Connect with us

व्यापार

जानिए, जीएसटी लागू होने के बाद क्या होगा सस्ता और क्‍या महंगा

Published

on

gst-min
फाइल फोटो

देश में वस्तु एवं सेवा कर यानी जीएसटी पहली जुलाई से लागू हो जाएगा। इसको लेकर श्रीनगर में जीएसटी परिषद की दो दिवसीय 14वीं बैठक चल रही है। बैठक के पहले दिन यानी गुरूवार (18 मई) को कुल 1211 वस्तुओं में से छह को छोड़ कर अन्य वस्तुओं के लिए जीएसटी की दर निर्धारण पर सहमति बन गई है। अब खाने-पीने और दैनिक आवश्यकता की आवश्यक वस्तुएं सस्ती होंगी, तो लग्‍जरी सामानों के दाम भी बढ़ेंगे। इसका फैसला केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में श्रीनगर में हुई जीएसटी परिषद की बैठक में लिया गया। कुल 1211 वस्तुओं में से 1205 वस्‍तुओं के लिए जीएसटी दरें तय हो गई हैं। जीएसटी काउंसिल की इस बैठक में देश के 29 राज्‍य और केंद्रशासित प्रदेश हिस्‍सा ले रहे हैं।

सस्ते हुए सामान
केंद्रीय राजस्व सचिव हसमुख अढिया के मुताबिक दूध-दही, गुड़ जैसे पदार्थों पर जीएसटी से छूट रहेगी। मतलब ये सामान एक्जंप्ट की श्रेणी में रहेंगे। इसके साथ ही सभी किस्म के अनाजों पर भी शून्य कर लगेगा। इस समय कुछ राज्यों में चुनिंदा अनाज पर पांच फीसदी वैट लगता है। इसी तरह चाय, कॉफी, खाद्य तेल जैसे आवश्यक पदार्थों पर पांच फीसदी की दर से जीएसटी लगेगा, जबकि अभी इस पर चार से छह फीसदी के बीच वैट लग रहा है।

तेल, साबुन, टुथ पेस्ट जैसे रोज उपयोग होने वाले सामानों पर भी 18 फीसदी की दर से जीएसटी लगाया जाएगा, जबकि इस समय इस पर 28 फीसदी का कर लग रहा है।
जीएसटी में कोयले पर भी पांच फीसदी का कर देय होगा, जबकि इस समय इस पर 11.69 फीसदी का कर लग रहा है। कोयले का सबसे ज्यादा उपयोग बिजली बनाने और लोहा-इस्पात उद्योग में होता है। मतलब जीएसटी लागू होने के बाद बिजली और लोहा-इस्पात के भी सस्ते होने के आसार हैं।

शीतल पेय और कारों के बढ़ेंगे दाम
शीतल पेय (एयरेटेड ड्रिंक) और कारों को 28 फीसदी के सर्वोपरि स्लैब में रखा गया है। इस दर के ऊपर छोटी कारों पर एक फीसदी उपकर, मध्य श्रेणी की कारों पर तीन फीसदी और महंगी कारों पर 15 फीसदी उपकर लगेगा। सोने पर राज्यों ने चार फीसदी कर की मांग की है, यद्यपि यह 5, 12, 18 और 28 फीसदी के मंजूर कर बैंड में शामिल नहीं है।

एयर कंडीशनर और रेफ्रीजरेटर 28 फीसदी के कर स्लैब में आएंगे, जबकि जीवन रक्षक दवाओं को पांच फीसदी कर स्लैब में रखा गया है। जेटली ने कहा कि इससे महंगाई नहीं बढ़ेगी, क्योंकि जिन वस्तुओं पर 31 फीसदी कर लग रहा है, उनमें से अधिकतर को घटाकर 28 फीसदी पर लाया गया है।

 

महंगी बाइक, नौकाओं, निजी जेट पर लगेगा 31 प्रतिशत जीएसटी
इसके अलावा सभी तरह की कारों, एसयूवी और 350 सीसी इंजिन वाली मोटरसाइकिलों पर अतिरिक्त उपकर भी लगाया जायेगा। निजी विमानों, लक्जरी नौकायानों और 350सीसी से अधिक इंजिन क्षमता वाली मोटर साइकिलों पर 28 प्रतिशत के ऊपर तीन प्रतिशत उपकर भी लगाया जायेगा। इस प्रकार इन पर कुल 31 प्रतिशत की दर से जीएसटी लगेगा।

इसी प्रकार चार मीटर से कम लंबी और 1200सीसी के पेट्रोल इंजन वाली कारों पर 28 प्रतिशत के ऊपर एक प्रतिशत उपकर लगेगा। 1500 सीसी से कम क्षमता वाली छोटी डीजल कारों पर जीएसटी की शीर्ष दर के ऊपर तीन प्रतिशत उपकर लगेगा। इसी प्रकार मध्यम आकार की कारों, एसयूवी और लक्जरी कारों पर 28 प्रतिशत की जीएसटी दर के ऊपर 15 प्रतिशत की दर से उपकर लगेगा।

बसों और ऐसे वैन जिनमें 10 से ज्यादा लोग बैठक सकते हैं उनपर भी इसी दर से उपकर लागू होगा। 1500सीसी इंजन क्षमता से अधिक की हाइब्रिड कारों पर भी शीर्ष जीएसटी दर के ऊपर 15 प्रतिशत की दर से उपकर लगाया जायेगा।

पान मसाला गुटखा पर 204% उपकर
पान मसाला गुटखा पर जीएसटी की शीर्ष दर के ऊपर 204 प्रतिशत की दर से उपकर लगेगा। केन्द्र और राज्यों के बीच अहितकर और लक्जरी सामानों पर 28 प्रतिशत की शीर्ष दर के ऊपर उपकर लगाने पर सहमति बनी है। तंबाकू उत्पादों पर 71 से 204 प्रतिशत की दर से उपकर लगाया जायेगा।

इसके अलावा खुश्बूदार जर्दा और फिल्टर खैनी पर 160 प्रतिशत की दर से उपकर लगेगा। फिल्टर और बिना फिल्टर वाली सिगरेट जिसकी लंबाई 65 मिलीमीटर से अधिक नहीं होगी पर पांच प्रतिशत उपकर लगेगा। इसके ऊपर प्रति 1,000 सिगरेट पर 1,591 रुपये भी लिये जायेंगे। बिना फिल्टर वाली 65 मिलीमीटर से अधिक लेकिन 70 मिलीमीटर से कम लंबी सिगरेट पर शीर्ष दर के ऊपर पांच प्रतिशत जमा 2,876 रुपये का उपकर लगाया जायेगा।

इसी प्रकार फिल्टर सिगरेट पर पांच प्रतिशत जमा 2,126 रुपये प्रति एक हजार सिगरेट की दर से उपकर लगेगा। सिगार पर जीएसटी की शीर्ष दर के ऊपर 21 प्रतिशत या प्रति 1,000 सिगार 4,170 रुपये जो भी अधिक होगा की दर से उपकर लगेगा. ब्रांडेड गुटखा पर 72 प्रतिशत उपकर होगा।

पाइप और सिगरेट में भरे जाने वाले तंबाकू मिश्रण पर 290 प्रतिशत की दर से उपकर लगाया जायेगा। इसके अलावा कोयला, लिग्नाइट और पीट उत्पादन पर प्रति टन 400 रुपये का स्वच्छ ऊर्जा उपकर लगाया जायेगा।

सिनेमा पर 28 प्रतिशत टैक्स रेट
अभी तक घोषित जीएसटी के टैक्स रेट के मुताबिक इंटरटेनमेंट पर सबसे ज्यादा टैक्स रेट हैं। सिनेमा पर सर्विस टैक्स के साथ यह 28 प्रतिशत है, जबकि रेस क्लब टैक्स भी इसके समान ही है। एसी रेस्टोरेंट पर 12 प्रतिशत टैक्स, शराब के साथ एसी रेस्टोरेंट पर यह 18 प्रतिशत होगा। फाइनेंशियल सर्विसेस और टेलीकॉम पर इसकी स्टैंडर्ड रेट 18 प्रतिशत होगी। वहीं फाइव स्टार होटलों पर सर्विस टैक्स 28 प्रतिशत है।

wefornews bureau

व्यापार

जीएसटी परिषद ने ई-वे बिल लागू करने को दी मंजूरी

Published

on

E-Way-Bill-Under-GST
प्रतीकात्मक फोटो

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने शनिवार को वस्तुओं को एक राज्य से दूसरे राज्य ले जाने के लिए ई-वे बिल व्यवस्था को एक फरवरी से लागू करने की मंजूरी दे दी।

कुछ राज्य स्वैच्छिक आधार पर एक फरवरी से दोनों अंतर्राज्यीय और राज्यान्तरिक ई-वे बिल को लागू कर सकते हैं। ई-वे बिल व्यवस्था 15 जनवरी से उपलब्ध होगी।

सूत्र ने कहा कि ई-वे बिल सामानों के राज्यान्तरिक आवागमन के लिए ई-वे बिल की व्यवस्था एक जून से लागू अनिवार्य होगी। हालांकि, राज्य के भीतर वस्तुओं की आवाजाही के लिए ई-वे बिल व्यवस्था चरणबद्ध तरीके से फरवरी से शुरू होगी।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

नवंबर में निर्यात बढ़कर 26 अरब डॉलर

Published

on

dollar

देश का निर्यात नवंबर में बढ़कर 26.19 अरब डॉलर रहा, जबकि अक्टूबर में यह 23 अरब डॉलर था और पिछले साल के नवंबर में 20.06 अरब डॉलर था।

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले महीने निर्यात में साल-दर-साल आधार पर 30.55 फीसदी की वृद्धि देखी गई।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “2016 के नवम्बर की तुलना में 2017 के नवंबर में डॉलर के लिहाज से निर्यात में 30.55 फीसदी की उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई है।”

बयान में आगे कहा गया, “पिछले 13 महीनों से निर्यात में दर्ज की जा रही वृद्धि के अनुरूप ही 2017 के नवम्बर के दौरान भी इसमें उल्लेखनीय बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, 2016 के अक्टूबर की तुलना में 2017 के अक्टूबर के दौरान निर्यात में 1.12 फीसदी की गिरावट आंकी गई थी।”

2017 के नवंबर दौरान 2,59,612.29 करोड़ रुपये मूल्य की वस्तुओं का आयात किया गया, जो 2016 के नवम्बर में हुए आयात के मुकाबले डॉलर के लिहाज से 19.61 फीसदी ज्यादा है और रुपये के लिहाज से 14.73 फीसदी ज्यादा है।

वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान अप्रैल-नवम्बर की अवधि में कुल मिलाकर 19,13,047.30 करोड़ रुपये का आयात हुआ, जो पिछले साल की समान अवधि में हुए आयात के मुकाबले डॉलर के लिहाज से 21.85 फीसदी और रुपये के लिहाज से 17.35 फीसदी की वृद्धि है।

2017 के नवम्बर के दौरान जिन प्रमुख समूहों के आयात में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई, उनमें पेट्रोलियम, कच्चा तेल और उत्पाद (39.14 फीसदी), इलेक्ट्रॉनिक सामान (24.97 फीसदी), मोती, कीमती और अर्ध मूल्यवान पत्थर (85.80 फीसदी), विद्युत एवं गैर-विद्युत मशीनरी (23.24 फीसदी) और कोयला, कोक एवं ब्रिकेट, आदि (51.80 फीसदी) शामिल हैं।

2017 के नवम्बर के दौरान व्यापार घाटा 13.82 अरब डॉलर का रहने का अनुमान है, जो 2016 के नवम्बर में 13.39 अरब डॉलर था।

वाणिज्यिक वस्तुओं और सेवाओं को एक साथ ध्यान में रखने पर वित्त वर्ष 2017-18 के अप्रैल-नवम्बर के दौरान समग्र व्यापार घाटा 60.92 अरब डॉलर रहने का अनुमान है, जो अप्रैल-नवम्बर, 2016-17 में 30.09 अरब डॉलर था।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

बीते सप्ताह घरेलू शेयर बाजार में रही तेजी

Published

on

sensex

बीते सप्ताह शेयर बाजार में तेजी रही, जिसमें गुजरात और हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनावों के एक्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को बहुमत मिलने के अनुमान का मुख्य योगदान रहा।

निवेशकों ने अमेरिकी फेड रिजर्व द्वारा इस साल तीसरी बार ब्याज दरों में बढ़ोतरी के फैसले को घबराहट दिखाए बिना स्वीकार किया है और इससे बाजार में कोई तेज उतार-चढ़ाव देखने को नहीं मिला। साथ ही इससे निवेशकों को अमेरिकी अर्थव्यवस्था की मजबूती की राह पर होने का आश्वासन मिला है।

बीते सप्ताह पांच कारोबारी सत्रों में से तीन में सेंसेक्स और निफ्टी में तेजी रही। हालांकि शेयर बाजारों में बिकवाली का दवाब बना रहा। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 212.67 अंकों या 0.64 फीसदी की तेजी के साथ 33,462.97 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 67.60 अंकों या 0.66 फीसदी की तेजी के साथ 10,333.25 पर बंद हुआ।

बीएसई का मिडकैप सूचकांक 69.64 अंकों या 0.41 फीसदी की गिरावट के साथ 16,974.72 पर तथा स्मॉलकैप सूचकांक 41.23 अंकों या 0.23 फीसदी की गिरावट के साथ 18,170.64 पर बंद हुआ।

सोमवार को बाजार की सकारात्मक शुरुआत हुई और सेंसेक्स 205.49 अंकों या 0.62 फीसदी की तेजी के साथ 33,455.79 पर बंद हुआ। मंगलवार को शेयर बाजार में गिरावट के दौर रहा और सेंसेक्स 227.80 अंकों या 0.68 फीसदी की गिरावट के साथ 33,227.99 पर बंद हुआ।

बुधवार को शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहा और सेंसेक्स 174.95 अंकों या 0.53 फीसदी की गिरावट के साथ 33,053.04 पर बंद हुआ।गुरुवार को भी बाजार में तेज उतार-चढ़ाव का दौरा जारी रहा और सेंसेक्स 193.66 अंकों या 0.59 फीसदी की तेजी के साथ 33,246.70 पर बंद हुआ।

शुक्रवार को बाजार में अच्छी तेजी रही और सेंसेक्स 216.27 अंकों या 0.65 फीसदी की तेजी के साथ 33,462.97 पर बंद हुआ। बीते सप्ताह सेंसेक्स के तेजी वाले शेयरों में प्रमुख रहे – ल्यूपिन (4.86 फीसदी), डॉ. रेड्डी (8.55 फीसदी), एचडीएफसी (1.80 फीसदी), एक्सिस बैंक (1.04 फीसदी), कोटक महिंद्रा बैंक (1.99 फीसदी), विप्रो (1.71 फीसदी), इंफोसिस (2.19 फीसदी), महिंद्रा एंड महिंद्रा (6.75 फीसदी), एचडीएफसी (2.72 फीसदी) और आईटीसी (1.17 फीसदी)।

सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे – सिप्ला (4.60 फीसदी), सन फार्मा (0.63 फीसदी), आईसीआईसीआई बैंक (2.29 फीसदी), भारतीय स्टेट बैंक (0.13 फीसदी), टीसीएस (2.04 फीसदी), टाटा स्टील (0.27 फीसदी), भारती एयरटेल (1.17 फीसदी), रिलायंस इंडस्ट्रीज (0.11 फीसदी) और लार्सन एंड टूब्रो (1.31 फीसदी)।

व्यापक आर्थिक मोर्चे पर, थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित मुद्रास्फीति की दर नवंबर में बढ़कर 3.93 फीसदी रही, जोकि अक्टूबर में 3.59 फीसदी थी और साल 2016 के नवंबर में 1.82 फीसदी थी।

वहीं, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति नवंबर में बढ़कर 4.88 फीसदी पर रही, जबकि अक्टूबर में यह 3.58 फीसदी थी। इस दौरान देश के औद्योगिक उत्पादन में अक्टूबर में पिछले साल के इसी महीने की तुलना में 2.2 फीसदी की वृद्धि रही।

वैश्विक मोर्चे पर, अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने बुधवार को खत्म हुई अपनी दोदिवसीय मौद्रिक नीति बैठक के बाद ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी की है, जो कि वैश्विक शेयर बाजारों द्वारा व्यापक रूप से अपेक्षित था। इसमें अमेरिका में केंद्रीय बैंक की प्रमुख ब्याज दरें 1.25 फीसदी से 1.50 फीसदी हो गई है।

फेड रिजर्व ने इसके अलावा अमेरिकी जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) की वृद्धि दर का अनुमान 2.1 फीसदी से बढ़ाकर 2.5 फीसदी कर दिया है। साथ ही मुद्रास्फीति का अनुमान 1.6 फीसदी से बढ़ाकर 1.7 फीसदी कर दिया है।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
gujrat election
चुनाव7 mins ago

गुजरात चुनाव परिणाम: शुरू हुई वोटों की गिनती

अंतरराष्ट्रीय9 mins ago

अमेरिकी हवाईअड्डे पर बिजली आपूर्ति बाधित, हजारों यात्री फंसे

Post 217
चुनाव10 mins ago

हिमाचल चुनाव परिणाम: शुरू हुई वोटों की गिनती

अंतरराष्ट्रीय17 mins ago

मिस्र ने पाकिस्तान में गिरजाघर पर हमले की निंदा की

राजनीति22 mins ago

राम मंदिर निर्माण में केंद्र सरकार कर रही देरी: चक्रपाणि

suicide-farmer
शहर11 hours ago

मध्यप्रदेश : किसान ने कीटनाशक पीकर की आत्महत्या

Mumbai
शहर15 hours ago

मुंबई: MIDC इंडस्ट्रियल इलाके में बिल्डिंग में लगी आग

PV-Sindhu
खेल15 hours ago

दुबई ओपन: जापान की यामागुची से हारीं पीवी सिंधू

rekha
मनोरंजन15 hours ago

स्मिता पाटिल मेरे मुकाबले ज्यादा बेहतर थीं : रेखा

MK Stalin
राजनीति15 hours ago

उपचुनाव में स्टालिन ने AIADMK पर लगाया 100 करोड़ रु बांटने का आरोप

श्रीनगर
अंतरराष्ट्रीय1 week ago

श्रीनगर में अमेरिका के विरोध में प्रदर्शनों के मद्देनजर आंशिक प्रतिबंध

redlipstick
लाइफस्टाइल3 days ago

चाहिए स्‍मार्ट लुक तो ट्राई करें ये लिपशेड…

pr
लाइफस्टाइल3 days ago

इस अंडरग्राउंड शहर में उठाएं जिंदगी का लुत्फ

Manushi-Chiller
राष्ट्रीय4 weeks ago

मानुषी छिल्लर ने जीता 2017 मिस वर्ल्ड का ताज

makeup
लाइफस्टाइल4 weeks ago

सर्दियों में यूं करें मेकअप

लाइफस्टाइल4 weeks ago

पुरानी साड़ी का ऐसे करें दोबारा इस्तेमाल

dlf-mall-
लाइफस्टाइल4 weeks ago

डीएलएफ मॉल में 22 नवंबर से फूड फेस्टिवल ‘खाना बजाना’

Kapil Sibal
ओपिनियन3 weeks ago

दमनकारी विचारधारा के ज़रिये आस्था के नाम पर भय फैलाना बेहद ख़तरनाक है

modi-narendra-gujarat
ब्लॉग3 weeks ago

गुजरात में दिख रहे संघियों के दोमुँही बातों का इतिहास भी बेहद शर्मनाक रहा है!

Narendra Modi
ब्लॉग2 weeks ago

ज़िम्मेदारी लेने के नाम पर भी देश को बेवकूफ़ ही बना रहे हैं नरेन्द्र मोदी…!

मनोरंजन3 days ago

अक्षय की फिल्म पैडमैन का ट्रेलर रिलीज

jammu and kashmir snowfall
राष्ट्रीय6 days ago

बारिश और बर्फबारी के बाद जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग बंद

saif-ali-khan
मनोरंजन2 weeks ago

सैफ की फिल्म ‘कालाकांडी’ का ट्रेलर रिलीज

bharuch rally
चुनाव2 weeks ago

पीएम की रैली में खाली पड़ी रहीं कुर्सियां!

kirron kher
शहर3 weeks ago

चंडीगढ़ रेप केस पर सांसद किरण खेर का बेतुका बयान, देखें वीडियो

sibal3
राजनीति3 weeks ago

असली हिन्‍दू नहीं हैं पीएम मोदी, उन्‍होंने सिर्फ हिन्‍दुत्‍व को अपनाया: कपिल सिब्‍बल

West Bengal
शहर3 weeks ago

कोलकाता के कारखाने में आग, कोई हताहत नहीं

NASA Super sonic parachute
टेक4 weeks ago

देखें मंगल 2020 मिशन के लिए नासा का पहला सफल पैराशूट परीक्षण

fukry
मनोरंजन4 weeks ago

‘फुकरे रिटर्न्स’ का दूसरा गाना रिलीज

Jammu Kashmir
शहर4 weeks ago

जम्मू कश्मीर: पीर पंजाल में भारी बर्फबारी, कई रास्ते बाधित

Most Popular