सर्दियों में आयुर्वेद दिलाएगी जोड़ों के दर्द में राहत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

लाइफस्टाइल

सर्दियों में आयुर्वेद दिलाएगी जोड़ों के दर्द में राहत

Published

on

Joint Pain-
File Photo

जोड़ों के दर्द से जूझ रहे लोगों के लिए सर्दियों का मौसम मुश्किल पैदा कर सकता है। ऑस्टियोआर्थराइटिस की स्थिति तब उत्पन्न होती है जब आपके जोड़ों में उपस्थित कार्टिलेज धीरे-धीरे क्षतिग्रस्त होने लगती है और इस वजह से हड्डियां आपस में एक-दूसरे से घिसने या रगड़ने लगती हैं, फलस्वरूप जकड़न, जोड़ों में दर्द और गति में दिक्कत इत्यादि की समस्या पैदा होने लगती है।

जीवा आयुर्वेद के निदेशक डॉ.प्रताप चौहान ने कुछ उपाय सुझाए हैं, जिनका उपयोग आप जोड़ों के इस दर्द से उबरने के लिए कर सकते हैं।

नियमित ज्वॉइंट रोटेशन या जोड़ों का घुमाव

साइकिलिंग और तैराकी जैसे कुछ कसरतों के साथ आप अपनी जीवन शैली में ज्वॉइंट रोटेशन को शामिल करें। जोड़ों के इस घुमाव से आपको इसमें दर्द से राहत मिलेगी और स्थिति को बिगड़ने से रोकने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही वॉकिंग से भी आपको फायदा मिल सकता है, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि ज्यादा तेजी से न चलें और आरामदायक जूते पहनकर ही सैर पर निकलें, जिसकी सतह समान हो।

अभ्यंग का अभ्यास करें

यह आयुर्वेद चिकित्सा का एक रूप है, जिसमें औषधीय तेलों से पूरे शरीर की मालिश की जाती है। इससे एक तो वात की समस्या कम होती है और दूसरी इससे उत्तकों से टॉक्सिन को बाहर निकलने में मदद मिलती है। इसके लिए ऑर्गेनिक तिल के तेल को गुनगुना गर्म करें और सिर से लेकर पांव तक लगाएं और हर रोज कम से कम दस मिनट तक मसाज करें। अगर आप रुमाटॉइट आर्थराइटिस से पीड़ित हैं तो अभ्यंग का अभ्यास न करें।

घी का सेवन

गठिया को एक ऐसे रोग के रूप में देखा जाता है जिसमें वात की अधिकता हो जाती है जिससे पूरे शरीर में नमी कम होने लगती है और इस वजह से चिकनाई में कमी होने लगती है। घी, तिल या जैतून के तेल के उपयोग से सूजन में राहत मिलती है, जोड़ों में चिकनाई पैदा होती है और जोड़ों में जकड़न कम होती है।

योगा

योग को अपनी जिंदगी में शामिल करें। ताड़ासन, वीरभद्रासन और दंडासन से जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है और इससे गति में तेजी आती है।

उचित खानपान

जोड़ों के दर्द से राहत के लिए उचित व संतुलित खानपान बेहद जरूरी है। ‘रक्ताशली’ और ‘शष्टिका’ जैसे अनाजों के सेवन से दर्द में राहत मिलती है। करेला, बैंगन, नीम और सहजन के डंठल का सेवन इस रोग में अधिक से अधिक करें और साथ ही तमाम तरह के बेर और एवोकैडो भी जकर खाए।

–आईएएनएस

लाइफस्टाइल

इन बीमारी के मरीजों के लिए ज्यादा खतरनाक है कोरोना वायरस…

Published

on

कोरोना का कहर पुरी दुनिया में जारी हैं। वहीं, एक रिपोर्ट में शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि कोरोना वायरस से डाईबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों को ज्यादा खतरा होता है।

‘द लैंसेट’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, जिन लोगों को डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है उन्हें कोरोना से थोड़ा संभलकर रहने की जरूरत है। क्योंकि इस बीमारी में जो मरीज को ड्रग दिया जाता है उसे ACE (एंजियोटेंसिन कन्वर्टिंग एंजाइम) कहते है।

इसका असर इंसान की की कोशिकाओं पर पड़ता है। वैज्ञानिकों का दावा है कि ड्रग से कोशिकाओं में बदलाव आने के बाद कोरोना वायरस के लिए हमला करना आसान हो जाता है। पूरी दुनिया में हर साल करोड़ों लोग डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर से बचने के लिए इन दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं।

अब जो डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के मरीज है उनके मन में यह सवाल जरूर आएगा की वो इस ड्रग का सेवन बंद करे या नहीं। लेकिन इस विशेषज्ञों की मानें तो उनका कहना है की बिना डॉक्टर्स की सलाह के दवाइयां बंद ना करें।

भारत में भी जिन लोगों की मौत इस जानलेवा वायरस के चलते हुई है उनकी उम्र काफी ज्यादा थी। साथ ही, दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में दम तोड़ने वाली महिला को तो डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर का मरीज भी बताया जा रहा है। इसलिए ऐसे मरीजों को थोड़ा सवाधनी बरतनें की जरूरत हैं।

WeForNews

Continue Reading

लाइफस्टाइल

‘कोरोना पर हर वक्त सोचने से पड़ सकते हैं बीमार’

Published

on

depression.
File Photo

नई दिल्ली, चीन से विश्व भर में फैले तथा दुनिया में महामारी घोषित हुए कोविड-19 यानी कोरोना वायरस को मात देने के लिए सरकार और समाज के द्वारा अनेकों प्रयास जारी है। ऐसे में अपने दिलो-दिमाग पर कोरोना के भय को कतई प्रभावी ना होने दें।

हर वक्त कोरोना के बारे में सोचने से आप बेवजह मानसिक तनाव में आ सकते हैं। राज्य नोडल अधिकारी (मानसिक स्वास्थ्य) डॉ. सुनील पाण्डेय ने बताया कि हम जिस विषय में भी बहुत देर तक सोचते व मनन करते हैं वह हम पर हावी हो जाता है। ऐसे में उसका नफा-नुकसान नजर आने लगता है, जो कि किसी के लिए भी खतरनाक हो सकता है।

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन की स्थिति में सभी चीजें ठहर सी गई हैं। इसके लिए जरूरी है कि अपनी दिनचर्या में बदलाव लाएं और यदि आवश्यक सेवाओं से नहीं जुड़ें हैं, तो घर से बाहर निकलने से परहेज करें।

टीवी, अखबार और सोशल मीडिया में सिर्फ कोरोना के बारे में देखने-समझने और अपनो से सिर्फ उसी बारे में बात करने से बचें। ऐसा करने से आप मानसिक तनाव में आकर अपने साथ ही घर के अन्य सदस्यों को बीमार बना सकते हैं।

उन्होंने इससे ध्यान हटाने के लिए टीवी सीरियल देखने, पुस्तकें पढ़ने आदि की सलाह देते हुए कहा, “खाना बनाने का शौक है तो किचेन में कुछ वक्त बिताएं, यदि आपको घर पर ही रहना है तो अपने शौक को जिंदा रखें। अगर खाना बनाने का शौक है तो अपने हाथों से कुछ नई डिश बनाएं और अपनों के साथ शेयर करें। “

–आईएएनएस

Continue Reading

लाइफस्टाइल

कॉलोनियों के मंदिरों से दूर नहीं हो पा रहे श्रद्धालु

Published

on

By

Temple

नई दिल्ली, 26 मार्च | देश भर के तमाम बड़े मंदिरों को कोरोनावायरस के खतरे के मद्देनजर बंद किया जा चुका है। लेकिन कई छोटे मंदिर अभी भी खुले हुए हैं। खासतौर पर अलग-अलग कॉलोनियों व मोहल्लों में बनाए गए मंदिरों में लोग अभी भी पहुंच रहे हैं। चांदनी चौक के एक ऐसे ही मंदिर के पुजारी शिव प्रसाद त्रिपाठी ने कहा, “हमारा मंदिर काफी छोटा है। यहां दिन भर में 30-40 लोग ही पूजा करने आते हैं, वह भी अलग-अलग समय पर। इसके अलावा हमने स्वयं से किसी भी व्यक्ति को मंदिर आने या न आने के लिए नहीं कहा है।”

त्रिपाठी ने कहा कि वह दिन में तीन बार मंदिर के मुख्य द्वार और भगवानों की मूर्ति को साफ करते हैं, लेकिन नवरात्र होने के कारण मंदिर के दरवाजे बंद नहीं कर सके।

उन्होंने कहा कि अब वह मंदिर के द्वार बंद रखेंगे, ताकि लोगों में इस बीमारी का संक्रमण न फैल सके।

चांदनी चौक स्थित नई सड़क इलाके के मंदिर दर्शन के लिए पहुंची शिवानी शर्मा ने कहा, “हम लोग अपने स्थानीय मंदिर में ही जा रहे हैं। नवरात्र पूजा के लिए हम किसी बड़े या भीड़भाड़ वाले इलाके अथवा मंदिर में नहीं गए। हमारे स्थानीय मंदिर में भी हम लोग तब जा रहे हैं जब वहां अधिक लोग मौजूद नहीं हैं।”

इस प्रकार की लापरवाही लगातार कई स्थानों पर सामने आई है, जहां लोग सार्वजनिक स्थानों पर पहुंचने के बाद अपने-अपने तर्क देते नजर आए। हैरानी की बात तो यह है कि यहां कई लोग ऐसे मंदिरों के बाहर भी पहुंचे, जिनके दरवाजों पर ताला लगा हुआ है।

चांदनी चौक स्थित मोर सराय में रहने वाली वाली मीना देवी अपने बच्चों के साथ एक ऐसे ही मंदिर के बाहर पूजा करने गईं। उन्होंने कहा, “हम बरसों से नवरात्र में मंदिर के लिए भोग और भेंट निकालते हैं और इस बार भी हमने ऐसा ही किया है। मंदिर बंद था इसीलिए मंदिर के बाहर से ही हमने आरती की और भोग एवं भेट अर्पित किया।”

Continue Reading
Advertisement
ADB
अंतरराष्ट्रीय5 hours ago

कोरोनावायरस: एडीबी ने बांग्लादेश के लिए मंजूर किए 3 लाख डॉलर

Coronavirus
राष्ट्रीय6 hours ago

कोविड-19: तेलंगाना में पहली मौत, 6 नए मामले

pm modi
राजनीति6 hours ago

आयुष के पास वायरस का इलाज होने के निराधार दावे से निपटें : मोदी

Nirmala Sitharaman
व्यापार6 hours ago

ईएमआई 3 महीने न देने वालों को देना होगा अतिरिक्त ब्याज

राष्ट्रीय7 hours ago

तेलंगाना ने हैदराबाद में ‘रेड जोन’ घोषित किया

Houston Howdy Modi Donald Trump
अंतरराष्ट्रीय7 hours ago

ट्रंप ने जीएम को वेंटिलेटर बनाने को मजबूर किया

Coronavirus
शहर7 hours ago

कोरोना का कहर : गुजरात से बांदा लौटे 32 मजदूर खुद पहुंचे अस्पताल

Naveen Patnaik. (File Photo: IANS)
राजनीति7 hours ago

ओडिशा सरकार सड़क किनारे सामान बेचने वालों को देगी 3,000 रुपये

Coronavirus
राष्ट्रीय7 hours ago

कर्नाटक में कोरोनावायरस के 10 नए मामले

Priyanka Gandhi
राजनीति8 hours ago

मजदूर देश की रीढ़, उनकी मदद करें : प्रियंका

मनोरंजन13 hours ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन4 weeks ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन4 weeks ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Kapil Mishra in Jaffrabad
राजनीति1 month ago

3 दिन में सड़कें खाली हों, वरना हम किसी की नहीं सुनेंगे: कपिल मिश्रा का अल्टीमेटम

मनोरंजन1 month ago

शान का नया गाना ‘मैं तुझको याद करता हूं’ लॉन्च

मनोरंजन2 months ago

सलमान का ‘स्वैग से सोलो’ एंथम लॉन्च

Shaheen Bagh Jashn e Ekta
राजनीति2 months ago

Jashn e Ekta: शाहीनबाग में सभी धर्मो के लोगों ने की प्रार्थना

Tiger Shroff-
मनोरंजन2 months ago

टाइगर की फिल्म ‘बागी 3’ का ट्रेलर रिलीज

Human chain Bihar against CAA NRC
शहर2 months ago

बिहार : सीएए, एनआरसी के खिलाफ वामदलों ने बनाई मानव श्रंखला

Sara Ali Khan
मनोरंजन2 months ago

“लव आज कल “में Deepika संग अपनी तुलना पर बोली सारा

Most Popular