Connect with us

राष्ट्रीय

झारखंड में भाजपा कार्यकर्ताओं का स्‍वामी अग्निवेश पर हमला

Published

on

Swami Agnivesh
File Photo

सुप्रीम कोर्ट के मॉब लिंचिंग पर आये फैसले के चंद घंटे बाद भाजपायियों ने अदालत के आदेश की धज्जियां उड़ा दीं। झारखंड के पाकुड़ जिले में सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर कथित रूप से भारतीय जनता युवा मोर्चा समर्थकों ने हमला कर उनके साथ मारपीट की।

पुलिस ने कहा कि स्वामी लिटपाड़ा में 195वें दमिन महोत्सव में शामिल होने जा रहे थे। होटल से बाहर आते ही उन पर हमला कर दिया गया। हमलावरों ने पहले नारेबाजी करते हुए उन्हें काले झंडे दिखाए और इसके बाद उनके साथ मारपीट की, जिससे वे जमीन पर गिर गए। उनके सहयोगियों ने उन्हें बचाने की पूरी कोशिश की।

देखिये कैसे स्वामी अग्निवेश को BJP के कार्यकर्ताओं बुरी तरह मारा है। रांची से 350 किलोमीटर दूर पाकुड़ जिले में 195वां दामिन महोत्सव में हिस्सा लेने पहुंचे थे। उनके कपड़े फाड़ दिए गए, कई जगह चोट के निशान हैं।

Posted by Anand Dutta on Tuesday, 17 July 2018

WeForNews

राष्ट्रीय

MeToo: प्रिया रमानी मामले में 20 महिला पत्रकार एमजे अकबर के खिलाफ देंगी गवाही

Published

on

mj-akbar
यौन उत्‍पीड़न के आरोपों में घिरे पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर। (फाइल फोटो)

महिला पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ मानहानि केस में दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट में गुरुवार को सुनवाई होगी। पूर्व केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर ने उनके खिलाफ मानहानि का केस किया है। अब इस मामले में ‘द एशियन एज’ में काम कर चुकीं 19 सहकर्मी और अन्‍यत्र काम कर चुकींं 1 महिला पत्रकार प्रिया रमानी के समर्थन में सामने आई हैं।

एबीपी न्‍यूज के मुताबिक, इन महिला पत्रकारों ने एक संयुक्त बयान में रमानी का समर्थन करने की बात कही और कोर्ट से आग्रह किया कि एमजे अकबर के खिलाफ उन्हें सुना जाए। उन्होंने दावा किया कि उनमें से कुछ का अकबर ने यौन उत्पीड़न किया और अन्य इसकी गवाह हैं। पत्रकारों ने अपने हस्ताक्षर वाले संयुक्त बयान में कहा, ‘‘रमानी अपनी लड़ाई में अकेली नहीं हैं। हम मानहानि के मामले में सुनवाई कर रही माननीय अदालत से आग्रह करते हैं कि याचिकाकर्ता के हाथों हममें से कुछ के यौन उत्पीड़न को लेकर तथा अन्य हस्ताक्षरकर्ताओं की गवाही पर विचार किया जाए जो इस उत्पीड़न की गवाह थीं।’’

प्रिया रमानी ने एमजे अकबर पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे। उसके बाद कम से कम 20 महिला पत्रकारों ने अकबर पर यौन शोषण के आरोप लगाए हैं।

WeForNews

Continue Reading

राजनीति

बिहार के इस गांव में पीएम मोदी का मंदिर

Published

on

modi

जहां एक तरफ विपक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विकास को लेकर आए दिन निशाना साध रहा है। वहीं दूसरी तरफ एक गांव में पीएम मोदी का मंदिर बनाया जा रहा है और उनको इस मंदिर में विकास के देवता के रूप में दर्शाया जाएगा।

बिहार के कटिहार जिले के आजमनगर प्रखण्ड के एक छोटे से गांव सिंघारोल के लोग प्रधानमंत्री मोदी को विकास का देवता मानते हैं। अब इस गांव में नरेंद्र मोदी का मंदिर बनाया जा रहा है। मंदिर का अस्थायी ढांचा तैयार हो गया है। नरेंद्र मोदी की मूर्ति बन चुकी है और इसे अस्थायी रूप से हनुमान जी के मंदिर में रखा गया है। मोदी मंदिर बनाने की तैयारी चल है। मोदी समर्थक इस मंदिर से इतने खुश हैं कि उन्होंने नजदीकी चौक का नाम मोदी चौक रख दिया है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में चुनाव के दौरान जनता से बड़े-बड़े वादे किये थे। मगर अब देश की जनता और विपक्ष उन्हीं के वादों पर सवाल खड़े कर रही है। जहां एक तरफ आए दिन पेट्रोल के दाम बड़ रहे हैं वहीं रुपये में गिरावट जारी है। ऐसे में इस गांव के लोगो द्वारा पीएम मोदी को विकास के देवता के रूप में पूजा जाना सवाल खड़े करता है।

WeForNews 

 

Continue Reading

राष्ट्रीय

MeToo: यौन शोषण के आरोपों के बाद एमजे अकबर का इस्तीफा

Published

on

MJ Akbar

मीटू कैंपेन के तहत यौन उत्पीड़न का आरोप लगने के बाद केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। अकबर ने प्रधानमंत्री कार्यालय को अपना इस्तीफा भेज दिया है। बता दें कि अकबर पर कई महिलाओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया था।

अकबर ने बुधवार को मीडिया में बयान जारी कर अपने इस्तीफे की जानकारी दी। उन्होंने अपने बयान में कहा, ‘चूंकि मैंने इंसाफ के लिए व्यक्तिगत स्तर पर अदालत का दरवाजा खटखटाया है, इसलिए मुझे पद छोड़कर खुद पर लगे झूठे आरोपों को चुनौती देना, वह भी व्यक्तिगत स्तर पर चुनौती देना उचित लगा। लिहाजा मैंने विदेश राज्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का दिल से आभारी हूं कि उन्होंने मुझे देश की सेवा करने का मौका दिया।’

मीटू कैंपेन के तहत पत्रकार प्रिया रमानी और 19 अन्य महिलाओं ने अकबर के खिलाफ अनुचित व्यवहार और यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। आरोप लगाने वाली महिला पत्रकारों ने उनके साथ काम किया था। 67 वर्षीय अकबर अंग्रेजी अखबार ‘एशियन एज’ के पूर्व संपादक हैं। वहीं महिलाओं द्वारा अकबर पर आरोप लगाने के बाद कांग्रेस लगातार उनके इस्तीफे की मांग कर रही थी।

बता दें कि अकबर 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हुए थे। मध्य प्रदेश से राज्यसभा सदस्य अकबर जुलाई 2016 से विदेश राज्य मंत्री थे।

WeForNews 

Continue Reading

Most Popular