Connect with us

राष्ट्रीय

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने पीएम से की मुलाकात

Published

on

एन चंद्रबाबू नायडू ने पीएम से की मुलाकात

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडु ने यहां शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और उनसे आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम में की गईं सभी प्रतिबद्धताओं को पूरा करने का आग्रह किया। घंटे भर चली बैठक के दौरान तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के अध्यक्ष ने मोदी से अधिनियम के तहत अधूरे वादों पर चर्चा की और 17 पृष्ठों का ज्ञापन सौंपा।

तेदेपा व उसकी सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के संबंधों में हाल के समय में तनाव के संकेतों के बीच यह बैठक महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

नायडु ने मोदी से डेढ़ साल बाद मुलाकात की है। उन्होंने मोदी से अगले साल होने वाले लोकसभा व आंध्र प्रदेश विधानसभा के एक साथ होने वाले चुनावों के मद्देनजर लंबे समय से लंबित मांगों पर तत्काल कदम उठाए जाने की अपील की।

तेदेपा केंद्र के साथ अपने धैर्य के कमजोर पड़ने के संकेत पहले ही दे चुकी है। पार्टी के सांसदों ने शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन मोदी से मुलाकात की थी और उन्हें एक ज्ञापन भी सौंपा था।

नायडु चाहते हैं कि केंद्र पोलावरम परियोजना के लिए 58,000 करोड़ रुपये को तत्काल मंजूरी दे। उन्होंने मोदी से नए राज्य की राजधानी अमरावती के विकास के लिए केंद्रीय बजट में पर्याप्त राशि सुनिश्चित करने का आग्रह किया।

वह यह भी चाहते हैं कि मोदी राज्य विधानसभा की सीटें 175 से बढ़ाकर 225 करने के लिए तत्काल कदम उठाएं, जिसकी प्रतिबद्धता पुनर्गठन अधिनियम में की गई है।

नायडु ने मोदी से कहा कि राज्य के विभाजन के कारण आंध्र प्रदेश वित्तीय समस्याओं का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा कि अधिनियम के तहत की गई प्रतिबद्धताओं को लागू करने में देरी से समस्याएं और बढ़ेंगी।

WeForNews

राष्ट्रीय

आतंकवाद और बातचीत एक साथ नहीं हो सकते: सेना प्रमुख

Published

on

भारत-पाकिस्तान संबंधों को लेकर भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि आतंकवाद और शांतिवार्ता एक साथ नहीं हो सकती। सेना प्रमुख ने कहा कि मुझे लगता है कि भारत सरकार ने इस मुद्दे पर एकदम सही निर्णय लिया है कि आतंकवाद और शांति वार्ता एक साथ नहीं हो सकती है।

जनरल रावत ने कहा कि पाकिस्तान कह रहा है कि वो अपनी जमीन का इस्तेमाल दूसरे देशों के खिलाफ होने वाली आतंकवादी गतिविधियों के लिए नहीं होने देगा। लेकिन हम देख सकते हैं कि वहां अभी भी आतंकी गतिविधियां जारी हैं और सीमा पार से आतंकवादी अभी भी भारत आ रहे हैं।

रावत ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक दुश्मन सेना को चौंका देने वाला एक हथियार है। सेना इसे दुश्मन को हैरान कर देने वाले हथियार के तौर पर इस्तेमाल करती है, इसे ‘सरप्राइज’ (Surprise) ही बना रहने दें।

जनरल रावत मीडिया के उस सवाल का जवाब दे रहे थे, जिसमें उनसे पूछा गया था कि क्या भारतीय सेना भविष्य में एक बार फिर सर्जिकल स्ट्राइक करने की योजना बना रही है। जनरल बिपिन रावत ने बीएसएफ के जवान नरेंद्र सिंह का गला काटने जैसी हरकत को बर्बर करार दिया।

भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि दोनों देशों के मध्य वार्ता इसलिए नहीं हो रही है क्योंकि हमारी सरकार की यह नीति है कि आतंकवाद के साथ शांति की बातें नहीं की जा सकतीं। हमने इसे लेकर पाकिस्तान को स्पष्ट संदेश दे दिया है। सरकार की नीति साफ है कि पहले पाकिस्तान को यह सिद्ध करना होगा कि वह आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा नहीं दे रहे हैं।

रावत ने कहा कि पाकिस्तान हमेशा यह कहता है कि वह अपनी जमीन पर किसी भी देश के खिलाफ आतंकी गतिविधियों को प्रोत्साहन नहीं देता है। लेकिन, साफ दिख रहा है कि वहां आतंकी गतिविधियां भी हो रही हैं और बॉर्डर पार से आतंकी भी आ रहे हैं।

रावत ने आगे कहा कि अब भारत और पाक के बीच बातचीत होगी, क्योंकि हमारी सरकार की नीति यह है कि बातचीत और आतंकवाद एक साथ नहीं हो सकता है। हमने पाकिस्तान को एक स्पष्ट संदेश दिया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार की नीति स्पष्ट है कि पाकिस्तान को ये साबित करना होगा कि वो आतंकवाद को बढ़ावा नहीं दे रहा हैं।

Continue Reading

राष्ट्रीय

भोपाल में 30 सितंबर को गैर भाजपा दलों की बैठक

Published

on

CPIM

आगामी मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर विपक्षी दलों ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ लामबंदी तेज कर दी है। इसी क्रम में 30 सितंबर को इन दलों की भोपाल में एक बैठक होने जा रही है। लेकिन इस बैठक मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस शामिल नहीं हो रही है।

लोकतांत्रिक अभियान के संयोजक गोविंद यादव ने जारी एक बयान में कहा, “संवैधानिक लोकतंत्र बचाने एवं वैकल्पिक राजनीति के लिए आगामी राज्य विधानसभा, लोकसभा चुनावों के मद्देनजर गैर भाजपा दलों का महागठबंधन बनाने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों की बैठक 30 सितंबर को यहां बुलाई गई है।”

यादव के अनुसार, बैठक में लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद), मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी(भाकपा), बहुजन संघर्ष दल, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी, समाजवादी पार्टी (सपा), राष्ट्रीय समानता दल, प्रजातांत्रिक समाधान पार्टी को आमंत्रित किया गया है।

बैठक में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को आमंत्रित न करने के सवाल पर यादव ने कहा, “हमारा उद्देश्य हरहाल में भाजपा को रोकना है, और हम इसके लिए कांग्रेस के साथ हमेशा सहयोग करने के लिए तैयार हैं। चुनाव से पहले भी और चुनाव के बाद भी। कांग्रेस के साथ बातचीत जारी है।”

यादव ने बताया कि बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए विपक्षी दलों का महागठबंधन बनाने पर चर्चा की जाएगी और आगामी कार्यक्रम की रूपरेखा तय की जाएगी।

–आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

सोपोर में बंदूकधारियों ने नागरिक को किया अगवा

Published

on

Kashmir
Representative Image

उत्तरी कश्मीर के सोपोर क्षेत्र में अज्ञात बंदूकधारियों ने एक नागरिक को अगवा कर लिया। पुलिस ने यह जानकारी दी।

पुलिस ने कहा कि शनिवार रात को हरवन इलाके में बंदूकधारी 45 वर्षीय मुश्ताक अहमद मीर के घर में जबरन घुस गए और उनका अपहरण कर लिया। पुलिस ने कहा कि मीर का पता लगाने के लिए तलाशी शुरू कर दी गई है।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular