Connect with us

राष्ट्रीय

पुलवामा: सुरक्षाबलों की मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर

Published

on

jammu and kashmir-min
प्रतीकात्मक तस्वीर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों ने तहरीक-उल-मुजाहिद्दीन का एक आतंकी मार गिराया है। हालांकि उसके साथी अंधेरे का फायदा उठाते हुए मौके से फरार हो गए। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के होने की सूचना पर अभियान चलाया और डौगम गांव को घेर लिया। आतंकियों ने खुद को घिरा देख सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी।

सुरक्षाबलों ने भी आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए जवाबी फायरिंग की। मारे गए आतंकवादी की पहचान अवंतीपोरा इलाके के रहने वाले अहमद भट्ट के रूप में हुई। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, आतंकी तहरीक ए मुजाहिदीन संगठन का है।

WeForNews

राष्ट्रीय

नोटबंदी और राफेल डील पर ऑडिट रिपोर्ट नहीं देने का CAG पर आरोप!

Published

on

cag
फाइल फोटो

कैग को पत्र लिखकर साठ सेवानिवृत्त अधिकारियों ने उसपर नोटबंदी और राफेल डील पर ऑडिट रिपोर्ट को जानबूझकर टालने का आरोप लगाया है।

हिंदी न्यूज वेबसाइट जनसत्ता की खबर के मुताबिक, पूर्व अधिकारियों ने पत्र में कहा है कि नोटबंदी और राफेल लड़ाकू विमान सौदे पर ऑडिट रिपोर्ट लाने में अस्वाभाविक और अकारण देरी पर चिंता पैदा हो रही है और रिपोर्ट संसद के शीत सत्र में पटल पर रखी जानी चाहिए। पत्र में कहा है कि समय पर नोटबंदी और राफेल सौदे को लेकर ऑडिट रिपोर्ट जारी करने में देरी को पक्षपातपूर्ण कदम कहा जाएगा और इससे संस्थान की साख पर संकट पैदा हो सकता है। नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई है।

नोटबंदी पर मीडिया की खबरों का संदर्भ देते हुए पूर्व नौकरशाहों ने कहा है कि तत्कालीन नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक शशि कांत शर्मा ने कहा था कि ऑडिट में नोटों की छपाई पर खर्च, रिजर्व बैंक के लाभांश भुगतान तथा बैंकिंग लेन-देन के आंकड़ों को शामिल किया जाएगा। पत्र में कहा गया है, इस तरह की ऑडिट रिपोर्ट पर पिछला बयान 20 महीने पहले आया था लेकिन नोटबंदी पर वादे के मुताबिक ऑडिट रिपोर्ट पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

WeForNews 

Continue Reading

राष्ट्रीय

व्यापमं केस का आरोपी गिरफ्तार

Published

on

Vyapam-scam

व्यापमं केस के आरोपी राकेश नरगावे को सीबीआई ने मध्य प्रदेश के बरवानी जिले से गिरफ्तार किया।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

कठुआ गैंगरेप: पीड़ित परिवार ने वकील दीपिका सिंह को हटाया

Published

on

deepika rajawat

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में गैंगरेप की शिकार आठ साल की बच्ची के परिवार ने वकील दीपिका सिंह राजावत को केस से हटा दिया है। पीड़िता के पिता ने पठानकोट की कोर्ट में दिए आवेदन में कहा कि राजावत इस केस में रुचि नहीं ले रही हैं। इस केस की अब तक हुई 110 सुनवाई में से वे महज दो बार ही पेश हुई हैं। इस कारण वह उनसे अपना केस वापस लेना चाहते हैं। कोर्ट ने उनका आवेदन स्वीकर किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दीपिका सिंह राजावत ने इस मामले में दुख प्रकट करते हुए अपनी समस्याओं के बारे में बताया। उन्होंने इस मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट में पेश नहीं होने के सवाल पर कहा कि उनकी जगह से पठानकोट करीब ढाई सौ किलोमीटर दूर है, ऐसे में उनके लिए हर हियरिंग पर कोर्ट जाना मुश्किल होता था। हालांकि इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार ने कभी उनसे संपर्क नहीं किया और अब यह खबर सुनकर उन्हें दुख पहुंचा।

गौरतलब है कि जम्मू जिले के कठुआ में जनवरी 2018 में आठ साल की एक बच्ची से रेप कर उसको मौत के घाट उतार दिया था।

पुलिस की चार्जशीट में कहा गया था कि जम्मू के हिंदू बहुल इलाके से मुस्लिम चरवाहों को भगाने के लिए इस बच्ची से गैंगरेप और फिर बेहद नृशंस ढंग से हत्या की गई थी।

इस मामले में राजावत ने परिवार की तरफ से पीड़िता का केस लड़ने के लिए पहल की थी। इसे लेकर तब उनकी खूब चर्चा भी हुई थी। शुरुआत में यह केस जम्मू कोर्ट में चल रहा था, हालांकि स्थानीय लोगों के गुस्से और उनके दखल की आशंका को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मामले को पठानकोट ट्रांसफर करने का आदेश दिया था।

WeForNews 

Continue Reading

Most Popular