Connect with us

शहर

एयर इंडिया के प्लेन में उड़ान के दौरान गिरी खिड़की

Published

on

अमृतसर से दिल्ली आ रहे एयर इंडिया के विमान में उस समय अचानक हड़कंप मच गया, जब उड़ान के दौरान एयरक्राफ्ट की खिड़की का पैनल अंदर गिर गया, जिससे तीन पैसेंजर घायल हो गए।

इस हादसे में कुछ ऑक्सिजन मास्क भी खुल गए। बोइंग 787 ड्रीमलाइनर (VTANI) में सफर के करीब 10-15 मिनट यात्रियों के लिए किसी आफत से कम नहीं रहे। एयरलाइन अथॉरिटीज और एविएशन एजेंसियां भी हैरान रह गए और मामले की जांच शुरू कर दी गई है। यह घटना गुरुवार की है।

सूत्रों ने बताया, ‘AI 462 में अचानक झटका लगने से एक यात्री का सिर ऊपर के पैनल से टकराया, जिसके बाद उन्हें और दो अन्य यात्रियों को चोटें आईं। यात्री ने शायद सीट बेल्ट नहीं बांध रखी थी। विडों पैनल (18-A) नीचे आ गया, लेकिन शुक्र है बाहर की विंडो नहीं टूटी। यह देख यात्रियों में डर बैठ गया।’

एयरक्राफ्ट में कुछ ऑक्सिजन मास्क भी गिर गए थे, वहीं सीट 12-U के ऊपर लगे पैनल कवर पर भी क्रैक्स नजर आए। एयर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘यह बड़ा अजीब हादसा है, एयर इंडिया और डीजीसीए इसकी जांच कर रहे हैं।’

दिल्ली लैंड करते ही तीनों घायल पैसेंजरों को अस्पताल ले जाया गया। एयर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘हमारे इमर्जेंसी रेस्पॉन्स और एंजल्स ने घायलों का पूरा ध्यान रखा और उन्हें अस्पताल पहुंचाया।

जिस यात्री का सिर पैनल से टकराया था उन्हें टांके लगे हैं और अन्य दो की चोटें गंभीर नहीं थीं। सबकी हालत स्थिर है और प्राथमिक उपचार के बाद उन्होंने कनेक्टिंग फ्लाइट्स पकड़ लीं। हमारे एंजल्स सफर में उनके साथ रहे।’ डीजीसीए ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है और एयरक्राफ्ट ऐक्सिडेंट इन्वेस्टिगेशन बोर्ड को इसकी जानकारी दे दी है।

WeForNews

शहर

पंजाब के लुधियाना सिविल अस्‍तपाल में लगी आग

Published

on

Fire In Ludhiana Civil Hospital
लुधियाना सिविल अस्‍पताल के ओपीडी में आग लग गई।

पंजाब के लुधियाना सिविल अस्‍पताल के ओपीडी में आग लग गई। मरीजों को तुरंत वार्डों से बाहर निकाला गया। आग को बुझाने के लिए मौके पर फायर टेंडर पहुंच चुकी है।

WeForNews

Continue Reading

शहर

मदरसे में छात्राओं को नहीं गाने दिया राष्ट्रगान

Published

on

madarasa-min

72वां स्वतंत्रता दिवस के मौके पर महाराजगंज में ध्वजारोहण के समय एक मदरसे में राष्ट्रगान होने से रोका है। मौके पर मौजूद मौलवी ने राष्ट्रगान को इस्लाम के विपरीत बताया, वहीं मौजूद एक शिक्षक राष्ट्रगान गाने की बात पर अड़ा रहा। वहां मौजूद किसी शख्स ने पूरे मामले का वीडियो बनाकर वायरल किया है।

मामला महराजगंज के कोल्हुई थाना क्षेत्र के मदरसा अरबिया अहले सुन्नत अनवारे तैबा गर्ल्स कॉलेज का है। बुधवार को स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम के दौरान ध्वजारोहण के पश्चात मौलाना द्वारा मदरसे में राष्ट्रगान गाने से मना किया गया। एक हिंदी शिक्षक ने इसका विरोध किया कहा कि भारत के किसी भी विद्यालय में राष्ट्रगान अनिवार्य है तो राष्ट्रगान यहां भी होगा। इतना ही नहीं जब एक शिक्षक न बच्चों से राष्ट्रगान गाने के लिए कहा कि मौलाना बच्चों को राष्ट्रगान गाने से मना कर दिया।

मौलाना जुनैद अंसारी ने तर्क देते हुए कहा कि हमारे यहां राष्ट्रगान नहीं होता है, इसलिए राष्ट्रगान नहीं होगा। बता दे कि इस कार्यक्रम का वीडियो भी बन रहा था, उसके बाद भी मौलाना ने राष्ट्रगान होने से रोक दिया। देखते ही देखते स्थिति तनावपूर्ण हो गयी। मदरसे में राष्ट्रगान न कराए जाने की घटना क्षेत्र में आग की तरह फैल गयी। भाजपा के कई पदाधिकारी व नेता उक्त मदरसे पर पहुंच गए है।

मामले की जानकारी पुलिस और प्रशासन के उच्चधिकारियों को दी। बताया जा रहा है कि विवाद बढ़ता देख मौलवी मौके से फरार हो गया है। पुलिस आरोपित मौलाना की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। जिलाधिकारी अमरनाथ उपाध्याय ने कहा कि यह प्रकरण प्रकाश में आने पर इसकी जांच दो सक्षम अधिकारियों को सौंपी गई है। जांच में जो भी दोषी मिला उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

wefornews 

Continue Reading

शहर

केरल में रेड अलर्ट जारी, बाढ़ से मरने वालों की संख्या 58 हुई

Published

on

Kerala Floods

तिरुवनंतपुरम, 15 अगस्त | केरल में बुधवार को फिर जोरदार बारिश होने से 19 और लोगों की मौत हो गई। और अधिक तबाही के बाद अधिकारियों को पूरे राज्य में रेड अलर्ट जारी करना पड़ा है। इन मौतों की रपट के बाद, राज्य में 18 अगस्त से हो रही मूसलाधार बारिश में मरने वालों की संख्या बढ़कर 58 हो गई है।

केरल के 14 जिलों में से 11 में बुधवार दोपहर बाद रेड अलर्ट जारी किया गया जिसमें इडुक्की, कोझिकोड, वायनाड, मलप्पुरम, पाथनमथिट्टा, कन्नुर और एर्नाकुलम शामिल है।

कोचीन हवाईअड्डे को इसके परिसर में पानी घुसने की वजह से शनिवार तक बंद कर दिया गया है।

मंगलवार को देर रात शुरू हुई मूसलाधार बारिश के बाद राज्य के 33 बांधों के गेट को खोलना पड़ा। ऐसा पहली बार हुआ है।

बारिश के शनिवार तक जारी रहने की संभावना जताई गई है।

मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने केरल में आई इस त्रासद बाढ़ का सामना करने के लिए लोगों से उदारता से आर्थिक व अन्य तरह से योगदान देने की अपील की है।

विजयन ने बुधवार शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत की। उन्हें सभी जरूरी मदद का आश्वासन दिया गया है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य में मदद करने के लिए और बलों को भेजने का वादा किया।

बुधवार को भारी बारिश के बाद घर गिरने से मलप्पुरम में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। तीन लापता बताए जा रहे हैं, जबकि एक बच्चे को बचा लिया गया है।

एक व्यक्ति की मौत मुन्नार में लॉज के गिरने की वजह से हुई। पाथनमथिट्टा में एक 70 वर्षीय महिला की मौत करंट लगने से हो गई। इस महिला का घर पानी में डूब गया था।

भूस्खलन से मलप्पुरम में भी लोगों की जान गई है। तिरुवनंतपुरम जिले में घर की दीवार गिरने से एक सत्तर वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई।

राज्य की राजधानी में बुधवार को मूसलाधार बारिश हुई, जिसमें निचले इलाके डूब गए। अधिकारियों ने लोगों के लिए तत्काल वहां 14 राहत शिविरों खोला।

जिन लोगों को उनके घर से सुरक्षित बाहर निकाला गया, उनमें कांग्रेस नेता व राज्य में पार्टी के पूर्व अध्यक्ष वी.एम. सुधीरन व उनकी पत्नी शामिल हैं। अभिनेता व राज्यसभा सदस्य सुरेश गोपी के घर में भी बाढ़ का पानी घुस गया है।

बुधवार को विजयन ने बारिश के बीच स्वतंत्रता दिवस परेड की सलामी ली और सभी को उदारता से योगदान देने के लिए कहा।

यहां 72वीं स्वतंत्रता दिवस परेड को संबोधित करते हुए विजयन ने लोगों से हर संभव सहयोग करने की अपील करते हुए कहा कि राज्य इस समय सबसे भीषण प्राकृतिक आपदा का सामना कर रहा है।

उन्होंने कहा, “इस वर्ष हम ऐसे समय स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं जब बाढ़ ने पूरे राज्य में तबाही मचाई हुई है। राज्य ने ऐसी विपदा का सामना पहले कभी नहीं किया। लेकिन, अगर हम सब एक हो जाएं तो हम किसी भी आपदा का सामना कर लेंगे।”

बाढ़ के बावजूद ज्यादातर स्थानों पर स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में लोगों की सक्रिय उपस्थिति देखी गई।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular