एक ऐसा जंगल जो तनाव को करता है दूर... | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

ज़रा हटके

एक ऐसा जंगल जो तनाव को करता है दूर…

Published

on

Forest-
प्रतीकात्मक तस्वीर

आज के दौर में तनाव में होना एक आम बात है। काम का प्रेशर या जिंदगी में कुछ बदलाव होने के कारण कई लोगों तनाव में रहने लगते है। डॉक्टरों के मुताबिक तनाव में रहने से हम कई बीमारियों की चपेट में भी आ सकते है।

तनाव से दूर रहने के लिए लोग दवाईयों का सहारा ले लेते। लेकिन इसका कोई असर नहीं होता। आज हम आपको ऐसे जगंल के बारे में बताने जा रहे है, जहां आप तनाव से मुक्ति पा सकते है। आइए जानें इस जंगल के बारे में।

टोक्यो
टोक्यो में एक ऐसा जंगल है जहां आपको फॉरेस्ट थेरेपी दी जाती है। इस जगह आप प्रकृति के नजदीक रहते है। टोक्यो के इस जंगल में आपको हर बीमारी का इलाज मिलेगा।

इस जगंल में आपको कई तरह की जड़ी-बूटियां मिलेंगी। जो दवा के रूप में इस्तेमाल की जाती है। टोक्यो के इन जंगलों में तनाव मुक्त होने के लिए पूरे जापान के लोग आते है।

जंगल में मौजूद फॉरेस्ट थेरेपी से लोग खुली हवा में गहरी सांस ले सकते है। साथ ही मेडिटेशन करते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर सुबह सवेरे उठकर सिर्फ परिंदों की चहचहाहट सुनी जाए तो वो भी एक थेरेपी का काम करती है।

फॉरेस्ट थेरेपी, जापान, टोक्यो

परिंदों की चहचहाहट इंसानों का दिल बहलाती हैं और तनाव दूर करने में मदद करती हैं। इसी थेरेपी के जरिए खुद को जापान के लोग हेल्दी रख पाते है। बात दें मेडिकल साइंस में रिसर्च करने वालों के लिए भी ये जंगल आकर्षण का केंद्र बना है। उनका भी कहना है कि इन जंगलों में तनाव कम करने और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने के लिए दवा मौजूद है।

बता दें मेडिकल साइंस में रिसर्च करने वालों के लिए भी ये जंगल आकर्षण का केंद्र बन चुके हैं। उनका भी कहना है कि इन जंगलों में तनाव कम करने और ब्लड प्रेशर नियंत्रण की दवा मौजूद है। फॉरेस्ट्री एंड फ़ॉरेस्ट प्रोडक्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट के प्रोफ़ेसर ताकाहिदे अकागावा का कहना है कि इन जंगलों की आबो-हवा में तनाव पैदा करने वाले हार्मोन को नियंत्रित करने की ताक़त है। साथ ही यहां की जाने वाली थेरेपी एंटी एजिंग है। यानी फ़ॉरेस्ट थेरेपी से आपकी उम्र भी लंबी होगी।

WeForNews

ज़रा हटके

बिहार में लुटेरों ने वैन से 1920 किलो लहसुन लूटे

Published

on

By

garlic

भभुआ (बिहार), 7 दिसंबर | प्याज और लहसुन के दाम में बेतहाशा उछाल के साथ अब ये लुटेरों के निशाने पर आने लगे हैं। कैमूर जिले के कुदरा थाना क्षेत्र में लुटेरे एक वाहन से 64 बोरी यानी करीब 1920 किलोग्राम लहसुन लूटकर फरार हो गए। इस मामले की प्राथमिकी कुदरा थाना में दर्ज कराई गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

कुदरा के थाना प्रभारी रणवीर वर्मा ने शनिवार को आईएएनएस को बताया कि कैमूर जिले के सोनहन थाना क्षेत्र का रहने वाला अशोक कुमार सिंह दो दिन पहले अपने पिकअप वैन से बनारस से 64 बोरी लहसुन लेकर सासाराम मंडी में पहुंचाने जा रहा था।

उन्होंने बताया कि शुक्रवार रात करीब 11 बजे कुदरा थाना क्षेत्र के पछाड़गंज के पास एक कार पर सवार होकर आए दो से तीन लुटेरों ने उसकी गाड़ी को रुकवाकर उसे अपनी गाड़ी में बैठा लिया और दो-तीन घंटे विभिन्न सड़कों पर घुमाने के बाद फिर से उसे पछाड़गंज के पास कार से उतारकर कहा कि “यहां से एक किलोमीटर दूर पिकअप वैन खड़ी है, उसे ले जाओ।”

इस दौरान लुटेरों ने अशोक से मोबाइल फोन और करीब 10 हजार रुपये भी छीन लिए। अशोक को एक किलोमीटर दूर अपनी पिकअप वैन तो मिल गई, लेकिन उस पर लदी लहसुन की 64 बोरियां गायब थीं। सिर्फ एक बोरी छोड़ दी गई थी, जिसमें 30 किलोग्राम लहसुन था।

थाना प्रभारी वर्मा ने बताया कि पिकअप वैन मालिक अशोक के लिखित बयान पर लहसुन लूट की प्राथमिकी कुदरा थाना में दर्ज कर ली गई है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

क्षेत्र में इस अजीबोगरीब घटना की चर्चा है। बिहार में लहसुन इस समय 300 से 400 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बिक रहा है।

–आईएएनएस

Continue Reading

ज़रा हटके

क्या सचमुच बुरी बलाओं से बचाती है नींबू-मिर्ची!

Published

on

nibu

भारत में हर घर या दुकान के बाहर आपने नीबू-मिर्च को लटकते देखा होगा। अपने बिजनेस को बुरी नजर से बचाने के लिए लोग इस टोटके का इस्तेमाल करते हैं।

हिंदुस्‍तान में नीबू मिर्च का जोड़ इतना लोकप्रिय है कि इसने भी अलग से एक छोटे से बिजनेस का रूप ले लिया है। हर कोई ये जानता है कि दरवाजे पर नीबू मिर्च लटकाना व्यापार के लिए शुभ है, पर इसके पीछे की ठोस अवधारणा से सभी परिचित नहीं है।

इस बात से तो आप सभी जानते होंगे कि विश्व में केवल अच्छा कुछ नहीं है। हर वस्तु, हर व्यक्ति, हर व्यक्तित्व अच्छे-बुरे को मिलाकर बना है। जहां अच्छाई है, वहां बुराई भी है। हम अपने हर परिचित में कुछ बहुत अच्छे, तो कुछ बहुत बुरे गुणों को देख सकते हैं।

इसी तरह संसार में कोई भी चीज केवल अच्छी है ही नहीं। आप रोग को ठीक करने के लिए जो दवा भी लेते हैं, उसके भी साइड इफेक्ट्स होते हैं। अच्छाई और बुराई के इसी संगम के लिए आजकल ग्रे शेड्स शब्द चलन में आया है।

इसी अवधारणा के अनुरूप दरिद्रा अलक्ष्मी का स्वरूप संदर्भित होता है। धन की अधिष्ठात्री, सभी की परम प्रिय मां लक्ष्मी के साथ ऐसा उल्लेख सुनकर आप हैरान हो सकते हैं। दरिद्रा अलक्ष्मी, मां लक्ष्मी का ही नकारात्मक अस्तित्व है।

लक्ष्मी की समस्त नकारात्मकता, उनके व्यक्तित्व का ग्रे शेड दरिद्रा अलक्ष्मी के रूप में साकार होता है। यह तो सभी जानते हैं कि दैवीय शक्तियों की नकारात्मकता भी बिना कारण अस्तित्व नहीं पाती। इसी तरह मां लक्ष्मी का दरिद्रा स्वरूप भी अकारण नहीं है।

इनका अस्तित्व लक्ष्मी की अवमानना, अनादर करने वाले को दंड देने के लिए हुआ है। स्वाभाविक है कि इनके उल्लेख मात्र से सभी का मन कांपने लगता है, इसीलिए दरिद्रा लक्ष्मी को संतुष्ट करने के उपाय भी खोजे गए। माना जाता है कि दरिद्रा अलक्ष्मी को तीखा और खट्टा भोजन पंसद है।

मीठे से वे दूर भागती हैं और तीखे, खट्टे भोजन की तलाश में हर जगह जाती हैं। उनकी इसी पसंद को पूरा करने के लिए प्रतिष्ठानों के द्वार पर नीबू मिर्च लटकाए जाते हैं। इसके पीछे उद्देश्य यह रहता है कि दरिद्रा अलक्ष्मी अपनी पसंद की वस्तु द्वार पर ही पाकर संतुष्ट हो जाएं और अंदर प्रवेश ना करें। इस तरह मां भी प्रसन्न रहें और हम भी अमंगल से बचे रहें।

आपने अक्सर सुना होगा कि घर की गृहणी को तीखा और खट्टा खाने को मना किया जाता है और उन्हें मीठा खिलाने को प्राथमिकता दी जाती है। इसके पीछे धारणा यही है कि भारत में गृहणी को गृहलक्ष्मी का स्वरूप माना जाता है।

माना जाता है कि उनके मीठा खाने से घर में धन, संपत्ति का भंडार बढ़ता है, वहीं उनका तीखा, खट्टा पसंद करना दरिद्रा अलक्ष्मी को आमंत्रण माना जाता है। कुल मिलाकर संपूर्ण मानव जाति धन, वैभव और ऐश्वर्य प्राप्ति के लिए उद्यत है।

ऐसे में लक्ष्मी के क्रोध का भागी कौन बनना चाहेगा। हालांकि यह अपने-अपने विश्वास पर निर्भर करता है, पर अगर आपका भी भरोसा इन बातों में है तो अपनाइए नीबू मिर्च और लक्ष्मी जी के हर रूप को प्रसन्न और संतुष्ट रखिए।

WeForNews 

Continue Reading

ज़रा हटके

दिल्ली : थाने जाकर बोला ‘बीबी को मार डाला, लाश ले आओ’

“हत्या के आरोप में गिरफ्तार शख्स का नाम सुमित मोंगिया (38) है। सुमित ने जिस महिला का कत्ल करके लाश घर में ही छोड़ दी थी, और पुलिस को सूचना देने खुद ही थाने जा पहुंचा, आरोपी की वह पत्नी है।

Published

on

By

Man kills his wife

नई दिल्ली, 6 नवंबर | ‘मैंने बीबी को मार डाला है। लाश घर में ही पड़ी है। चलकर लाश को कब्जे में ले लो। फिर जो कानूनी कार्रवाई करनी हो कर लेना।’ इतना सुनते ही थाने में मौजूद पुलिस वाले समझे कि ‘कोई सनकी सिरफिर है जो पुलिस को छकाने के लिए थाने पहुंच गया है।’ बाद में पुलिस को जब पता चला कि सूचना में दम है, तो थाने में मौजूद पुलिस वालों को पसीना आ गया।

यह सनसनीखेज घटना दिल्ली के मालवीय नगर थाने की है। पुलिस के मुताबिक, “हत्या के आरोप में गिरफ्तार शख्स का नाम सुमित मोंगिया (38) है। सुमित ने जिस महिला का कत्ल करके लाश घर में ही छोड़ दी थी, और पुलिस को सूचना देने खुद ही थाने जा पहुंचा, आरोपी की वह पत्नी है। कत्ल की गई महिला का नाम दीपिका है।”

दीपिका (31) और सुमित की शादी सन् 2009 में हुई थी। दंपत्ति के दो बच्चे हैं। आरोपी सुमित खिड़की एक्सटेंशन स्थित मकान में चौथी मंजिल पर रहता है। जबकि उसका बाकी परिवार इसी मकान की तीसरी मंजिल पर रहता है।

घटना बुधवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे की बताई जा रही है। मालवीय नगर थाना पुलिस के मुताबिक, “सुमित ने पुलिस को बताया कि पत्नी दीपिका रोज-रोज छोटी-छोटी बातों पर उससे झगड़ती थी। आए दिन की इसी चिकचिक से परेशान होकर उसने इतना घातक कदम उठाया। दीपिका की हत्या गला घोंटकर की गई है।”

पुलिस ने दीपिका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। घटनास्थल को सील कर दिया गया है। घटना की जांच अभी जारी है।

Continue Reading
Advertisement
sensex-min (1)
व्यापार3 hours ago

शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 248 अंक नीचे

राजनीति3 hours ago

नागरिकता बिल पर उद्धव ठाकरे का यू टर्न

Smartphone-Addiction-min-1
राष्ट्रीय3 hours ago

त्रिपुरा में 48 घंटों के लिए SMS और मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद

imran khan
अंतरराष्ट्रीय4 hours ago

नागरिकता बिल पर इमरान बोले- ये भारत-पाक समझौतों का उल्लंघन

facebook
टेक4 hours ago

फेसबुक ने जमाते इस्लामी पाकिस्तान का ‘कश्मीर मार्च’ पेज हटाया

Farooq Abdullah
राष्ट्रीय4 hours ago

‘अनुच्छेद-370 की बहाली तक नेकां राजनीति में हिस्सा नहीं लेगी’

Deepika
मनोरंजन4 hours ago

दीपिका की फिल्म ‘छपाक’ का ट्रेलर रिलीज

राष्ट्रीय4 hours ago

जम्मू-कश्मीर प्रशासन के कहने पर नेताओं की होगी रिहाई : शाह

Yes_Bank_wefornewshindi
व्यापार4 hours ago

यस बैंक ने ब्रेच के प्रस्ताव पर फैसला टाला

Joint Pain-
लाइफस्टाइल4 hours ago

रक्त का तापमान घटने से बढ़ता है जोड़ों का दर्द

लाइफस्टाइल4 days ago

टाइप-2 डायबिटीज से हृदय रोग का खतरा ज्यादा

cancer
लाइफस्टाइल3 weeks ago

दांतों की वजह से भी हो सकता है जीभ का कैंसर

Stomach-
स्वास्थ्य4 weeks ago

पेट दर्द या अपच को कभी न करें अनदेखा…

लाइफस्टाइल2 weeks ago

मलेरिया में भूलकर भी इन चीजों का न करें सेवन…

Sleep-Nap
स्वास्थ्य3 weeks ago

मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करती है अशांत नींद

weight-loss-min
स्वास्थ्य3 weeks ago

वेट लूज करने के लिए करें ये काम…

e-cigarette
स्वास्थ्य3 weeks ago

मसालेदार ई-सिगरेट से हृदय रोग का जोखिम ज्यादा

Breast Cancer
स्वास्थ्य1 week ago

स्तन कैंसर से बढ़ जाता है हृदय रोग का खतरा

Breast Cancer
स्वास्थ्य3 weeks ago

‘स्तन कैंसर के इलाज के लिए बेहतर विकल्प है ‘टागेर्टेड रेडिएशन थेरेपी’

लाइफस्टाइल2 weeks ago

अल्जाइमर से बचाएगी नई दवा : शोध

Most Popular