Connect with us

मनोरंजन

BAFTA 2019: रामी, ओलिविया को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता-अभिनेत्री का पुरस्कार, देखें विनर की पूरी लिस्ट

Published

on

BAFTA Award-
फोटो-ट्विटर (BAFTA)

ब्रिटिश के रोयाल अलबर्ट हॉल में हुए 72वें ब्रिटिश एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलिविज़न आर्ट्स (बाफ्टा) का ऐलान किया है।

इस साल योरगस लैंथिमोस के निर्देशन में बनी ‘द फेवरेट’ और अलफोंसो कुआरोन के निर्देशन में बनी ‘रोमा’ ने अवॉर्ड शो में अपना परचम लहराया।

वैरायटी डॉट कॉम’ के मुताबिक, रामी ने मर्करी को ‘हर तरह से अटूट, बेबाक और समझौता न करने वाला शख्स’ बताया। सितारों से सजी शाम में ‘द फेवरेट’ ने 12 नोमिनेशन्स में से सबसे ज्यादा 7 अवॉर्ड्स अपने नाम किए है।

इसमें ओलिविया कोलमैन को मिला बेस्ट एक्ट्रेस का खिताब भी शामिल है। जबकि बेस्ट निर्देशक और बेस्ट फिल्म के खिताब सहित ‘रोमा’ के हिस्से में 4 अवॉर्ड्स आए है।

इस बार ब्रिटिश अवॉर्ड्स में किस-किस ने जीता बाफ्टा अवॉर्ड, देखें पूरी लिस्ट

बेस्ट निर्देशक : अलफोंसो कुआरोन (फिल्म रोमा के लिए)

बेस्ट फिल्म : रोमा

बेस्ट एक्ट्रेस : ओलिविया कोलमैन (द फेवरेट के लिए)

बेस्ट एक्टर : रमी मलिक (बोहेमियन रैपसोडी के लिए)

बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस : रशेल वैज़ {Rachel Weisz}

बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर : महरशला अली (ग्रीन बुक के लिए)

आउटस्टैंडिंग ब्रिटिश फिल्म : द फेवरेट


बेस्ट एनिमेटेड फिल्म : स्पाइडर-मैन: इनटू द स्पाइडर-वर्स

बेस्ट ब्रिटिश शॉर्ट एनिमेशन : रफहाउस

बेस्ट ब्रिटिश शॉर्ट फिल्म : 73 काउस

बेस्ट डॉक्यूमेंटरी : फ्री सोलो

आउटस्टैंडिंग डेब्यू बाई अ ब्रिटिश राइटर, डायरेक्टर या प्रोड्यूसर : बीस्ट – माइकल पीयर्स (राइटर/निर्देशक), लॉरेन डार्क (प्रोड्यूसर)

बेस्ट फिल्म नोट इन द इंग्लिश लैंग्वेज : रोमा

बेस्ट कॉस्ट्यूम डिज़ाइन : द फेवरेट
बेस्ट मेकअप और हेयर : द फेवरेट
बेस्ट प्रोडक्शन डिज़ाइन : द फेवरेट

बेस्ट एडिटिंग : वाइस


बेस्ट सिनेमाटोग्राफी : रोमा

बेस्ट स्पेशल विज़ुअल इफेक्ट्स : ब्लैक पैंथर

बेस्ट ओरिजिनल स्क्रीनप्ले : डेबोराह डेविस और टोनी मैकनमारा {Tony McNamara} (द फेवरटे के लिए)


बेस्ट एडेप्टेड स्क्रीनप्ले : स्पाइक ली, डेविड रेबिनोविट्ज़, चार्ली वाशेल, केविन विलमोट (BlacKkKlansman)

बेस्ट साउंड : बोहेमियन रैपसोडी

बेस्ट ओरिजिनल म्यूज़िक : अ स्टार इज़ बोर्न

आउटस्टैंडिंग ब्रिटिश कंट्रीब्यूशन टू सिनेमा : नंबर 9 फिल्म्स ( एलिज़ाबेथ कार्लसन और स्टेफेन वूली)EE राइज़िंग स्टार अवॉर्ड (लोगों के वोटों के आधार पर) लेतितिया राइट (Letitia Wright)

बाफ्टा फेलोशिप : थेल्मा शूनमैकर (Thelma Schoonmaker)

WeForNews

मनोरंजन

रवीना टंडन शहीदों के बच्चों की शिक्षा के लिए मदद करेंगी

Published

on

raveena-tandon-min
File Photo

अभिनेत्री रवीना टंडन ने कहा कि उनका फाउंडेशन शहीदों के बच्चों की शिक्षा में मदद देगा। रवीना ने मंगलवार को यहां नाइका-फेमिना ब्यूटी अवार्डस 2019 से इतर यह बात कही।

रिपोर्ट में कहा गया है कि अपने परोपकारी कार्यों के लिए जानी जाने वाली रवीना ने शहीदों की बच्चियों की शिक्षा में योगदान देने का फैसला किया है।

इसके बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “ये ऐसा मौका है जब हर किसी को आगे आना चाहिए और जो कुछ भी हो सकता है, उसमें अपना योगदान देना चाहिए।

चाहे वह एक बड़ी राशि हो या छोटी। यहां एक लंबा रास्ता तय करना है और हां, मैंने बालिकाओं को शिक्षित करने की जिम्मेदारी संभाली है लेकिन मैं इसे बालिकाओं तक सीमित नहीं कर रही हूं।”

उन्होंने कहा, “लेकिन, मैंने केवल बच्चियों की बात नहीं की है। यह इस तरह लिखा गया है। केवल बच्चियां नहीं..बल्कि शहीदों के सभी बच्चे। यह केवल पुलवामा हमले के नहीं है..बल्कि हमारे सभी जवानों के लिए है और सभी शहीदों के लिए.. मेरा फाउंडेशन उनकी शिक्षा की देखरेख करेगा और छात्रवृत्ति भी देगा।”

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के मद्देनजर ऑल इंडियन सिने वर्कर्स एसोसिएशन (आईसीडब्ल्यूए) ने पाकिस्तानी अभिनेताओं और भारतीय फिल्म उद्योग में काम करने वाले कलाकारों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।

इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए रवीना ने कहा, “मैं निश्चित रूप से उनके फैसले के साथ खड़ी हूं क्योंकि यह सांस्कृतिक आदान-प्रदान का समय नहीं है। हम सभी बहुत आहत और परेशान हैं। ईमानदारी से कहूं तो इससे पहले मैं पाकिस्तानी कलाकारों को भारत में काम करने पर प्रतिबंध लगाने के फैसले का समर्थन नहीं करती था।

फिर हमने सुना कि पाकिस्तान के कई कलाकार जो काम के लिए यहां आए, वे अपने देश वापस जाने के बाद भारत के बारे में अनादरपूर्वक बात करते हैं। रवीना ने कहा कि पाकिस्तान की सरकार को 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के जिम्मेदार लोगों को गिरफ्तार करना चाहिए।

–आईएएनएस

Continue Reading

मनोरंजन

सिद्धू की जगह लेने की संभावना है : अर्चना

Published

on

Archana Puran
File Photo

अभिनेत्री अर्चना पूरन सिंह का कहना है कि वह नवजोत सिंह सिद्धू की जगह ‘द कपिल शर्मा शो’ में नजर आ सकती हैं।

पुलवामा आतंकी हमले को लेकर विवादास्पद टिप्पणी के बाद कथित तौर पर सिद्धू को शो से बाहर कर दिया गया है। अर्चना ने सीआरपीएफ काफिले पर 14 फरवरी को हुए हमले से पहले ‘द कपिल शर्मा शो’ के दो एपिसोड शूट किए थे। वह बुधवार को सेट पर वापस लौटीं।

अर्चना ने शूट के बाद ट्वीट किया, “आज रात (बुधवार) कपिल के साथ। किंग ऑफ कॉमेडी के साथ शानदार शूट, सेल्फी ब्रेक, एक नई शुरुआत।”यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने सिद्धू की जगह ले ली है, इस पर अर्चना ने आईएएनएस को बताया, “अभी कुछ तय नहीं है। संभावना है।”

एक सूत्र के मुताबिक, आने वाले सप्ताहांत में उनके साथ दोबारा शूटिंग होगी।उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के लोग इसका जवाब देगे। मैं निश्चित नहीं हूं कि मैं इस सप्ताहांत शूटिंग कर पाऊंगी या नहीं।

चैनल ने अभी तक आधिकारिक तौर पर कोई घोषणा नहीं की है।आतंकी हमले के बाद, कपिल के शो का हिस्सा रहे सिद्धू ने मीडिया से कहा था, आतंकवादियों की कायरता के लिए राष्ट्रों को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।”इसके बाद सोशल मीडिया पर सिद्धू को बायकॉट करने की मांग बढ़ गई थी।

आईएएनएस

Continue Reading

मनोरंजन

बेटी के पोलियो टीकाकरण से इनकार पर फवाद खान के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

Published

on

Fawad-Khan-
File Photo

पाकिस्तान में अभिनेता फवाद खान सहित छह लोगों के खिलाफ अपने बच्चों को पोलियो का टीका लगवाने से इनकार करने पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

‘डॉन डॉट कॉम’ के अनुसार, फवाद के मैनेजर ने एक बयान में उन खबरों का खंडन किया जिनमें कहा गया था कि अभिनेता ने अपनी बेटी को टीका लगवाने से इनकार कर दिया।

फवाद के खिलाफ प्राथमिकी केंद्रीय परिषद निगरानी अधिकारी (यूसीएमओ) की शिकायत पर दर्ज की गई है। यूसीएमओ ने शिकायत की कि एक पोलियो टीम मंगलवार शाम पांच बजे फवाद के घर पहुंची। लेकिन परिवार के मुखिया ने बच्चों को पोलियो से बचाने वाला टीका लगाने से मना कर दिया और पोलियो टीम को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी।

प्राथमिकी में लगाए गए आरोपों में लापरवाही से जीवन के लिए खतरनाक बीमारी के संक्रमण फैलाने, आपराधिक धमकी देने, लोक सेवक के सार्वजनिक कर्तव्य में बाधा डालने और सरकारी आदेश की अवेहलना शामिल है।

यह हालांकि स्पष्ट नहीं है कि प्राथमिकी में जिस व्यक्ति को ‘परिवार का मुखिया’ बताया गया है वह फवाद हैं या उनके परिवार का कोई अन्य सदस्य है।

‘डॉन’ की रिपोर्ट के अनुसार, फवाद के प्रबंधक द्वारा जारी किए बयान में उन रिपोर्टों का खंडन किया गया है जिसमें कहा गया कि फवाद ने अपने घर पर अपनी बेटी के टीकाकरण में हस्तक्षेप किया था।

बयान के अनुसार, “पोलियो टीम जब घर आई तब बच्चों के माता-पिता घर में मौजूद नहीं थे। उन्हें प्रेस के माध्यम से प्राथमिकी की सूचना मिली है।”

बयान में कहा गया कि फवाद खान पोलियो-रोधी अभियान का पूरी तरह से समर्थन करते हैं और उन्हें इस बीमारी के संबंध में अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के दिशा-निर्देशों की पूरी जानकारी है। बयान में प्राथमिकी रद्द न होने पर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है।

आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular