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इसकी दवा तो आपकी रसोई में ही मौजूद है। बस, जरूरत है उसे जानने और दूसरों को समझाने की। आयुर्वेद के इसी ज्ञान से खुद और दूसरों को सुरक्षित रखा जा सकता है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की आयुष इकाई के महाप्रबंधक डॉ. रामजी वर्मा का कहना है कि सूखी खांसी व गले में खराश को दूर करने में आयुष का घरेलू उपचार बहुत ही कारगर है। इसके लिए ताजे पुदीने के पत्ते और काला जीरा को पानी में उबालकर दिन में एक बार भाप लेने से इस तरह की समस्या से राहत मिल सकती है। इसके अलावा लौंग के पाउडर को मिश्री-शहद के साथ मिलाकर दिन में दो से तीन बार सेवन करने से इस तरह की समस्या दूर हो सकती है।

डॉ. वर्मा का कहना है कि अगर इसके बाद भी परेशानी ठीक नहीं होती है, तब चिकित्सक की सलाह लें।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के एक से एक नुस्खे आयुर्वेद में मौजूद हैं, जिसको आजमाकर हम कोरोना ही नहीं अन्य संक्रामक बीमारियों को भी अपने से दूर कर सकते हैं । इसके अलावा इन नुस्खों के कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हैं।

डॉ. वर्मा ने बताया कि भोजन में हल्दी, धनिया, जीरा और लहसुन का इस्तेमाल भी इसमें बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके अलावा दूध में हल्दी मिलाकर पीना, गुनगुना पानी और हर्बल चाय का काढ़ा पीकर भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं।

इसके साथ ही योगा, ध्यान और प्राणायाम का भी सहारा लिया जा सकता है। बदली परिस्थितियों में आप यही छोटे-छोटे नुस्खे आजमाकर स्वस्थ रह सकते हैं, क्योंकि अभी अस्पताल और चिकित्सक कोरोना के मरीजों की जांच और देखरेख में व्यस्त हैं। इसलिए अस्पतालों में अनावश्यक दबाव बढ़ाने से बचें और सुरक्षित रहें।

–आईएएनएस

Continue Reading

लाइफस्टाइल

कोविड-19 से संक्रमित रोगियों को हो सकती है थायराइड की भी समस्या

Published

on

File Photo

नई दिल्ली,कोरोनावायरस से संक्रमित हुए रोगियों को एक सूजन संबंधी थायरॉयड बीमारी सबस्यूट थायरॉयडिटिस हो सकती है। एक नए शोध में यह बात सामने आई है।

शोधकर्ताओं ने बताया कि सबस्यूट थायरॉयडिटिस एक सूजन थायरॉयड रोग है। इसकी विशेषता है कि इसके चलते गर्दन में दर्द होता है और यह आमतौर पर एक अपर रेस्पिरेट्री ट्रैक्ट संक्रमण के चलते होता है।

द जर्नल ऑफ क्लिनिकल एंडोक्रिनोलॉजी एंड मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित एक नए मामले के अध्ययन के अनुसार, यह एक वायरल संक्रमण या एक पोस्ट-वायरल इंफ्लेमेटरी रिएक्शन के कारण हो सकता है, और कई वायरस ऐसे हैं, जो रोग से जुड़े हुए हैं।

गंभीर श्वसन लक्षणों के साथ सार्स-कोव-2 (कोविड-19) एक महामारी के रूप में उभरा है और इसमें अन्य अंग शामिल हो सकते हैं। कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों का वैश्विक आंकड़ा 50 लाख से अधिक हो चुका है।

इटली के यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ऑफ पीसा के शोधकर्ता फ्रांसेस्को लैट्रॉफ ने कहा, हमने सार्स-कोव-2 संक्रमण के बाद सबस्यूट थायरॉयडिटिस के पहले मामले की सूचना दी । चिकित्सकों को कोविद -19 से संबंधित इस अतिरिक्त संभावना के बारे में सतर्क किया जाना चाहिए।

आईएएनएस

Continue Reading

लाइफस्टाइल

कोरोना वायरस के खिलाफ ‘कवच’ फीफाट्रोल असरदार

Published

on

ayurved medicine

नई दिल्ली: विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्रालय के राष्ट्रीय अनुसंधान एवं विकास निगम (एनआरडीसी) ने वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए शरीर को मजबूत और कवच बनाने वाली फीफाट्रोल दवा को कोविड उपचार एवं बचाव तकनीकों में शामिल किया है।

इससे पहले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भोपाल के डॉक्टर भी अध्ययन के बाद इसे आयुर्वेदिक एंटीबॉयोटिक कहा था।

इसके अनुसार एमिल फार्मास्युटिकल के गहन अध्ययन के बाद तैयार दवा फीफाट्रोल में सुदर्शन घन वटी, संजीवनी वटी, गोदांती भस्म, त्रिभुवन कीर्ति रस व मत्युंजय रस जड़ी बूटियां हैं जिनके जरिए यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने में सहायक है।

कोविड जांच, उपचार और निगरानी तीन बिंदुओं पर केंद्रित एनआरडीसी की रिपोर्ट में बताया गया है कि इस वक्त करीब 13 मोबाइल एप ऐसे हैं जिनके जरिए इस महामारी से जुड़ी सत्य जानकारियां प्राप्त की जा सकती हैं। यह सभी भारतीय एप निशुल्क डाउनलोड किए जा सकते हैं जिसमें आरोग्य सेतु भी शामिल है।

इनके अलावा संक्रमण के सर्विलांस को लेकर करीब 22 तकनीकों पर काम चल रहा है। इनके अलावा तकरीबन 31 अध्ययन जांच किट्स को लेकर संचालित हैं। करीब 60 अध्ययन ऐसे हैं जो अस्पतालों में दिए जाने वाले कोविड उपचार पर केंद्रित हैं। आईआईटी रोपड़ के इंजीनियर ऐसे वार्डबूट का निर्माण कर रहा है जो संबंधित अस्पताल के कंट्रोल रूम से रिमोट द्वारा संचालित होगा और कोविड मरीज को उसके कमरे में जाकर दवा और खाना दे सकेगा।

सीएसआईआर के महानिदेश डॉ. शेखर सी मांडे ने एनआरडीसी द्वारा तैयार 200 कोविड तकनीकों की इस रिपोर्ट को लांच किया। इसमें कोविड की पहचान करने, जांच करने और उपचार एवं रोकथाम की अनेक तकनीकों को सूचीबद्ध किया गया है। फीफाट्रोल को उपचार एवं रोकथाम तकनीकों की श्रेणी में स्थान दिया गया है।

एनआरडीसी के प्रबंध निदेशक डा. एच. पुरुषोत्तम के अनुसार, सभी हितधारकों के लाभ के लिए सर्वाधिक प्रासंगिक और उभरती हुई स्वदेशी एवं नवाचार तकनीकों का संकलन किया है। यह संकलन नीति निर्माताओं, उद्योग जगत और शोधकर्ताओं के लिए एक संदर्भ का काम करेगा।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
NOKIA
राष्ट्रीय8 mins ago

नोकिया के 42 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव

अंतरराष्ट्रीय19 mins ago

कोविड-19 : इजरायल में 23 नए मामले, कोई नई मौत नहीं

Coronavirus
अंतरराष्ट्रीय21 mins ago

कोविड-19 : ब्रिटेन में 134 नई मौतें, 37 हजार के पार हुआ आंकड़ा

France Coronavirus Covid 19
अंतरराष्ट्रीय23 mins ago

कोविड-19 : फ्रांस में मौतों का आंकड़ा बढ़कर 28 हजार 530 हुआ

Coronavirus
राष्ट्रीय32 mins ago

ओडिशा में कोरोना के 76 नए केस

राष्ट्रीय32 mins ago

पूर्व पीएम नेहरू की 56वीं पुण्यतिथि पर मोदी-राहुल ने दी श्रद्धांजलि

Coronavirus
अंतरराष्ट्रीय34 mins ago

पाकिस्तान में कोरोना से 58 हजार से अधिक संक्रमित

sensex-
व्यापार41 mins ago

मजबूत विदेशी संकेतों से 200 अंक चढ़ा सेंसेक्स, निफ्टी भी तेज

टेक43 mins ago

हुआवे की वॉच जीटी-2ई बेहतरीन बैटरी बैकअप के साथ सेगमेंट में बेस्ट

Coronavirus
राष्ट्रीय47 mins ago

झारखंड में कोरोना के 19 नए मामले आए सामने

Multani Mitti-
लाइफस्टाइल3 weeks ago

चेहरे के लिए इतनी फायदेमंद होती है मुल्तानी मिट्टी…

pm modi cm meeting
ओपिनियन3 weeks ago

धन्य है गोदी मीडिया जिसने प्रधानमंत्री के बयान को भी ‘अंडरप्ले’ कर दिया!

Modi Trump
ओपिनियन3 weeks ago

ट्रम्प को अपना सिंहासन डोलता दिख रहा है, भारत भी अछूता नहीं रहने वाला

Narendra Modi
ब्लॉग3 weeks ago

अद्भुत है मोदीजी की ‘कष्ट-थिरैपी’!

Migrant Workers in Train
ब्लॉग3 weeks ago

सम्पन्न तबके की दूरदर्शिता के बग़ैर पटरी पर नहीं लौटेगी अर्थव्यवस्था

Sonia Gandhi Congress Prez
ओपिनियन3 weeks ago

क्या काँग्रेस के लिए टर्निंग प्वाइंट बनेगी ग़रीबों का रेल-भाड़ा भरने की पेशकश?

मनोरंजन4 weeks ago

डीडी नेशनल पर रविवार से प्रसारित होगा लोकप्रिय धारावाहिक श्रीकृष्णा

Rs 2000 Note
व्यापार3 weeks ago

कर्नाटक में बंद प्रभावित सेक्टरों के लिए 1610 करोड़ रुपये का राहत पैकेज

wheat-min
व्यापार3 weeks ago

पंजाब में गेहूं की खरीद 100 लाख टन के पार

Swine Flu
राष्ट्रीय3 weeks ago

कोरोना संकट के बीच भारत में पहली बार खतरनाक अफ्रीकी फ्लू की दस्तक

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय3 weeks ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर1 month ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य1 month ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति1 month ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

मनोरंजन1 month ago

रफ्तार का नया गाना ‘मिस्टर नैर’ लॅान्च

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
अंतरराष्ट्रीय2 months ago

चीन ने महामारी के फैलाव को कारगर रूप से नियंत्रित किया : डब्ल्यूएचओ

मनोरंजन2 months ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन3 months ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन3 months ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Kapil Mishra in Jaffrabad
राजनीति3 months ago

3 दिन में सड़कें खाली हों, वरना हम किसी की नहीं सुनेंगे: कपिल मिश्रा का अल्टीमेटम

Most Popular