Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

अफगानिस्तान : संघर्ष में 44 आतंकियों व 10 सैनिकों की मौत

Published

on

afghanistan
File Photo

अफगानिस्तान के गजनी प्रांत के चार जिलों में रातभर चले संघर्ष में कम से कम 10 सैनिक व 44 तालिबानी आतंकवादी मारे गए।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने सेना के एक अधिकारी के हवाले से कहा कि यह संघर्ष अंडार, गिलान, जाना खान व जघातो जिलों में मध्यरात्रि में सुरक्षा चौकियों पर आतंकियों के समन्वित हमले के बाद शुरू हुआ।इस संघर्ष में आठ आतंकवादी घायल हो गए।

अधिकारी ने कहा कि संघर्ष बुधवार की सुबह तक जारी रहा, लेकिन सुरक्षा हालात पर बाद में नियंत्रण कर लिया गया। फराह प्रांत में मंगलवार को तालिबान के बड़े हमले में पांच नागरिक, 25 सैनिक व करीब 300 आतंकवादी मारे गए थे।

–आईएएनएस

अंतरराष्ट्रीय

अफगानिस्तान में 9 हक्कानी आतंकवादी ढेर

Published

on

afghanistan
फाइल फोटो

अफगानिस्तान के पाकतिका में हवाई हमलों में आतंकवादी संगठन हक्कानी के कम से कम नौ आतंकवादी मारे गए। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने अफगानिस्तान के परिचालन समन्वय समूह के बयान के हवाले से बताया, “अफगान के विशेष अभियान बलों ने रविवार को पाकतिका प्रांत में हक्कानी नेटवर्क पर हवाई हमले किए, जिसमें नौ हक्कानी बंदूकधारी मारे गए और उनकी दो मोटरसाइकिलें नष्ट हो गईं।”

आतंकवादी संगठन तालिबान से संबंधित हक्कानी नेटवर्क को अमेरिका ने 2012 में आतंकवादी संगठन घोषित कर दिया था।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

मदुरो दोबारा वेनेजुएला के राष्ट्रपति चुने गए

Published

on

Nicolás Maduro-

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो राष्ट्रपति चुनाव जीत गए हैं। इसके साथ ही वे दोबारा छह साल के लिए वेनेजुएला के राष्ट्रपति बन गए हैं।

हालांकि, चुनाव में मतदान प्रतिशत बेहद कम रहा।  विपक्ष ने चुनाव का बहिष्कार किया था और चुनाव में गड़बड़ी के आरोप लगाए हैं। बीबीसी ने राष्ट्रीय चुनाव परिषद की प्रमुख तिबिसे ल्यूसीना के हवाले से बताया कि रविवार को हुई लगभग 90 फीसदी मतगणना में मदुरो (55) को 58 लाख वोट (67.7 फीसदी) मिल चुके थे।

जबकि प्रमुख विपक्षी उम्मीदवार हेनरी फाल्कन को 18 लाख वोट (21.2 फीसदी) हासिल हुए। फाल्कन ने मतगणना के तुरंत बाद इसे नकारते हुए कहा, “हम इस चुनाव प्रक्रिया को वैध नहीं मानते। हम वेनेजुएला में नए सिरे से चुनाव कराना चाहते हैं।”

इससे पहले आई खबरों में कहा गया था कि इस बार चुनाव में काफी कम (करीब 46 प्रतिशत) मतदान हुआ। फाल्कन ने इससे पहले मदुरो के पक्ष में वोट के लिए खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराने वाले सरकारी कार्ड का दुरुपयोग किए जाने का आरोप लगाया था।

प्रशासन ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया स्वतंत्र और निष्पक्ष रही लेकिन ज्यादातर विपक्षियों ने चुनाव का बहिष्कार किया था। ये चुनाव दिसंबर 2018 में होने थे लेकिन राष्ट्रीय संविधान सभा ने ये चुनाव पहले ही करा दिए, जिसके अधिकांश सदस्य मदुरो के समर्थक हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ट्रंप ने एफबीआई द्वारा कथित जासूसी की जांच की मांग की

Published

on

donald trump
File Photo

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दबाव के चलते न्याय विभाग ने महानिरीक्षक से आकलन करने को कहा है कि क्या राजनीतिक कारणों से ट्रंप के प्रचार अभियान की जासूसी तो नहीं कराई गई थी।

वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने उम्मीद जताई कि यह कदम ट्रंप और संघीय कानून प्रवर्तनालय अधिकारियों के बीच टकराव को दूर कर सकता है। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, “मैं इस बात की जांच की मांग करूंगा कि कहीं राजनीतिक कारणों से ट्रंप चुनाव प्रचार अभियान की जासूसी तो नहीं की गई थी।

क्या इस कदम के पीछे ओबामा प्रशासन का आदेश तो नहीं था।” ट्रंप के ट्वीट के कुछ घंटों बाद न्याय विभाग ने कहा कि उन्होंने महानिरीक्षक को ट्रंप के चुनाव अभियान के एक पूर्व सलाहकार की जांच करने को कहा है कि कहीं एफबीआई ने जासूसी तो नहीं की थी।

न्याय विभाग ने कहा कि यदि इसमें किसी तरह के आपराधिक आचरण के साक्ष्य पाए गए तो यूएस अटॉर्नी से सलाह ली जाएगी। उप अटॉर्नी जनरल रॉड जे.रोसेनस्टेन ने जारी बयान में कहा, “यदि ट्रंप के प्रचार अभियान में किसी तरह की घुसपैठ या जासूसी के साक्ष्य पाए गए तो हमें इसकी तह तक जाने और उचित कदम उठाने होंगे।”

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular